गुरुवार, 17 अगस्त 2023

चीन में लाल-नारंगी रंग के बादल दिखें, वायरल

चीन में लाल-नारंगी रंग के बादल दिखें, वायरल  

अखिलेश पांडेय 

बीजिंग। सोशल मीडिया पर आए दिन ऐसे वीडियो वायरल होते रहते हैं, जिन्हें देखकर हमें अपनी आंखों पर यकीन करना मुश्किल होता है। इन दिनों चीन के एक शहर का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें आसमान लाल और नारंगी बादलों से भरा नजर आ रहा है, मानों जैसे बादलों में आग लग गई हो। इस वीडियो को देखकर लोग हैरान हैं।

बता दें ट्विटर पर यह वीडियो Massimo नाम के अकाउंट से शेयर किया गया है। इस वीडियो में चीन के एक शहर में आसमान लाल और नारंगी रंगों से भरा दिखा दे रहा है। यह वीडियो चीन के jiang zhi bin के द्वारा शूट किया गया है। वहीं वीडियो के कैप्शन में बताया गया है कि, ऐसा रेले स्कैटरिंग की वजह से होता है, जिसमें बादलों पर प्रकाश की लंबी और लाल तरंगे गिरती हैं, जो आकाश को नारंगी या लाल रंग से भर देती हैं। वीडियो में एक सड़क से गुजरते हुए कैमरा ऊपर आसमान को कैप्चर कर रहा है। इस दौरान आसमान में दूर तक बादल नजर आ रहे हैं, जो लाल और नारंगी रंग के हैं। आसमान देखकर ऐसा लग रहा है मानों बादलों में आग लग गई हो।

बता दें 16 अगस्त को पोस्ट किए गए इस वीडियो का अब तक 5 मिलियन से ज्यादा बार देखा जा चुका है। वहीं इस वीडियो पर कई यूजर्स ने लाल आसमान के अलग-अलग पिक्स और वीडियो डालकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। एक यूजर ने कहा, ऐसा लग रहा है मानो धरती पर स्वर्ग उतर आया है।' एक और यूजर ने कहा, 'मैं खुद को यह देखते और यह सोचते कल्पना कर रहा हूं कि आसमान में आग लग गई है। 

समाज मे फैली कुरीतियों को दूर करने पर जोर दिया

समाज मे फैली कुरीतियों को दूर करने पर जोर दिया 

भानु प्रताप उपाध्याय 
सहारनपुर। अखिल भारतीय उपाध्याय योगी नाथ समाज रजिस्टर के संस्थापक माननीय श्री बाबूराम उपाध्याय ने स्वजातीय बंधुओं को समाज मे फैली कुरीतियों को दूर करने पर जोर देते हुए कहा, कि आज समाज असमानता का माहौल अधिक पनपता जा रहा है।
सबसे पहले हमें इस ऊंच नीच की खाई को समाप्त करना होगा। उन्होंने लोगों से अपील की है कि समाज में समानता एवं भाईचारे  को मजबूत करें। तभी हम समाज को एक नई दिशा दे सकेंगे।
इस अवसर पर राकेश उपाध्याय, मोनू पंवार, सुरेश उपाध्याय, हरेंद्र उपाध्याय, मां सुनील आर्य आदि लोग मौजूद थे।

