राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 17 सितंबर 2021

दुर्घटना में कार सवार दम्पति सहित 3 लोगों की मौंत

इकबाल अंशारी           
राजसमंद। राजस्थान में राजसमंद जिले में उदयपुर नाथद्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर देलवाडा के समीप सडक दुर्घटना में कार में सवार दम्पति सहित तीन लोगों की मौत हो गई तथा आठ अन्य घायल हो गये। पुलिस के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माण कार्य के चलते नाथद्वारा से उदयपुर जाने वाले मार्ग को बंद कर दिया था। एक तरफा यातायात चल रहा था। गुरूवार देर रात्रि उदयपुर की तरफ से आए दो ट्रक, दो कार एवं एक मोटरसाईकिल नाथद्वारा की ओर से जा रहे डंपर एवं कार की भिडन्त हो गयी।
 हुई। हादसे में उपली ओडन निवासी अंबाबाई, कांकरोली शिव कॉलोनी निवासी नोजी बाई और मांगीलाल गाडरी की मौत हो गई। हादसे में उपली ओडन निवासी दयाशंकर ,विरूनाथ अमरनाथ ,आयुष, आरीफ,मुफेत,भूपेंद्र, तारीफ और प्यारीबाई सहित अन्य घायल हो गए।
घटना के बाद हाइवे पर दो किलोमीटर लंबा जाम लग गया। एक तरफा यातायात शुरू करवाने के बावजूद हाइवे पर वाहनों की लम्बी कतार लग गई, जिसकी वजह से वाहन चालकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस ने बडी मशक्कत के बाद दुर्घटना में क्षतिग्रस्त गाड़ियों को साइड में कराकर यातायात को सुचारू कराया। पुलिस ने हादसे की जांच शुरू कर दी है।

गुरुवार, 9 सितंबर 2021

‘इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड’ का उद्घाटन किया: राजनाथ

इकबाल अंशारी           
जयपुर। राजस्थान केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी ने राजस्थान के बाड़मेर के गंधव भाकासर खंड में राष्ट्रीय राजमार्ग-925 पर भारतीय वायु सेना (आईएएएफ) के विमानों के लिए ‘इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड’ (ईएलएफ) का बृहस्पतिवार को उद्घाटन किया। आईएएएफ के एक हरक्यूलिस सी-130जे विमान ने बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजमार्ग पर ‘मॉक इमरजेंसी लैंडिंग’ की। इस दौरान दोनों मंत्री और प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत विमान में सवार थे।
यह एनएच-925ए राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारतीय वायुसेना के विमानों के लिए बना पहला ‘इमरजेंसी लैंडिंग फील्ड’ है। दोनों मंत्रियों ने ‘एनएच-925’ पर तैयार आपातकालीन लैंडिंग सुविधा पर कई विमानों के संचालन को देखा। सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान और आईएएफ के एएन-32 सैन्य परिवहन विमान और एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर ने भी ईएलएफ पर ‘इमरजेंसी लैंडिंग’ की।
एक आधिकारिक बयान के अनुसार, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने भारतीय वायु सेना के लिए आपातकालीन स्थिति में विमान उतारने के वास्ते एनएच-925ए के सट्टा-गंधव खंड के तीन किलोमीटर के हिस्से पर ‘ईएलएफ’ का निर्माण किया है। यह सुविधा भारतमाला परियोजना के तहत गगरिया-बखासर और सट्टा-गंधव खंड के नव विकसित ‘टू-लेन पेव्ड शोल्डर’ का हिस्सा है, जिसकी कुल लंबाई 196.97 किलोमीटर है और इसकी लागत 765.52 करोड़ रुपये है।
‘पेव्ड शोल्डर’ उस भाग को कहा जाता है, जो राजमार्ग के उस हिस्से के पास हो जहां से वाहन नियमित रूप से गुजरते हैं । बयान में कहा गया कि यह परियोजना अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित बाड़मेर और जालौर जिलों के गांवों के बीच सम्पर्क में सुधार करेगी। इसके पश्चिमी सीमा क्षेत्र में स्थित होने से भारतीय सेना को निगरानी करने में मदद के साथ-साथ बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में भी सहायता मिलेगी।
ऐसा पहली बार होगा जब भारतीय वायु सेना (आईएएफ) द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग का इस्तेमाल आपात स्थिति में विमान उतारने के लिए किया जाएगा। ईएलएफ का निर्माण 19 महीने के अंदर पूरा किया गया है। इसका निर्माण कार्य जुलाई 2019 में शुरू किया गया था और जनवरी 2021 में यह सम्पन्न हो गया। आईएएफ और एनएचएआई की देखरेख में ‘जीएचवी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड’ ने इसका निर्माण किया है।

