राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 29 दिसंबर 2023

आज नई सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार होगा

आज नई सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार होगा

नरेश राघानी 
जयपुर। आखिरकार विधायकों के इंतजार की घड़ी खत्म हो ही गई। 30 दिसंबर को नई सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। गौरतलब है कि राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत प्राप्त कर भजनलाल शर्मा के नेतृत्व में नई सरकार का गठन कर दिया था। तब से मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अटकलें लगी हुई थी। मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए कई विधायक तो शीर्ष नेतृत्व के दरबार में हाजिरी भी लगा रहे थे। 
राजस्थान के मंत्रिमंडल का विस्तार कब होगा। इसको लेकर चल रही अटकलें अब खत्म हो गई है। कल 30 दिसंबर को 3:30 बजे राजस्थान की भजनलाल सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। हालांकि अभी तक भारतीय जनता पार्टी की तरफ से यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि कितने और किन विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। मंत्रिमंडल विस्तार की खबर आते ही भाजपा के विधायकों की धड़कनें बढ़ गई है।

मंगलवार, 19 दिसंबर 2023

25 वर्षाें के विजन को ध्यान में रखकर कार्य करें

25 वर्षाें के विजन को ध्यान में रखकर कार्य करें
नरेश राघानी 
जयपुर। सहकारिता विभाग की प्रमुख शासन सचिव मंगलवार को सहकार भवन में विभागीय अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि 25 वर्षाें के विजन को ध्यान में रखकर कार्य करें। सहकारिता में केपिसिटी बिल्डिंग पर ध्यान देने के साथ ही इस पर आधारित कार्ययोजना को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने कहा कि सहकारिता में कार्ययोजना तैयार करते समय क्रेडिट सेक्टर, दलहन एवं तिलहन खरीद, रिटेल एवं आधारभूत ढांचे को ध्यान में रखकर मूर्त रूप दिया जाए। उन्होंने कहा कि नैनो यूरिया एवं नैनो डीएपी का आने वाले समय में व्यापक स्तर पर उपयोग होगा। इसके लिए किसानों को ड्रोन उपलब्ध हो, इस पर कार्य किया जाए।
सहकारिता के क्षेत्र में केन्द्र सरकार द्वारा किए जा रहे नवाचारों को राज्य की आवश्यकता को ध्यान में रखकर अपनाएं जिससे कि इसका फायदा पात्र लोगों को मिल सके। उन्होंने उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण खाद्य सामग्री उचित मूल्य पर उपलब्ध कराने के संबंध में दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने स्पेन में कॉपरेटिव सेक्टर द्वारा ऑलिव ऑयल के प्रोडक्शन का उदाहरण दिया। प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि अन्य राज्यों एवं अन्य देशों में सहकारिता के ढांचे का अध्ययन करें ताकि प्रदेश में भी सहकारिता के क्षेत्र को मजबूत किया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को भी नए नवाचारों पर अपडेट रहने को कहा।

शुक्रवार, 15 दिसंबर 2023

भजनलाल को सीएम के रूप में शपथ ग्रहण कराई

भजनलाल को सीएम के रूप में शपथ ग्रहण कराई 

नरेश राघानी 
जयपुर। राज्यपाल के हाथों शपथ ग्रहण करने के साथ ही भजनलाल शर्मा की राजस्थान के 14वें मुख्यमंत्री के तौर पर विधिवत ताजपोशी हो गई है। डिप्टी सीएम के रूप में दीया कुमारी एवं डॉक्टर प्रेमचंद बेरवा को भी गवर्नर द्वारा पद एवं गोपनीयता की शपथ ग्रहण कराई गई है। केंद्रीय नेतृत्व की हरी झंडी मिलने के बाद अब मंत्रियों की नियुक्ति की जाएगी। शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी विधान मंडल दल की बैठक में नेता चुने गए राज्यपाल ने राज्य के 14वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण कराई है। 
दीया कुमारी एवं डॉक्टर प्रेमचंद बैरवा ने भी राज्यपाल के हाथों पद एवं गोपनीयता की शपथ ग्रहण की है। आज आयोजित किए गए शपथ ग्रहण समारोह में केवल मुख्यमंत्री एवं दो डिप्टी सीएम को राज्यपाल द्वारा शपथ ग्रहण कराई गई है। मंत्रियों की नियुक्ति अब केंद्रीय नेतृत्व की हरी झंडी मिलने के बाद ही की जाएगी। शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा राज्य के मुख्यमंत्री रहे चुके अशोक गहलोत भी जयपुर में पहुंचे थे।  समारोह स्थल पर तैयार किए गए 3 मंच में से एक मंच पर देशभर से आए साधु संतों को बैठाया गया था, वहीं दूसरे मंच पर सभी राजनीतिक नेता विराजमान थे। तीसरा मंच मुख्यमंत्री एवं डिप्टी चीफ मिनिस्टर की शपथ के लिए बनाया गया था, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा राज्यपाल और शपथ लेने वाले मुख्यमंत्री एवं दोनों डिप्टी चीफ मिनिस्टर बैठे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत के साथ केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आपस में हंसी मजाक करते हुए दिखाई दिए थे। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की याचिका पर अशोक गहलोत के खिलाफ मानहानि का केस चलाने का फैसला हुआ है।

मंगलवार, 5 दिसंबर 2023

5 को करणपुर विधानसभा सीट पर होगा मतदान

5 को करणपुर विधानसभा सीट पर होगा मतदान 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान की करणपुर विधानसभा सीट पर मतदान पांच जनवरी 2024 को होगा। निर्वाचन आयोग (ईसी) ने यह जानकारी दी। करणपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार के निधन के कारण इस सीट के लिए मतदान ‘‘स्थगित’’ कर दिया गया था। आयोग ने बताया कि करणपुर सीट पर मतदान पांच जनवरी को तथा मतगणना आठ जनवरी को होगी। नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 12 दिसंबर से शुरू होगी और इसकी आखिरी तारीख 19 दिसंबर है।

नामांकन पत्रों की छंटनी 20 दिसंबर को होगी और 22 दिसंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। राजस्थान की 200 विधानसभा सीट में से 199 सीट पर 25 नवंबर को मतदान हुआ था, लेकिन मौजूदा विधायक और कांग्रेस उम्मीदवार गुरमीत सिंह के निधन के कारण करणपुर सीट पर मतदान स्थगित कर दिया गया था।

