राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 27 नवंबर 2022

कांस्टेबलों को साप्ताहिक अवकाश देने के आदेश 

कांस्टेबलों को साप्ताहिक अवकाश देने के आदेश 

नरेश राघानी 

अजमेर। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा के निर्देशों पर रविवार को अजमेर पुलिस अधीक्षक चूनाराम जाट ने जिले के सभी पुलिस थानों एवं चौकियों पर पद स्थापित कांस्टेबलों को साप्ताहिक अवकाश देने के आदेश जारी किए हैं। पुलिस अधीक्षक चूनाराम जाट ने यह आदेश डीजीपी राजस्थान के निर्देशों के तहत दिए हैं जिसके तहत कल से अजमेर के निकटवर्ती गेगल थाने से साप्ताहिक अवकाश दिए जाने का क्रम शुरू होगा।

पुलिस मुख्यालय द्वारा अवकाश संबंधी पायलट प्रोजेक्ट के तहत उक्त आशय के आदेश जारी किए हैं, जिसमें थाने अथवा चौकी पर तैनात कांस्टेबलों को साप्ताहिक अवकाश देने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

मंगलवार, 22 नवंबर 2022

निर्माण के लिए ₹993.51 करोड़ के वित्त को मंजूरी

निर्माण के लिए ₹993.51 करोड़ के वित्त को मंजूरी

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान सरकार ने जयपुर मेट्रो के फेज 1-सी के निर्माण के लिए 993.51 करोड़ रुपये के वित्त को मंजूरी दे दी है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया, “मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुरवासियों के लिए मेट्रो सुविधा को और अधिक सुलभ बनाने की दिशा में बड़ा निर्णय किया है। उन्होंने जयपुर मेट्रो के चरण 1-सी के निर्माण के लिए 993.51 करोड़ रुपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है।”

प्रवक्ता के मुताबिक, यह चरण बड़ी चौपड़ को ट्रांसपोर्ट नगर से जोड़ेगा और इसकी कुल लंबाई 2.85 किलोमीटर होगी, जिसमें 2.26 किलोमीटर भूमिगत एवं 0.59 किलोमीटर एलिवेटेड भाग शामिल है। प्रवक्ता के अनुसार, जयपुर मेट्रो के फेज 1-सी के निर्माण के बाद बड़ी चौपड़ से दिल्ली-आगरा हाइवे पर ट्रांसपोर्ट नगर तक मेट्रो का संचालन हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि गहलोत के इस निर्णय से शहर की यातायात व्यवस्था में सुधार आएगा और आमजन को दिल्ली-आगरा हाइवे तक मेट्रो की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में जयपुर मेट्रो का विस्तार करते हुए फेज 1-सी और फेज 1-डी के निर्माण की घोषणा की गई थी। अक्टूबर 2022 में जयपुर मेट्रो के फेज 1-डी के निर्माण के लिए 204.81 करोड़ रुपये की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। अभी जयपुर में मानसरोवर से बड़ी चौपड़ तक मेट्रो सेवा उपलब्ध है।

रविवार, 20 नवंबर 2022

डिपार्टमेंट ने प्रदेश स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया

डिपार्टमेंट ने प्रदेश स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया


राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने के लिए राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस आरटीआई डिपार्टमेंट ने  किया प्रदेश स्तरीय सम्मेलन 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस आरटीआई डिपार्टमेंट ने राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कार्यालय जयपुर में राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा को धार देने के लिए प्रदेश स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता के लिए भारतीय युवा कांग्रेस आरटीआई डिपार्टमेंट के राष्ट्रीय चेयरमैन डॉ. अनिल कुमार मीणा , राष्ट्रीय वाइस चेयरमैन एडवोकेट आनंद मिश्रा,  राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर सुमित यादव, शैलेंद्र मीणा,  राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस आरटीआई डिपार्टमेंट के चेयरमैन अनुज रावल एवं  राजस्थान कांग्रेस कमेटी सदस्य जगदीश मीणा की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

कार्यक्रम में प्रदेश स्तर से आए पदाधिकारियों ने भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने का संकल्प लिया। राष्ट्रीय चेयरमैन डॉ अनिल मीणा ने कहा कि बेरोजगारी महंगाई समाज में फैली हुई नफरत के खिलाफ राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा वैश्विक ऐतिहासिक यात्रा है। जिसे इतिहास के पन्नों में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा। देश में नफरत के बीज बोने वाली सत्ताधारी शक्तियां नाकाम करने की हजार कोशिश करने के बावजूद देश की जनता राहुल गांधी की यात्रा को सफल बनाने के लिए संकल्प ले चुकी है। देश की जनता आने वाले चुनाव में सांप्रदायिक जहर उगलने वाली शक्तियों को उखाड़ फेंकने का संकल्प ले चुकी है। आरटीआई डिपार्टमेंट के वाइस चेयरमैन एडवोकेट आनंद मिश्रा ने कहां की आरटीआई देशभर में जन-जन को सशक्त करने के लिए जागरूकता अभियान चला रहा है, इससे भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगेगी।

राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर सुमित यादव ने कहा जनता के दुरुपयोग हुए पैसे का हिसाब रिपोर्ट से लिया जाएगा और भ्रष्टाचारियों को कानूनी तरीके से दंडात्मक कार्रवाई के लिए न्याय व्यवस्था की शरण लेगा। राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस आरटीआई डिपार्टमेंट के चेयरमैन अनुज राहुल ने कहा कि प्रदेश में भाजपा सांसदों के द्वारा किए गए भ्रष्टाचार को बेनकाब करने के लिए आरटीआई डिपार्टमेंट को मजबूत स्तंभ के तौर पर स्थापित करेंगे। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य जगदीश मीणा ने कहा कि देश गांधीजी के हत्यारों की विचारधाराओं से यह देश नहीं चलेगा। यह देश गांधी जी के विचारों को आत्मसात करने से चलेगा।

