मंगलवार, 16 अप्रैल 2024

नवरात्रि का नौवां दिन मां 'सिद्धिदात्री' को समर्पित

नवरात्रि का नौवां दिन मां 'सिद्धिदात्री' को समर्पित 

सरस्वती उपाध्याय 
मां दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है। सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है। ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है।

श्लोक...
सिद्धगन्धर्वयक्षाद्यैरसुरैरमसुरैरपि | सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी ||

सिद्धियां...
मार्कण्डेय पुराण के अनुसार अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, ईशित्व और वशित्व- ये आठ सिद्धियाँ होती हैं। ब्रह्मवैवर्त पुराण के श्रीकृष्ण जन्म खंड में यह संख्या अठारह बताई गई है। इनके नाम इस प्रकार हैं-
माँ सिद्धिदात्री भक्तों और साधकों को ये सभी सिद्धियाँ प्रदान करने में समर्थ हैं। देवीपुराण के अनुसार भगवान शिव ने इनकी कृपा से ही इन सिद्धियों को प्राप्त किया था। इनकी अनुकम्पा से ही भगवान शिव का आधा शरीर देवी का हुआ था। इसी कारण वे लोक में 'अर्द्धनारीश्वर' नाम से प्रसिद्ध हुए।
माँ सिद्धिदात्री चार भुजाओं वाली हैं। इनका वाहन सिंह है। ये कमल पुष्प पर भी आसीन होती हैं। इनकी दाहिनी तरफ के नीचे वाले हाथ में कमलपुष्प है।
प्रत्येक मनुष्य का यह कर्तव्य है कि वह माँ सिद्धिदात्री की कृपा प्राप्त करने का निरंतर प्रयत्न करे। उनकी आराधना की ओर अग्रसर हो। इनकी कृपा से अनंत दुख रूप संसार से निर्लिप्त रहकर सारे सुखों का भोग करता हुआ वह मोक्ष को प्राप्त कर सकता है।

नवदुर्गाओं में...
नवदुर्गाओं में माँ सिद्धिदात्री अंतिम हैं। अन्य आठ दुर्गाओं की पूजा उपासना शास्त्रीय विधि-विधान के अनुसार करते हुए भक्त दुर्गा पूजा के नौवें दिन इनकी उपासना में प्रवत्त होते हैं। इन सिद्धिदात्री माँ की उपासना पूर्ण कर लेने के बाद भक्तों और साधकों की लौकिक, पारलौकिक सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति हो जाती है। सिद्धिदात्री माँ के कृपापात्र भक्त के भीतर कोई ऐसी कामना शेष बचती ही नहीं है, जिसे वह पूर्ण करना चाहे। वह सभी सांसारिक इच्छाओं, आवश्यकताओं और स्पृहाओं से ऊपर उठकर मानसिक रूप से माँ भगवती के दिव्य लोकों में विचरण करता हुआ उनके कृपा-रस-पीयूष का निरंतर पान करता हुआ, विषय-भोग-शून्य हो जाता है। माँ भगवती का परम सान्निध्य ही उसका सर्वस्व हो जाता है। इस परम पद को पाने के बाद उसे अन्य किसी भी वस्तु की आवश्यकता नहीं रह जाती। माँ के चरणों का यह सान्निध्य प्राप्त करने के लिए भक्त को निरंतर नियमनिष्ठ रहकर उनकी उपासना करने का नियम कहा गया है। ऐसा माना गया है कि माँ भगवती का स्मरण, ध्यान, पूजन, हमें इस संसार की असारता का बोध कराते हुए वास्तविक परम शांतिदायक अमृत पद की ओर ले जाने वाला है। विश्वास किया जाता है कि इनकी आराधना से भक्त को अणिमा, लधिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, महिमा, ईशित्व, सर्वकामावसायिता, दूर श्रवण, परकामा प्रवेश, वाकसिद्ध, अमरत्व भावना सिद्धि आदि समस्त सिद्धियों नव निधियों की प्राप्ति होती है। ऐसा कहा गया है कि यदि कोई इतना कठिन तप न कर सके तो अपनी शक्तिनुसार जप, तप, पूजा-अर्चना कर माँ की कृपा का पात्र बन सकता ही है। माँ की आराधना के लिए इस श्लोक का प्रयोग होता है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में नवमी के दिन इसका जाप करने का नियम है।