उपभोक्ताओं ने बिजली बिल बढ़ने की शिकायत की

उपभोक्ताओं ने बिजली बिल बढ़ने की शिकायत की 

हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। केस 1: मैनपुरी के बरनाहल के एक उपभोक्ता ने अचानक बिजली बिल बढ़ने की शिकायत की है। आरोप है कि उनका कनेक्शन ग्रामीण इलाके का है, लेकिन उससे बिजली बिल शहरी दर पर लिया जा रहा है। ऐसे में अचानक उसका बिजली काबिल जहां दो हजार आता था, वह चार से पांच हजार तक आने लगा है।
केस 2: जालौन के माधोगढ़ के उपभोक्ता प्रमोद कुमार ने भी शिकायत की है कि उसे करीब चार माह से अचानक पांच हजार के करीब बिजली बिल दिया जा रहा है, जबकि उसका कनेक्शन ग्रामीण इलाके का है।
उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में ग्रामीण फीडर से शहरी दर पर बिजली बिल वसूली का मामला सामने आया है। ऐसे में उपभोक्ताओं से तय टैरिफ की अपेक्षा दोगुना बिजली का बिल वसूला जा रहा है। प्रदेश में शहरी और ग्रामीण इलाके के फीडर से जुड़े उपभोक्ताओं से अलग-अलग दर पर बिजली बिल वसूला जाता है। शहरी की अपेक्षा ग्रामीण इलाके की बिजली दर आधी है। इसके बाद भी गुपचुप तरीके से ग्रामीण फीडरों पर विद्युत आपूर्ति अधिक होने एवं एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस) टाउन के नाम पर उस फीडर के उपभोक्ताओं की सप्लाई टाइप चेंज करके उनकी बिलिंग में शहरी टैरिफ की दर से बिल दिया जा रहा है।
यही वजह है कि 2016 में उपभोक्ता परिषद की याचिका पर विद्युत नियामक आयोग ने फैसला सुनाया था कि सिर्फ आपूर्ति घंटे बढ़ाए जाने के कारण किसी ग्रामीण पोषक पर शहरी दर लागू नहीं की जा सकती। आयोग के इस आदेश को 2018 में पावर कॉरपोरेशन ने सभी विद्युत वितरण निगमों को अनिवार्य रूप से लागू करने का निर्देश दिया था। इसके बाद भी चोरी चुपके तमाम विद्युत वितरण निगम अलग-अलग तरीके से बिल वसूल रहे हैं।
राज्य उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने बताया कि मैनपुरी जिले में ही पांच एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस) ग्रामीण फीडरों पर लगभग 15000 विद्युत उपभोक्ताओं की बिलिंग शहरी दर पर कर दी गई है। इनसे तीन माह से वसूली हो रही है। यही स्थिति अन्य जिलों में भी है। यह गैरकानूनी है। पावर काॅरपोरेशन के प्रबंध निदेशक पंकज कुमार, निदेशक वाणिज्य अमित श्रीवास्तव व दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक अमित किशोर से बात की गई है। बढ़ी दर पर की गई वसूली के रुपये तत्काल वापस कराने व आपूर्ति श्रेणी में सुधार की मांग की गई है। यह पूरा मामला विद्युत नियामक आयोग आदेश के विपरीत है।
पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष डॉ. आशीष गोयल का कहना है कि बिजली दर निर्धारण में कई बातें शामिल होती हैं। जिस इलाके में उपभोक्ता रहता है, उसी आधार पर बिजली का दर तय किया जाता है। जहां तक इस केस का मामला है तो इसका परीक्षण कराएंगे। किसी भी उपभोक्ता से निर्धारित दर से ज्यादा बिजली बिल नहीं ली जाएगी।