शुक्रवार, 11 नवंबर 2022

राजस्थान: 3 दिन का विशेष अभियान, निर्णय किया 

राजस्थान: 3 दिन का विशेष अभियान, निर्णय किया 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान में खान विभाग द्वारा पुलिस प्रशासन के समन्वय से अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के विरुद्ध तत्काल प्रभाव से तीन दिन का विशेष अभियान चलाने का निर्णय किया गया है। खान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य के सभी माइनिंग अधिकारियों को आज शुक्रवार को ही अपने क्षेत्र के संबंधित पुलिस अधीक्षकोें से संपर्क कर प्रभावी कार्यवाही की रणनीति बनाने के निर्देश दिए हैं। शुक्रवार से प्रदेश में कार्यवाही की सूचना भी आने लगी ह्रै और आरंभिक सूचनाओं के अनुसार बिना रवन्ना या टीपी के खनिज परिवहन करते हुए 13 से अधिक वाहन जब्त कर संबंधित पुलिस थानों को सुपुर्द किए गए है।

डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को स्टोनमार्ट के उद्घाटन अवसर पर कहा था कि राज्य सरकार अवैध खनन के प्रति गंभीर है और निरंतर अभियान चलाकर इस पर रोक लगाने के प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री गहलोत के निर्देश के साथ ही विभाग एक्शन मोड पर आ गया है और विभाग ने आज ही पुलिस अधीक्षकों से संपर्क कर तीन दिनों तक लगातार अभियान चलाकर अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अवैध खनन पर प्रभावी रोक के लिए एक और विभाग द्वारा संबंधित विभागों से समन्वय बनाते हुए अभियान चलाकर बड़ी मशीनरी की जब्ती और एफआईआर एवं गिरफ्तारी जैसे कठोर कदम उठाए जा रहे हैं वहीं वैध खनन को बढ़ावा देने के लिए खनिज ब्लाक तैयार कर ई नीलामी की जा रही है। ताकि अवैध खनन पर रोक लगाई जा सके।

शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2022

29 को 369 फुट ऊंची शिव प्रतिमा का लोकार्पण होगा

29 को 369 फुट ऊंची शिव प्रतिमा का लोकार्पण होगा

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान में राजसमंद जिले के नाथद्वारा कस्बे में निर्मित 369 फुट ऊंची शिव प्रतिमा ‘विश्वास स्वरूपम’ का लोकार्पण (29 अक्टूबर) शनिवार को होगा। दावा है कि भगवान शिव की अल्हड़ व ध्यान मुद्रा वाली यह प्रतिमा दुनिया की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा है। लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कथावाचक मुरारी बापू, योग गुरु बाबा रामदेव, विधानसभा अध्यक्ष डॉ सी.पी. जोशी भी मौजूद रहेंगे।

प्रतिमा का निर्माण तत पदम संस्थान द्वारा किया गया है। संस्थान के ट्रस्टी और मिराज समूह के अध्यक्ष मदन पालीवाल ने कहा कि प्रतिमा के उद्घाटन के बाद 29 अक्टूबर से छह नवंबर तक नौ दिनों तक धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। इस दौरान मुरारी बापू राम कथा का पाठ भी करेंगे। कार्यक्रम के प्रवक्ता जयप्रकाश माली ने कहा कि नाथद्वारा की गणेश टेकरी पर 51 बीघा की पहाड़ी पर बनी इस प्रतिमा में भगवान शिव ध्यान एवं अल्लड़ की मुद्रा में हैं।

माली ने दावा किया, ‘विश्व की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा की अपनी एक अलग ही विशेषता है। 369 फुट ऊंची यह प्रतिमा विश्व की अकेली ऐसी प्रतिमा होगी, जिसमें लिफ्ट, सीढ़ियां, श्रद्धालुओं के लिए हॉल बनाया गया है।’ उन्होंने कहा, ‘प्रतिमा के अंदर सबसे ऊपरी हिस्से में जाने के लिए चार लिफ्ट और तीन सीढ़ियां बनी हैं। प्रतिमा के निर्माण में 10 वर्षों का समय और 3000 टन स्टील और लोहा, 2.5 लाख क्यूबिक टन कंक्रीट और रेत का इस्तेमाल हुआ है।’ इस परियोजना की नींव अगस्त 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मुरारी बापू की उपस्थिति में रखी गई थी। यह स्थान उदयपुर शहर से लगभग 45 किलोमीटर दूर है।

शनिवार, 22 अक्तूबर 2022

23-24 अक्टूबर को काली दिवाली मनाएंगे कर्मचारी

23-24 अक्टूबर को काली दिवाली मनाएंगे कर्मचारी 

नरेश राघानी 

श्रीगंगानगर। राजस्थान में राज्य सरकार द्वारा कोविड महासंक्रमण के दौरान सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में अस्थाई रूप से नियुक्त किए गए कोविड स्वास्थ्य कर्मियों (सीएचए) को इस वर्ष 31 मार्च को अचानक सेवा मुक्त कर दिए जाने के खिलाफ आंदोलन कर रहे यह कर्मचारी 23 और 24 अक्टूबर को जयपुर में शहीद स्मारक स्थल पर काली दिवाली मनाएंगे। सीएचए संघर्ष समिति के सह संयोजक सुखदीप सिंह अटवाल ने बताया कि राज्य सरकार में उनको सेवा बहाल करने की मांग को अभी तक स्वीकार नहीं किया है।

विगत 22 सितंबर को राज्य मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के आश्वासन पर आंदोलन स्थगित किया गया था। प्रताप सिंह खाचरियावास ने आश्वस्त किया था कि राज्य सरकार उनकी मांग के प्रति संवेदनशील और गंभीर है। इसका जल्दी ही उचित और सम्मानजनक हल निकाला जाएगा। श्री अटवाल ने कहा कि इस आश्वासन को भी आज पूरा एक महीना हो गया।