गुरुवार, 2 सितंबर 2021

कांग्रेस-भाजपा ने उम्मीदवारों की बाड़ेबंदी शुरू की

नरेश राघानी
जयपुर। राजस्थान में जिला प्रमुख और पंचायत समिति प्रधान का चुनाव जीतने के लिए सत्तारूढ़ कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उम्मीदवारों की बाड़ेबंदी शुरू कर दी है। कांग्रेस और भाजपा जिला प्रमुख और प्रधान का चुनाव जीतने के लिए आपने उम्मीदवारों के साथ-साथ निर्दलीय को अपने समर्थन में वोट दिलवाने के लिए बाड़ाबंदी का प्रचलन इस बार भी किया है। चुनाव परिणाम वाले दिन हारने वाले उम्मीदवारों को बाड़ेबंदी से बाहर कर दिया जाएगा। यही नहीं उसके बाद क्रॉस वोटिंग के डर से सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने की रणनीति भाजपा और कांग्रेस दोनों ने बनाई है।सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस ने अपने मंत्रियों और विधायकों को सुरक्षा का जिम्मा सौंपा है। वहीं दूसरी ओर भाजपा ने अपने विधायकों के साथ साथ संगठन के पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है। चार सितंबर मतगणना के बाद भाजपा ने अपने जीतने वाले प्रत्याशियों को भाजपा शासित राज्य उत्तर प्रदेश और गुजरात में बाड़ीबंदी करने की रणनीति बना रखी है।
भाजपा को डर सता रहा है कि प्रदेश में सत्ताधारी कांग्रेस उनके उम्मीदवारों को अपने कब्जे में करने के लिए सरकार का दुरुपयोग कर अपने कब्जे में भाजपा और समर्थित जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों को क्रॉस वोटिंग करा सकती है।
कांग्रेस ने भी स्थानीय स्तर पर उम्मीदवारों को कई जगह होटलों में भेजा है। आम तौर पर सत्ताधारी पार्टी इन चुनावों में बाजी मारती रही है। दूसरे दलों के जीते हुए उम्मीदवारों को पक्ष में करने में भी सत्ताधारी पार्टी को आसानी रहती है। यही कारण है कि भाजपा अधिक सतर्क और सचेत है। भाजपा ने जयपुर के जिला परिषद उम्मीदवारों को पहले नागौर भेजा, अब पुष्कर ले जाया गया है। कुछ सदस्यों को गुजरात भी ले गए, क्योंकि भाजपा की सरकार होने से वहां का माहौल अधिक सुरक्षित है।
आबूरोड और पिंडवाड़ा पंचायत समिति क्षेत्र के कांग्रेसी उदयपुर में बाड़ाबंदी की गई हैं। सिरोही पंचायत समिति के कांग्रेसी आबूरोड के होटल में ठहरे हैं। आबूरोड, सिरोही और पिंडवाड़ा के भाजपाई गुजरात में अलग-अलग जगह बाड़ाबंदी में रखा गया हैं।
रेवदर पंचायत समिति के भाजपाई द्वारिका में हैं। कांग्रेसी राजसमंद झील में बोटिंग के साथ मौज-मस्ती कर रहे हैं। रेवदर के भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों को 26 अगस्त को पहले चरण के बाद से ही बाड़ेबंदी में रखा है।
कांग्रेस ने जिला-संगठन प्रभारियों को बाड़ेबंदी और चुनाव प्रबंधन का जिम्मा सौंपा है। जिला प्रमुख एवं प्रधान के दावेदार नेता उम्मीदवारों को बाहर शिफ्ट करनेऔर व्यवस्था करने की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। कांग्रेस में बुधवार को मतदान के बाद बाड़ेबंदी की है जो छह सितंबर को जिला प्रमुख और पंचायत समिति प्रधानों के चुनाव तक चलेगी।