राज्य की कुल 200 में से 199 विधानसभा सीट पर मतदान हुआ और मतों की गिनती रविवार को संपन्न हुई। इसमें भाजपा को 115 सीट के साथ बहुमत मिला जबकि कांग्रेस 69 सीट पर सिमट गई।

रविवार, 3 दिसंबर 2023

चुनाव परिणामों को विरोध का नतीजा करार दिया

चुनाव परिणामों को विरोध का नतीजा करार दिया 

नरेश राघानी 
जयपुर। सवेरे के समय शुरू हुई चार राज्य विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती में राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका झेलने वाली कांग्रेस में हार को लेकर हाहाकार मच गया है। कांग्रेस नेता ने पार्टी की हार पर नमक छिड़कते हुए चुनाव परिणामों को सनातन विरोध का नतीजा करार दिया है। रविवार को कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनाव परिणामों को लेकर अपने बयान में कहा है कि पार्टी के विरुद्ध आए चुनाव परिणाम सनातन के विरोध का नतीजा है। ईवीएम जिन्न आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है की चुनाव नतीजे में पार्टी का सफाया हो गया है या नहीं, यह कहना तो जल्दबाजी है, लेकिन फिलहाल गाड़ी जिस दिशा में चल रही है वहां पर अंधेरा ही अंधेरा है। क्योंकि कांग्रेस पार्टी जो कभी महात्मा गांधी के बताए रास्ते पर चलती थी, आज उस पार्टी को मार्क्स के रास्ते पर ले जाने की कोशिश से की जा रही है। इसी का नतीजा है कि सनातन का विरोध किया जा रहा है। यह याद रखना जरूरी है कि भारत में सनातन का विरोध करके राजनीति नहीं हो सकती है जो लोग सनातन को मिटाने की कोशिश कर रहे हैं, कांग्रेस जानबूझकर उनके साथ जाकर खड़ी हो रही है। उन्होंने कहा है कि यह तो महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने वाली पार्टी नहीं कहीं जा सकती है, क्योंकि महात्मा गांधी असली सेक्युलर थे।

गुरुवार, 30 नवंबर 2023

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी: सीएम

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी: सीएम 

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को कहा कि चुनाव बाद सर्वेक्षणों (एग्जिट पोल) में कुछ भी आंकड़े दिखाए जाएं, लेकिन मुझे लगता है कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी। उन्होंने कांग्रेस मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में यह दावा भी किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में हारने वाली है। 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने केंद्र सरकार पर लोकतंत्र और संवैधानिक संस्थाओं को नष्ट करने का आरोप लगाया तथा कहा कि आने वाले समय में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के भीतर ‘समझदार लोग’ विद्रोह करेंगे। राजस्थान में विधानसभा की 199 सीटों के लिए गत 25 नवंबर को मतदान संपन्न हुआ। तीन दिसंबर को मतगणना होगी।
चुनाव नतीजों की संभावना से जुड़े सवाल पर गहलोत ने कहा, ‘‘एग्जिट पोल कुछ भी आए, सटोरिये कुछ भी कह दें, मीडिया सर्वेक्षण में कुछ भी कहा जाए, मुझे लगता है कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनेगी।’’ उन्होंने यह दावा भी किया कि पांच राज्यों में भाजपा कहीं भी नहीं जीत रही है। उनका कहना था, ‘‘इस बार राजस्थान में जनता कांग्रेस की सरकार फिर से बनाएगी। यह पहली सरकार है जिसके खिलाफ सत्ता विरोधी माहौल नहीं है।
मुख्यमंत्री के बारे में सबकी एक राय है, यहां तक कि भाजपा का वोटर भी कहेगा कि (मुख्यमंत्री ने) काम करने में कोई कमी नहीं रखी है। ’’ गहलोत ने आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और केंद्र के मंत्रियों, सभी ने डराने वाली, तनाव पैदा करने वाली भाषा बोली...ये लोग राजस्थान में सरकार गिराने में विफल रहे, यह दर्द उनके दिल में छिपा हुआ है।
इसलिए उन्होंने यह योजना बनाई कि किसी भी तरह से राजस्थान में कांग्रेस की सरकार फिर नहीं बनने देना है।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा का यह प्रयास सफल नहीं हुआ, इसलिए कांग्रेस की सरकार बनेगी। विधायकों एवं सांसदों से संबंधित उत्तर प्रदेश की एक अदालत द्वारा राहुल गांधी को तलब किए जाने पर गहलोत ने कहा, ‘‘राहुल जी पर जो लोग हमला बोल रहे हैं उनको 2024 में महंगा पड़ेगा।
मोदी जी का प्रभाव अब वो नहीं रहा जो पहले होता था।’’ उन्होंने प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी के एक कथित बयान का हवाला देते हुए कटाक्ष किया, ‘‘मोदी जी ने गुजरात में (2017 के चुनाव में) कहा था कि एक मारवाड़ी मुझे हराने के लिए आया है, मैं कहां जाऊंगा, मुझे जिताओ। अब दो गुजराती राजस्थान में आ गए, अब मैं कहता हूं कि भाइयों और बहनों मैं कहां जाऊंगा, मुझे जिताओ।’’ गहलोत ने कहा, ‘‘ मैं व्यक्तिगत रूप से किसी के खिलाफ नहीं हूं।
मेरा मानना है कि लोकतंत्र में कार्यक्रम, नीतियों और सिद्धांतों के आधार पर चुनाव होना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में जो हो रहा है, उसको लेकर राष्ट्रीय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को केंद्र सरकार के खिलाफ खुलकर सामने आना चाहिए। गहलोत ने दावा किया, ‘‘आज नहीं तो कल, भाजपा के समझदार लोग बगावत करेंगे। उन्हें बगावत करनी चाहिए। अगर बगावत नहीं करेंगे तो वो भी दोष के भागीदार होंगे।’’
राजस्थान के मुख्यमंत्री ने मीडिया के हिस्से पर सवाल खड़े किए और कहा कि आज यह मिशन नहीं रहा, बल्कि ‘धंधा’ हो गया है। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग को छोड़ दो तो पत्रकारिता एक पैसा कमाने का धंधा हो गया है। मिशन कुछ नहीं रहा। (कुछ लोगों ने) खुद को गुलाम बना रखा है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।’’