बीते एक महीने के दौरान संघर्ष समिति के शिष्टमंडल ने चार बार खाचरियावास से मुलाकात की है।आश्वासनों के सिवाय सेवा बहाली होती नहीं रही। जब तक प्रदेश के सभी कर्मियों को राज्य सरकार बहाल करने के आदेश जारी नहीं करती,तब तक संघर्ष जारी रहेगा।उन्होंने बताया कि 23 और 24 अक्टूबर को शहीद स्मारक स्थल जयपुर में काली दिवाली मनाने के लिए प्रदेश भर से काफी संख्या में सी एच ए कर्मचारी शामिल होंगे।

जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई-फाई की नाथद्वारा में शुरुआत

जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई-फाई की नाथद्वारा में शुरुआत 

नरेश राघानी 

राजसमंद। रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड (जियो) ने शनिवार को जियो ट्रू 5जी पावर्ड वाई फाई की राजस्थान की धार्मिक नगरी नाथद्वारा में शुरुआत की। शैक्षणिक संस्थानों, धार्मिक स्थानों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड, कमर्शियल हब जैसे स्थान जहां लोगों का जमावड़ा अधिक होता है वहां यह सर्विस दी जाएगी। जियो यूजर्स को यह नई वाई-फाई सर्विस, जियो वेलकम ऑफर अवधि के दौरान मुफ्त में मिलेगी। दूसरा नेटवर्क इस्तेमाल करने वाले भी जियो 5जी पावर्ड वाई फाई का सीमित इस्तेमाल कर सकेंगे, लेकिन अगर वे जियो 5जी पावर्ड वाई फाई की फुल सर्विस का उपयोग करना चाहते हैं तो उन्हें जियो का ग्राहक बनना होगा। दिलचस्प यह है कि जियो ट्रू 5जी वाई फाई से जुड़ने के लिए यह जरूरी नहीं कि ग्राहक के पास 5जी हैंडसेट हो। वह 4जी हैंडसेट से भी इस सर्विस से जुड़ सकता है।

इस सेवा की शुरुआत के साथ ही नाथद्वारा और चेन्नई में जियो की ट्रू 5जी सर्विस भी शुरू हो गई हैं। हाल ही में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और वाराणसी में भी 5जी सर्विस लॉन्च की गई थी। जल्द ही दूसरे शहरों में भी जियो 5जी सर्विस शुरू हो सके और ट्रू 5जी हैंडसेट की उपलब्धता बढ़े इसके लिए जियो की टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं।

देशवासियों को दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए आकाश अंबानी ने कहा, भगवान श्रीनाथ जी कृपा से आज नाथद्वारा में जियो ट्रू 5जी की सर्विस के साथ 5जी पॉवर्ड वाईफाई सेवा का शुभारंभ हो रहा है। हम मानते हैं कि 5जी सबके लिए है, इसलिए हमारी कोशिश है कि दिल्ली, मुंबई, कोलकत्ता और वाराणसी की तरह देश के कोने कोने तक जियो की ट्रू 5जी सर्विस जल्द चालू हो। श्रीनाथ जी के आशीर्वाद से नाथद्वारा और चेन्नई भी आज से जियो ट्रू 5जी सिटी बन गए हैं। नाथद्वारा राजस्थान का पहला शहर है जहां किसी भी ऑपरेटर ने 5जी सेवाओं की शुरूआत की है। कंपनी ने हालांकि कमर्शियल लॉन्च की घोषणा अभी नहीं की है। वहीं कंपनी के 5जी सर्विस मैप पर दक्षिण भारत का चेन्नई शहर भी आ गया है।

बता दें कि 5 अक्टूबर को जियो ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, वाराणसी से 5G सेवाओं की देश में शुरुआत की थी। जियो चेयरमैन बनने के बाद आकाश अंबानी का यह पहला बड़ा लॉन्चिंग कार्यक्रम रहा। इससे पहले अंबानी दंपती ने श्रीनाथजी मंदिर में राज भोग झांकी के दर्शन कर तिलकायत पुत्र विशाल बावा का आशीर्वाद लिया। श्रीनाथजी अंबानी परिवार के कुल देवता हैं। श्रीनाथजी मंदिर के मोती महल परिसर में लॉन्चिंग कार्यक्रम रखा गया था। यह कार्यक्रम 10.30 बजे से 12 बजे तक चला।

बताया जा रहा है कि सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 5जी की नाथद्वारा में शुरुआत करने के लिए मोती महल व गोशाला सहिज करीब 20 टावर लगाए गए हैं, जहां से हाईस्पीड इंटरनेट सेवा आमजन तक पहुंचेगी। 2015 में भी जियो कंपनी की 4जी सर्विस शुरू करने से पहले रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने यहां दर्शन किए थे।

टेलीकॉम कंपनी जियो के 4जी की सफलता के बाद राजस्थान के श्रीनाथजी मंदिर से शनिवार को धनतेरस पर मंदिर के मोती महल से 5जी सेवा की शुरू कर दिया। एक माह पूर्व नाथद्वारा श्रीनाथजी दर्शन करने आए मुकेश अम्बानी ने श्रीजी के दर से 5जी की सेवा शुरू करने की बात कही थी।

जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी शनिवार को मुंबई एयरपोर्ट से सुबह 8 बजे निकले। 9 बजे उदयपुर एयरपोर्ट पहुंचे। सवा नौ बजे उदयपुर से बॉय रोड नाथद्वारा के लिए निकले। ढाई घंटे नाथद्वारा रुकने के बाद आकाश अंबानी साढ़े बारह बजे नाथद्वारा से उदयपुर के लिए निकलेंगे। उदयपुर से पुनः मुंबई के लिए रवाना हो जाएंगे।