मंगलवार, 31 अगस्त 2021

ट्रक और क्रूजर में जबर्दस्त भिड़ंत, 11 की मौंत हुईं

नरेश राघानी        

जयपुर। राजस्थान के नागौर जिले में श्रीबालाजी कस्बे के पास एक ट्रक और क्रूजर में जबर्दस्त भिड़ंत हो गई।हादसा इतना भयावह था कि इसमें 11 लोगों की मौत हो गई और 6 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये हैं। हादसे के बाद घटनास्थल पर कोहराम मच गया है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों और मृतकों को संभाला। हादसा कैसे हुआ इसका अभी पता नहीं चल पाया है। घायलों को स्थानीय लोगों की मदद से नोखा अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गये हैं।

हादसा सुबह करीब पौने आठ बजे नागौर जिले के श्रीबालाजी कस्बे के बाईपास पर हुआ। उस समय एक क्रूजर में सवार होकर 17 लोग कहीं जा रहे थे. इसी दौरान श्रीबालाजी कस्बे के बाईपास के पास एक ट्रक से क्रूजर की जोरदार भिड़ंत हो गई। भिड़ंत इतनी जबर्दस्त थी कि क्रूजर मलबे में तब्दील हो गई। इससे क्रूजर में सवार लोग उसमें फंसकर रह गये। दुर्घटना में आठ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। बाकी 9 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये।

सोमवार, 30 अगस्त 2021

खिलाड़ियों को बधाई देते हुए इनाम देने की घोषणा

नरेश राघानी         

जयपुर। राजस्थान सरकार ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले राज्य के खिलाड़ियों को बधाई देते हुये नकद इनाम देने की घोषणा सोमवार को की। जिसके तहत अवनि लेखरा को तीन करोड़ रुपए और देवेंद्र झाझरिया दो करोड़ रुपएतथा सुन्दर सिंह गुर्जर को एक करोड़ रुपए दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया,’ तोक्यो पैरालंपिक में राज्य की अवनि लेखरा को स्वर्ण जीतने पर तीन करोड़ रुपए, देवेंद्र झाझरिया को रजत जीतने पर दो करोड़ रुपए तथा सुन्दर सिंह गुर्जर को कांस्य पदक जीतने पर एक करोड़ रूपये की राशि इनाम स्वरुप प्रदान की जाएगी।’

उन्होंने कहा, ‘तीनों खिलाड़ियों को पहले से ही राज्य सरकार के वन विभाग में एसीएफ के पद पर नियुक्ति दी हुई है। राज्य के खिलाड़ियों ने पदक जीतकर देश-प्रदेश का नाम रोशन किया है, हमें उन पर बेहद गर्व है।’ उल्लेखनीय है कि 19 वर्षीय लेखरा ने सोमवार को तोक्यो पैरालंपिक खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के आर-2 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में स्वर्ण पदक जीतकर यह मुकाम हासिल किया।

इससे पहले गहलोत ने गहलोत ने खिलाडियों को बधाई देते हुए कहा ” जयपुर की अवनि लेखरा को निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीत कर भारत के लिये इतिहास रचने के लिये हार्दिक बधाई , पूरे देश को उन पर बहुत गर्व हैं। यह भारतीय खेलों के लिये बहुत अच्छा दिन है।”

उन्होंने कहा कि ” हमें राजस्थान के पैरालंपिक भाला फैंकने वाले देवेन्द्र झाझरिया पर बहुत गर्व है जिन्होंने तोक्या पैरालंपिक खेल में सिल्वर पदक और सुंदरसिंह गुर्जर ने कांस्य पदक जीते। यह एक अद्भुत क्षण है।” गहलोत ने पैरालंपिक प्रतियोगिता में पदक जीतने योगेश कथूनिया को भी बधाई दी।

शनिवार, 28 अगस्त 2021

दुष्कर्म के आरोपी को आजीवन कारावास की सजा

नरेश राघानी        
चित्तौड़गढ़। राजस्थान में चित्तौड़गढ़ की पोक्सो मामलों की विशेष अदालत ने एक पांच साल की बालिका से दुष्कर्म करने के आरोपी को कल आजीवन कारावास की सजा सुनाई।
पोक्सो न्यायालय के विशेष न्यायाधीश ने आरोपी डालू भील को बालिका से दुष्कर्म करने का दोषी मानते हुए उस पर 29 हजार रुपये का जुर्माना भी किया।
मामले के अनुसार आठ सितंबर 2019 को चित्तौड़गढ़ शहर की मोहर मंगरी कच्ची बस्ती में डालू भील बालिका को जबरन झाड़ियों में लेे गया और दुष्कर्म किया।