सोमवार, 20 नवंबर 2023

सनसनी: पत्नी और दो बेटियों की हत्या की

सनसनी: पत्नी और दो बेटियों की हत्या की

नरेश राघानी
जयपुर। राजधानी जयपुर में पति द्वारा पत्नी और अपनी दो बेटियों की हत्या करने का मामला सामने आया है। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है। करधनी के थानाधिकारी उदय सिंह ने बताया कि आरोपी की शिनाख्त अमित यादव के रूप में हुई है।
पुलिस के अनुसार आरोपी अमित यादव ने शुक्रवार की रात कमरे में सो रही पत्नी और बड़ी बेटी की हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी 6 वर्षीय छोटी बेटी रिया के साथ दूसरे कमरे में सो गया। अगले दिन आरोपी पिता ने छोटी बेटी की भी हत्या कर दी।
रविवार को किराए के मकान में से बदबू आने पर पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मकान का ताला तोड़ कर आरोपी पत्नी किरण और बड़ी बेटी प्रिया का शव बरामद किया गया। पुलिस ने इसकी जानकारी मह‍िला के परिजनों को दे दी है। साथ ही पुलिस इस मामले की जांच पड़ताल में लग गई है।

सोमवार, 30 अक्तूबर 2023

राजस्थान: चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू

राजस्थान: चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू 

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान में आगामी विधानसभा आम चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया सोमवार को शुरु हो गई और इसके पहले दिन आठ प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किए। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि सोमवार को अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया शुरू हो गई और पहले दिन राज्य में आठ विधानसभा क्षेत्रों के लिए आठ उम्मीदवारों ने नौ नामांकन पत्र दाखिल किए।
पहले दिन सात प्रत्याशियों ने गंगानगर, गढ़ी, भीलवाड़ा, बहरोड़, बानसूर, नोखा और चौरासी विधानसभा क्षेत्रों के लिए एक-एक नामांकन पत्र तथा घाटोल विधानसभा क्षेत्र में एक उम्मीदवार ने दो नामांकन पत्र दाखिल किए। गुप्ता ने बताया कि प्रदेश की सभी 200 विधानसभा सीटों के लिए 30 अक्टूबर को चुनाव कार्यक्रम की अधिसूचना जारी होने के बाद रिटर्निंग अधिकारी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालयों एवं अन्य महत्वपूर्ण कार्यालयों के बाहर लोक सूचना चस्पा की गई है।
नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि छह नवम्बर है। रविवार के कारण पांच नवंबर को नामांकन पत्र दाखिल नहीं किए जा सकेंगे। नामांकन प्रक्रिया पूर्वाह्न ग्यारह बजे से अपराह्न तीन बजे तक दाखिल किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच सात नवम्बर को की जाएगी।
उम्मीदवारों के नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि नौ नवम्बर है और पूरे प्रदेश में एक ही चरण में 25 नवम्बर को सुबह सात से शाम छह बजे तक मतदान कराया जायेगा। मतगणना तीन दिसम्बर को होगी। श्री गुप्ता ने बताया कि नामांकन दाखिल करते समय सामान्य अभ्यर्थी को 10 हजार रुपये और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थी को पांच हजार रुपये जमानत राशि जमा करानी होगी।
अभ्यर्थियों को नामांकन के समय सभी सुसंगत एवं आवश्यक दस्तावेज जैसे जमानत राशि का प्रमाण, प्रारूप-ए एवं बी, शपथ पत्र आदि के साथ आना होगा। यदि अभ्यर्थी उसी निर्वाचन क्षेत्र का निर्वाचक नहीं है जहां से वह चुनाव लड़ रहा है तो अभ्यर्थी को संबंधित निर्वाचन क्षेत्र की निर्वाचक नामावली की प्रति या निर्वाचक नामावली से संबंधित भाग की प्रमाणित प्रति दाखिल करनी होगी।

रविवार, 24 सितंबर 2023

स्कूली बस और ट्रक के बीच टक्कर, 2 की मौत

स्कूली बस और ट्रक के बीच टक्कर, 2 की मौत 

नरेश राघानी 
बाड़मेर। खेलकूद प्रतियोगिता में शामिल होने के बाद वापस लौट रही स्कूली बच्चों की बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर हो गई। 
हादसा होते ही मौके पर बुरी तरह से चीख पुकार मच गई। स्कूल बस के टक्कर लगते ही परखच्चे उड़ गए हैं। इस हादसे में प्रिंसिपल एवं एक छात्रा की मौत हो गई है। घायल हुए 27 स्टूडेंट्स को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बाड़मेर के देतानी के मॉडर्न स्कूल की बालिकाएं सांचौर में आयोजित की गई खेलकूद प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए गई थी। शनिवार की देर रात खेलकूद प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए गई बालिकाएं स्कूल बस में सवार होकर वापस लौट रही थी। बाड़मेर जिले के रामसर पुलिस थाना क्षेत्र के सालो गांव के पास पहुंचते ही भारत माला सड़क मार्ग पर यह स्कूल बस हाईवा ट्रक से टकरा गई। 
दोनों वाहनों की भिड़ंत इतनी तेज थी कि बस के लगभग पूरी तरह से परखच्चे उड़ गए और उसकी एक साइड पूरी तरह से चकनाचूर हो गई। हादसा होते ही मौके पर बुरी तरह से चीख पुकार मच गई। घायलों की चीख पुकार को सुनकर आसपास के लोग भाग दौड़ करते हुए तुरंत मौके पर पहुंचे और पुलिस को हादसे की सूचना दी। 
जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल पर जमा लोगों की सहायता से स्कूली बस के भीतर फंसे बच्चों को बाहर निकाला और घायल हुए 27 बच्चों को अस्पताल में भिजवाया। जहां से गंभीर हालत के चलते उन्हें जोधपुर रेफर किया गया है। जानकारी मिलने के बाद अतिरिक्त जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक जिला अस्पताल पहुंचे और घायलों के ट्रीटमेंट को लेकर चिकित्सकों से बातचीत की। इस हादसे में स्कूल के प्रधानाचार्य एवं एक छात्र की मौत हुई है।

