शनिवार, 20 मार्च 2021

गाजियाबाद: आयुक्त ने सुनी जनता की समस्याएं

अश्वनी उपाध्याय     

गाजियाबाद। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने आज शनिवार को फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता की शिकायतें सुनी। नगर निगम द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित फेसबुक लाइव की यह चौथी कड़ी थी। प्रोग्राम की शुरुआत में नगर आयुक्त ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में सर्विस सेक्टर में गाजियाबाद के भारत में नंबर वन पर स्थान प्राप्त होने पर सर्वप्रथम जनपद की जनता को बधाई व धन्यवाद दिया। जनपद को यह स्थान 10 लाख व उससे अधिक आबादी वाले महानगरों की श्रेणी में मिला हैं। उसके बाद फेसबुक यूजर्स को पूर्व में हुई फेसबुक लाइव के दौरान प्राप्त शिकायतों के समाधान की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई  जिसमें नगर आयुक्त ने बताया, कि 1 घंटे में 60 शिकायतों को लिया गया। जिनमें 23 शिकायतों का समाधान किया जा चुका है और 29 शिकायतों जो की मांग थी उन पर कार्य चल रहा है। 8 शिकायतों पर पता सही न होने के कारण कार्यवाही नहीं हो पाई।

गाजियाबाद: 4 वर्ष पूर्ण होने पर हुआ समारोह

अश्वनी उपाध्याय                

गाजियाबाद। आज शनिवार को लोनी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम जाफराबाद गनौली के बाबा कोठरा समाधि मन्दिर के प्रांगण में प्रदेश सरकार के सफलतापूर्वक चार वर्ष पूर्ण होने पर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किये गये “रिफार्म , परफार्म एंव ट्रान्सफार्म ” सम्बन्धी कार्यों से जनसामान्य को अवगत कराने और लाभार्थियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाये जाने के लिए उप जिलाधिकारी लोनी शुभांगी शुक्ला द्वारा भव्य जनसभा का आयोजन किया गया। जनसभा के दौरान विधायक नन्दकिशोर गुर्जर मुख्य अतिथि रहे। इस अवसर पर विधानसभा में कराये गये व प्रस्तावित विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास एंव लोकार्पण किया गया। प्रदेश सरकार के चार वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में “विकास पुस्तिका” का विमोचन किया गया। समारोह में वरासत अभियान, श्रम विभाग, कौशल विकास, समाज कल्याण विभाग, खाद्य और रसद विभाग तथा कन्या सुमंगला योजना तथा नगर विकास विभाग आदि विभागों के अन्तर्गत संचालित योजनाओं में सैकडों लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। कार्यक्रम में उपजिलाधिकारी लोनी शुभांगी शुक्ला, तहसीलदार प्रकाश सिंह, जिला अध्यक्ष भाजपा दिनेश सिंघल, महामंत्री व पार्टी के पदाधिकारीगण एंव अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

गाजियाबाद: पानी पीने से 40 बच्चे हुए बीमार

अश्वनी उपाध्याय          

गाजियाबाद। कविनगर थाना क्षेत्र में स्थित महागुणपुरम सोसायटी में आज गंदा पानी पीने से करीब चालीस बच्चे बीमार हो गए हैं। कुछ बच्चों को स्थानीय अस्पतालों में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। सभी बीमार बच्चों को पेट में दर्द, उल्टी और सिर में दर्द की शिकायत हो रही थी। सोसायटी में सबसे ज्यादा शिकायतें गायत्री,विनायक और सिद्धि टावर से आने की सूचना है। बच्चों के बीमार होने की सूचना मिलने के बाद एओए की ओर से सोसायटी में लाउडस्पीकर से घोषणा कराई कि पीने का पानी उबालकर ही पीएं। इससे पूरी कालोनी में हड़कंप मच गया। लोग टावरों से बाहर निकल आए। एओए के पदाधिकारियों ने पुलिस और प्रशासन को इसकी सूचना दी। आनन-फानन में टीम न सोसायटी में पहुंचकर स्वास्थ्य की जांच शुरू कर दी है। कोरोना जांच का शिविर भी लगा दिया गया है। प्रशासन,पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने बच्चों के बीमार होने के प्रकरण की जांच शुरू कर दी है। बताया गया है, कि चार दिन पहले ही सोसायटी में पानी की टंकी की सफाई कराई गई थी। अधिकांश लोगों के घरों में आरओ लगा हुआ है। फिर भी पानी पीने से बच्चों की सेहत खराब होने के प्रकरण की गंभीरता से जांच शुरू हो गई है। जिला मलेरिया अधिकारी ज्ञानेंद्र कुमार मिश्रा के निर्देश पर एक टीम ने जांच शुरू कर दी है। पानी की अलग से जांच के लिए सैंपल एकत्र किए जा रहे हैं। आरडब्ल्यूए की देखरेख में पूरी सोसायटी में बिजली,पानी एवं अन्य कार्यों का संचालन होता है।

अवैध कालोनियों पर चला जीडीए का बुलडोजर

अश्वनी उपाध्याय    

गाजियाबाद। जीडीए ने अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुरादनगर में पाइपलाइन रोड पर अनधिकृत तरीके से बसाई जा रही कई कालोनियों पर बुलडोजर चलाया। शुक्रवार को प्रवर्तन ज़ोन 2 टीम द्वारा की गई इस कार्यवाही के बाद अब कालोनाइज़रों के खिलाफ एफ़आईआर लिखाई जा रही है। प्राधिकरण के ओएसडी संजय सिंह ने बताया कि मुराद नगर में पाइपलाइन रोड पर असलम द्वारा बीस हजार वर्गमीटर, असलम, अब्दुल सलाम और हाजी ताहिर द्वारा पांच हजार वर्गमीटर, संदीप व अक्षय द्वारा पांच हजार वर्गमीटर, सीकरी कला के पास बुलाकी दास द्वारा 15 हजार वर्गमीटर जमीन पर विकसित की जा रही अवैध कालोनी और विनय द्वारा बनाए जा रहे होटल को ध्वस्त कर दिया गया है। इस जोन में बीस अन्य अनधिकृत कालोनी चिह्नित की गई हैं। इनको ध्वस्त करने की तैयारी की जा रही है। इस बीच जीडीए वीसी ने प्रवर्तन विभाग में कुछ अफसरों के कार्यक्षेत्र में परिवर्तन किया है। पिछले साल प्रवर्तन जोन-छह से हटाए गए सहायक अभियंता लवकेश कुमार को फिर से प्रवर्तन जोन-छह में तैनात किया गया है। अभियंत्रण जोन से संजय मेहरोत्रा और राजेश वर्मा को भी क्रमश: प्रवर्तन जोन-आठ और दो में तैनात किया गया है। जीडीए सचिव संतोष कुमार राय ने इनकी नई तैनाती की पुष्टि की है।

गाजियाबाद: 5978 लोगों ने लगवाईं वैक्सीन

अश्वनी उपाध्याय          

गाजियाबाद। जिले में शुक्रवार को 5,978 बुजुर्गो ने कोरोनारोधी टीका लगवाया है। जबकि, स्वास्थ्य विभाग ने 41 टीकाकरण केंद्रों पर कुल 14,600 का लक्ष्य रखा था। सबसे अधिक पांच सौ लोगों ने संयुक्त अस्पताल में टीका लगवाया है। वहीं जिला महिला अस्पताल में 143 ने वैक्सीन लगवाई है। सीएमओ डा. एनके गुप्ता ने बताया कि सरकारी केंद्रों पर 2,218 और निजी केंद्रों पर 3,760 लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। शनिवार को दस हजार बुजुर्गो के वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया है।2,787 लोगों की जांच रिपोर्ट आने पर 14 संक्रमित मिले हैं। अधिकांश को होम आइसोलेशन में रखा गया है। 29 लोगों ने कोरोना को हराया है। इसके साथ ही अब तक स्वस्थ होने वालों की संख्या 26,743 पर पहुंच गई है। अब तक 26,948 लोग संक्रमित हुए हैं। 102 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। सक्रिय मरीजों की संख्या 101 पर पहुंच है। जिले में विगत एक साल में आठ लाख 37 हजार लोगों की कोरोना जांच हो चुकी है।