 

शुक्रवार, 27 अगस्त 2021

बस्ती में 1 व्यक्ति ने पत्नी की गला दबाकर हत्या की

नरेश राघानी      

बाड़मेर। राजस्थान में बाड़मेर जिले के सेड़वा थाना क्षेत्र में भीलों की बस्ती में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार सुबह पति-पत्नी के बीच आपस में बहस हो गई। गुस्साये पति भंवराराम ने पत्नी चंपादेवी (26) की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस को सूचना मिलने पर घटनास्थल पहुंची और भंवराराम को गिरफ्तार कर लिया। मृतका के पीहर पक्ष ने पति, सास और ससुर पर हत्या का आरोप लगाया है। 

साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म किया

नरेश राघानी                
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म कर इसे आधुनिक बनाने के केन्द्र और गुजरात सरकार के फैसले को गलत बताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह गांधी की विरासत को मिटाने का प्रयास है। गहलोत ने ट्वीट किया कि केन्द्र सरकार एवं गुजरात सरकार द्वारा अहमदाबाद के साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म कर इसे आधुनिक बनाने का फैसला पूरी तरह गलत है।
भारत ही नहीं दुनियाभर में इस फैसले की आलोचना हो रही है। गहलोत के अनुसार इस फैसले से साबरमती आश्रम की सादगी एवं शुचिता खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने अपना पूरा जीवन सादगी के साथ आजादी की लड़ाई एवं मानवता की सेवा में लगा दिया। सादगी से जीवन जीने वाले महात्मा के आश्रम में अत्याधुनिक एवं लग्जरी अवसंरचना बनाना उनके जीवन की मौलिकता के विपरीत है। साबरमती आश्रम में बापू के विचारों और सिद्धांतों की परछाई है।
गहलोत ने कहा कि इसके मूल ढांचे से छेड़छाड़ कर सरकार महात्मा गांधी की विरासत को मिटाने का प्रयास किया जा रहा है। तमाम बुद्धिजीवियों ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर इसपर विरोध जताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं केन्द्र सरकार से पुन: अपील करता हूं कि साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप से कोई छेड़छाड़ ना करें। इससे धनार्जन के प्रयास करने के बजाय इसे चिंतन-मनन का केन्द्र रहने दें।


गुरुवार, 26 अगस्त 2021

कई इलाकों में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए

नरेश राघानी          
जयपुर। राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर और सांचोर सहित कई इलाकों में बृहस्पतिवार सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। 
मौसम केंद्र के अनुसार भूकंप का केंद्र बालोतरा के आसपास था। सुबह 11 बजकर 15 मिनट पर आए इस भूकंप की तीव्रता 4.0 थी । अधिकारियों के अनुसार भूकंप से किसी तरह के नुकसान का समाचार अभी नहीं मिला है।

मंगलवार, 24 अगस्त 2021

हादसा: कैंटर के टक्कर मारने से 2 सिपाही घायल हुए

नरेश राघानी                       
श्रीगंगानगर। राजस्थान में श्रीगंगानगर से भरतपुर जिले में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव की ड्यूटी में जा रहे पुलिस बल की एक बस में कल देर रात जयपुर- दौसा हाईवे पर आंधी थाना क्षेत्र में एक कैंटर के टक्कर मार देने से पुलिस के तीन हवलदार और दो सिपाही घायल हो गए।
पुलिस दल में शामिल उपनिरीक्षक रामप्रकाश ने बताया कि भरतपुर जिले में तीन चरणों में आगामी दिनों में होने वाले पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में ड्यूटी लगने पर श्रीगंगानगर जिले से 350 पुलिसकर्मी कल दोपहर कई बसों से रवाना हुए थे। इनमें एक निजी बस में करीब 45 पुलिसकर्मी थेउन्होंने बताया कि कल रात जयपुर-दौसा हाईवे पर एक होटल में खाना खाने के बाद बस दौसा के लिए रवाना हुई थी। दौसा से करीब 17 किमी पहले रात 12.30 बजे लघुशंका से निवृत्त होने के लिए बस को रुकवाया गया। चालक ने सड़क किनारे बस रोक दी, एक सिपाही बस से उतरा था और 2-3 सिपाही और उतरने वाले थे, तभी पीछे से कैंटर ने टक्कर मार दी। इससे बस का पिछला हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया और पीछे बैठे पुलिसकर्मियों को ज्यादा चोटें आईं। कैंटर को चालक मौके पर छोड़कर भाग गया।
घायल पुलिसकर्मियों को एंबुलेंस एवं अन्य वाहनों से दौसा के सरकारी अस्पताल भेजा गया। घायलों की हालत फिलहाल खतरे से बाहर बताई जा रही है। घायलों में श्रीगंगानगर पुलिस लाइन में तैनात हवलदार सुभाष, ताराचंद, राजेंद्र और सिपाही दलीप एवं कुलदीप शामिल हैं।
पुलिस सूत्रों के अनुसार तीनों हवलदारों के फ्रैक्चर हुए हैं जबकि सिपाहियों के भी काफी चोट आई हैं। कैंटर चालक पर आंधी थाना में लापरवाही और तेजी बरतने के आरोप में मामला दर्ज किया जा रहा है।
इधर श्रीगंगानगर में कल रात करीब एक बजे इस दुर्घटना की सूचना मिलने पर घायल पुलिसकर्मियों के परिजन दौसा रवाना हो गए। यहां के पुलिस अधिकारियों ने पुलिस बल के साथ गए अधिकारियों को घायल पुलिसकर्मियों का समुचित इलाज करवाने के निर्देश दिए।