मारपीट: 250 दलित परिवारों ने बौद्ध धर्म अपनाया 

मारपीट: 250 दलित परिवारों ने बौद्ध धर्म अपनाया 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान के बारां जिले के भूलोन गांव के सवर्ण समाज के युवकों की मारपीट से आहत 250 दलित परिवारों ने हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया है। इन सभी ने अपने घरों से देवी-देवताओं की मूर्तियां और तस्वीरों को नदी में विसर्जित कर दिया। वहीं, बालमुकंद बैरवा ने चेतावनी दी कि अगर मुख्य आरोपी को जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो छबड़ा एसडीएम कार्यालय र प्रदर्शन किया जाएगा।

उन्होंने राज्य में कानून व्यवस्था चौपट होने और दलितों पर अत्याचार के मामले बढ़ने के आरोप लगाए। इन परिवारों ने राज्य सरकार के खिलाफ भी आक्रोश जताया और आरोप लगाया कि 15 दिन पहले मां दुर्गा की आरती करने को लोकर सवर्णों ने दलित दो युवकों के साथ मारपीट की थी। इस समाज के लोगों ने राष्ट्रपति से लेकर जिला प्रशासन तक न्याय की गुहार लगाई, लेकिन मारपीट के आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। यह मामला छबड़ा क्षेत्र के गांव का है।

महासभा युवा मोर्चा के अध्यक्ष बालमुकंद बैरवा ने बताया कि भूलोन गांव में पांच अक्टूबर को दलित समुदाय के युवकों राजेंद्र और रामहेत ऐरवाल ने मां दुर्गा की आरती का आयोजन किया और इन युवकों से राहुल शर्मा और लालचंद लोधा ने मारपीट की थी। आरोप लगाया कि इसे लेकर पुलिस प्रशासन, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से न्याय की गुहार लगाई, लेकिन जब कहीं से कोई कार्रवाई नहीं हुई तो समाज के लोगों ने सामूहिक रूप से धर्म परिवर्तन का फैसला लिया। शुक्रवार को गांव में आक्रोश रैली निकालने के बाद देवी-देवताओं की प्रतिमाओं व तस्वीरों का नदी में विसर्जन कर दिया

शनिवार, 15 अक्तूबर 2022

पढ़ाई का तनाव, 9वीं मंजिल से छलांग लगाई

पढ़ाई का तनाव, 9वीं मंजिल से छलांग लगाई

नरेश राघानी

कोटा। जनपद में पढ़ाई के तनाव में फिर एक कोचिंग स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया। शुक्रवार दोपहर उसने अपनी मां के सामने ही नवीं मंजिल से छलांग लगा दी। जहां गिरा वहां जमीन में गड्ढा हो गया। यह घटना सीसीटीवी में कैद हो गई।स्टूडेंट के नीचे गिरने की आवाज सुनकर बिल्डिंग के लोग मौके पर पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। घटना जवाहर नगर थाना क्षेत्र में राजीव गांधी नगर स्थित रिहायशी बिल्डिंग की है।

छात्र का नाम स्वर्णा था। उम्र 16 साल थी। कोलकाता का रहने वाला था। वह यहां एक-डेढ़ साल से रह रहा था और 11वीं कक्षा के साथ-साथ इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था। मां भी उसके साथ ही रहती थी।स्टूडेंट की सुसाइड की जानकारी मिलते ही बिल्डिंग के कैंपस में हड़कंप मच गया। कोटा में लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं।

मां ने कहा- वह पढ़ाई के कारण तनाव में था
मृतक की मां संगीता ने बताया कि उनका बेटा स्वर्णा पढ़ाई को लेकर तनाव में था। उसने कोचिंग में टीचर से बात करने के लिए कहा था। मैंने टीचर को फोन लगाया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इस पर मैंने बेटे से कहा कि कोचिंग जाकर ही बात कर लूंगी। इसी दौरान वह नीचे कूद गया।

सिर और कोहनी के बल गिरा स्वर्णा
सीसीटीवी में नजर आ रहा है कि स्वर्णा सिर और कोहनी के बाल जमीन पर गिरा। जहां गिरा वहां जमीन में गड्‌ढा हो गया। बिल्डिंग में काम करने वाले धनराज वैष्णव ने बताया कि हम बाहर खड़े थे तभी गार्ड ने बच्चे के गिरने की सूचना दी। मां को बताने पहुंचे तो पता चला कि स्वर्णा ने मां के सामने ही छलांग लगाई है।

सोसाइटी में काम करने वाले गौरव शर्मा ने बताया मैं गार्डन की तरफ से आ रहा था। उसी दौरान बच्चा नीचे गिरा। मैंने उसे उठाया, उसके कान दबाए और ऑटो में लेकर हॉस्पिटल पहुंचे। डॉक्टर ने चेक कर उसे मृत घोषित कर दिया।स्वर्णा 9वीं मंजिल से जहां गिरा, वहां जमीन में गड्ढा हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिवार से बात की, सोसाइटी के लोगों से भी पूछताछ की।

परिवार वालों ने पोस्टमार्टम कराने से किया इनकार
डीसीपी अंकित जैन ने बताया पढ़ाई के तनाव में आकर छात्र ने सुसाइड किया है। परिजन ने पोस्टमॉर्टम से इनकार किया है। परिजन की शिकायत के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

मंगलवार, 6 सितंबर 2022

प्रभावित परिवारों को सहायता राशि जारी, कार्य शुरू


प्रभावित परिवारों को सहायता राशि जारी, कार्य शुरू 

नरेश राघानी 

कोटा। राजस्थान में कोटा जिले में अतिवर्षा के कारण आवासीय क्षेत्रों में हुए नुकसान का सर्वे करवाकर प्रभावित परिवारों को सहायता राशि जारी करने का कार्य शुरू कर दिया गया है। पीपल्दा तहसील में 207 आवासों एवं चार केटलशेड में क्षति होने पर 93 लाख 70 हजार रूपये की सहायता राशि स्वीकृत की है। जिला कलक्टर ओपी बुनकर ने बताया कि कोटा जिले में अधिक वर्षा के कारण आवासीय क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति से कच्चे-पक्के मकानों को नुकसान हुआ था। उन्होंने बताया कि पीपल्दा तहसील में सर्वे कराकर तहसीलदार की रिपोर्ट के आधार पर प्रभावित परिवारों को सहायता राशि स्वीकृत कर सीधे खातों में जमा कराई जाएगी।