प्राधिकरण की 124वीं बैठक में योजना को मंजूरी

प्राधिकरण की 124वीं बैठक में योजना को मंजूरी 

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। मेरठ विकास प्राधिकरण की 124वीं बोर्ड बैठक में आखिरकार मा योजना 2031 को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई। बोर्ड में दिए गए सुझाव को महायोजना में शामिल करते हुए आगे शासन को भेजा जाएगा, जहां से पास होने के बाद यह लागू होगी। महायोजना में निवेश को प्राथमिकता दी गई है। अफसरों का दावा है कि महा योजना से 2000 करोड़ रुपए का निवेश जमीन पर उतरेगा।
मेरठ महायोजना 2031 वर्ष 2021 की महायोजना की तुलना में दोगनी है। पिछली महायोजना में जहां क्षेत्रफल 500 वर्ग किलोमीटर के करीब था तो वहीं इस बार ही है 1043 वर्ग किलोमीटर की हो गई है। इसमें औद्योगिक क्षेत्र में 75 फीसदी का इजाफा किया गया है। कमिश्नरी सभागार में कोई बोर्ड बैठक में अध्यक्षता करते हुए कमिश्नर सेल्वा कुमारी जै ने कुछ सुझाव दिए और कुछ मामलों में बनाने के लिए निर्देश दिए।
बोर्ड बैठक के बाद प्राधिकरण उपाध्यक्ष अभिषेक पांडे ने बताया कि करीब तीन साल बाद आखिरकार सैद्धांतिक मंजूरी बोर्ड ने दे दी है। उन्होंने बताया कि निवेश के लिहाज से करीब 2000 करोड रुपए के प्रस्ताव जमीन पर उतरेंगे।
उपाध्यक्ष ने बताया कि इन्वेस्टर समिति के तहत करीब 500 एमओयू साइन किए गए थे, जिनमे जमीन विस्तारीकरण संभव है। इन्हें महायोजना में चिह्नित किया गया है। इसके अलावा निर्मित क्षेत्र में प्रभाव शुल्क नहीं लिया जाएगा। बोर्ड बैठक में से मंजूरी दे दी गई है।
सरधना, लावड़, बहसूमा, हस्तिनापुर नगर पंचायतों को जोड़ने वाली 36 मीटर सड़क को 45 मीटर करने का भी प्रस्ताव पारित किया गया। बोर्ड बैठक में नगरीय कृषि भूमि को भी समाप्त करने का प्लान लिया गया।

सिम कार्ड डीलर का सत्यापन अनिवार्य: वैष्णव

सिम कार्ड डीलर का सत्यापन अनिवार्य: वैष्णव   

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बृहस्पतिवार को कहा कि डिजिटल धोखाधड़ी रोकने के लिए सरकार ने सिम कार्ड डीलर का सत्यापन अनिवार्य कर दिया है और थोक में सिम ‘कनेक्शन’ देने का प्रावधान भी बंद कर दिया गया है। 
इससे पहले फैसलों की जानकारी देते हुए वैष्णव ने कहा था कि सरकार ने सिम कार्ड डीलर का पुलिस सत्यापन अनिवार्य कर दिया है। उन्होंने बाद में स्पष्ट किया कि सिम कार्ड डीलर का सत्यापन ‘लाइसेंस धारक’ या संबंधित सिम कंपनी द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उल्लंघन के मामले में 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। 
मंत्री ने कहा कि सिम कार्ड संबंधी डिजिटल धोखाधड़ी के खिलाफ व्यापक कार्रवाई करते हुए सरकार ने 52 लाख मोबाइल कनेक्शन बंद कर दिए हैं। 67,000 डीलर का नाम काली सूची में डाला गया है। मई, 2023 से सिम कार्ड डीलरों के खिलाफ 300 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। वैष्णव ने कहा कि व्हॉट्सएप ने खुद से करीब 66,000 खातों को ब्लॉक कर दिया है जो धोखाधड़ी के कृत्यों में शामिल थे। 
उन्होंने कहा, “अब हमने धोखाधड़ी पर अंकुश लगाने के लिए सिम कार्ड डीलर का निर्विवाद सत्यापन अनिवार्य कर दिया है। नियमों का उल्लंघन करने वाले डीलर पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।” उन्होंने कहा कि सत्यापन दूरसंचार कंपनियों द्वारा किया जाएगा। वे डीलर नियुक्त करने से पहले सत्यापन के लिए प्रत्येक आवेदनकर्ता और कारोबार से जुड़े उसके दस्तावेजों का विवरण जुटाएंगी। इससे पहले डीलर का विस्तृत दस्तावेजीकरण इस नियम में शामिल नहीं था। 