शुक्रवार, 20 अगस्त 2021

लोकतंत्र को मजबूत व देश को अखंड रखा: सीएम

नरेश राघानी           

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र को मजबूत व देश को अखंड रखा है। देश में 70 साल में क्या हुआ, यह सवाल उठाने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं पर एक तरह से निशाना साधते हुए उन्होंने यह कहा ? गहलोत शुक्रवार को ‘सूचना तकनीक से सुशासन’ थीम पर राजस्थान इनोवेशन विज़न (राजीव-2021) के वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

आजादी से पहले व आजादी के बाद देश के विकास में कांग्रेस नेताओं के योगदान व तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बलिदान को याद करते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि हमारे देश के उन महान नेताओं ने आजादी के पहले और आजादी के बाद भी त्याग किए, बलिदान किए। जेलों में बंद रहे तब जाकर आजादी मिली थी।

बुधवार, 18 अगस्त 2021

आरोपी को 10 वर्ष कठोर कारावास की सजा सुनाईं

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर में लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण प्रकरण मामलों की विशेष अदालत (संख्या-1) के न्यायाधीश ने शादी कर लेने का झांसा देकर किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने के आरोपी को 10 वर्ष कठोर कारावास की सजा और 15 हजार का अर्थदंड लगाया है। विशिष्ट लोक अभियोजक गुरचरणसिंह रूपाणा एडवोकेट बताया कि सदर थाना में अपहरण और दुष्कर्म का यह प्रकरण 2015 को 16 वर्षीय पीड़ित किशोरी द्वारा जिला अस्पताल में उपचाराधीन रहते दिए गए बयान के आधार पर संदीप धानक (33) के खिलाफ दर्ज हुआ था।

अनुसंधान करने के पश्चात उसके विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत है। पोक्सो एक्ट मामलों की विशेष अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया। लगभग छह वर्ष तक इस प्रकरण की अदालत में सुनवाई हुई।विशिष्ट लोक अभियोजक के अनुसार अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 13 गवाह, 22 दस्तावेज साक्ष्य और 14 वस्तुएं (आर्टिकल) साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत किए गए।

शुक्रवार, 6 अगस्त 2021

परिस्थितियों के कारण राज्य को दर्जा मिलना चाहिए

नरेश राघानी                       
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश की जटिल भौगोलिक परिस्थितियों के कारण राज्य को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए। अशोक गहलोत गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री आर्थिक सुधार सलाहकार परिषद की दूसरी बैठक में यह बात कही।
उन्होंने कहा कि राजस्थान की भौगोलिक परिस्थितियां काफी जटिल हैं। ऎसे में यहां सर्विस डिलीवरी की लागत अन्य राज्यों के मुकाबले काफी अधिक आती है। इन हालात में राजस्थान को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए, लेकिन केंद्र सरकार ने इस दिशा में अभी तक कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया है।
उन्होंने कहा कि तमाम चुनौतियों के बावजूद हमारा प्रयास है कि प्रदेश के सतत विकास के लिए आर्थिक सुधारों के साथ ही गवर्नेंस के मॉडल में भी बदलाव लएं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल एवं डीजल पर करों के डिविजिबल पूल में से राज्यों को मिलने वाले हिस्से को भी लगातार कम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन मुद्दों सहित अन्य सभी मुद्दों का तत्काल समाधान आवश्यक है अन्यथा राज्यों के विकास पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में गत ढाई वर्ष में सरकारी क्षेत्र में 90 हजार से अधिक भर्तियां की गई हैं और 81 हजार भर्तियां प्रक्रियाधीन हैं। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की दिशा में अंग्रेजी माध्यम के 1200 विद्यालय शुरू किए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की विषम परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश के विकास के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।