बुनकर ने बताया कि प्रशासन ने प्रभावित परिवारों के निरंतर सम्पर्क में रहकर सहायता उपलब्ध कराने का कार्य लगातार जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि तहसील पीपल्दा में 67 कच्चे मकानों आंशिक क्षति होने के कारण प्रभावित परिवारों को दो लाख 14 हजार 400 रूपये तथा 23 पक्के मकान में आंशिक क्षति होने पर एक लाख 19 हजार 600 की सहायता राशि स्वीकृत की है।

सर्वे में 94 कच्चे मकानों के पूर्ण क्षतिग्रस्त पाए जाने पर 89 लाख 39 हजार 400 रूपये एवं 14 झोंपड़ियों के पूर्ण क्षतिग्रस्त पाए जाने पर प्रभावित परिवारों को 57 हजार 400 रूपये की सहायता राशि स्वीकृत की है। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार 4 केटलशेड में क्षति होने के कारण प्रभावित परिवारों को आठ हजार 400 रूपये की सहायता राशि स्वीकृत की गई है। वहीं 9 कच्चे व पक्के मकानों में आंशिक क्षति होने पर 30 हजार 800 रूपये सहायता राशि स्वीकृत की है। इस प्रकार सर्वे रिपोर्ट के आधार पर 93 लाख 70 हजार रूपये की सहायता राशि एसडीआरएफ नियमों के तहत कुल 383 आवासों के लिए स्वीकृत कर जारी की गई है।

गुरुवार, 1 सितंबर 2022

राजस्थान में ई-व्हीकल नीति लागू, 40 करोड़ मंजूर किए

राजस्थान में ई-व्हीकल नीति लागू, 40 करोड़ मंजूर किए

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान में ई-व्हीकल नीति गुरुवार से लागू हो गई। राज्‍य सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को प्रोत्साहित करने के लिए राजस्थान बिजली चालित वाहन नीति (आरईवीपी) लेकर आई है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस नीति के तहत सरकार ने ऐसे वाहनों की खरीद पर प्रस्तावित एकमुश्त अंशदान आद‍ि मद के लिए 40 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। अधिकारी ने बताया कि परिवहन व सड़क सुरक्षा विभाग की ओर से बुधवार को इस बारे में अधिसूचना जारी की गई। इसके अनुसार राज्‍य में इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए राज्‍य सरकार आरईवीपी 2022 अधिसूचित कर रही है। यह नीति एक सितंबर 2022 से पांच साल की अवधि के लिए लागू होगी।

मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने इस साल 24 मई को इस नीति को मंजूरी दी थी। इसके तहत सरकार ने ऐसे वाहनों की खरीद पर प्रस्तावित एकमुश्त अंशदान और राज्य माल व सेवा कर (एसजीएसटी) पुनर्भरण के लिए 40 करोड़ रूपए के अतिरिक्त बजट प्रावधान को स्वीकृति दी है। एक सरकारी प्रवक्ता ने उम्मीद जताई कि इस नीति के लागू होने से राज्य में डीजल-पेट्रोल से चलने वाले वाहनों से होने वाले प्रदूषण में कमी आएगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने वर्ष 2019-20 के बजट में इलेक्ट्रिक व्हीकल नीति लाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि राज्य सरकार सभी प्रकार के ई-वाहनों के संचालन को प्रोत्साहन देने के लिये प्रतिबद्ध है। घोषणा के अनुसार इन वाहनों के क्रेताओं को एसजीएसटी का पुनर्भरण किए जाने के साथ ही, ऐसे वाहनों की खरीद को प्रोत्साहन देने के लिए एकमुश्त अनुदान के रूप में बैटरी क्षमता अनुसार दुपहिया वाहनों को 5 से 10 हजार रुपए प्रति वाहन एवं तिपहिया वाहनों को 10 से 20 हजार रुपए प्रति वाहन दिया जाएगा।

राज्य में ई-वाहनों को मोटर वाहन कर के दायरे से बाहर रखा गया है। वहीं एक अन्‍य अधिकारी ने हाल ही में कहा था कि राज्‍य में इलेक्ट्रिक वाहन खरीद चुके लोगों का इन वाहनों की खरीद पर मिलने वाले अनुदान का इंतजार जल्द ही खत्म हो जाएगा क्योंकि परिवहन विभाग को इस मद में 40 करोड़ रुपये मिल चुके हैं।परिवहन विभाग के आयुक्त के एल स्वामी ने बताया कि अब, हमें राज्य सरकार से 40 करोड़ रुपये का कोष मिला है। इलेक्ट्रिक वाहन खरीद अनुदान से संबंधित सभी लंबित बकाया राशि को जल्द ही मंजूरी दे दी जाएगी। परिवहन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, राज्य के 12 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) क्षेत्रों में पिछले वित्त वर्ष में ई-वाहन खरीदने वाले लोगों को अनुदान के रूप में 18 करोड़ रुपये दिए गए थे। उन्होंने कहा कि आरटीओ क्षेत्रों के 3,000 वाहन मालिकों को 5 करोड़ रुपये की अनुदान राशि का वितरण किया जाना है, जो जल्द ही किया जाएगा।