मंत्री ने कहा कि 10 लाख सिम डीलर हैं और उन्हें सत्यापन के लिए पर्याप्त समय दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दूरसंचार विभाग ने थोक में ‘कनेक्शन’ देने की सेवा को भी बंद कर दिया है। इसके स्थान पर व्यावसायिक कनेक्शन की एक नई अवधारणा पेश की जाएगी। वैष्णव ने कहा, “इसके साथ ही व्यवसायों का केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) और सिम लेने वाले व्यक्ति का भी केवाईसी किया जाएगा।” केवाईसी के जरिये किसी संस्थान या निवेशक की पहचान और पते को प्रमाणित करने में मदद मिलती है।

बाढ़ की स्थिति, ऐप लॉन्च किया: सरकार

बाढ़ की स्थिति, ऐप लॉन्च किया: सरकार 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति पर 'रियल टाइम' जानकारी प्रदान करने के लिए एक ऐप लॉन्च किया। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के अध्यक्ष कुशविंदर वोहरा ने कहा कि 'फ्लडवॉच' ऐप 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 'रियल टाइम' में बाढ़ से जुड़े अपडेट भेजने के लिये 338 स्टेशनों से आंकड़े इकट्ठा करेगा।
वोहरा ने 'फ्लडवॉच' लॉन्च करते हुए कहा कि ऐप का उद्देश्य बाढ़ से संबंधित जानकारी प्रसारित करने के लिए मोबाइल फोन का उपयोग करना है। इसमें सात दिनों तक का पूर्वानुमान प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह ऐप सटीक और समय पर बाढ़ पूर्वानुमान देने के लिये उपग्रह डेटा विश्लेषण, गणितीय मॉडलिंग और वास्तविक समय की निगरानी जैसी उन्नत तकनीकों का उपयोग करता है। 
वोहरा ने कहा, "ऐप उपयोगकर्ताओं के अनुकूल बनाया गया है, जिससे सभी के लिये बाढ़ संबंधी जानकारी लेना आसान हो जाएगा तथा यह बाढ़ की घटनाओं के दौरान जोखिम को कम करेगा।" सीडब्ल्यूसी प्रमुख ने कहा, 'फ्लडवॉच' लिखित और ऑडियो दोनों प्रारूपों में चेतावनी संदेश और बाढ़ का पूर्वानुमान भेजेगा। यह ऐप वर्तमान में हिंदी और अंग्रेजी भाषा में सूचनाएं प्रसारित करेगा लेकिन जल्द ही इसे अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में भी विस्तारित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह ऐप सीडब्ल्यूसी द्वारा निर्मित किया गया है। हालांकि, बाढ़ प्रभावित हिमाचल प्रदेश इस ऐप से नहीं जुड़ा है और इसकी सेवाएं छह महीने के भीतर राज्य में उपलब्ध होंगी।"

मां के सामने ही 12 वर्षीय बच्‍ची की हत्‍या की

मां के सामने ही 12 वर्षीय बच्‍ची की हत्‍या की 

कविता गर्ग 
मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से सटे कल्याण इलाके में एक 12 साल की बच्‍ची की हत्‍या का मामला सामने आया है। एक तरफा प्‍यार में पागल आशिक ने मृतका की मां के सामने ही इस वारदात को अंजाम दिया। लड़की की तरफ से बार-बार युवक द्वारा भेजे जा रहे प्रेम-प्रस्‍ताव का विरोध किया गया। इसके बाद भी युवक पीछे नहीं हटा। जब मृतका नहीं मानीं तो धारदार चाकू से गोदकर मां के सामने ही उसकी हत्‍या कर दी गई।
आरोपी युवक को मौके से ही पकड़ लिया गया। पुलिस के मुताबिक उसके पास से वारदात में इस्‍तेमाल चाकू को बरामद कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि कुल 10 बार मृतका पर चाकू से वार किया गया। वारदात को अंजाम देने के बाद वो मौके से फरार होने की फिराक में था। हालांकि स्‍थानीय लोगों ने उसे धर दबोचा। पुलिस के मुताबिक मृतका अपनी मां के साथ कहीं जा रही थी। तभी आरोपी उसके सामने आ धमका। वो हत्‍या की पूरी तैयारी के साथ वहां आया था।
लड़की द्वारा प्रेम प्रस्‍ताव ठुकराने के बाद आरोपी ने उसपर चाकू से हमला कर दिया। कुल 10 बार
चाकू से वार किया गया, जिसके चलते बच्‍ची की मौत हो गई। शव को पोस्‍टमार्टम के लिए सुरक्षित रखवा दिया गया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसकी उम्र 20 साल बताई जा रही है। हत्‍या का मुकदमा दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है।