मंगलवार, 29 अगस्त 2023

295 पुलिसकर्मियों को निंदा की सजा दी, तनाव

295 पुलिसकर्मियों को निंदा की सजा दी, तनाव    

नरेश राघानी 
जयपुर/रतलाम। प्रदेश के पुलिस मुखिया सुधीर सक्सेना द्वारा काम के भारी दबाव के चलते तनावग्र्रस्त रहने वाले पुलिस कर्मियों का तनाव दूर करने के लिए साप्ताहिक अवकाश दिए जाने के निर्देश दिए गए है। लेकिन रतलाम जिले के पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश मिलना तो दूर हर हफ्ते मिलने वाली थोकबन्द सजाओं ने पुलिस कर्मियों के तनाव में जबर्दस्त इजाफा कर दिया है। इतना ही नहीं मायनर एक्ट में अनिवार्य रुप से कार्यवाही करने के टार्गेट ने भी पुलिसकर्मियों की टेंशन बढा दी है।
पुलिस कर्मियों पर काम का जबर्दस्त दबाव रहता है। अपराधों की विवेचना, न्यायालय की पेशियां, इसके अलावा ला एण्ड आर्डर की ड्यटियां,रात्रि गश्त जैसी लगातार व्यस्तताओं के चलते पुलिस कर्मियों के काम के घण्टे तक निर्धारित नहीं होते। त्यौहारों के मौसम और चुनाव जैसे मौको पर उन्हे कई बार लगातार चौबीस घण्टों से ज्यादा समय तक काम करना पडता है। काम के अत्यधिक दबाव का प्रतिकूल असर पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य पर तो पडता ही है,उनके पारिवारिक सम्बन्धों पर भी इसका बुरा प्रभाव पडता है। इन्ही समस्याओं को देखते हुए पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना द्वारा प्रदेश के पुलिस कर्मियों को साप्ताहिक अवकाश दिए जाने के निर्देश दिए गए थे।
साप्ताहिक अवकाश नहीं साप्ताहिक सजाएं
इधर रतलाम में साप्ताहिक अवकाश तो आज तक किसी पुलिस कर्मी को नहीं मिला,लेकिन पिछले तीन हफ्तों से थोकबन्द सजाएं जरुर मिल रही है। पिछले तीन हफ्तों में अब तक कुल 295 पुलिसकर्मियों को निन्दा की सजा दी जा चुकी है। पहली थोकबन्द सजा उस दिन दी गई थी,जिस दिन पूरा देश स्वतंत्रता दिवस की खुशियां मना रहा था और जिस दिन कई सजायाफ्ता कैदियों की सजाएं माफ भी की जाती है। लेकिन रतलाम में पन्द्रह अगस्त के दिन जिले के 148 लोगों को निन्दा की सजा दी गई। उसके बाद वाले हफ्ते में निन्दा की सजा पाने वालों की संख्या 86 थी,जबकि इस हफ्ते यानी आज मंगलवार को 61 कर्मियों को निन्दा की सजा सुनाई गई है। इसके साथ ही 41 को चेतावनी जारी की गई है।

सोमवार, 14 अगस्त 2023

खास अंदाज में मनेगा 77वां 'स्वतंत्रता दिवस'

खास अंदाज में मनेगा 77वां 'स्वतंत्रता दिवस'     

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर की पहचान बन चुकी चौपाटियों को इस बार ट्राई कलर में सजाकर 77वां स्वतंत्रता दिवस खास अंदाज में मनाया जाएगा। इस अवसर पर आवासन मंडल द्वारा विकसित मानसरोवर एवं प्रताप नगर स्थित जयपुर चौपाटियों पर दिन भर देशभक्ति के तराने गूंजेंगे। साथ ही दोनों चौपाटियों की ट्राई कलर में आकर्षक लाइटिंग एवं विशेष सजावट भी की जाएगी।

आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर चौपाटियों पर लाइव म्यूजिक बैंड के माध्यम से देशभक्ति गानों की प्रस्तुतियां होंगी। दोनों ही चौपाटियों पर सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक म्यूजिकल बैंड की भी प्रस्तुतियां होगी। आगंतुक यहां लजीज व्यंजनों के साथ देशभक्ति गानों का आनंद ले सकेंगे।

अरोड़ा ने बताया कि प्रताप नगर स्थित रेडिक्स पब्लिक स्कूल के विद्यार्थीयों द्वारा शाम छह से रात आठ बजे तक देशभक्ति पर सांस्कृतिक कार्यक्रम रहेगा। चौपाटी पर आए हुए लोगों के लिए ये स्वतंत्रता दिवस यादगार रहेगा। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर उपस्थित लोगों की फरमाइश पर लाइव म्यूजिक बैंड द्वारा देशभक्ति गानों की प्रस्तुतियां दी जाएगी।

रविवार, 13 अगस्त 2023

करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष को गोली मारी, अरेस्ट

करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष को गोली मारी, अरेस्ट

नरेश राघानी   
उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष भंवर सिंह को गोली मारी गई है। भंवर सिंह को गंभीर घायल अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। वहीं पुलिस ने भंवर सिंह पर जानलेवा हमला करने वाले हमलावर को पकड़ लिया है। हमलावर की पहचान दिग्विजय सिंह के रूप में बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि, भंवर सिंह पर गोली चलाने के बाद हमलावर की मौके पर काफी पिटाई हुई है। उसे भी अस्पताल ले जाया गया है।
बैठक के दौरान गोली मारी, अफरा-तफरा मची
मिली जानकारी के अनुसार, राजपूत करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष भंवर सिंह पर उदयपुर में उस वक्त हमला हुआ। जब वह यहां बीएन संस्थान परिसर में आयोजित एक बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे। बैठक के बीच हमलावर ने भंवर सिंह को अचानक गोली मार दी। गोली चलते ही बैठक में अफरा-तफरी मच गई। वहीं दूसरी तरफ गोली लगने से घायल भंवर सिंह को संभाला गया।
हालांकि, साथ ही मौके पर मौजूद लोगों ने हमलावर को भी पकड़ लिया। गुस्से में आए लोगों ने हमलावर की पिटाई भी की। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हमलावर को अपने कब्जे में ले लिया। हालांकि, अभी यह मालूम नहीं चल सका है कि हमलावर ने भंवर सिंह पर जानलेवा हमला क्यों किया? फिलहाल वारदात के पीछे प्रथम दृष्टया पुरानी दुश्मनी मानी जा रही है। पुलिस की वारदात को लेकर जांच जारी है।