रविवार, 28 अगस्त 2022

500 गणेश प्रतिमाएं निशुल्क वितरित करने का निर्णय 

500 गणेश प्रतिमाएं निशुल्क वितरित करने का निर्णय 

नरेश राघानी 

कोटा। राजस्थान के कोटा में स्वयंसेवी संगठन पगमार्क फाउंडेशन ने अनंत चतुर्दशी के अवसर पर पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से अनोखी पहल करते हुए मिट्टी की बनी 500 गणेश प्रतिमाएं निशुल्क वितरित करने का निर्णय किया है, जिनसे गणेश चतुर्दशी के दिन विसर्जन के बाद पौधे प्रस्फुटित होंगे।

पगमार्क फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष देवव्रत सिंह हाडा ने बताया कि इस खास मौके पर पगमार्क फाउंडेशन इको फ्रेंडली प्रतिमाएं तैयार कर रहा है। इन प्रतिभाओं को लोगों को वितरित कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश देंगे। फाउंडेशन के संयोजक निमिश गौतम ने बताया कि यह प्रतिमाएं मिट्टी से तैयार की गई हैं, यह 10 इंच के करीब ऊंची होंगी, इनको मिट्टी के साथ विभिन्न प्रकार के फल व सब्जियों के बीजों से तैयार किया गया है। गणपति के नैन नक्शों को इन्ही रंग-बिरंगे बीजों से सजाया भी गया है।

देवव्रत हाडा ने बताया कि लोग आमतौर पर जलाशयों में प्रतिमाओं को विसर्जित करते है, लेकिन इनको गमलों में विसर्जित किया जाएगा। जल अर्पित करने से बीज धीरे धीरे अंकुरित होंगे और पौधे का रूप धारण कर लेंगे। यह गणपति भक्ति एवं पर्यावरण का पाठ पढ़ाएंगे। पगमार्क फाउंडेशन की ओर से 500 प्रतिमाएं बनाई गई है, जिसे निशुल्क वितरित किया जाएगा।

मंगलवार, 9 अगस्त 2022

राजस्थान: 70 साल की महिला ने बच्चे को जन्म दिया 

राजस्थान: 70 साल की महिला ने बच्चे को जन्म दिया 

नरेश राघानी 

जयपुर/अलवर। राजस्थान के अलवर जिले में 70 साल की महिला ने बच्चे को जन्म दिया है। महिला के पति की उम्र 75 वर्ष है। इस दंपति की शादी करीब 54 साल पहले हुई थी। लेकिन उनके आंगन में किलकारी नहीं गूंजी थी। अब आईवीएफ तकनीसे सउनके आंगन में बेटे की किलकारी गूंजी तो दंपति की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। हालांकि चिकित्सकों के मुताबिक महिला के इस उम्र में प्रेगनेंट होने के कारण कई तरह की आशंकायें थी। लेकिन अंतत: सब कुछ ठीक हो गया।

अलवर के इंडो आईवीएफ टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर के साइंटिफिक डायरेक्टर और एंब्रॉयोलॉजिस्ट डॉ पंकज गुप्ता ने बताया कि दंपति चंद्रावती और गोपी सिंह झुंझुनूं जिले के सिंघाना गांव के रहने वाले हैं। चंद्रावती की उम्र करीब 70 और गोपी सिंह की 75 साल हैं। शादी के बाद बच्चा नहीं होने से दुखी इस दंपति ने कई जगह इलाज कराया लेकिन उनकी झोली में खुशियां नहीं आ पाई।

करीब डेढ़ दो साल पहले ये अपने रिश्तेदार के मार्फत यहां आये। उसके बाद यहां इलाज चालू किया गया। चंद्रावती देवी 9 महीने पहले आईवीएफ प्रक्रिया से तीसरे प्रयास में गर्भवती हो पाई थी। उस समय खुशी भी हुई थी लेकिन आशंका यह थी कि इतनी अधिक उम्र में प्रेगनेंसी को पूरे 9 महीने तक कैरी करना और फिर उसके बाद सफल डिलीवरी हो पायेगी या नहीं. लेकिन आखिरकार बीते सोमवार को यह सब कुछ संभव हो गया। बच्चा स्वस्थ है।

सोमवार, 11 जुलाई 2022

राजस्थान राशन कार्ड ऑनलाइन चेक कर सकते

राजस्थान राशन कार्ड ऑनलाइन चेक कर सकते
नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान की राज्य सरकार राज्य के सभी पात्र नागरिकों को राशन कार्ड जारी करती है और ऐसे लोगों को राशन कार्ड जारी होने के बाद वे किसी भी उचित मूल्य की दुकान से रियायती Ration Card राशन और अन्य आपूर्ति प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे कई लोग हैं, जिन्होंने नए Ration Card राशन कार्ड के लिए आवेदन जमा किए थे और इस वजह से प्राधिकरण को राशन कार्डधारकों की सूची को अपडेट करना पड़ा है। 
इसलिए यदि आपने नए राशन कार्ड के लिए आवेदन किया था तो आप खाद्य विभाग के आधिकारिक पोर्टल से न्यू राजस्थान राशन कार्ड सूची 2022 ऑनलाइन चेक कर सकते हैं। जिसका विवरण नीचे दिया गया है।
राजस्थान राशन कार्ड से जुड़ी पूरी जानकारी के लिए पाठक दिए गए पोस्ट को जरूर देखें। 
हां उन्हें राजस्थान Ration Card राशन कार्ड आवेदन प्रक्रिया, पात्रता आवश्यकता, राशन कार्ड सूची, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन की स्थिति आदि के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी।
राजस्थान राशन कार्ड के प्रकार
राजस्थान राज्य में सभी परिवारों/नागरिकों को उनकी वार्षिक आय के आधार पर चार प्रकार के राशन कार्ड जारी किए जाते हैं। सभी   राशन कार्ड के बारे में विवरण इस प्रकार है।