पार्टी ने एससी में सर्वश्रेष्ठ वकीलों को नियुक्त किया

पार्टी ने एससी में सर्वश्रेष्ठ वकीलों को नियुक्त किया 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के नेता उमर अब्दुल्ला ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी पार्टी ने अनुच्छेद 370 को रद्द करने के फैसले को चुनौती देते हुए उच्चतम न्यायालय में सर्वश्रेष्ठ वकीलों को नियुक्त किया है। इसके साथ ही उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि न्यायाधीश उनके तर्कों से सहमत होंगे। उन्होंने कहा, "हम लड़ रहे हैं और हम न्याय की उम्मीद को लेकर वहां गये हैं। 

हमने कोई कसर नहीं छोड़ी है, हमने सर्वश्रेष्ठ वकीलों को नियुक्त किया और उनके प्रदर्शन की सभी ने सराहना की है। सुनवाई चल रही है और हमें उम्मीद है कि न्यायाधीश हमारे तर्कों से सहमत होंगे। यह चलता रहेगा और हम इंतजार कर रहे हैं।'' इससे पहले पार्टी मुख्यालय नवा-ए-सुबह में अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि पार्टी उच्चतम न्यायालय में मुकदमा लड़ने के लिए कपिल सिब्बल और गोपाल सुब्रमण्यम को नियुक्त करने से बेहतर कुछ नहीं कर सकती थी। 

पार्टी उपाध्यक्ष ने कहा, "हमने सर्वश्रेष्ठ वकीलों को नियुक्त किया। कपिल सिब्बल और गोपाल सुब्रमण्यम देश के शीर्ष पांच वकीलों में से दो हैं... जीत या हार भगवान के हाथ में है। इंसान सिर्फ कोशिश ही कर सकता है और हमने कोई कसर नहीं छोड़ी। अब, हमें ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए कि वह हमें सफलता दे।'' 

शेर-ए-कश्मीर के नाम से मशहूर नेशनल कॉन्फ्रेंस संस्थापक शेख मोहम्मद अब्दुल्ला का नाम जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा विभिन्न सरकारी इमारतों से हटाने के बारे में पूछे जाने पर अब्दुल्ला ने कहा कि लोगों के दिलों से उनके दादा का नाम कोई नहीं मिटा सकता। अबदुल्ला ने कहा, "आप इमारतों से उनका नाम हटा सकते हैं लेकिन (लोगों के) दिलों से नहीं। 

अगर आप एसकेआईसीसी या क्रिकेट स्टेडियम या अस्पतालों से शेर-ए-कश्मीर का नाम हटा देंगे तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा। आप सच को छुपा नहीं सकते। प्रधान न्यायाधीश ने लोगों के सामने उस सच्चाई को ताजा कर दिया है।" जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री शीर्ष अदालत में अनुच्छेद 370 को निरस्त करने को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की टिप्पणियों का जिक्र कर रहे थे। 

डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी (डीपीएपी) के प्रमुख गुलाम नबी आजाद के कश्मीर के मुसलमान को लेकर दिये गये बयान के बारे में पूछे जाने पर अब्दुल्ला ने कहा, "मुझे नहीं पता कि उन्होंने यह किस संदर्भ में कहा है या ऐसा कहकर वह किसे खुश करना चाहते हैं।" आजाद ने कहा था कि कश्मीर में ज्यादातर मुसलमान हिंदू धर्म से धर्मांतरित हैं। 