मुक्केबाज लोपसान ने अपराजेय क्रम को रोका

मास्को। रूस के मुक्केबाज आर्त्युष लोपसान ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत के नॉक आउट किंग माने जाने वाले विजेंद्र सिंह का 12 मैचों का अपराजेय क्रम शुक्रवार रात को पांचवें राउंड में शानदार जीत के साथ रोक दिया।
रूस के 26 वर्षीय लोपसान ने भारत में पहली बार एक कैसिनो जहाज की छत पर खेले गए इस मुकाबले में विजेंद्र का अपराजित रहने का सपना चकनाचूर कर दिया। लोपसान ने मुकाबले में शुरुआत से ही अपना दबदबा बनाकर रखा। विजेंद्र के पास इस मुकाबले में कुछ कर दिखाने के लिए ज्यादा मौके नहीं थे। और जो मौके थे। उसका वह फायदा नहीं उठा पाए। लोपसान शुरू से ही प्रतिबद्ध दिखाई दे रहे थे और उन्होंने अपने ऊंचे कद का पूरा फायदा उठाया।
विजेंद्र के पास चौथे दौर में मौका था। लेकिन वह उसका फायदा नहीं उठा पाए। लोपसान ने मौके का पूरा फायदा उठाया और मुकाबला अपने नाम कर लिया। विजेंद्र ने मुकाबला गंवाने के बाद कहा, हार और जीत एक खेल के दो पहलू हैं। इस बीच, सह-मुख्य कार्यक्रम में नीरज गोयत ने वेल्टरवेट श्रेणी में संदीप कुमार को हराया।
परिणाम इस प्रकार रहे, प्रल्हाद पांडा (ब्लू) ने मोहम्मद शमीम (रेड) को तीनों सेटों में 39-36, 39-36, 39-37 हराया। उमेश चवण (ब्लू) ने मथियालगन धीरविदमानी (रेड) को 40-35, 4-35, 40-35 से हराया। रिंकी इन्द्र किशोर (ब्लू) ने रमनदीप कौर (रेड) को 60-54, 60-54, 59-55 से हराया। दिगराई महेश (ब्लू) ने कुलदीप धांडा (रेड) को 60-54, 60-54, 60-54 से हराया। सबरी जे (ब्लू) ने अमेय नितिन (रेड) को 60-54,60-54,60-54 कार्तिक सतीश कुमार ने जयपाल जगहनधन को 40-36,39-36,40-36 से हराया। धर्मेन्द्र ग्रेवार (रेड) ने आशीष अहलावत (ब्लू) को 40-36,39-36,40-36। नीरत गोयत (ब्लू) ने संदीप कुमार (रेड) को नॉक आउट में 40-35,40-35,40-35 से हराया।

तमिलनाडु: 22 से स्कूल बंद करने के आदेश

चेन्नई। तमिलनाडु के तंजावुर जिले में कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य सरकार ने शनिवार को 22 मार्च से अगले आदेशों तक स्कूलों में नौवीं, दसवीं और ग्यारहवीं कक्षाओं को बंद करने का आदेश दिया। राज्य के मुख्य सचिव राजीव रंजन ने आदेश में कहा कि अगले आदेश तक इन कक्षाओं के हॉस्टलों को भी बंद रखने का आदेश दिया गया है। जबकि, छात्रों के लिए डिजिटल और ऑनलाइन जारी रहेंगी। स्कूलों को 12वीं कक्षा के लिए यह ध्यान रखने को कहा कि छात्रों को बोर्ड परीक्षा में बैठना होगा। उन्होंने कहा कि उनके लिए छात्रावास खोलने के लिए सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करते हुए छात्रावास खोलने चाहिए। रंजन ने कहा, कि सरकार का यह फैसला केवल नौंवी, दसवीं और ग्यारहवीं के लिए स्कूलों को बंद करने का निर्णय सार्वजनिक स्वास्थ्य और रोग रोकथाम निदेशालय की सिफारिशों और सार्वजनिक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, स्कूल शिक्षा और राजस्व और आपदा प्रबंधन विभागों के साथ चर्चा के बाद लिया गया था।
सरकार ने यह भी घोषणा की कि तमिलनाडु राज्य बोर्ड को छोड़कर, अन्य बोर्डों द्वारा आयोजित की जाने वाली दसवीं कक्षा की परीक्षा भी निर्धारित होगी। उनके लिए विशेष कक्षाएं और छात्रावासों को खोलने की अनुमति दी जाएगी।

जापान में महसूस किए गए भूकंप के झटके

टोक्यो। उत्तरी जापान के पास शनिवार को भूकंप का तगड़ा झटका महसूस किया गया। जिससे टोक्यो में भी इमारतें हिल गईं जबकि उत्तरी तट के एक हिस्से के लिए सूनामी की चेतावनी जारी की गई। भूकंप में किसी क्षति या किसी के घायल होने की तत्काल कोई सूचना नहीं है। अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण के अनुसार भूकंप की तीव्रता 7.0 मापी गई और इसकी गहराई 54 किलोमीटर थी।
भूकंप के झटके शाम 6:10 बजे से पहले शुरू हुए। भूकंप का केंद्र देश के उत्तरपूर्व हिस्से में मियागी प्रान्त के तट के पास केंद्रित था, जिसे 2011 के भूकंप और सुनामी के दौरान भारी क्षति पहुंची थी। जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी ने भूकंप के तुरंत बाद मियागी प्रान्त के लिए एक मीटर तक की सूनामी की चेतावनी जारी की लेकिन इसे लगभग 90 मिनट बाद वापस ले लिया। जापान के सरकारी एनएचके टेलीविजन ने कहा कि हो सकता है। कि सुनामी पहले से ही मियागी तट के कुछ हिस्सों में पहुंच गई हो। वहां के अधिकारियों ने कहा कि नुकसान की तत्काल कोई सूचना नहीं है। एनएचके ने कहा कि भूकंप के चलते कुछ क्षेत्रों में अस्थायी तौर पर बिजली की आपूर्ति रूक गई और बुलेट ट्रेन सेवाएं निलंबित हो गई।
परमाणु नियामक प्राधिकरण ने कहा कि फुकुशिमा दाइची परमाणु संयंत्र सहित क्षेत्र में परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में कोई असामान्यता नहीं पाई गई है। जो 2011 के भूकंप और सुनामी में प्रभावित हुए थे। मियागी प्रान्त में टोम शहर की एक संकट प्रबंधन अधिकारी अकीरा वेकिमोतो ने कहा कि भूकंप आने पर वह अपने अपार्टमेंट में थीं। और उन्होंने अपने कमरे में लंबे समय कंपन महसूस किया।
तटीय शहर ओफुनातो एक होटल के कर्मचारी शोतारो सुजुकी ने कहा कि बिजली अस्थायी तौर पर कट गई थी। और लिफ्ट की सेवा थोड़ी देर के लिए बंद हो गई थी। लेकिन बिजली की आपूर्ति अब बहाल हो गई है। और कोई अन्य समस्या नहीं है। सुजुकी ने एनएचके से कहा, ”हमारे मेहमान चिंतित लग रहे थे। लेकिन वे सभी अब अपने कमरों में लौट गए हैं।

ममता का मोदी पर सब कुछ बेचने का आरोप

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को भाजपा की आलोचना करते हुए उसे दुनिया में ”सबसे बड़ी तोलाबाज (वसूली करने वाली)” पार्टी बताया और कहा कि उसे राज्य में कभी भी सत्ता में नहीं आने देना चाहिए। पूर्वी मेदिनीपुर जिले के हल्दिया में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए बनर्जी ने भगवा पार्टी पर दंगों की साजिश रचने, लोगों की हत्या करने तथा दलित लड़कियों को प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा भाजपा दुनिया में सबसे बड़ी ‘तोलाबाज’ है। देखिए पीएम केयर फंड के तहत उसने कितना पैसा इकट्ठा किया। अगर पश्चिम बंगाल के लोग शांति और दंगों से मुक्त राज्य चाहते हैं तो तृणमूल कांग्रेस ही एकमात्र विकल्प है। टीएमसी सुप्रीमो ने आरोप लगाया, लोगों की हत्या के लिए जिस पार्टी ने दंगे करवाए उसे कभी बंगाल में शासन करने मत देना। भाजपा में तो महिलाएं भी सुरक्षित नहीं हैं।’ बनर्जी ने कहा कि भाजपा लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव नहीं लड़ सकती। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में 27 मार्च से चुनाव होंगे। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सब कुछ बेचने का आरोप लगाया। इस महीने की शुरुआत में चुनाव प्रचार के दौरान चोटिल हुईं बनर्जी अभी व्हीलचेयर पर हैं। उन्होंने कहा, ”प्रधानमंत्री ने हर चीज बेच दी है। उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया। सरकार पहले ही रेलवे, कोयला क्षेत्र, बीएसएनएल, बीमा क्षेत्र और बैंकों का निजीकरण कर रही है। किसी दिन हल्दिया बंदरगाह भी बिक सकता है।
बनर्जी ने कहा चुनाव शुरू होने से पहले ईवीएम की 30 बार जांच होनी चाहिए ताकि यह सुनिश्चित हो कि उसमें कोई गड़बड़ी नहीं है। लेकिन अगर किसी मशीन में गड़बड़ी होती है तो उसके ठीक होने तक कृपया शांति रखे।
उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार संपर्क बढ़ाने के लिए हल्दिया और नंदीग्राम के बीच एक पुल बनाएगी। टीएमसी सुप्रीमो ने कहा हल्दिया में मछलियों के विकास के लिए एक केंद्र बनाया जाएगा। ताजपुर में 15,000 करोड़ रुपये की लागत से एक बंदरगाह बनाया जा रहा है। जिससे 25,000 नौकरियां पैदा होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के किसानों को दी जाने वाली वित्तीय मदद 6,000 रुपये से बढ़ाकर 10,000 रुपये प्रति वर्ष की जाएगी और उनके घरों में निशुल्क राशन दिया जाएगा।