गुरुवार, 5 अगस्त 2021

तीसरी लहर की आशंका, सरकार ने तैयारी तेज की

नरेश राघानी                     
जयपुर। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए राजस्थान सरकार ने तैयारी तेज कर दी है। ग्रामीण इलाकों के अस्पतालों व बच्चों के हाॅस्पिटल में चिकित्सा व्यवस्था मजबूत की जा रही है। आवश्यक संसाधन जुटाए जा रहे हैं। इसी बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकार के मुख्य सचिव निरंजन आर्य को एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा गया है कि तीसरी लहर से बचना है तो मुहर्रम, ओणम, गणेश चतुर्थी, जन्माष्टमी, दुर्गापूजा सहित अन्य त्योहारों पर भीड़ रोकनी होगी। टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ानी हागी। केंद्रीय स्वस्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने पत्र में कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए दिशा-निर्देश दिए हैं।

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

सरकार ने एक बार फिर ब्यूरोक्रेसी में बदलाव किया

नरेश राघानी                            
जयपुर। राजस्थान में जारी सियासी खींचतान के बीच गहलोत सरकार ने एक बार फिर ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव किया है। गहलोत सरकार ने राजस्थान प्रशासनिक सेवाओं के 283 अधिकारियों के तबादलों के बाद सोमवार रात को फिर से 38 आरएएस अधिकारियों को बदल दिया है। कार्मिक विभाग ने देर रात तबादला सूची जारी की है। तबादला सूची में जनप्रतिनिधियों की मांग का भी खासा ध्यान रखा गया है। रिक्त पदों पर अधिकारी लगाए गए हैं।  इनमें बड़ी संख्या में उपखंड अधिकारी और अतिरिक्त जिला कलेक्टर बदले गए हैं।  राज्य सरकार इन दिनों जनप्रतिनिधियों की मांगों के अनुरूप ही अफसरों के तबादले कर रही है। 
इस तबादला सूची में आरएएस अधिकारी पुष्पा हरवानी को उपखंड अधिकारी दीगोद, हनुमान सिंह राठौड़ को गढ़ी, दौलतराम को जैसलमेर, प्यारेलाल को अलवर, अशोक कुमार गुप्ता को लूणकरणसर, दीपांशु सांगवान को सूरजगढ़ और पंकज बड़गूजर को उपखंड अधिकारी मुंडावर लगाया गया है। 
इसी तरह से सूरजभान विश्नोई को उपखंड अधिकारी सायला, लाखाराम को धोरीमन्ना और संदीप कुमार को आसींद लगाया गया है। योगेश कुमार को उपखंड अधिकारी मलारना डूंगर, छोटूलाल शर्मा को आनंदपुरी, भूपेंद्र कुमार यादव को दूदू, अभिलाषा को गढ़साना, विनीत कुमार सुखाड़िया को एसडीएम गलियाकोट और देवी सिंह को एसडीएम सीमलवाड़ा लगाया गया है। 
वरिष्ठ आरएएस अधिकारी रघुनाथ खटीक को भरतपुर अतिरिक्त जिला कलेक्टर पद पर तैनात किया गया है। गजेंद्र सिंह राठौड़ को अतिरिक्त संभागीय आयुक्त अजमेर, उम्मेद सिंह को अतिरिक्त निदेशक एवं संयुक्त सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, नरेंद्रपाल सिंह को उपायुक्त उपनिवेशन विभाग जैसलमेर, प्रह्लाद सहाय नागा को रजिस्टार कृषि विश्वविद्यालय जोबनेर जयपुर और गोविंद सिंह राणावत को रसद अधिकारी उदयपुर ग्रामीण लगाया गया है।
इसके अलावा सुभाषचंद्र शर्मा प्रथम को संपदा अधिकारी मुस्लिम युवक रोड जयपुर, उत्तर सिंह शेखावत को सीईओ जिला परिषद परियोजना अधिकारी सवाई माधोपुर, डॉ. राजेश गोयल को एडीएम भीलवाड़ा, जब्बर सिंह को उपायुक्त उपनिवेशन विभाग जैसलमेर, कुंतल विश्नोई को उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग जयपुर, राजेंद्र सिंह शेखावत प्रथम को रजिस्टार भूमि अर्जन पुनर्वासन प्राधिकरण राजस्व मंडल अजमेर और अनिल कुमार को सचिव संगीत नाटक अकादमी जोधपुर में पदस्थापित किया गया है। सुनील शर्मा प्रथम को एडीएम विराटनगर, सांवरमल रेगर को सहायक निदेशक लोक सेवक प्रशासनिक सुधार जैसलमेर में पोस्टिंग दी गई है।
दरअसल, राज्य सरकार ने जनप्रतिनिधियों की मांग के मद्देनजर ही अफसरों के तबादले किए हैं। हाल ही में राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अजय माकन के दौरे के दौरान जनप्रतिनिधियों ने अफसरों के कामकाज के रवैए पर सवाल उठाए थे। विधायकों का कहना है कि अफसर उनकी सुनते नहीं हैं। वे उनकी मांगों के प्रति गंभीर नहीं हैं। 