उम्मीदवारों की पहली सूची का ऐलान किया: भाजपा

उम्मीदवारों की पहली सूची का ऐलान किया: भाजपा 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की ओर से मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियां तेज करते हुए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची का ऐलान कर दिया है। मध्य प्रदेश में घोषित किए गए 39 उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री का नाम ही शामिल नहीं है। बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से छत्तीसगढ़ एवं मध्य प्रदेश में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची को जारी करते हुए मध्य प्रदेश के 39 उम्मीदवार घोषित किए गए हैं। 
सूची में छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए भी बीजेपी द्वारा अपने 21 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया है। भारतीय जनता पार्टी ने मध्यप्रदेश में जिन 39 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है उनमें 3 महिलाएं भी शामिल हैं। घोषित किए गए उम्मीदवारों की पहली सूची में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को स्थान नहीं दिया गया है जो राज्य की बुधनी विधानसभा सीट से लगातार इलेक्शन लड़ते आ रहे हैं।  भाजपा ने सतना जनपद की चित्रकूट विधानसभा सीट से सुरेंद्र सिंह गहरवार को अपना उम्मीदवार बनाया है। छतरपुर सीट से ललिता यादव को उम्मीदवार बनाकर बीजेपी ने मैदान में उतारा है। सुमावली से अदल सिंह कंसाला और पिछोर से प्रीतम सिंह लोधी को इलेक्शन लड़ने का मौका दिया गया है, जिन्हें वरिष्ठ नेत्री उमा भारती का नजदीकी माना जाता है। गोहद सुरक्षित विधानसभा सीट से लाल सिंह आर्य को टिकट देकर मैदान में उतारा गया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ओमप्रकाश को शाहपुरा से टिकट देकर इलेक्शन लड़ाया जाएगा। चाचौड़ा से प्रियंका मीणा बीजेपी के उम्मीदवार घोषित की गई है।

समस्याओं के निराकरण की मांग, जाम लगाया

समस्याओं के निराकरण की मांग, जाम लगाया 

भानु प्रताप उपाध्याय 
खतौली। भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने किसानों से जुड़ी गन्ना मूल्य भुगतान जैसी समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर एनएच-58 के भैंसी कट पर जाम लगा दिया। चिलचिलाती धूप एवं उमस भरी गर्मी में लगे जाम से वाहनों में सवार लोग बुरी तरह से परेशान हो गए‌। किसानों के जाम की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे सीओ खतौली ने समझा-बुझाकर उन्हें शांत कराया। Also Read - अगवा कर जंगल में किशोरी से दरिंदगी- 5 दरिंदे किए गिरफ्तार बृहस्पतिवार को भारतीय किसान यूनियन तोमर से जुड़े पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-58 देहरादून पर धावा बोलते हुए खतौली थाना क्षेत्र के भैंसी कट पर जाम लगा दिया। नावला कोठी पर किसानों द्वारा लगाए गए इस जाम से थोड़ी ही देर में दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी लाइनें लग गई। इस दौरान जाम से निकलने को लेकर किसानों की कई वाहन चालको के साथ नोकझोंक भी हुई। Also Read - बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट- सीएम का नाम नदारद चिलचिलाती धूप एवं उमस भरी गर्मी में हाईवे पर जाम लग जाने से अपने गंतव्य की ओर जा रहे लोगों के वाहनों के पहिए जहां के तहां थम गए। वाहनों के भीतर बैठे लोग गर्मी एवं उमस से बुरी तरह बेहाल हो उठे। उधर जाम लगा रहे किसानों का कहना है कि सरकार किसानों के समय पर गन्ना मूल्य के भुगतान का दावा कर रही है, लेकिन स्थिति ठीक इसके उलट है। Also Read - कुत्ते को मौत के घाट उतार युवक ने खाया कच्चा मांस- थैली से मिले पिल्ले गन्ने का भुगतान नहीं होने की वजह से वह बिजली के बिल जमा नहीं कर पा रहे हैं। बच्चों की फीस भी समय से स्कूल में नहीं पहुंच रही है। खाद बीज के दाम भी आसमान छू रहे हैं। अधिग्रहित की गई जमीनों के मुआवजे में सरकार हीला हवाली बरत रही है। 
हाईवे पर जाम लगने की सूचना मिलते ही सीओ खतौली डॉ रवि शंकर तुरंत पुलिस फोर्स को साथ लेकर मौके पर पहुंचे और किसानों को समझा बुझाकर जाम खोलने के लिए राजी किया। उधर शहर कोतवाली क्षेत्र के रोहाना स्थित आईपीएल चीनी मिल पर भी भारतीय किसान यूनियन तोमर से जुड़े पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने हल्ला बोल करते हुए मुजफ्फरनगर- सहारनपुर स्टेट हाईवे को बाधित करते हुए जाम लगाया है। जगह-जगह लगे जाम से गाड़ियों में सवार होकर अपने गंतव्य की ओर जा रहे लोग बेहाल हो उठे हैं।