स्तुति...
या देवी सर्वभू‍तेषु माँ सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।

अर्थ-
हे माँ! सर्वत्र विराजमान और माँ सिद्धिदात्री के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे अपनी कृपा का पात्र बनाओ।

यूपीएससी की परीक्षा में 72वीं रैंक प्राप्त की: पाठक

यूपीएससी की परीक्षा में 72वीं रैंक प्राप्त की: पाठक 

पंकज कपूर 
देहरादून। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा (UPSC – CSE 2023) के फाइनल रिजल्ट आज यानी 16 अप्रैल, 2024 को जारी कर दिए हैं। संघ लोक सेवा आयोग यूपीएससी की इस लिस्ट में कुल 1016 उम्मीदवारों ने जगह बनाई है। UPSC 2024 की इस परीक्षा में उत्तराखंड के होनहार भी पीछे नहीं है। इन युवाओं ने अपनी कड़ी मेहनत से अपने परिवार और देवभूमि का नाम रोशन किया है।
UPSC सिविल सर्विसेज की परीक्षा में देवभूमि उत्तराखंड के इन होनहारों में नैनीताल जिले के हल्द्वानी शहर निवासी तनुज पाठक ने यूपीएससी की परीक्षा में 72वीं रैंक पाई है। मूल रूप से अल्मोड़ा और हाल निवासी शीशमहल काठगोदाम तनुज पाठक ने अपनी दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई सेंट थेरेसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल काठगोदाम हल्द्वानी से पूरी की है। उसके बाद उन्होंने आईआईटी रुड़की से मेटलर्जिकल एंड मैटेरियल्स इंजीनियरिंग में (2014 – 2018) तक बीटेक किया। बीटेक करने के बाद उनकी विप्रो कंपनी में अच्छी नौकरी लग गई थी, लेकिन तनुज को IAS बनना था, UPSC की तैयारी की लिए उन्होंने अपनी नौकरी तक छोड़ डाली और उसके बाद वह सिविल सर्विसेज की तैयारी में जुट गए। अब तनुज का IAS अधिकारी बनने का सपना साकार हुआ है।

अशोक की जयंती समारोह धूमधाम से मनाया

अशोक की जयंती समारोह धूमधाम से मनाया

सम्राटों के सम्राट, सम्राट अशोक को कौन नहीं जानता- डिस्टिक कोऑपरेटिव बैंक अध्यक्ष शिवमोहन मौर्य

मूरतगंज में धूमधाम से मनाई गई सम्राट अशोक की जयंती 

कौशाम्बी। चायल तहसील क्षेत्र के मूरतगंज मरधरा में सम्राट अशोक सेवा के तत्वाधान में सम्राट अशोक की जयंती समारोह बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। सम्राट अशोक की जयंती समारोह की अध्यक्षता कर रहे कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष शिव मोहन मौर्य ने अशोक लाट व महात्मा बुद्ध की प्रतिमा में नमन कर दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि समाज देश को उनके आदर्शों को ग्रहण करने व विचारों को सुनने की जरूरत है।
डिस्टिक कोऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष शिवमोहन मौर्य ने कहा कि सम्राटों के सम्राट, सम्राट अशोक को कौन नहीं जानता। सम्राट अशोक का नाम इतिहास में उनके शासन काल से चला आ रहा है और आगे भी लिया जाएगा। सम्राट अशोक एक शूरवीर और ताकतवर राजा थे, जिन्होंने भारतीय इतिहास में अपनी छाप छोड़ी है। बिगत वर्ष की तरह इस वर्ष भी सम्राट अशोक की जयन्ती समारोह बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। इस मौके पर सिराथू ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि लवकुश मौर्य कोआपरेटिव बैंक अध्यक्ष, शिव मोहन मौर्य, अशोक कुमार मौर्य,शिप्रा मौर्य, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राजेश कुशवाहा सहित तमाम लोग मौजूद रहे।
अजीत कुशवाहा