छात्र संघ चुनावों पर रोक, छात्र-नेताओं में आक्रोश

छात्र संघ चुनावों पर रोक, छात्र-नेताओं में आक्रोश    

नरेश राघानी  
जयपुर। छात्रसंघ चुनावों पर रोक लगने के बाद छात्र नेताओं में आक्रोश व्याप्त है। गहलोत सरकार के फैसले के विरोध में छात्र नेता और समर्थक सुबह से ही राजस्थान यूनिवर्सिटी में विरोध-प्रदर्शन कर रहे है। मामला बढ़ता देख पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया है। पुलिस ने अब तक पुलिस ने अब तक तीन दर्जन छात्रों और छात्र नेताओं को हिरासत में लिया है। साथ ही आधा दर्जन गाड़ियों को जब्त किया है। इधर, राजस्थान यूनिवर्सिटी के कैंपस में छात्र नेता विरोध-प्रदर्शन के लिए आगे की रणनीति बनाने में जुटे हुए है।
छात्रसंघ चुनावों पर देर रात रोक लगने के बाद छात्र नेताओं ने राजस्थान यूनिवर्सिटी गेट पर विरोध-प्रदर्शन किया था। छात्र नेताओं ने नारेबाजी करते हुए सीएम गहलोत का पुतला फूंका। लेकिन, पुलिस प्रशासन द्वारा मोर्चा संभालने के बाद तड़के करीब 5 बजे बाद सभी स्टूडेंट्स यहां से चले गए। इसके बाद छात्र नेताओं ने सुबह 10 बजे बाद फिर से विरोध-प्रदर्शन शुरू किया। ऐसे में पुलिस ने विरोध कर रहे छात्रों पर एक्शन लेना शुरू कर दिया। पुलिस अब तक तीन दर्जन छात्रों व छात्र नेताओं को हिरासत में ले चुकी है और आधा दर्जन गाड़ियों को जब्त किया है।
यूनिवर्सिटी परिसर छावनी में तब्दील
गहलोत सरकार के फैसले के बाद पुलिस भी अलर्ट मोड़ पर है। किसी भी प्रकार बवाल ना बढें, इसके लिए राजस्थान यूनिवर्सिटी का पूरा परिसर छावनी में तब्दील हो चुका है। जगह-जगह पुलिस के जवान मोर्चा संभाले हुए है। यूनिवर्सिटी के गेट पर पुलिस का सख्त पहरा है। किसी भी बाहरी छात्र को अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।
आगे की रणनीति बनाने में जुटे छात्र नेता
छात्रसंघ चुनावों पर रोक और पुलिस के एक्शन के बाद छात्र नेता आगे की रणनीति बनाने में जुटे हुए है। यूनिवर्सिटी कैंपस में सुबह 11 बजे से छात्र नेताओं की मीटिंग चल रही है। जिसमें विरोध-प्रदर्शन की आगे की रणनीति पर चर्चा की जा रही है। छात्र नेताओं का कहना है कि प्रदेश में स्वच्छ व निष्पक्ष छात्रसंघ चुनाव जरूरी है, जो छात्र नेता लिंगदोह कमेटी की धज्जियां उड़ा रहे हैं उनको चुनाव लड़ने से अयोग्य घोषित कर दो। लेकिन, लिंगदोह कमेटी का हवाला देकर छात्रसंघ चुनाव स्थगित करने का निर्णय सही नहीं है। गहलोत सरकार को इस निर्णय पर दोबारा विचार करना चाहिए। अगर सरकार ने अपना फैसला नहीं बदला तो बड़े स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किए जाएंगे।
सरकार ने देर रात लिया छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने का फैसला
बता दें कि गहलोत सरकार ने देर रात मौजूदा 2023-24 के शैक्षणिक सत्र में छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने का फैसला लिया है। उच्च शिक्षा विभाग की ओर से देर रात सभी कुलपतियों व उच्चाधिकारियों की मीटिंग हुई। इसके बाद सभी विवि को इस फैसले की जानकारी के लिए पत्र भेजा गया। पत्र में कहा गया है कि उच्च शिक्षण संस्थानों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की क्रियान्विति की चुनौती, विश्वविद्यालयों की विभिन्न परीक्षाओं के परिणाम में देरी, चालू सत्र के लिए प्रवेश में देरी से 180 दिन का अध्यापन कार्य कराना चुनौतीपूर्ण होने सहित विभिन्न कारणों से यह फैसला किया गया है।

शनिवार, 12 अगस्त 2023

अलर्ट, राजस्थान में फसलों को खतरा: टिड्डीदल

अलर्ट, राजस्थान में फसलों को खतरा: टिड्डीदल 

नरेश राघानी   
जयपुर। किसानों के लिए एक बेहद बुरी खबर सामने आ रही है। जहां किसानों की मेहनत पर खतरा मंडरा रहा है। बता दें कि एक बार फिर से फसलों पर टिडि्डयों के हमले का खतरा बढ़ चुका है। जिसका एक सर्वे सामने आया है। सर्वे में राजस्थान के कई जिलों में टिड्डियों के 155 स्पॉट मिले हैं।
मोहनगढ़ कस्बे में टिड्डियों का एक बड़ा दल
जैसलमेर से 150 किलाेमीटर दूर मोहनगढ़ कस्बे में टिड्डियों का एक बड़ा दल 150 हेक्टेयर खेतों में डेरा डाले बैठा है। हालांकि, ये अभी अंडों से निकले ही हैं, लेकिन, तेजी से इनकी तादाद बढ़ती जा रही है। फिलहाल टिड्डी नियंत्रण दल के अधिकारी इसे कंट्रोल करने का दावा कर रहे हैं।
राजस्थान के ये इलाके बन सकते हैं सेंटर
टिड्‌डी विभाग के डॉ. वीरेंद्र बताते हैं- पिछले कुछ सालों से रेगिस्तानी इलाकों में जून-जुलाई में बरसात के बाद से ही टिड्‌डी का खतरा बढ़ जाता है। थार में टिड्‌डी पाक की तरफ से आती रही हैं।
इस बार पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर, जोधपुर, बाड़मेर, जालोर समेत आसपास के इलाकों में जमकर बारिश हुई है। ऐसे में यहां हरियाली बढ़ी और जमीन में नमी भी। इसके चलते टिड्‌डी के पनपने के लिए पारिस्थितियां पूरी तरह अनुकूल बनी हुई हैं।