5 हजार की रिश्वत मांगने वाला लेखपाल गिरफ्तार

5 हजार की रिश्वत मांगने वाला लेखपाल गिरफ्तार

संदीप मिश्र 
वाराणसी। जमीन की पैमाइश करने की एवज में 5 हजार की रिश्वत मांगने वाले लेखपाल को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया है। गौरतलब है कि वाराणसी के थाना रोहनिया इलाके की राजा तालाब गांव के एक व्यक्ति ने जमीन पर पैमाईश के लिए प्रार्थना पत्र दिया हुआ था। अपनी जमीन की पैमाईश कराने के लिए जब उसने हलके के लेखपाल राजेंद्र प्रसाद से संपर्क किया तो राजेंद्र प्रसाद ने उससे जमीन की पैमाइश करने की एवज में 5 हजार की मांग की। 
जब लेखपाल ने बिना पैसे के रिश्वत के पैमाइश करने से मना कर दिया तब पीड़ित व्यक्ति ने रिश्वत मांगने की शिकायत की। इसके बाद भ्रष्टाचार निवारण टीम ने रिश्वत मांगने वाले लेखपाल राजेंद्र प्रसाद को 5 हजार की रिश्वत लेते हुए मौके से ही गिरफ्तार कर लिया। एंटी करप्शन की टीम ने रोहनिया थाने में मुकदमा दर्ज कर आरोपी लेखपाल को जेल भेज दिया है।

डार्क सर्कल्स की समस्या से छुटकारा, जानिए

डार्क सर्कल्स की समस्या से छुटकारा, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय 
अक्सर लोगों को डार्क सर्कल्स की समस्या हो जाती है। इसके कई कारण होते हैं। नींद की कमी, अनहेल्दी फूड्स, तनाव, धूम्रपान, प्रदूषण आदि के कारण आंखों के आसपास की त्वचा प्रभावित होती है। वहीं शरीर में पानी की कमी के कारण भी डार्क सर्कल्स की दिक्कत हो सकती है। बता दें डिहाइड्रेशन के कारण स्किन ड्राई हो जाती है, जिससे आंखों के नीचे काले घेरे नजर आने लगते हैं। तो चलिए आज हम आपको इस समस्या से बचने के लिए कुछ फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आप अपनी डाइट में कर सकते हैं। वहीं इसके अलावा आप इन चीजों को डार्क सर्कल्स पर भी लगा सकते हैं। जिससे आपको इस दिक्कत से छुटकारा मिल सकता है। 

 
खीरा
बता दें खीरा में पानी की मात्रा अधिक होती है। यह आंखों को हाइड्रेट रखता है। खीरे के दो टुकड़े काटें और उन्हें अपनी आंखों पर रखें और 15 मिनट के बाद पानी से धो लें। इससे न केवल काले घेरे कम होंगे, बल्कि आंखों के आसपास की स्किन भी टाइट होगी। वहीं इसके अलावा आप इसे अपनी डेली डाइट में शामिल कर सकते हैं। यह आपके शरीर में पानी की पूर्ति करता है।