शुक्रवार, 8 जुलाई 2022

राजस्थान: शुक्रवार को शाहपुरा कस्बा बंद रहा

राजस्थान: शुक्रवार को शाहपुरा कस्बा बंद रहा 

नरेश राघानी 
भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले का शाहपुरा कस्बा उदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांड के आरोपियों को फांसी की सजा देने सहित अन्य मांगों को लेकर आज बंद रहा। सकल हिन्दू समाज के आह्वान पर विभिन्न हिन्दू संगठन के लोग उपखंड अधिकारी कार्यालय पहुंचे और कन्हैयालाल के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रृद्वाजंलि अर्पित की गई तथा बाद में ज्ञापन का वाचन किया गया।
ज्ञापन में कन्हैयालाल के हत्यारों को मृत्यु दंड देने, देश में पीएफआई संगठन को प्रतिबंधित करने, राष्ट्रविरोधी असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने, मृतक कन्हैयालाल के परिजनों को पांच करोड़ रूपए बतौर मुआवजा देने की मांग की है। इस मौके पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं शाहपुरा विधायक कैलाश मेघवाल, सकल हिन्दू समाज के संयोजक एडवोकेट दुर्गालाल राजौरा, हिन्दू जागरण मंच के जिला संयोजक हनुमान धाकड़, हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वरलाल धाकड़ तथा अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे।
बाद में उपखंड अधिकारी सुनिता यादव को ज्ञापन दिया गया। प्रदर्शन के मद्देनजर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंचल मिश्रा की अगुवाई में अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात रहा और प्रदर्शन के दौरान शांति रही। पुलिस एवं प्रशासन की अनुमति के अभाव में बाजार से मौन जुलूस निकाल कर सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ करने का कार्यक्रम नहीं हो सका। इस मौके श्री मेघवाल ने कहा कि श्री कन्हैयालाल की हत्या की आज समूचा देश निन्दा कर रहा है।
उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार ने कन्हैयालाल के परिजनों को जो सहायता की है वह स्वागत योग्य है। सरकार एवं उसमें शामिल कर्मचारी ठीक ढंग से चले इसके लिए अफसरों एवं नेताओं का कर्तव्य है। इसके बाद जो भी पटरी से उतरता है, निंदनीय है। हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वरलाल धाकड ने कहा कि प्रदेश में हिन्दूओं के साथ बढ़ते अत्याचार के लिए कांग्रेस की प्रदेश सरकार जिम्मेदार है। इसे अब समाज बर्दाश्त नहीं करेगा। हिन्दू जागरण मंच के जिला संयोजक हनुमान धाकड ने कहा कि अब हिन्दू समाज अत्याचार सहन नहीं करेगा।

मंगलवार, 5 जुलाई 2022

उदयपुर: कर्फ्यू में मंगलवार को 16 घंटे की ढील दी गई

उदयपुर: कर्फ्यू में मंगलवार को 16 घंटे की ढील दी गई 

नरेश राघानी 
उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर शहर में कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद उत्पन्न तनाव के बाद विभिन्न थाना क्षेत्रों में लगाएं गए कर्फ्यू में मंगलवार को 16 घंटे की ढील दी गई। शहर के धानमंडी, घंटाघर, हाथीपोल, अंबामाता, सूरजपोल, सविना, भूपालपुरा, गोवर्धनविलास, हिरणमगरी, प्रतापनगर एवं सुखेर धानमंडी, घण्टाघर, अम्बामाता, हाथीपोल, सूरजपोल, भूपालपुरा एवं सवीना में आज सुबह छह बजे से रात्रि आठ बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई। 
इन क्षेत्रों में खुली दुकानों पर लोग अपनी जरूरत के सामान की खरीददारी करते नजर आये। सोमवार को सुबह आठ बजे से शाम को आठ बजे तक कर्फ्यू में ढ़ील दी थी। इस दौरान शांति रही थी। 
उल्लेखनीय है कि गत 28 जून को उदयपुर शहर के धानमण्डी थाना क्षेत्र में धारदार हथियारों से कन्हैयालाल की हत्या कर देने के बाद उत्पन्न हालात के मद्देेनजर उस दिन रात आठ बजे से आगामी आदेश तक शहर के इन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया था।

शनिवार, 2 जुलाई 2022

तालिबानी अंदाज में हत्या, अलवर के बाजार बंद

तालिबानी अंदाज में हत्या, अलवर के बाजार बंद 
नरेश राघानी 
अलवर। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की तालिबानी अंदाज में की गई हत्या के विरोध में सर्व समाज और व्यापारियों की ओर से शनिवार को अलवर बंद किया गया। अलवर बंद को सफल बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं ने शहर में शांतिपूर्ण बाजार बंद आह्वान किया। बंद को देखते हुए पुलिस और जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी की है। पुलिस और जिला प्रशासन ने इससे पहले अलवर शहर में फ्लैग मार्च निकालकर शांति और सद्भाव बनाए रखने का संदेश दिया।
भाजपा के जिला अध्यक्ष संजय नरूका ने बताया कि जिस तरह उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की बर्बरता पूर्वक हत्या की गई है उसे पूरा राजस्थान ही नहीं पूरा देश उद्धेलित है। उन्होंने आरोप लगाया कि गंगा जमुना संस्कृति की दुहाई देने वाले वह लोग कौन हैं और बाहर निकालने का काम भाजपा कर रही है। उन लोगों को चिन्हित करने का प्रयास किया जा रहा है जो ऐसे अपराधों को बढ़ावा देते हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि जिस तरह कन्हैया पर वार किया गया है उसी तरह अपराधियों को चौराहे पर हलाली कर ऐसी मानसिकता पर प्रहार करना होगा।
पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना ने बताया कि सर्व समाज एवं व्यापारियों ने विरोध स्वरूप अलवर बंद किया है और अलवर बंद की पूरी तरह शांतिपूर्ण तरीके से मॉनिटरिंग की जा रही है और यह बंद इस घटना के विरोध स्वरूप किया गया है। इधर पुलिस प्रशासन अलवर बंद के दौरान अभय कमांड सेंटर के 350 सीसी टीवी कैमरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष निगरानी रखी जा रही है बंद को देखते हुए अलवर शहर में 500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और सभी थाना क्षेत्रों की गश्त व्यवस्था को भी मजबूत किया गया है।
इस बंद को देखते हुए बिजली विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है कि बंद के दौरान बिजली सप्लाई को बंद नहीं किया जाए जिससे अभय कमांड सेंटर के सीसीटीवी कैमरों से ऑनलाइन सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जा सके।