4 देशों की महिलाओं से शादी पर लगाईं रोक

रियाद। सऊदी अरब ने अपने पुरुषों को पाकिस्तान, बांग्लादेश, चाड म्यांमार की महिलाओं से शादी करने पर रोक लगा दी है। सऊदी मीडिया में एक रिपोर्ट के हवाले से इसकी जानकारी दी है। एक आंकड़ों के अनुसार इन चारों देशों की लगभग 5,00,000 महिलाएं फिलहाल सऊदी अरब में रह रही हैं।
मक्का के पुलिस महानिदेशक मेजर जनरल असफ अल-कुरैशी के हवाले से कहा गया है।कि विदेशी महिलाओं से शादी करने के इच्छुक सऊदी पुरुषों को अब सख्त नियमों का सामना करना पड़ेगा। इस कदम का उद्देश्य सऊदी पुरुषों को विदेशी महिलाओं से शादी करने से रोकना है। अगर फिर भी कोई विदेशी महिला से निकाह करने का इच्छुक है।तो उसे पहले सरकार की सहमति लेनी होगी और आधिकारिक चैनलों के माध्यम से विवाह के लिए प्रार्थनापत्र देना होगा। इसके साथ ही तलाकशुदा पुरुषों को तलाक के छह महीने के भीतर दूसरी शादी के लिए प्रार्थना पत्र दाखिल करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
कुरैशी ने बताया कि आवेदकों की उम्र 25 साल से अधिक होनी चाहिए और प्रार्थना पत्र के साथ स्थनीय जिला महापौर के दस्तखत किए पहचान पत्रों के साथ ही फैमिली कार्ड की कॉपी भी अटैच करनी होगी। उन्होंने कहा कि यदि आवेदक पहले से ही शादीशुदा है तो उसे अस्पताल की एक रिपोर्ट अटैच करनी होगी। जिससे यह साबित हो सके कि उसकी पत्नी विकलांग है या क्रोनिक डिजीज से पीड़ित है या फिर बांझ है।
 

झांसी: पत्रकारिता में प्रतिदिन गिरावट क्यों ?

झांसी। बदलते समय और बदलती सोच के साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में दिन-प्रतिदिन गिरावट आ रही है। इस मुद्दे पर आज देश में गर्मा-गर्म बहस भी छिड चुकी है। देश के लोकतंत्र का मजबूत चौथा स्तम्भ (शेर) कहा जाने वाला पत्रकारिता का क्षेत्र भी अब इस भ्रष्टाचार से अछूता नही रहा। आज शनिवार को पैसे की चमक ने पत्रकारिता के मिशन को व्यवसाय बना दिया। ये ही कारण है कि आज देश में भ्रष्टाचार के कारण हाकाहार मचा है। मंहगाई आसमान छू रही है। राजनेता, अफसर देश को लूटने में लगे है और गुण्डे मवाली, सफेद खद्दर में संसद भवन में पिकनिक मना रहे है। पूंजीपतियो, राजनेताओ, अफसरो के बडे बडे विज्ञापनो ने पैसे के बल पर आज मीडिया के जरिये आम आदमी की समस्या और उस की उठने वाली आवाज को दबा कर रख दिया है। दूसरा सब से बडा सवाल आज पत्रकारिता के क्षेत्र में दिन प्रतिदिन बड़ती तादाद में अशिक्षित, कम पढे लिखे और अप्रशिक्षित संवाददाओ की एक बडी दिशाहीन सेना का प्रवेश भी पत्रकारिता के क्षेत्र में भ्रष्टाचार बढाने में बडा योगदान दे रहा है। ये वो लोग है, जो जेब में कलम लगाकर रोज सुबह शाम सरकारी अफसरो और दफ्तरो के चक्कर काटते रहते है। और ये भ्रष्ट अफसर इन लोगो को समय समय पर विज्ञापन, शराब और भोज का भोग लगाना नही भूलते...क्यो कि आज पत्रकारिता वो पत्रकारिता नही रही जब देश की आजादी में पत्रकारिता और पत्रकारो की एक अहम भूमिका हुआ करती थी। अंग्रेजी सरकार के विरूद्व देशवासियो को जागरूक करने में देश के समाचार पत्रो की भूमिका निर्णायक थी। उस समय प्रकाशित समाचार पत्र किसी निजी या विदेशी कंपनी के नही होते थे बल्कि कुछ सिरफिरे लोग समाचार पत्र या पत्रिका का प्रकाशन देशहित में करते थे। यह उनका देश प्रेम होता था। जो आम आदमी को पीडित होते देख खुद पीडा से कांप उठते थे और उन की कलम एक जुनून का रूप धारण कर लेती थी। एक पत्रकार की कलम ऐसी होनी चाहिए जो हजारो को देश हित में खड़ा कर सके।
आजादी की लड़ाई में पत्रकारो की अहम भूमिका थी।
इस काल के पत्रकार, लेखक, शायर, कवि बेहद सादा गरीबी रेखा से नीचे का जीवन व्यतीत करता था। उस की समाज में विशेष छवि हुआ करती थी। दिन भर मेहनत मजदूरी करने के बाद शाम को लालटेन की रोशनी में टाटल के कलम और रोशनाई में अपना खून पसीना मिलाकर अपने कलम के जौहर दिखाता था। आज शायद ही देश के किसी कोने में इस तरह के पत्रकार अपनी जीविकोपार्जित करने के बाद पत्रकारिता कर रहे हो।
आज यदि देश के मीडिया में व्याप्त भ्रष्टाचार पर नज़र डाली जाये तो मालूम होता है कि बडे स्तर पर तथाकथित रूप से प्रेस से जुडकर कुछ पूँजीपतियो ने अपने नापाक उद्देश्यों की पूर्ति के लिये देश के सब से शक्तिशाली संसाधन मीडिया को गुपचुप तरीके से कारपोरेट मीडिया का दर्जा दिला दिया। कारपोरेट मीडिया से मेरी मुराद है. मीडिया प्रोड़क्शन, मीडिया डिस्ट्रीब्यूशन, मीडिया प्रोपट्री। इन लोगो द्वारा मीडिया में पूंजीनिवेश कर एक ऐसी व्यवस्था बना दी गई है। जिस में मल्टीनेशनल उद्योगिक प्रतिष्ठानों और व्यापारिक घरानो का होल्ड होता चला गया। इस व्यवस्था में पूंजीनिवेशको, शेयर होल्डरो, और विज्ञापनदाताओ के हितो की रक्षा तथा अधिक से अधिक धन बटौरने के सिद्वांतो पर तेजी से चला जाने लगा और मीडिया के असल मकसद जनहित और राष्ट्रहित को पीछे छोड दिया गया। मीडिया में प्रवेश करते ही इन पूंजीपतियो ने प्रेस की विचारधारा बदलने के साथ ही लोगो की सोच भी बदल दी। माहौल को अपनी इच्छापूर्वक बनाने के अलावा व्यापार, उघोग, धर्म, राजनीति, संस्कृति, सभ्यता आज जीवन का कोई क्षेत्र ऐसा नही बचा जिस में मीडिया का प्रयोग वैध या अवैध रूप से न किया जा रहा हो। आज समाचार पत्रो पर विज्ञापनो का प्रभाव इस सीमा तक बढ गया है, कि कई समाचार पत्रो में संपादक को समाचार पत्र में विज्ञापन और मालिक के दबाव में अपना संपादकीय तक हटाना पड जाता है। वही संपादक लेख और समाचारो का चयन पाठक की रूची के अनुसार नही, बल्कि विज्ञापन पर उनके प्रभाव के अनुसार करता है।
दरअसल ये सारा का सारा बिगाड़ 1990 से तब फैला जब भारत ने अर्तंराष्ट्रीय मॉनेटरी फण्ड और विश्व बैंक के दबाव में वैश्वीकरण के नाम पर अपने दरवाजे अर्तंराष्ट्रीय कम्पनियो व पूंजीपतियो के लिये खोल दिये। भारत 30-35 करोड़ दर्शको और लगभग 50 करोड़ से ऊपर अखबारी पाठको का विश्व का सब से बडा बाजार है इसी लिये कई मल्टीनेशनल कम्पनिया तेजी के साथ भारत में दाखिल हुई और मीडिया के एक बडे क्षेत्र पर अपना कब्जा जमा लिया। वैश्वीकरण की नीतियो के कारण सरकार का मीडिया पर से नियंत्रण समाप्त हो गया और देश के लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ देश और जनता के हितो की सुरक्षा करने के बजाय चंद पूंजीपतियो की सेवा और इनके हाथो की कठपुतली बन गया। आज समाचार पत्र प्रकाशित करना एक उद्योग का रूप धारण कर चुका है। सरकार को डराने के साथ ही सरकार गिराने और बनाने में भी सहयोग प्रदान करने के साथ ही लोगो के विचारो को दिशाहीन कर उन्हे भटकाने का कार्य भी करने लगा है। आज किसी नामचीन गुण्डे को सिर्फ चंद घंटो में मीडिया अपने हुनर से माननीय, सम्मानीय, वरिष्ट समाजसेवी, राजनीतिक गुरू, महापुरूष एक लेख या विज्ञापन के द्वारा बना सकता है। वही आज समाचार पत्र और टीवी चैनल ऐसे मुद्दो को ज्यादा महत्व देते है जो विवादित हो।
प्रेस का व्यवसायीकरण होने के बाद अखबार मालिक का पत्रकारिता के प्रति नजरिया ही बदल गया। पैसे की चकाचौध में कारपोरेट मीडिया के नजदीक आम आदमी मंहगाई से मरे या भूख से, सरकारी गोदामो के आभाव में गेंहू बारिश में भीगे या जंगली जानवर खाये, सरकार भ्रष्ट हो या ईमानदार समाचार पत्र में मेटर हो या न हो। इस से फर्क नही पडता क्योंकि आज अखबार मालिको के ये सब लक्ष्य नही है। अधिक से अधिक विज्ञापन की प्राप्ति ही आज हर एक अखबार का असल लक्ष्य हो चुका है। सवाल ये उठता है कि मीडिया का उद्देश्य और लक्ष्य ही जब विज्ञापन प्राप्त करना हो जाये तो फिर सच्ची और मिशन पत्रकारिता का महत्व ही समाप्त हो जाता। क्यो कि जिन लोगो से पत्र बडे बडे विज्ञापन लेगा उनके खिलाफ वो अपने पत्र में कैसे लिखेगा, ये ही कारण है, कि आज शनिवार को पैसे की चमक ने पत्रकारिता मिशन को भ्रष्ट और बदनाम करने के साथ ही कुछ पत्रकारो को पत्रकारिता की आड़ में व्यवसायी बना दिया।