तरबूज का यूज
तरबूज स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पानी से भरपूर होता है। ये आपके शरीर को हाइड्रेट करने के साथ त्वचा को भी हाइड्रेट करता है। आप तरबूज के रस को आंखों के आसपास की त्वचा पर लगाएं, लेकिन इसे अपने आहार में भी जरूर शामिल करें। इसमें बीटा कैरोटीन, लाइकोपीन, फाइबर, विटामिन बी1, बी6 और सी, पोटेशियम, मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं। तरबूज में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो काले घेरे को दूर करने में मदद करते हैं।

जामुन को डाइट में करें शामिल
आंखों की त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए आप अपनी डाइट में जामुन शामिल कर सकते हैं। इसमें ल्यूटिन और एंथोसायनिन जैसे एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं, जो स्किन को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। 

टमाटर
अगर आप काले घेरों से परेशान हैं, तो अपनी स्किन केयर रूटीन में टमाटर शामिल कर सकते हैं। इसका रस नियमित रूप से आंख के आसपास लगाएं। करीब 15 मिनट बाद पानी से साफ कर लें। आप टामटर को खाने में भी शामिल करें। इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन, विटामिन-सी ,क्वेरसेटिन डार्क सर्कल्स से राहत दिलाने में मददगार हैं।

चुकंदर
बता दें चुकंदर में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करते है। इसे आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। इसके अलावा चुकंदर डाइलेट, मैग्नीशियम और विटामिन सी से भरपूर होता है, जो काले घेरों को कम करने में मदद करता है।

फोटो कॉपी के नाम पर उगाही करने का मामला

फोटो कॉपी के नाम पर उगाही करने का मामला

दुष्यंत टीकम 
बिलासपुर। शाखा में शिक्षा विभाग से अटैच कर्मचारी द्वारा फोटो कॉपी के नाम पर उगाही करने का मामला सामने आया है। कर्मचारी खुल्लेआम रिश्वत की मांग करता है। इसकी शिकायत भी तहसीलदार, अनुविभागीय अधिकारी से अनेको बार की जा चुका है। लेकिन फिर भी ये धंधा खुल्लेआम चल रहा है। जिससे आम जनता के साथ-साथ अधिवक्ताओं को भी इस दौर से गुजरना पड़ रहा है। एक अधिवक्ता से फोटोकॉपी के लिए पैसों की मांग का वीडियो वायरल हो रहा है। बिलासपुर तहसील कार्यालय के नकल शाखा में बिना उगाही के बी 1 पी 2 की सत्यापित प्रतिलिपि नहीं मिल सकती। ऐसा अधिवक्ता मनीष कौशिक का कहना है। 
 जानकारी के अनुसार, अधिवक्ता मनीष कौशिक ने 6 जुलाई 2023 को नकल के लिए आवेदन दिया था। डेढ़ माह बीत जाने के बाद भी नकल नहीं दिया जा रहा है। अधिवक्ता और उनके पक्षकार कई बार तहसील कार्यालय उपस्थित होकर नकल दिए जाने के लिए निवेदन भी किये हैं। ग्राम पंचायत मानिकपुरी का खसरा पांचशाल के लिए 50 रुपये की रसीद कटवाई थी और डेढ़ महीने पहले आवेदन किया गया था। अधिवक्ता मनीष कौशिक का आरोप है कि फोटो कॉपी के लिए पैसे की मांग करने पर 1000 रुपये भी दिया, उसके बावजूद घुमाया जा रहा है। अधिवक्ता ने नकल के लिए रसीद की शुल्क जमा कर दी है इसके बाद भी रिश्वत की मांग किया जा रही है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-304, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बृहस्पतिवार, अगस्त 18, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए  सरस्वती उपाध्याय  बेहद सुंदर और सुगंधित फूल 'गुलाब' गुणों की खान है और इसकी पं...