2030 तक मलबा रहित अंतरिक्ष का मिशन रखा

2030 तक मलबा रहित अंतरिक्ष का मिशन रखा 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। अंतरिक्ष (स्पेस) को लेकर भारत का बहुत बड़ा प्लान है। भारत की स्पेस एजेंसी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अगले 6 साल यानी 2030 तक मलबा रहित अंतरिक्ष का मिशन रखा है। इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ ने मंगलवार को घोषणा की कि भारत का लक्ष्य 2030 तक मलबा मुक्त अंतरिक्ष की उपलब्धि हासिल करने का है। 
यहां 42वीं अंतर-एजेंसी अंतरिक्ष मलबा समन्वय समिति (आईएडीसी) की वार्षिक बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जहां तक ​​आने वाले दिनों के लिए अंतरिक्ष अन्वेषण और अंतरिक्ष उपयोग का सवाल है तो इसरो के पास एक बहुत ही स्पष्ट योजना है। सोमनाथ अंतरिक्ष विभाग के सचिव भी हैं।  उन्होंने कहा, ‘‘यह भारत के इरादों या पहल में से एक है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि मलबा मुक्त अंतरिक्ष मिशन संचालित किए जाएं, ताकि अंतरिक्ष की स्थिरता सुनिश्चित की जा सके। मैं आज इस पहल को एक घोषणा बनाना चाहता हूं, संभवतः आने वाले दिनों में इस पर चर्चा और बहस हो सकती है।’’ सोमनाथ ने कहा, "इस पहल का लक्ष्य 2030 तक सरकारी और गैर-सरकारी सहित सभी भारतीय अंतरिक्ष माध्यमों के जरिए मलबा मुक्त अंतरिक्ष मिशन हासिल करना है।" उन्होंने कहा, ‘‘वर्तमान में, हमारी कक्षा में 54 अंतरिक्ष यान हैं, साथ ही काम न कर रहीं वस्तुएं भी हैं।’’  इसरो प्रमुख ने कहा, "हम वहां बहुत सावधानी से कार्रवाई करते रहे हैं, जहां भी कक्षा से अलग होने पर अंतरिक्ष वस्तुओं का निपटान करना या उनकी सक्रिय भूमिका को खत्म करना संभव है। इन्हें एक सुरक्षित स्थान पर लाना उन महत्वपूर्ण विषयों में से एक है, जिस पर हम कार्रवाई करते रहे हैं।" सोमनाथ ने यह भी कहा कि इसरो यह सुनिश्चित करना चाहता है कि भविष्य में उसके द्वारा प्रक्षेपित किए जाने वाले सभी अंतरिक्ष यान के लिए यह सुनिश्चित करने के वास्ते कार्रवाई की जाए कि वह अपने काम को अंजाम देने के बाद कक्षा से बाहर निकले और उसे सुरक्षित स्थान पर भी लाया जाए। 
भारत द्वारा 2035 तक अपना स्वयं का अंतरिक्ष स्टेशन 'भारतीय अंतरिक्ष स्टेशन' स्थापित करने की योजना के बारे में सोमनाथ ने कहा कि इसरो उस कक्षा को देखेगा, जहां उन कक्षाओं के दायरे में अधिक अंतरिक्ष स्टेशन आ रहे हैं। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि अंतरिक्ष में निरंतर मानव उपस्थिति के लिए इस क्षेत्र को संरक्षित किया जाना चाहिए।"