गोवंश के अवशेष मिलने पर किया चक्काजाम

कौशांबी। चरवा थाना क्षेत्र के ग्राम कमालपुर के पास 2 दिन पहले गोवंश के अवशेष मिलने से लोगों में काफी आक्रोश दिख रहा है। कमालपुर गांव के लोगों ने गुंगवा के बाग तिराहे पर किया चक्काजाम लोगों का कहना है, कि जल्द से जल्द ऐसे लोगों की गिरफ्तारी होनी चाहिए इस मौके पर चक्का जाम कर रहे ग्रामीणों ने कहा, कि जल्द से जल्द ऐसी लोगों की गिरफ्तारी करवाएं। धरना-प्रदर्शन चक्का जाम कर रहे ग्रामीणों को समझाते हुए चायल सीओ ने कहा कि मुकदमा दर्ज है। हमारे चरवा थाने के प्रशासन के लोग पूरा प्रयास कर रहे हैं।क्षेत्राधिकारी के समझाने के बाद प्रदर्शनकारी माने हैं और उन्होंने क्षेत्राधिकारी के आश्वासन पर प्रदर्शन समाप्त कर दिया है। इस मौके पर तमाम ग्रामीण मौजूद रहे।
विजय कुमार 

जनस्वास्थ्य विभाग में मिला गड़बड़ी का मामला

राणा ओबराय           
रोहतक। जनस्वास्थ्य विभाग में गड़बड़ियों का मामला एक बार फिर से सामने आया है। एक ठेकेदार ने पिछले सप्ताह विभाग के इंजीनियर इन चीफ और चीफ इंजीनियर से पंचकूला पहुंचकर शिकायत की थी। उस दौरान अपना शपथ पत्र देते हुए ठेकेदार ने गड़बड़ियों के गंभीर आरोप लगाए थे। एक बार फिर से पूरे मामले में ठेकेदार ने विभाग के अधीक्षण अभियंता यानी एसई को शपथ-पत्र के साथ शिकायत सौंपी है। यह भी दावा किया है, कि यदि मेरी शिकायत गलत हों तो मेरे खिलाफ पुलिस केस किया जाए। जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता राजीव गुप्ता को सौंपी शिकायत में ठेकेदार वीरेंद्र सचदेवा ने आरोप लगाए हैं, कि बीते साल दिसंबर में लेबर की सेलरी के लिए 35 टेंडर लगाए गए थे। जब इस प्रकरण में शिकायत की तो फरवरी में इन्हीं टेंडरों की संख्या गुपचुप तरीके से 35 के बजाय 22 कर दी। आरोप हैं, कि दिसंबर तक 50 हजार रुपये तक के टेंडर आफ लाइन लगाए जाते थे। साथ ही प्रति मजदूर 12-13 हजार रुपये ही होते थे। जनवरी में यह टेंडर आनलाइन किए गए तो प्रति व्यक्ति मजदूरी 10700 रुपये कर दी गई।
इनका दावा है कि करीब 150-170 कर्मचारियों को वेतन देने में भारी अनियमितताएं बरती गई हैं। इसलिए इस प्रकरण में निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए। यह भी मांग की है कि पूरे प्रकरण में अधिकारी मामले को जुटे हुए हैं। इन्होंने इस प्रकरण में शिकायत शपथ-पत्र पर देते हुए दावा किया है, कि गलत शिकायत है तो मेरे खिलाफ केस हो अन्यथा मैं गड़बड़ियों के खिलाफ कार्रवाई कराने कोर्ट में जाने के लिए बाध्य हो जाऊंगा।

लॉकडाउन-कर्फ्यू के पक्ष में नहीं है स्वास्थ्य मंत्री

राणा ओबराय      
चंडीगढ। हरियाणा में रफ्तार पकड़ रहे कोरोना के मामलों पर लगाम कसने के लिए आज शनिवार को सूबे के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेश के सभी उपायुक्त, सिविल सर्जन और पुलिस के आला अधिकारीयों के साथ बैठक की। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये हुई बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी मौजूद रहे। वहीं, इस बैठक में गृह मंत्री अनिल विज ने सभी अधिकारियों को कड़े शब्दों में प्रदेश में सख्ती बढ़ाने के निर्देश दिए। विज ने स्पष्ट कहा कि वो अभी किसी तरह के लॉक डाउन या नाईट कर्फ्यू के पक्ष में नहीं है। ऐसे में सख्ती ही एकमात्र बचाव का जरिया है। प्रदेश में फैल रही कोरोना की दूसरी लहर को लेकर हरियाणा सरकार गंभीर हो गई है। जिसके चलते आज हरियाणा में मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की अध्यक्षता में अहम बैठक हुई। जिसमें वीसी के जरिये सूबे के गृह मंत्री अनिल विज ने प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयों, उपायुक्तों और पुलिस कप्तानों को प्रदेश में फिर से सख्ती बढ़ाने के निर्देश दिए। विज ने कहा कि बीते वर्ष कोरोना से इसी महीने में लड़ाई शुरू हुई थी। लेकिन इस बार अभी वो इस पक्ष में नहीं है कि लॉक डाउन या फिर नाईट कर्फ्यू लगाया जाये। विज ने अधिकारियों को कहा कि अधिकारी बिना मास्क घूमने वालों लोगों पर सख्ती के लिए हर चौक चौराहे पर चालान काटने की मुहिम शुरू करें ताकि कोई भी बिना मास्क के घर से बाहर न निकले।
वहीं विज ने इस बैठक में यह भी स्पष्ट कर दिया, कि अगर आने वाले समय कोरोना पर लगाम कसने के लिए कड़े कदम उठाने पड़े तो वो भी उठाये जायेंगे। लेकिन अभी वो लोगों का काम धंधा बंद नहीं करना चाहते।क्योंकि, लोग पहले लॉक डाउन में काफी सहन कर चुके हैं।

हापुड़: टैक्स जमा करने का दिया गया नोटिस

अतुल त्यागी   
हापुड़। जनपद में एआरटीओ प्रशासन राजेश श्रीवास्तव ने बताया, कि जनपद में 1063 वाहन स्वामियों को नोटिस दिया गया है। जिन पर आरटीओ विभाग का बकाया है। उन्होंने कहा कि भवन गाड़ी स्वामी जल्द से, जल्द अपना बकाया जमा करें। भविष्य में होने वाली परेशानी से बचें, उन्होंने बताया, कि सरकार द्वारा जो कर निर्धारण किया गया है। उसका जल्द से जल्द भुगतान करना अति आवश्यक है। क्योंकि फाइनैंशल ईयर समाप्त होने के कगार पर है। इसलिए समस्त वाहन स्वामी शीघ्र अति शीघ्र अपना बकाया कर कार्यालय में आकर भुगतान करें।

मंदिर के निर्माण का किया गया शिलान्यास

अतुल त्यागी    
हापुड़। जनपद में महामाई मंदिर के निर्माण का शिलान्यास सांसद राजेंद्र अग्रवाल व विधायक विजयपाल आढ़ती द्वारा किया गया। पर्यटन मंत्रालय द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा महामाई मंदिर निर्माण हेतु 50 लाख की धनराशि स्वीकृत की गई। जिसके लिए आज शनिवार को सदर विधायक विजयपाल आढती व सांसद राजेंद्र अग्रवाल द्वारा शिलान्यास किया गया। जनपद स्थित मीनाक्षी रोड पर माता महामाई मंदिर के लिए यह राशि पर्यटन द्वारा पर्यटन विभाग द्वारा स्वीकृत की गई थी और जल्द ही मंदिर का निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाएगा। इस अवसर पर सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा, कि उत्तर प्रदेश सरकार के 4 साल बेमिसाल उत्तर प्रदेश सरकार में महिलाएं सुरक्षित हुई हैं और प्रधानमंत्री अवश्य योजनाओं का लाभ लोगों ने भरपूर उठाया है। वही, विधायक विजयपाल आढती ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में करोड़ों रुपए की योजनाओं से सड़क निर्माण के कार्य किए हैं। मंदिर के लिए धनराशि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा स्वीकृत की गई। उसके लिए वे मुख्यमंत्री का दिल से आभार प्रकट करते हैं और साथ ही उन्होंने कहा, कि उत्तर प्रदेश सरकार के 4 साल बेमिसाल है। इस दौरान उनके द्वारा क्षेत्र में आज शनिवार को भी करोड़ों के कार्य का शिलान्यास किया जा रहा है।