शनिवार, 5 अगस्त 2023

दुष्कर्म हत्या मामले में चार आरोपी अरेस्ट किए

दुष्कर्म हत्या मामले में चार आरोपी अरेस्ट किए  

नरेश राघानी 
भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के थाना कोटड़ी में बालिका से दुष्कर्म एवं हत्या कर शव कोयले की भट्टी में जलाने के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। 
पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धु ने गुरुवार देर रात बताया कि इस मामले में कान्हा ( 21) एवं कालु (25) निवासी बालाजी मंदिर के पास तस्वारिया थाना शाहपुरा जिला भीलवाडा, संजय ( 20) निवासी पालसा थाना शाहपुरा और पप्पु उर्फ ( 35) निवासी अरवड थाना फुलिया कलॉ जिला भीलवाडा को गिरफ़्तार किया गया है। 
उन्होंने बताया कि इस मामले में बालिका से दुष्कर्म, हत्या एवं पॉक्सो की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए महानिरीक्षक पुलिस अजमेर रेन्ज लता मनोज, जिला कलेक्टर आशीष मोदी एवं वह स्वयं ने घटनास्थल पर पहुंचकर निरीक्षण किया। वारदात के संबंध में पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। 
साथ ही पीडि़त परिवारजनों को सांवत्ना देते हुए आरोपियों के विरूद्ध शीघ्र एवं सख्त कार्रवाई करने का विश्वास दिलाया गया। वारदात के शीघ्र खुलासे के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया। वारदातस्थल का वैज्ञानिक आधार पर सुक्ष्मता से निरीक्षण करने के लिए एफएसएल, एमओबी टीम व डॉगस्क्वायड को बुलाया जाकर वैज्ञानिक तरीके से साक्ष्य संकलित किये गये।

शुक्रवार, 4 अगस्त 2023

राजस्थान: 17 नए जिलों के नोटिफिकेशन मंजूर

राजस्थान: 17 नए जिलों के नोटिफिकेशन मंजूर   
नरेश राघानी   
जयपुर। राज्य सरकार ने 17 नए जिलों के नोटिफिकेशन को मंजूरी दे दी है। कैबिनेट की मीटिंग में इन जिलों के नोटिफिकेशन को मंजूरी दी गई है। जबकि बजट में 19 जिलों की घोषणा की गई थी। विरोध के चलते जयपुर और जोधपुर जिले यथावत रहेंगे। प्रदेश में पहले से 33 जिले थे। अब 17 नए जिलों के बाद 50 जिले हो गए हैं। सरकार ने 17 जिलों में आईएएस और आईपीएस अफसरों को ओएसडी लगाया था। अब नए जिलों की अधिसूचना जारी करते ही उनका पद कलेक्टर और एसपी हो जाएगा। नए जिलों मे अब कलेक्टर, एसपी और जिला लेवल के ऑफिस खुलने शुरू होंगे।
राजस्व मंत्री बोले- आगे और नए जिले बनाएंगे
राजस्व मंत्री रामलाल जाट ने कहा- सीएम ने इतिहास बनाया है। मेरी मांग है कि आगे और भी जिले बनें। कुछ छोटे जिले भी बनाए जाएं। लोगों की जिलों की और मांग आ रही है। बीजेपी के लोग भी जिलों की मांग कर रहे हैं। आगे और नए जिले बनाएंगे।
ये हैं नए जिले
जयपुर
इसमें जयपुर नगर निगम हेरिटेज और ग्रेटर में आने वाला पूरा भाग आएगा।
तहसील: जयपुर, कालवाड़, आमेर और सांगानेर।
जयपुर ग्रामीण
इसमें 13 उपखंड और 18 तहसील होंगी।
उपखंड: जयपुर, सांगानेर, आमेर, बस्सी, चाकसू, जमवारामगढ़, चौमूं, सांभर लेक, माधोराजपुरा, रामपुरा डाबड़ी, किशनगढ़, रेनवाल, जोबनेर और शाहपुरा।
तहसील: नगर निगम का इलाका छोड़कर जयपुर, कालवाड़, सांगानेर और आमेर तहसील का हिस्सा भी ग्रामीण में आएगा। इसके अलावा जालसू, बस्सी, तूंगा, चाकसू, कोटखावदा, जमवारामगढ़, आंधी, चौमूं, फुलेरा, माधोराजपुरा, रामपुरा डाबड़ी, किशनगढ़, रेनवाल, जोबनेर और शाहपुरा तहसील में शामिल होंगी।
जोधपुर
इसमें जोधपुर तहसील का नगर निगम जोधपुर के तहत आने वाला पूरा भाग होगा।
जोधपुर ग्रामीण
इसमें 10 उपखंड और 15 तहसील होंगी।
उपखंड: जोधपुर उत्तर, जोधपुर दक्षिण, लूणी, बिलाड़ा, भोपालगढ़, पीपाड़ सिटी, ओसियां, बावड़ी, शेरगढ़ और बालेसर।
तहसील: नगर निगम के क्षेत्र को छोड़कर जोधपुर उत्तर और दक्षिण तहसील का हिस्सा होंगे। कुड़ी, भगतासनी, लूणी, झवर, बिलाड़ा, भोपालगढ़, पीपाड़ सिटी, ओसियां, तिंवरी, बावड़ी, शेरगढ़, बालेसर, शेखला और चामू।
बालोतरा
इसमें 4 उपखंड और 7 तहसील होंगी।
उपखंड: बालोतरा, सिवाना, बायतु और सिणधरी।
तहसील: पचपदरा, कल्याणपुर, सिवाना, समदड़ी, बायतु, गिड़ा और सिणधरी
डीग
इसमें 6 उपखंड और 9 तहसील होंगी।
उपखंड: डीग, कुम्हेर, नगर, सीकरी, कामां और पहाड़ी।
तहसील: डीग, जनूथर, कुम्हेर, रारह, नगर, सीकरी, कामां, जुरहरा और पहाड़ी।
डीडवाना कुचामन
इसमें 6 उपखंड और 8 तहसील होंगी।
उपखंड: डीडवाना, लाडनूं, परबतसर, मकराना, नागौर और कुचामन सिटी।
तहसील: डीडवाना, मौलासर, छोटी खाटू, लाडनूं, परबतसर, मकराना, नावां और कुचामन सिटी।
दूदू
इसमें 3 उपखंड और 3 तहसील होंगी।
उपखंड: मोजमाबाद, दूदू और फागी।
तहसील: मोजमाबाद, दूदू और फागी।
गंगापुर सिटी
5 उपखंड और 7 तहसील होंगी।
उपखंड: गंगापुर सिटी, वजीरपुर, बामनवास, टोडाभीम और नादौती।
तहसील: गंगापुर सिटी, तलवाड़ा, वजीरपुर, बामनवास, बरनाला, टोडाभीम और नादौती।
ब्यावर
इसमें 6 उपखंड और 7 तहसील होंगी।
उपखंड: ब्यावर, टॉडगढ़, जैतारण, रायपुर, मसूदा और बदनोर।
तहसील: ब्यावर, टॉडगढ़, जैतारण, रायपुर, मसूदा, विजयनगर और बदनोर।
केकड़ी
इसमें 5 उपखंड और 6 तहसील होंगी।
उपखंड: केकड़ी, सावर, भिनाय, सरवाड़ और टोडारायसिंह।
तहसील: केकड़ी, सावर, भिनाय, सरवाड़, टाटोटी और टोडारायसिंह
कोटपूतली बहरोड़
इसमें 7 उपखंड 8 तहसील शामिल।
उपखंड: बहरोड़, बानसूर, नीमराणा, नारायणपुर, कोटपूतली, विराटनगर और पावटा।
तहसील: बहरोड़, बानसूर, नीमराणा, मांधन, नारायणपुर, कोटपूतली, विराटनगर और पावटा।
खैरथल तिजारा
​​​​​​​इसमें 5 उपखंड और 7 तहसील होंगी।
उपखंड: तिजारा, किशनगढ़ बास, कोटकासिम, टपूकड़ा और मुंडावर।
तहसील: तिजारा, किशनगढ़ बास, खैरथल, कोटकासिम, हरसोली, टपूकड़ा और मंडावर।
नीमकाथाना
​​​​​​​इसमें 4 उपखंड और 5 तहसील होंगी।
उपखंड: नीमकाथाना, श्रीमाधोपुर, उदयपुरवाटी और खेतड़ी।
तहसील: नीमकाथाना, पाटन, श्रीमाधोपुर, उदयपुरवाटी और खेतड़ी।
सलूंबर
​​​​​​​इसमें 4 उपखंड और 5 तहसील होंगी।
उपखंड: सराडा, सेमारी, लसाडिया और सलूंबर।
तहसील: सराडा, सेमारी, लसाडिया, सलूंबर और झल्लारा।
सांचौर​​​​​​​
4 उपखंड और 4 तहसील होंगी।
उपखंड और तहसील: सांचौर, बागोड़ा, चितलवाना और रानीवाड़ा।
शाहपुरा
​​​​​​​इसमें 5 उपखंड और 6 तहसील होंगी।
उपखंड: शाहपुरा, जहाजपुर, फुलिया कला, बनेड़ा और कोटडी।
तहसील: शाहपुरा, जहाजपुर, काछोला, फुलिया कला, बनेड़ा और कोटडी।