शाह ने ‘विजय संकल्प रैली’ को संबोधित किया

शाह ने ‘विजय संकल्प रैली’ को संबोधित किया

पंकज कपूर 
कोटद्वार। केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को गढ़वाल लोकसभा के अंतर्गत कोटद्वार में भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी के समर्थन में आयोजित विशाल ‘विजय संकल्प रैली’ को संबोधित किया। इस दौरान अमित शाह ने जनता से बलूनी को जिताने की अपील करते हुए कहा कि आप अनिल बलूनी को जिताओ, गढ़वाल की चिंता मैं करूंगा।
केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि 500 सालों के बाद रामलला अपना जन्मदिन राम मंदिर में मनाने वाले हैं। उन्होंने कहा कि यह हम सबके लिए सौभाग्य की बात है कि हमने उनकी प्राण प्रतिष्ठा का दृश्य देखा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मामले को जानबूझकर पिछले कई दशकों से लटकाते हुए आई जबकि मोदी ने महज पांच साल में ही राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का कार्य संपन्न कराया।
शाह ने कहा कि, मैं हमारे उत्तराखंड के युवा सीएम धामी को भी बहुत अभिनंदन देना चाहता हूँ। उन्होंने कहा कि, भारतीय जनसंघ ने अपनी स्थापन के समय से एक ही मांग रखी थी, समान नागरिक सहिंता। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व होता है कि पूरे भारत में सबसे पहले यह काम हमारे धामी जी ने किया और प्रधानमंत्री मोदी जी ने इसी तर्ज पर देश में इसे लाने के लिए हमारे संकल्प पत्र में अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड की पहाड़ियों में कहने को तो आबादी कम है। लेकिन देश की सीमाओं की रक्षा में उत्तराखंड के लोगों का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने वन रैंक वन पेंशन का वादा किया था लेकिन यह वादा मोदी जी ने पूरा किया और 70 हजार करोड़ रुपये की धनराशि उन्होंने सीधा सेना के जवानों के खाते में डालने का काम किया। उन्होंने कहा कि मोदी जी को फिर प्रधानमंत्री बनाने का मतलब है विकसित भारत बनाना, विकसित उत्तराखंड बनाना।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, मैं कांग्रेस नेताओं से पूछना चाहता हूँ। अपने काम का हिसाब देना चाहिए या नहीं, लेकिन कांग्रेसी हिसाब नहीं देते। उन्होंने कहा कि 10 साल तक उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार थी। तब, उत्तराखंड के नेता मंत्री बने बैठे थे, लेकिन कांग्रेस ने 10 साल में महज 53 हजार करोड़ उत्तराखंड को दिये जबकि मोदी ने 1 लाख 66 हजार करोड़ रुपया सीधा ग्रांट के रूप में दिये। 82 हजार करोड़ इंफ्रा के लिए भेजे, और भी हजारों करोड़ के विभिन्न प्रोजेक्ट चल रहे हैं।
उन्होंने कहा कि, जब भी धामी मिलने आते हैं तो मांगों की सूची लेकर आते हैं, इसे देखकर बहुत खुशी होती है और आज के विकसित हो रहे उत्तराखंड को देखकर संतोष भी मिलता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पलायन रोकने के लिए पर्यटन को आगे बढ़ाना होगा। कांग्रेस के समय में डोली के सहारे लोग मार्गों तक आने को मजबूर होते थे लेकिन मोदी जी ने आज 12 हजार करोड़ से ऑल वेदर रोड बना दिया है। 8 हजार करोड़ से दिल्ली देहरादून इकोनॉमिक कॉरिडोर बन रहा है। गढ़वाल में रेल दौड़ने वाली है।