हापुड़: आग की चपेट में आने से मासूम की मौत

अतुल त्यागी    
हापुड़। चूल्हे के अंगारो से झुग्गी झोपड़ियो में आग लगीं। आधा दर्जन झुग्गी झोपड़िया आग में जलकर नष्ट हुई।आग की चपेट में आने से 6 वर्षीय मासूम की जलकर मौत हुई। हज़ारो रुपए की नगदी व अन्य समान भी आग में जलकर खाक। सिंभावली थाना क्षेत्र के रझेड़ा गाँव की घटना।

तुष्टिकरण का ‘खेला’ खेल रही हैं सीएम ममता

खड़गपुर। पश्चिम बंगाल में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, कि ममता दीदी बर्बरता का स्कूल चलाती हैं। जिसके पाठ्यक्रम में तोलाबाजी (उगाही), कट मनी, सिंडिकेट और अराजकता शामिल है। मोदी ने कहा, कि ममता बनर्जी वोट बैंक की राजनीति के लिए तुष्टिकरण का ‘खेला’ खेल रही हैं।
उन्होंने कहा, कि भाजपा ही बंगाल की असली पार्टी है। कांग्रेस, वाम दल और तृणमूल कांग्रेस ने दशकों तक बंगाल के विकास को रोके रखा है। और ममता बनर्जी केंद्र की योजनाओं को रोकने के लिए दीवार की तरह खड़ी हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ममता बनर्जी पर लोकतंत्र को कुचलने का आरोप लगाते हुए शनिवार को कहा कि लोगों को विकास के लिए अपने मताधिकार का उपयोग करना चाहिये। मोदी ने कहा कि विधान सभा का यह चुनाव केवल सत्ता में परिवर्तन के लिए ही नहीं बल्कि ‘सोनार बांग्ला’ के निर्माण के लिए भी है। उन्होंने कहा कि संविधान ने हमें वोट की आजादी दी है। लेकिन दीदी इस ताकत को छीनती रही है। वर्ष 2018 में पंचायत चुनाव के दौरान लोगों के वोट के अधिकारों को कुचला गया जो कि लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।
उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को समझना चाहिए कि संविधान की मर्यादा से बड़ा कुछ भी नहीं है। उन्होंने राज्य की जनता से पढाई, दवाई, कमाई और सिंचाई की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए निर्भय होकर वोट करने का अनुरोध किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने पर राज्य में कानून का शासन स्थापित होगा और गैर कानूनी कार्य करने वालों के खिलाफ सख्त कर्रवाई होगी।
प्रधानमंत्री ने भाजपा को बंगाल की पार्टी बताते हुए कहा कि जनसंघ के जन्मदाता श्यामा प्रसाद मुखर्जी इसी राज्य के सपूत थे। भाजपा पर बंगाल का कर्ज है। पार्टी पश्चिम बंगाल को विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाना चाहती है। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता में आने पर सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास हासिल करेगी। मोदी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को जनता ने दस वर्ष सत्ता में रहने का अवसर दिया लेकिन दीदी ने बंगाल को बर्वाद कर दिया। लोगों के साथ विश्वासघात किया गया और युवाओं के सपने चूर चूर कर दिये गये। इस दौरान लूट, मार, भ्रष्टाचार और कुशासन रहा।
उन्होंने कहा दीदी विकास के सामने दीवार बन कर खड़ी हो जाती है। उन्होंने कहा कि कि पहले कांग्रेस और  वामपंथियों और अब तृणमूल ने विकास को अवरुद्ध किया है। उन्होंने कहा कि दीदी ने दलित, आदिवासी और पिछड़ों का हक छीना है। यहां वोट बैंक की राजनीति के लिए तुष्टिकरण किया जा रहा है। मोदी ने कहा कि कल रात 50-55 मिनट के लिए वाट्सअप, फेसबुक और इस्टाग्राम डाउन हो गया था, तो लोगों के मन में सवाल खड़े हो गये थे। पश्चिम बंगाल में 50-55 साल से विकास डाउन हो गया है।

शताब्दी एक्सप्रेस में लगी आग, यात्री सुरक्षित

 अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। जनपद रेलवे स्टेशन पर शनिवार सुबह दिल्ली से लखनऊ को जाने वाली लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के पार्सल डिब्बे में अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। काफी मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया आग लगने के कारण स्टेशन पर रेल काफी देर तक खड़ी रही। बाद में दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन की बोगी को अलग कर शताब्दी एक्सप्रेस को लखनऊ के लिए रवाना कर दिया गया।
दमकल विभाग के अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली से लखनऊ को जाने वाली 12004 दिल्ली लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन सुबह तकरीबन 6:10 बजे दिल्ली स्टेशन से लखनऊ के लिए रवाना हुई थी। जैसे ही ट्रेन सुबह 7:45 पर गाजियाबाद स्टेशन पर पहुंची तो अचानक इसके पार्सल बोगी से धुआं निकलता दिखाई दिया। इसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने दमकल विभाग को इसकी सूचना दी जिसके बाद दमकल वाहनों की मदद से आग को बुझाने का प्रयास किया। रेलवे अधिकारियों का कहना है। कि उन्होंने घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी है। अधिकारियों के निर्देश पर मामले की जांच को आगे बढ़ाया जाएगा। दमकल विभाग के अधिकारी का कहना है, कि आशंका है, कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी हो।

कितनी पीढ़ियों तक आरक्षण जारी रहेगा: एससी

 अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मराठा कोटा मामले की सुनवाई के दौरान शुक्रवार को जानना चाहा, कि कितनी पीढ़ियों तक आरक्षण जारी रहेगा। शीर्ष न्यायालय ने 50 प्रतिशत की सीमा हटाए जाने की स्थिति में पैदा होने वाली असमानता को लेकर भी चिंता प्रकट की। महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ से कहा कि कोटा की सीमा तय करने पर मंडल मामले में (शीर्ष न्यायालय के) फैसले पर बदली हुई परिस्थितियों में पुनर्विचार करने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि न्यायालयों को बदली हुई परिस्थितियों के मद्देनजर आरक्षण कोटा तय करने की जिम्मेदारी राज्यों पर छोड़ देनी चाहिए और मंडल मामले से संबंधित फैसला 1931 की जनगणना पर आधारित था। मराठा समुदाय को आरक्षण प्रदान करने वाले महाराष्ट्र के कानून के पक्ष में दलील देते हुए रोहतगी ने मंडल मामले में फैसले के विभिन्न पहलुओं का हवाला दिया। इस फैसले को इंदिरा साहनी मामला के रूप में भी जाना जाता है।
उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोगों (ईब्ल्यूएस) को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का केंद्र सरकार का फैसला भी 50 प्रतिशत की सीमा का उल्लंघन करता है। इस पर पीठ ने टिप्पणी की, ‘यदि 50 प्रतिशत की सीमा या कोई सीमा नहीं रहती है। जैसा कि आपने सुझाया है। तब समानता की क्या अवधारणा रह जाएगी। आखिरकार, हमें इससे निपटना होगा। इस पर आपका क्या कहना है।इससे पैदा होने वाली असमानता के बारे में क्या कहना चाहेंगे। आप कितनी पीढ़ियों तक इसे जारी रखेंगे।
पीठ में न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर, न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता और न्यायमूर्ति रविंद्र भट शामिल हैं। रोहतगी ने कहा कि मंडल फैसले पर पुनर्विचार करने की कई वजह है। जो 1931 की जनगणना पर आधारित था। साथ ही, आबादी कई गुना बढ़ा कर 135 करोड़ पहुंच गई है।
पीठ ने कहा कि देश की आजादी के 70 साल गुजर चुके हैं। और राज्य सरकारें कई सारी कल्याणकारी योजनाएं चला रही हैं। तथा क्या हम स्वीकार कर सकते हैं कि कोई विकास नहीं हुआ है। कोई पिछड़ी जाति आगे नहीं बढ़ी है। न्यायालय ने यह भी कहा कि मंडल से जुड़े फैसले की समीक्षा करने का यह उद्देश्य भी है। कि पिछड़ेपन से जो बाहर निकल चुके हैं। उन्हें अवश्य ही आरक्षण के दायरे से बाहर किया जाना चाहिए।
इस पर रोहतगी ने दलील दी, ‘हां, हम आगे बढ़े हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। कि पिछड़े वर्ग की संख्या 50 प्रतिशत से घट कर 20 प्रतिशत हो गई है। देश में हम अब भी भूख से मर रहे हैं। मैं यह नहीं कहने की कोशिश कर रहा हूं कि इंदिरा साहनी मामले में फैसला पूरी तरह से गलत था। और इसे कूड़ेदान में फेंक दिया जाए। मैं यह मुद्दा उठा रहा हूं कि 30 साल हुए हैं। कानून बदल गया है। आबादी बढ़ गई है। पिछड़े लोगों की संख्या भी बढ़ गई है।
उन्होंने कहा कि ऐसे में जब कई राज्यों में आरक्षण की सीमा 50 प्रतिशत से अधिक है। तब यह नहीं कहा जा सकता कि यह ”ज्वलंत मुद्दा नहीं है।और 30 साल बाद इस पर पुनर्विचार करने की जरूरत नहीं है। मामले में बहस बेनतीजा रही और सोमवार को भी दलील पेश की जाएगी। गौरतलब है। कि शीर्ष न्यायालय बंबई उच्च न्यायालय के उस फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है। जिसमें राज्य के शैक्षणिक संस्थानों में दाखिले और सरकारी नौकरियों में मराठा समुदाय को आरक्षण देने को कायम रखा गया था।