गुरुवार, 3 अगस्त 2023

बकरियां चराने गई बच्ची का भट्टी में शव मिला

बकरियां चराने गई बच्ची का भट्टी में शव मिला

नरेश राघानी   
जयपुर। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में एक अजीब और चौंकाने वाला मामला सामने आया है। खबरों के अनुसार, जिले के गिरडिया पंचायत समिति क्षेत्र में स्थित शाहपुरा पंचायत समिति क्षेत्र की एक नाबालिग लड़की बुधवार को बकरियां चराने गई थी। जब तक वह शाम तक घर नहीं लौटी, गांव वालों ने बालिका की खोज की। लड़की का शव आज सुबह क्षेत्र में संचालित कोयले की भट्टी में खोजते हुए मिला। स्थानीय लोगों में इससे काफी रोष फैल गया। आशंका जताई जा रही है कि बच्ची का गैंगरेप कर आरोपियों ने बेरहमी से हत्या के बाद उसके शव को कोयले की भट्टी में जता दिया है। 
वहीं, राजस्थान में नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने भीलवाड़ा जिले में कोटडी थाना क्षेत्र के नृसिंहपुरा गांव में नाबालिग लड़की को कोयले की भट्टी में जलाने की घटना को राज्य सरकार के माथे पर कलंक बताया है। राठौड़ ने इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर कहा कि नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने के बाद कोयले की भट्टी में उसका शव जलाने की लोमहर्षक घटना सरकार के माथे पर कलंक है। 
उन्होंने कहा " गहलोत के जंगलराज की दास्तां देखिये, जब बच्ची का पिता एफआईआर दर्ज कराने थाने पहुंचता है तो गहलोत सरकार की पुलिस कई घंटों तक एफआईआर नहीं लिखती। मैंने स्थानीय भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं को घटनास्थल पर पहुंचकर पीड़ित परिजनों को न्याय दिलाने के लिए निर्देशित किया है।" उन्होंने कहा कि राजस्थान में हर दिन निर्भया कांड आकार ले रहा है लेकिन दुर्भाग्य है कि जिम्मेदार गृह विभाग के मुखिया अशोक गहलोत जो राजस्थान के मुख्यमंत्री भी है वो हर बार बहन बेटियों को सुरक्षित परिवेश मुहैया कराने की बजाय अन्य प्रदेशों की घटनाओं को लेकर बयानवीर बने रहते हैं।
उन्होंने कहा कि एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता है जब प्रदेश में कहीं ना कहीं बच्चियों के साथ दरिंदगी की खबरें सामने ना आती हो। इसी तरह उपनेता प्रतिपक्ष डा सतीश पूनियां ने कहा कि कोई ऐसी सुबह नहीं आती जब अत्याचार, बलात्कार, कत्लेआम की इस तरह की असीम पीड़ा वाली खबर ना आती हो। अपनी कुर्सी बचाने में खोए हुए गृहमंत्री को प्रदेश में अत्याचार का क्रूरतम चेहरा भी दिखाई नहीं दे रहा है। यह सरकार नरभक्षी हो चुकी है, इन बहन बेटियों के कत्ल का सीधा जिम्मा प्रदेश के गृहमंत्री का है। 
इसके अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सी पी जोशी ने इस घटना को लेकर एक प्रदेश स्तरीय कमेटी का गठन किया है जो घटनास्थल पर जाकर संपूर्ण तथ्यों की जांच कर रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष को सौंपेंगी। पार्टी के प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा ने बताया कि कमेटी में प्रदेश प्रवक्ता एवं विधायक अनिता भदेल, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष रक्षा भंडारी एवं संभाग सह प्रभारी एवं पूर्व विधायक अंतर सिंह भडाणा शामिल हैं।