गुरुवार, 16 जून 2022

24 घंटे के दौरान बारिश दर्ज, सामान्य से नीचे तापमान

24 घंटे के दौरान बारिश दर्ज, सामान्य से नीचे तापमान

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम की बारिश दर्ज की गई। वहीं राज्य के अधिकांश स्थानों में दिन और रात का तापमान सामान्य से नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार बुधवार सुबह 8.30 बजे तक अजमेर के मांगलियावास में सर्वाधिक 51 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। प्रवक्ता ने अनुसार कोटा के लाडपुरा में 41 मिलीमीटर, अजमेर में 29 मिलीमीटर, उदयपुर के वल्लभनगर में 27 मिलीमीटर, राजसमंद के देवगढ़ में 23 मिलीमीटर, अजमेर तहसील में 17 मिलीमीटर, अजमेर के नयानगर/ब्यावर में 7 मिलीमीटर, अजमेर के राशमी, चित्तौड़गढ़ के मसूदा और पाली के रायपुर में 6-6 मिलीमीटर, अजमेर के पिंसागन, कोटडा में 5-5 मिलीमीटर और अन्य कई स्थानों पर 4 मिलीमीटर से एक मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई।
उन्होंने बताया कि गुरुवार को शाम 5.30 बजे तक अलवर में 14.6 मिलीमीटर बारिश, जयपुर में 0.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। राजधानी जयपुर में शाम को मौसम सुहावना बन गया और कुछ इलाकों में हल्की बारिश दर्ज की गई।
विभाग के अनुसार श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 45.7 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 43 डिग्री सेल्सियस, पिलानी में 42.8 डिग्री, धौलपुर में 42.4 डिग्री, अलवर में 42.2 डिग्री,बीकानेर में 41.3 डिग्री, कोटा में 40.8डिग्री, वनस्थली में 40.6 डिग्री और अन्य प्रमुख स्थानों पर 39.9 डिग्री सेल्सियस से लेकर 37.5 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।
विभाग के अनुसार वहीं राज्य के अधिकांश हिस्सों में मंगलवार रात का तापमान 22 डिग्री सेल्सियस से लेकर 33.2 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान अलवर, भरतपुर, झुंझुनूं, सीकर, गंगानगर, हनुमानगढ, चूरू जिलों में मेघ गर्जन के साथ तेज हवाएं चलने की संभावना जतायी है।

बुधवार, 1 जून 2022

12वीं साइंस-कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा, बोर्ड

12वीं साइंस-कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा, बोर्ड

नरेश राघानी
जयपुर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, बुधवार को 12वीं साइंस और कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी करेगा। छात्र rajresults.nic.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकेंगे।
राजस्थान बोर्ड के 12वीं के कार्पस में 97.53 फीसदी और साइंस में 96.58 फीसदी छात्र पास हुए हैं। राजस्थान बोर्ड साइंस में करीब 2.32 लाख और कॉमर्स में करीब 27 हजार छात्र थे। बोर्ड प्रशासक एलएन मंत्री ने परीक्षा परिणाम जारी किया। छात्र अपना परीक्षा परिणाम लाइव हिंदुस्तान वेबसाइट पर भी देख सकेंगे।
परीक्षा में शामिल हुए छात्रों की सुविधा के लिए इस साल बोर्ड के नतीजे पर भी जारी किए गए हैं। छात्रों को रिजल्ट पेज पर जाकर अपने रोल नंबर की मदद से लॉग इन करना होगा और अपनी मार्कशीट डाउनलोड करनी होगी। परिणाम की घोषणा के साथ, परिणाम डाउनलोड करने का सीधा लिंक आज तक शिक्षा पृष्ठ पर लाइव हो गया है।

रविवार, 15 मई 2022

सड़क हादसे में 6 की मौंत, आधा दर्जन लोग घायल

सड़क हादसे में 6 की मौंत, आधा दर्जन लोग घायल  

नरेश राघानी

जयपुर। राजस्थान के सिरोही जिले के पालड़ी थाना क्षेत्र में रविवार सुबह सड़क हादसे में एक दो साल की बच्ची एवं चार महिलाओं सहित छ: लोगों की मौत हो गई जबकि लगभग आधा दर्जन लोग घायल हो गए। पुलिस के अनुसार यह हादसा सुबह करीब सवा आठ बजे उस समय हुआ जब क्षेत्र के उथमण टोल प्लाजा के पास ट्रक एवं ट्रोला टकरा गये। इस दौरान ट्रक के पीछे चल रही दो कारे भी ट्रक से टकरा गई। इससे एक कार के आगे का हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया।

हादसे के मृतकों की पहचान सिरोही जिले के उन्नाराम, सुगना देवी, बवनी देवी एवं दो साल की एक बच्ची के रुप में की गई जबकि दो महिलाओं की अभी शिनाख्त नहीं हो पाई है। हादसे में घायलों को शिवगंज के सरकारी अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उन्हें सिरोही अस्पताल भेज दिया गया। हादसे के बाद पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे।

धरसीवां के तत्वाधान में शिविर का आयोजन 

धरसीवां के तत्वाधान में शिविर का आयोजन  विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा ने महिलाओं को विभिन्न योजनाओं की जानकारी देकर उन्हें योजन...