सीएम ने पूजन कर सर्व कल्याण की कामना की

 पंकज कपूर 
हरिद्वार। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शनिवार को हरकी पैड़ी पहुंचकर मां गंगा की पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत शनिवार को देहरादून से चलकर हरकी पैड़ी पहुंचे। यहां पर उनका विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द्र अग्रवाल, राज्यमंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान, जिला महामंत्री विकास तिवारी, मेला अधिष्ठान के अधिकारियों और श्री गंगा सभा के सभापति कृष्ण कुमार शर्मा, अध्यक्ष प्रदीप झा, महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, स्वागत मंत्री सिद्धार्थ चक्रपाणी, उज्ज्वल पंडित सहित अन्य लोगों ने स्वागत किया। इसके बाद श्रीगंगा सभा के आचार्य अमित शास्त्री ने मंत्रोउच्चारण के साथ मुख्यमंत्री श्री रावत से मां गंगा की पूजा-अर्चना ओर आरती कराई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मां गंगा से कुम्भ की सफलता और सभी के कल्याण की कामना की। इसके बाद श्रीगंगा सभा कार्यालय में पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को गंगाजलि, प्रसाद भेंट किया। इसके बाद मुख्यमंत्री नीलधारा टापू स्थित मीडिया सेंटर पहुंचे। जहां उन्होंने कुम्भ के लिए कराए गए 12023.50 लाख रूपये की लागत से 36 कार्यों का लोकार्पण किया। इस मौके पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, मेलाधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी सी रविशंकर, आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल, अपर मेलाधिकारी डाॅ. ललित नारायण मिश्र, हरबीर सिंह, रामजी शरण शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

लक्ष्मी स्टेशन होगा, झांसी रेलवे स्टेशन का नाम

 अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के एक और रेलवे स्टेशन का नाम बदलने वाला है। झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मी बाई रेलवे स्टेशन होगा। इससे पहले भी यूपी के कई रेलवे स्टेशनों के नाम बदले जा चुके हैं।
बता दें कि सबसे पहले यूपी के वाराणसी जंक्शन से 19 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मुगलसराय स्टेशन का नाम बदल कर पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन किया गया था।
ये स्टेशन यूपी के चंदौली जिले के शहर मुगलसराय में आता है। इसके बाद वाराणसी के मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस स्टेशन रखा गया है। इलाहाबाद जंक्शन का नाम भी बदल कर प्रयागराज जंक्शन कर दिया गया। इसके अलावा पिछले साल ही नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम बदल कर सिद्धार्थनगर हो गया है।

होली-बैसाखी के सहारे आंदोलन का भविष्य

 अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का केंद्र सरकार के खिलाफ गुस्सा बढ़ता जा रहा है। 26 मार्च को भारत बंद के बाद होली और वैसाखी पर भी किसानों ने देशव्यापी प्रदर्शन करने की घोषणा की है। होली पर किसान संगठन होलिका दहन की जगह कृषि कानून की प्रतियां जलाएंगे।
वहीं वैसाखी पर हजारों किसान बॉर्डर पर जुटेंगे। हालांकि दिल्ली की सीमाओं पर कम होती भीड़ से भी किसान संगठन चिंतित नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि अभी भीड़ जरूर कम हो रही है। लेकिन आगामी त्यौहार के सहारे आंदोलन को फिर से खड़ा करने की कोशिश करेंगे।
किसान नेताओं ने अमर उजाला को बताया कि 23 मार्च को हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश समेत देश के कई राज्यों से किसानों के जत्थे 23 मार्च को भगत सिंह के शहीदी दिवस पर दिल्ली के टीकरी बॉर्डर पर पहुंचेंगे।
होली के त्योहार को लेकर संगठन की तैयारी हो चुकी है। होली पर गांवों से हजारों किसान दिल्ली की बॉर्डर जुटेंगे। सभी मिलकर यहां शांतिपूर्ण तरीके से होली का त्योहार मनाएंगे।
इसके अलावा बैसाखी पर भी किसान बॉर्डर पर जुटेंगे। हर गांव से कम से कम दस किसानों को आंदेालन में शामिल होने का आह्वान किया जा रहा है। सभी बॉर्डर से कम होती भीड़ किसान संगठनों के लिए चिंता का विषय बनी हुई है। हर प्रदर्शन स्थल पर गिने चुने ही लंगर चल रहे हैं। इसके अलावा अधिकांश जत्थे भी खाली हो गए हैं। दिल्ली में बढ़ती गर्मी के कारण भी किसानों की संख्या कम हो रही है।
इधर, किसानों का सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन जारी है। भारत बंद के लिए किसान संगठनों ने लोगों से समर्थन मांगना शुरू कर दिया है। किसानों का कहना है, कि ये बंद शांतिपूर्ण तरीके से होगा। इस दौरान अगर कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की परेशानी खड़ी करेगा तो उसे सीधे पुलिस संगठन के पास सौंप दिया जाएगा।

कोविड प्रोटोकॉल के कड़ाई से पालन के निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रशासन को निर्देश दिए हैं, कि नवा रायपुर के शहीद वीर नारायण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में रोड सेफ्टी टी 20 वर्ल्ड क्रिकेट सीरीज के खेले जा रहे मैचों के दौरान दर्शकों की संख्या स्टेडियम की क्षमता के 50 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो। खेल के दौरान स्टेडियम के अंदर और बाहर कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि मैच के दौरान दर्शक मास्क लगाए रहें। यदि दर्शक मास्क नहीं लगाए पाए जाते हैं तो उन पर अर्थदण्ड अधिरोपित करने के साथ कड़ी कार्रवाई की जाए।

दिल्ली पुलिस ने किया हाईटेक गैंग का पर्दाफाश

 अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने सरकारी नौकरी के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षा में पेपर लीक कराने वाले हाई टेक मुन्ना भाई गैंग का पर्दाफाश करते हुए एक युवती समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि इस गैंग की सरगना युवती है। जो खुद को आईपीएस बताती थी। लोगों को प्रभाव में लेने के लिए युवती अपने भाई और ब्वॉयफ्रेंड को सब इंस्पेक्टर व हेड कांस्टेबल की नकली वर्दी पहनाकर साथ चलती थी। आरोपियों की पहचान वैशाली, भाई लव कुमार, रोहित और हिमांशू के तौर पर की गई है। इस गैंग का खुलासा उस समय हुआ था, जब पिछले दिनों नारायणा के एक सेंटर पर रोहित नामक एक युवक को नकल करते हुए पकड़ा गया था। उसी से हुई पूछताछ के बाद इस गैंग का पर्दाफाश हुआ है।
वेस्ट डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी उर्विजा गोयल ने बताया कि पुलिस ऑनलाइन एग्जाम में चीटिंग करने वालों पर नजर रख रही है। पिछले दिनों नारायणा इलाके में स्थित ॐ एंड चंद्र एसोसिएट नामक एग्जामिनेशन सेंटर पर नकल करते हुए एक युवक को पकड़ा गया था। सोनीपत जवाहर नगर निवासी रोहित को मोबाइल फोन से चीटिंग करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था। इसके खिलाफ 4 मार्च को केस दर्ज कर लिया गया था। पूछताछ में रोहित ने इस पूरे रैकेट का पर्दाफाश किया। रोहित के पास से मोबाइल फोन बरामद किया गया था। मोबाइल फोन का डाटा रिकवर करने के दौरान कॉल डिटेल्स आदि की जांच में हुई। जिसके बाद तीन लोगों के बारे में जानकारी मिली। जिनके नाम वैशाली, लव कुमार और हिमांशू थे. इन्हें दिल्ली और हरियाणा में अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया गया।