उन्होंने कहा कि देश की सबसे बड़ी रेल सुरंग, उत्तराखंड में बन रही है। हेली सेवाओं का राज्य में लगातार विस्तार किया जा रहा है, एयरपोर्ट का निर्माण किया जा रहा है। पलायन रोकने को वाइब्रेंट विलेज मोदी लेकर आये हैं। उन्होंने कहा कि ये मोदी की गारंटी है कि जल्द 1980 से ज्यादा आबादी चीन बॉर्डर के गांव में होगी। केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिका अर्जुन खड़गे को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि खड़गे कहते हैं कि राजस्थान और उत्तराखंड वालों को कश्मीर से क्या मतलब, तो मैं उन्हें बता दूं कि *कश्मीर बचाने के लिए सबसे ज्यादा लहू पहाड़ियों ने बहाया है। उन्होंने कहा कि दिवंगत जनरल विपिन रावत का अपमान करने का काम कांग्रेस ने किया। उन्होंने कहा कि कश्मीर से आज मोदी जी ने धारा 370 को समाप्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 10 साल के राज में पाकिस्तान से रोज आतंकी भारत आते थे। धमाके करते थे और चले जाते थे। लेकिन ऊरी और पुलवामा में हमलों के बाद भारत ने 10 दिन में सर्जिकल और एयर स्ट्राइक कर दुनिया को बता दिया कि ये नया भारत है, मोदी का भारत है।
उन्होंने कहा कि 70 साल से तकलीफ में जी रहे तमाम हिन्दू और सिख भाइयों के लिए मोदी सरकार सीएए का कानून लेकर आई है। 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को मुफ्त राशन दिया गया। आने वाले सालों में और तीन करोड़ लोगों को अपना घर मिलेगा। 10 करोड़ लोगों को नल से जल और गैस का कनेक्शन दिया गया। अब जल्द गैस भी पाइप से आने वाली है।
उन्होंने कहा कि, यह सब योजनाएं जो मोदी लाये हैं, उसे लागू करने में भी उत्तराखंड नंबर वन है और धामी ने सारी योजनाओं को घर-घर तक पहुँचाने का काम किया।
उन्होंने कहा कि अनिल बलूनी के साथ मैंने काम किया है। उन्होंने जनता का आह्वान किया कि आप अनिल बलूनी को यहां से संसद भेजो, गढ़वाल की चिंता मैं करूंगा। उन्होंने कहा कि बलूनी ने राज्यसभा से सांसद रहते हुए पौड़ी में तारामंडल की स्थापना के साथ ही डॉपलर रडार लगवाने का कार्य किया। इगास को भी अनिल बलूनी की वजह से देश जानने लगा है। उन्होंने कहा कि, मोदी को यहां से एक ऐसा साथी चाहिए, जो वाइब्रेंट विलेज के लिए काम करे। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने यहां के श्री अन्न का प्रचार किया जिससे यहां के छोटे किसानों को लाभ मिला है। आने वाले दिनों में यहां के मिलेट्स को भाजपा बाहर भेजने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि मोदी जी, उत्तराखंड को संवार रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की रचना का विरोध कौन करता था, कांग्रेस। उत्तराखंड के युवाओं पर किसने गोली चलवाई, सब जानते हैं लेकिन उत्तराखंड को किसने बनाया। अटल जी ने बनाया और मोदी इसको संवारने का काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस कह रही है कि भाजपा को 400 सीटें मिली तो आरक्षण चला जाएगा। लेकिन, मोदी इसके सबसे बड़े रक्षक हैं और आरक्षण पूरी तरह से बरकरार रहेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विकृति से आगे बढ़ रही है। उत्तराखंड में 14 हजार कांग्रेसी भाजपा में आ गए। कांग्रेस में पार्टी छोड़ने की दौड़ लगी है। उन्होंने कहा कि गढ़वाल भारत की सुरक्षा का गढ़ है। गढ़वाल का देश की सुरक्षा में बड़ा योगदान है, उन्होंने जनता का आह्वान किया कि गढ़वाल को एक ऐसा प्रतिनिधि दीजिए, जो गढ़वाल का विकास कर सके।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी को दुर्गा अष्टमी की शुभकामनाएं देते हुए जनता से भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी को वोट देकर समर्थन देने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि इतने दिनों के प्रचार में मैंने स्पष्ट देखा है कि एक बार फिर मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब भी हमने कोई बात कही तो पीएम मोदी व अमित शाह जी ने हर बात को पूरा किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी जी ने कहा है कि 21 वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का होगा और हम इस कथन को सच साबित करने की दिशा में दिन रात कार्य कर रहे हैं।