बुधवार, 2 अगस्त 2023

अश्लील वीडियो बना युवती को ब्लैकमेल किया

अश्लील वीडियो बना युवती को ब्लैकमेल किया  

नरेश राघानी 
श्रीगंगानगर। अश्लील वीडियो बनाकर युवती को ब्लैकमेल करने का मामला समाने आया है। घटना पिछले तीन माह के दौरान हुई। पिछले दिनों आरोपी ने युवती के वीडियो वायरल कर दिए तो युवती महिला थाने पहुंची और व्यथा बताई। युवती ने आरोप लगाया कि आरोपी युवक ने धमकाकर उससे शादी के झूठे दस्तावेज बनवा लिए। इस दौरान वह रुपए की मांग करता रहा और युवती से सवा पांच लाख रुपए ऐंठ लिए।
युवती की ओर से दर्ज मामले में आरोप लगाया गया कि तरसेम पुत्र हरदेवसिंह, विक्की राज और आशु शर्मा तथा कुछ अन्य लोग उसके परिचित है। इस कारण उनका युवती के घर आना जाना था। इसी दौरान इन लोगों से युवती का परिचय हो गया। तीन माह पहले एक मई को आरोपी युवती को अपने साथ विवेकानंद कॉलोनी इलाके में ले गए। वहां आरोपियों ने युवती को नशीला पदार्थ पिलाया और नशे की हालत में उसके अश्लील वीडियो बना लिए। 
आरोपियों ने इसके बाद से युवती से रुपए की मांग करनी शुरू कर दी। आरोपियों ने युवती से पांच लाख 25 हजार रुपए भी ऐंठ लिए। इस दौरान आरोपियों में से एक ने युवती से शादी के फर्जी दस्तावेज भी तैयार करवा लिए। युवती का आरोप है कि आरोपियों ने उससे समय-समय पर रुपए की मांग कर पांच लाख पच्चीस हजार रुपए भी ऐंठ लिए और उसके वीडियो वायरल भी कर दिए। इस पर पीड़िता महिला थाने पहुंची और मामला दर्ज करवाया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सोमवार, 31 जुलाई 2023

जयपुर एक्सप्रेस ट्रेन में फायरिंग, चार लोगों की मौत

जयपुर एक्सप्रेस ट्रेन में फायरिंग, चार लोगों की मौत   

नरेश राघानी  
जयपुर। मुंबई जा रही जयपुर एक्सप्रेस ने गोलीबारी हुई है। इस घटना में 4 लोगों की जानें गई है। वारदात से सनसनी मच गई। लोग डरे हुए हैं। आरोप है कि आरपीएफ के जवान ने फायरिंग की है। मरने वालों में एक आरपीएफ का जवान भी शामिल है। मरने वालों में एक आरपीएफ एसआई भी शामिल बताया जा रहा है। घटना के बाद आरपीएफ जवान को हिरासत में ले लिया गया। उससे पूछताछ की जा रही है। उसने फायरिंग क्योंकि इसका पता लगाने की कोशिश की जा रही है।
आरपीएफ कांस्टेबल ने की थी फायरिंग
जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि जयपुर एक्सप्रेस में चार लोगों की गोली लगने से मौत हो गई । चेतन सिंह नाम का एक आरपीएफ कांस्टेबल ने कथित कथित रूप से इस घटना को अंजाम दिया है।  इस घटना में आरपीएफ के एएसआई समेत तीन यात्रियों को गोली लगी।  चारों की मौके पर ही मौत हो गई।  इन चारों के शवों को महाराष्ट्र के बोरीवली में उतारा गया। आरोपी आरपीएफ कांस्टेबल को डिटेन किया गया है।  सुबह 5:30 बजे वापी और सूरत के बीच यह घटना हुई। 
गोलीबारी में चार की मौत
रेलवे के तरफ से बताया गया है कि मुंबई जा रही जयपुर एक्सप्रेस में एक आरपीएफ जवान ने चलती ट्रेन के अंदर फायरिंग शुरू कर दी.  गोलीबारी की इस घटना में एक आरपीएफ एसआई और तीन अन्य लोगों की जानें गई है । आरोपी को उसके हथियार सहित गिरफ्तार कर लिया गया । इस घटना के पीछे वजह क्या है । इसका पता लगाया जा रहा है।
आरपीएफ ने जारी किया यह बयान
वही आरपीएफ ने ट्रेन में गोलीबारी की घटना पर बयान जारी करते हुए कहा गया है कि जयपुर एक्सप्रेस 12956 में फायरिंग में एएसआई की मौत हुई है।  आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।  इस संबंध में डीसीपी नॉर्थ जीआरपी को सूचना दे दी गई।

छात्राओं को अश्लील मैसेज करता था प्रिंसिपल

छात्राओं को अश्लील मैसेज करता था प्रिंसिपल

नरेश राघानी 
हनुमानगढ़। राजस्थान के हनुमानगढ़ के रावतसर क्षेत्र में सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल पर छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजने का मामला सामने आया है। बता दें जहां विद्यालय के प्रिंसिपल पर छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजने और छेड़छाड़ करने और विरोध करने पर टीसी काटने की धमकी देने का आरोप है। इस मामले पर छात्राओं ने बताया कि प्रिंसिपल छात्राओं को घर जाकर बात न बताने की धमकी देकर डराता था और टीसी काटने की धमकी देता था। 
जानकारी के अनुसार विद्यालय की छात्रा के साथ प्रिंसिपल द्वारा व्हाट्सएप पर चैट की जा रही थी। सोशल मीडिया पर चैट के स्क्रीन शॉट वायरल होने के बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने इस मामले पर रोष जताया और विद्यालय के मुख्य गेट के सामने धरना दिया। ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन कर प्रिंसिपल को बर्खास्त करने की मांग की है। वहीं दूसरी ओर पीड़ित छात्राओं के परिजन ने थाने में प्रिंसिपल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। फिलहाल पुलिस आगे की जांच-पड़ताल कर रही है।
बता दें परिजनों की एफआईआर के मुताबिक 12वीं क्लास की नाबालिग छात्रा को प्रिंसिपल अश्लील मैसेज भेजता था और ऑफिस में बुलाकर छेड़छाड़ करता था।

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...