यूके: गुरु के चरणों में ध्यान से मिलती है खुशी

 पंकज कपूर   
देहरादून। संत राजिन्दर सिंह महाराज ने कहा, कि सृष्टि के शुरूआत से ही इंसान की यही कोशिश रही है, कि वो अपनी ज़िंदगी को खुशियों से जिये और इसके लिए वह उन कार्यों करने की कोशिश करता है। जिनसे उसे लगता है कि उसे खुशी मिलेगी। महाराज ने कहा, कि हममें से बहुत से लोग यह सोचते हैं, कि जब हमारा शरीर तंदुरुस्त होगा, हमारे पास बहुत सारा पैसा होगा। हमारे रिश्ते-नाते बेहतर होंगे। एक बहुत बड़ा घर होगा या एक सफल कैरियर होगा तो हमें खुशी मिलेगी। इसके लिए हम यही कोशिश करते हैं कि दुनिया में कुछ बन जाएं।अपने शरीर को स्वस्थ रखें। अपने लिए कुछ नाम कमाएं। कुछ धन-दौलत कमाएं। अपने परिवार व रिश्ते-नातों को अच्छी तरह निभायें और इन सब बाहरी खुशियों को पाने के लिए हम अपना बेशकीमती समय उन कार्यों में ही लगा देते हैं। महाराज जी ने बताया कि हममें से अधिकतर लोग अपने आपको शरीर और मन मानते हैं। हम अपना सारा समय अपनी शारीरिक जरूरतों (भोजन, आवास, कपड़ा) की पूर्ति और इसे आराम देने के लिए विभिन्न प्रकार के आनंद की प्राप्ति में ही लगा देते हैं। इसके साथ-साथ हम अपने बौद्धिक विकास के लिए अपना अधिकतर समय एक अच्छी शिक्षा की प्राप्ति में लगाते हैं। जिससे कि हम एक सुनहरा उज्जवल भविष्य बनाकर इस दुनिया में नाम-शौहरत और दौलत कमा सकें। उन्होंने कहा कि अगर हम ध्यान से देखें तो हम पाते हैं कि इस दुनिया की शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक खुशियाँ प्राप्त करने पर हमें इनके खो जाने का डर हमेशा बना रहता है। इनमें से कोई भी खुशी स्थायी नहीं है। क्योंकि इस दुनिया की हर चीज़ नाशवान है। ऐसे में हम सोचते हैं कि क्या कोई ऐसी खुशी है। जो सदा-सदा के लिए हमारे साथ रहती है? तब हमारा ध्यान अपने धर्मग्रंथों व संतों-महापुरुषों की शिक्षाओं की ओर जाता है। महापुरुष समझाते हैं कि अगर हमें सच्ची खुशी पानी हैं तो वह इस बाहर की दुनिया में नहीं बल्कि हमारे भीतर ही हमें मिलेगी, जिसके लिए हमें अपने ध्यान को इन बाहरी दुनिया के आकर्षणों से हटाकर अपनी आत्मा की ओर लगाना होगा। जिसके लिए हमें वक्त के किसी पूर्ण गुरु के चरण-कमलों में पहुँचकर उनसे ध्यान-अभ्यास की विधि सीखनी होगी और जैसे-जैसे हम ध्यान-अभ्यास में नियमित रूप से समय देते हैं तो हम अपने अंतर में प्रभु की ज्योति और श्रुति के साथ जुड़कर सच्ची खुशी का अनुभव करते हैं, जिससे कि हमारा इस जीवन को देखने का नज़रिया ही बदल जाता है। ध्यान-अभ्यास के ज़रिये हमारा मिलाप प्रभु से हो जाता है और हम हमेशा-हमेशा की खुशी को पा लेते हैं। ध्यान-अभ्यास की यह विधि प्रत्येक इंसान कर सकता है चाहे वह बच्चा हो या बुजुर्ग। हमें चाहिये कि हम छोटी उम्र से ही ध्यान एकाग्र करना सीखें जिससे कि बड़े होने पर यह हमारी एक आदत बन जाए। जो लोग ध्यान एकाग्र करना सीख लेते हैं वह अपना ध्यान संसार की चिंताओं से हटाकर स्वयं को अंतर के आनंद से जोड़ना सीख लेते हैं और अपने अंतर में सदा-सदा की खुशी का अनुभव करते हैं। जब हम अपनी दैनिक जीवन की जिम्मेदारियाँ निभा रहे होंगे, तब भी यह खुशी हमारे साथ रहेगी। जब हम काम पर जाएंगे, चाहे ट्रैफिक में गाड़ी चला रहे हों या शॉपिंग करते समय या बच्चों का पालन-पोषण करते समय दिन-रात, हर समय, हर पल यह खुशी हमारे साथ रहती है। ध्यान-अभ्यास करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि जब हमने अंतर प्रभु की दिव्य-ज्योति और श्रुति के साथ जुड़ते हैं तो हमें यह अनुभव हो जाता है कि प्रभु की यह शक्ति न सिर्फ इंसानों को बल्कि सृष्टि के सभी जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों आदि को भी जान दे रही है। तब हमारे अंदर सभी के प्रति प्रेम, अहिंसा और करूणा का भाव उत्पन्न होता है।

'हार्डवेयर' से फेसबुक को बनाएं सेफ, ऑप्शन

वाशिंगटन डीसी। अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सेफ्टी ऑप्शन को आगे बढ़ाते हुए, फेसबुक ने अब अपने यूजर्स के लिए एंड्रॉयड और आईओएस पर भी अधिक एन्क्रिप्शन समर्थन के लिए एक हार्डवेयर सिक्योरिटी की’ को सक्षम किया है। नया ऑथेंटिकेशन स्टेप यूजर्स के लिए एक हार्डवेयर ‘सिक्योरिटी की’ का उपयोग अपने अकाउंट में लॉग इन करने की अनुमति देगा। 
ध्यान दें कि आपके फेसबुक अकाउंट में लॉग इन करने के लिए एक हार्डवेयर ‘सिक्योरिटी की’ सपोर्ट नया नहीं है। यह सुविधा 2017 के बाद से डेस्कटॉप के लिए फेसबुक वेबसाइट पर मौजूद है। अब इस टेक्नोलॉजी को यूजर्स के लिए एंड्रॉयड और आईओएस पर रोल आउट किया जा रहा है। नई हार्डवेयर ‘सिक्योरिटी की’ फेसबुक द्वारा उपयोग किए जाने वाले टू-फैक्टर सिक्योरिटी सिस्टम के विस्तार के रूप में आती है।
कैसे काम करता है ये डिवाइस...
‘हार्डवेयर की’ एक छोटा प्लग-इन डिवाइस है। जिसे सीधे कंप्यूटर या स्मार्टफोन से जोड़ा जा सकता है। डिवाइस में एक एन्क्रिप्टेड की दी गई है। इसे ऑनलाइन सर्विस या एप्लिकेशन में लॉग इन के लिए सुरक्षा उपाय के रूप में उपयोग किया जा सकता है।
इस तरह की ‘सिक्योरिटी की’ ऑनलाइन फिशिंग और हैक के प्रयासों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करती हैं। चूंकि वे एक फिजिकल फॉरमेट में मौजूद हैं। इसलिए उन्हें किसी भी रूप में ऑनलाइन कॉपी नहीं किया जा सकता है। इस तरह के डिवाइस को राजनेताओं जैसे हाई प्रोफाइल लोगों द्वारा उपयोग करने की सिफारिश की जाती है।
मान लीजिए कि आपके पास पहले से ही हार्डवेयर ‘सिक्योरिटी की’ है। या आप एक खरीदने की योजना बना रहे हैं। उस स्थिति में, आप सेटिंग मेनू के अंतर्गत केवल सिक्योरिटी और लॉगिन पेज पर जाकर अपने फेसबुक अकाउंट से इसे कनेक्ट कर सकते हैं। जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है। हार्डवेयर की टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन के विस्तार के रूप में कार्य करेगी, अनिवार्य रूप से टेक्स्ट मैसेज या ऐप वेरीफिकेशन ऑप्शन की जगह लेगी।
इस्तेमाल करना है बेहद आसान....
सिक्योरिटी की के साथ खास बात ये है कि इनका उपयोग करना बहुत आसान है। वे पोर्टेबल हैं। और इन्हें कीचेन में लगाकर रखा जा सकता है। ये ‘की’ कई ऑनलाइन ऐप और सर्विस को सपोर्ट करती हैं। ऐसी कई सर्विस तक पहुंच प्राप्त करने के लिए सिंगल की का उपयोग किया जा सकता है। इसलिए, अपने मोबाइल यूजर्स के लिए सुरक्षित लॉगिन इंटरफेस फेसबुक का नया कदम काफी शानदार है।

प्रशासन ने होली समारोह पर लगाया प्रतिबंध

अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना तेजी से फैल रहा है। ऐसे में संक्रमण की रफ्तार को कम करने के लिए शासन और प्रशासन ने सख्ती लागू करने का फैसला किया है।  वहीं जिले में प्रशासन ने सार्वजनिक होली समारोह पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है। जारी आदेश के मुताबिक सार्वजनिक होली समारोह प्रतिबंधित रहेगा। वहीं कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों पर प्रशासन ने कार्रवाई का आदेश जारी किया है।