सीएम ने जोशीमठ में रोड शो कर, समर्थन मांगा

सीएम ने जोशीमठ में रोड शो कर, समर्थन मांगा 

पंकज कपूर 
देहरादून। उत्तराखंड में चुनाव प्रचार अंतिम दौर में है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जोशीमठ में रोड शो कर भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी के लिए समर्थन मांगा। जोशीमठ इंटर कॉलेज चौराहा से चमोली टैक्सी स्टैंड तक रोड शो निकाला गया। इस दौरान सीएम धामी ने जनता के बीच सरकार की उपलब्धियों को रखा।इस दौरान उन्होंने आने वाली 19 अप्रैल को जनता से अधिक से अधिक मात्रा में वोट डालने की अपील की।
बताया जा रहा है कि सीएम धामी ने इंटर कॉलेज चौराहा से चमोली रवि ग्राम होते हुए टैक्सी स्टैंड तक रोड शो निकाला गया। इस दौरान सीएम धामी ने जनता के बीच सरकार की उपलब्धियों को रखा। इसलके बाद सीएम धामी ने जोशीमठ में जनसभा को संबोधित भी किया। सीएम ने कहा कि कांग्रेस जनता को भ्रमित करने का काम कर रही है। विकास के नाम पर और सेना के नाम पर कांग्रेस के जनता को बरगलाने लाने के हथकंडे कामयाब नहीं होंगे।
जनरल बिपिन रावत के अपमान के लिए जनता कभी कांग्रेस को माफ नहीं करेगी। सीएम ने कहा कि बद्रीनाथ धाम का मास्टर प्लान से लेकर आम जन को सुरक्षा और सम्मान देने वाली नीति और विजन केवल भारतीय जनता पार्टी के पास है। इसके बाद कोटद्वार में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी अनिल बलूनी के पक्ष में विशाल जनसभा की।
एक तरफ बलूनी बदरीनाथ विधानसभा में प्रचार कर रहे थे, उसी वक्त कांग्रेस प्रत्याशी रुद्रप्रयाग विधानसभा के चोपता में जनसंपर्क कर रहे थे। चोपता के बाद गोदियाल सीधे पोखरी पहुंचे। जहां उन्होंने जनसंपर्क के साथ साथ जनसभा को भी संबोधित किया। गोदियाल ने कहा कि गढ़वाल लोकसभा सीट पर जनता का उत्साह देखखर ये साफ है कि इस बार परिवर्तन के लिए मतदान होगा।

सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है 'बालम खीरा'

सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है 'बालम खीरा'

सरस्वती उपाध्याय 
क्या आपने कभी बालम खीरा के बारे में सुना है ? आयुर्वेद में कई औषधियों में इसका उपयोग किया जाता है। आइए जानते हैं इसके बारे में...

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर बालम खीरा फ्री-रेडिकल्स से लड़ने में मदद करता है।
इससे सर्दी-जुकाम, बुखार, अन्य वायरल संक्रमण का खतरा कम होता है।
इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो शरीर की सूजन कम करने में मदद करते हैं।
बालम खीरा के रस का सेवन करने से मलेरिया जैसे रोगों से बचाव होता है।
बालम खीरे का पानी फंगस और बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है।
इसका पानी पीने से स्किन पर चमक आती है और एजिंग के लक्षण कम होते हैं।
बालम खीरे को डाई बनाने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।
हालांकि कोई बीमारी होने पर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-179, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बुधवार, अप्रैल 17, 2024

3. शक-1945, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 25 डी.सै., अधिकतम- 19+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...