अमिताभ को अवॉर्ड्स से किया गया सम्मानित

 अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। महानायक अमिताभ बच्च्न को प्रतिष्ठित इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म आर्काइव्स अवॉर्ड (एफ आई ए एफ ) से सम्मानित किया गया है। अमिताभ को ये सम्मान शुक्रवार 19 मार्च की शाम एक वर्चुअल कार्यक्रम में ​हॉलीवुड फिल्ममेकर्स मार्टिन स्कोर्सेसे और क्रिस्टोफर नोलन से प्राप्त हुआ। अमिताभ बच्चन इस अवॉर्ड को पाने वाले पहले भारतीय हैं। उनसे पहले ये सम्मान अभी त​क किसी को नहीं मिला। एफआईएएफ कार्यक्रम में हर साल फिल्म जगत से जुड़े लोगों को सम्मानित किया जाता है। जो किसी ना किसी तरीके से फिल्म से जुड़ी चीजों को सहेजने में मदद करते हैं।
अमिताभ बच्चन ने अपने इंस्टाग्राम और ट्विटर पर अपनी कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए फैंस को इस बात की जानकारी दी है। तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा, ‘मुझे 2021 एफ ए एफ अवार्ड से सम्मानित किया गया है। इसे पाकर मैं मैं बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूं। समारोह में मुझ पर पुरस्कार देने के लिए एफआईएएफ और मार्टिन स्कॉर्सेस और क्रिस्टोफर नोलन को धन्यवाद। भारत की फिल्म विरासत को बचाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता अटल है। फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन अपनी फिल्मों को बचाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी आंदोलन बनाने के अपने प्रयासों को जारी रखेगा।
आपको बता दें कि 78 वर्षीय बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार अमिताभ बच्चन का नाम एफआईएएफ संबद्ध फिल्म हेरिटेज फाउंडेशन द्वारा नॉमिनेट किया गया था। एफआईएएफ की स्थापना फिल्म निमार्ता और आर्काइविस्ट शिवेंद्र सिंह डूंगरपुर द्वारा की गई एक गैर-लाभकारी संगठन है। वहीं एफआईएएफ का मुख्य उद्देश्य भारत की फिल्मी विरासत के संरक्षण, रेस्टोरेशन, प्रलेखन, प्रदर्शनी और अध्ययन के लिए कार्य करना है।
बिग बी के वर्कफ्रंट की बात करें तो वह जल्द ही फिल्म चेहरे में नजर आने वाले हैं। इस फिल्म में उनके साथ एक्टर इमरान हाशमी और रिया चक्रवर्ती मुख्य भूमिका है। इसके अलावा अमिताभ बच्चन के ‘ब्रह्मास्त्र झुंड और ‘मेडे’ जैसी फिल्मों में भी नजर आएंगे। बता दें कि ‘मेडे’ अजय देवगन द्वारा निर्देशित थ्रिलर मूवी है।

आईपीएल की शुरुआत, नई गाइडलाइंस जारी

 अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। आईपीएल की शुरूआत 9 अप्रैल से होनी है और टूनार्मेंट का फाइनल मैच 30 मई को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के 14वें सीजन के लिए बीसीसीआई ने गाइडलाइंस जारी कर दी है।
भारत और इंग्लैंड के खिलाड़ियों को आईपीएल के लिए इस बार खुद को क्वारंटाइन नहीं करना होगा और वह नेशनल टीम के बायो-बबल से फ्रेंचाइजी के बायो-बबल में प्रवेश कर सकेंगे।
बीसीसीआई ने यह भी साफ किया है, कि लीग में हिस्सा ले रहे भारतीय खिलाड़ियों को कोविड-19 वैक्सीन नहीं लगेगी और उनको अपने समय का इतजार करना होगा।
आईपीएल 2021 (आईपीएल 2021)की शुरूआत 9 अप्रैल से होनी है और टूनार्मेंट का फाइनल मैच 30 मई को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। बीसीसीआई के अपने एक नोट में लिखा, ‘जो खिलाड़ी भारत और इंग्लैंड सीरीज के लिए बनाए गए बायो-बबल से सीधे आएंगे वह बिना किसी क्वारंटाइन पीरियड के फ्रेंचाइज के स्कावड को जॉइन कर सकेंगे।
हालांकि, उनको फ्रेंचाइजी के टीम होटल में टीम बस या फिर चार्टड फ्लाइट से आना होगा और इस बात की पुष्टि करनी होगी। अगर चार्टड फ्लाइट्स का इस्तेमाल होता है। तो क्रू मेंबर के सारे प्रोटोकॉल को फॉलो करना होगा। अगर ट्रैवल व्यवस्था से बीसीसीआई के चीफ मैडिकल आॅफिसर संतुष्ट होते हैं। तो वह खिलाड़ी फ्रेंचाइजी के टीम बबल में बिना क्वारंटाइन और बिना आरटी-पीसीआर टेस्ट के जा सकेंगे।
कुल मिलाकर 12 बायो-बबल बनाए जाएंगे जिसमें से 8 टीमों और स्पोर्ट स्टाफ के लिए, दो बबल मैच अधिकारियों और टीम मैनेजमेंट के लिए और दो बायो-बबल ब्रॉडकास्ट कमेंटेटर और क्रू के लिए होंगे। बीसीसीआई ने साफ किया है। कि उनका कोई भी अधिकारी किसी भी खिलाड़ी, स्पोर्ट स्टाफ, मैच मैनेजमेंट टीम या ब्रॉकास्ट क्रू के संपर्क में नहीं आएगा।
टीम के मालिक जो बायो-बबल का पार्ट बनना चाहते हैं। उनको अपने होटल रूम में 7 दिनों का क्वारंटाइन पीरीयड पूरा करना होगा। बीसीसीआई हर फ्रेंचाइजी टीम के लिए चार सिक्योरिटी स्टाफ नियुक्त करेगी, जिनका काम बायो-सिक्योर एन्वॉयरमेंट के नियमों पर निगरानी रखना होगा।
बीसीसीआई के बताया है। कि लीग में भाग ले रहे खिलाड़ियों को वैक्सीन नहीं लगेगी और उनको अपनी बारी का बाकी लोगों की तरह इंतजार करना होगा। बीसीसीआई के अनुसार बॉल से कोरोना के फैलने के कम चांस हैं। गेंद को स्टैंड में जाने या मैदान से बाहर जाने पर बॉल को सैनिटाइज किया जाएगा और फिर खिलाड़ियों को इस्तेमाल के लिए दिया जाएगा। गेंद पर थूक लगाना आईपीएल 2021 में भी बैन रहेगा।
 

राजनाथ-अमेरिकी रक्षामंत्री के बीच बातचीत

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली/ वाशिंगटन डीसी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका के अपने समकक्ष लॉयड ऑस्टिन से शनिवार को मुलाकात के बाद कहा, कि बातचीत बहुत व्यापक और सार्थक रही। उन्होंने कहा, ”हम भारत-अमेरिका वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को पूरी क्षमता के साथ आगे बढ़ाने के लिए संकल्पबद्ध हैं। हम भारत-अमेरिका संबंध को 21वीं सदी की सबसे अहम साझेदारियों में से एक बनाने की उम्मीद करते हैं। ऑस्टिन तीन देशों की यात्रा के कार्यक्रम के तहत जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा के बाद भारत आए हैं।
राजनाथ ने बताया कि अमेरिकी रक्षा मंत्री के साथ सेनाओं के बीच आपसी भागीदारी, सूचना साझा करने और साजोसामान संबंधी सहयोग समेत अन्य मुद्दों पर बातचीत की गई। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय और बहुपक्षीय अभ्यासों का भी जायजा लिया। दोनों नेताओं ने भारतीय सेना और अमेरिका की हिंद-प्रशांत कमान, मध्य कमान और अफ्रीका कमान के बीच सहयोग बढ़ाने पर सहमति जताई। राजनाथ ने बताया कि अमेरिका के साथ एलईएमओए, सीओएमसीएएसए और बीईसीए जैसे द्विपक्षीय रक्षा समझौतों को लागू करने के कदमों पर केंद्रित बातचीत की गई। उन्होंने कहा मैं अमेरिका के रक्षा उद्योग को भारत के रक्षा क्षेत्र में उदार एफडीआई नीतियों का फायदा उठाने के लिए आमंत्रित करता हूं।” उन्होंने कहा कि भारत, अमेरिका के साथ मजबूत रक्षा साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। वहीं ऑस्टिन ने मुलाकात के बाद कहा सिंह और मैंने बहुत ‘सार्थक चर्चा’ की।
अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने तेजी से बदल रहे अंतरराष्ट्रीय परिदृश्य में भारत को एक बहुत महत्वपूर्ण साझेदार बताते हुए  कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध मुक्त एवं खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का केंद्र हैं। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा मेरे और सिंह के बीच काफी उपयोगी वार्ता हुई।
ऑस्टिन ने अपनी भारत यात्रा के बारे में कहा मैं हमारे सहयोगियों एवं साझेदारों के प्रति हमारी मजबूत प्रतिबद्धता को लेकर बाइडन-हैरिस प्रशासन का संदेश पहुंचाना चाहता था। उन्होंने कहा भारत आज तेजी से बदल रहे अंतरराष्ट्रीय परिदृश्य में एक बहुत महत्वपूर्ण साझेदार है। ऑस्टिन ने कहा, ”मैं भारत के साथ समग्र एवं प्रगतिशील रक्षा साझेदारी के प्रति हमारी प्रतिबद्धता की क्षेत्र में हमारे रुख के मुख्य स्तम्भ के तौर पर पुन: पुष्टि करता हूं। उन्होंने कहा ”भारत और अमेरिका के संबंध मुक्त एवं खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का मजबूत केंद्र हैं।
इससे पहले, ऑस्टिन शनिवार सुबह राष्ट्रीय समर स्मारक गए और भारत के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। वार्ता से पहले उन्हें विज्ञान भवन परिसर में सलामी गारद दिया गया। ऑस्टिन ने शुक्रवार को दिल्ली पहुंचने के कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से वार्ता की।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण   

1. अंक-216 (साल-02)
2. रविवार, मार्च 21, 2021

3. शक-1983, फाल्गुन, शुक्ल-पक्ष, तिथि- अष्टमी, विक्रमी सवंत

4. सूर्योदय प्रातः 06:35, सूर्यास्त 06:35।

5. न्‍यूनतम तापमान -11 डी.सै., अधिकतम-30+ डी.सै.। 

6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110

http://www.universalexpress.page/

email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745                                        (सर्वाधिकार सुरक्षित) 


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...