गुरुवार, 22 जुलाई 2021

राजस्थान: बीकानेर में भूकंप के झटके महसूस किएं

नरेश राघानी               
जयपुर। बता दें कि बीते 12 फरवरी की सुबह भी बीकानेर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। तब भी भूकंप के कारण किसी तरह के नुकसान होने की कोई बात सामने नहीं आई थी। इस बार भी नुकसान की बात अब तक सामने नहीं आई है। गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में भी बीते साल में भूकंप के कई बार हल्के झटके महसूस किए जा चुके हैं। लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में पांच बार भूकंप के झटकों से हिल चुकी थी। बता दें कि पृथ्वी के अंदर 7 प्लेट्स हैं। जो लगातार घूमती रहती हैं। 
जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं। वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है। बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं और नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। फिर इस डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है।

बुधवार, 21 जुलाई 2021

988 पदों की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किएं

नरेश रघानी                
जयपुर। राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) ने राज्य सिविल सेवा और अधीनस्थ सेवा पदों सहित राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस) के 988 पदों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए हैं। योग्य व इक्छुक उम्मीदवार जो इन पदों पर आवेदन करना चाहते हैं उनसे अनुरोध है की इस सरकारी रोजगार में आवेदन करने से पहले सारी जानकारियां ले उसके बाद ही अपनी योग्यता के अनुसार आवेदन करे।
नोटिफिकेशन का लिंक निचे दिया गया है। डिग्री या इसके सामान उपाधि होने पर भी स्वीकृति है अधिक जानकारी पाने के लिए प्रकाशित नोटिफिकेशन देखे।

सोमवार, 19 जुलाई 2021

घर में आग लगने से परिवार के 4 लोगों की मौंत हुईं

नरेश राघानी                        
जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर शहर में घर में आग लग जाने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, पाल रोड स्थित सुभाष नगर में रविवार शाम सुभाष चौधरी के मकान में आग लगने से बुजुर्ग दंपति सुभाष चौधरी (81) एवं नीलम चौधरी (76) उनकी बड़ी बेटी पल्लवी (50) और छोटी बेटी लावण्या (40) की जलने से मृत्यु हो गई।
परिवार में बुजुर्ग दंपति की एक बेटी दिव्यांग थी और दूसरी बेटी एक स्कूल में अध्यापिका थी। फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।
पड़ोसियों ने घर में धुंआ देख पुलिस को सूचना दी और दमकल गाड़ी ने आग पर काबू पाया। आग घर के एक कमरे में लगी।
पुलिस मामले में जांच कर रही है और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची।
बताया जा रहा है कि बुज़ुर्ग मां-बाप एवं दिव्यांग बहन की पल्लवी ही देखभाल करती थी। घटना के बाद प्रशासन एवं पुलिस के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचकर जायजा लिया।

शुक्रवार, 16 जुलाई 2021

‘केंद्रीकरण व वैक्सीन' राष्ट्रवाद समर्थन की आलोचना

नरेश राघानी                
जयपुर। पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कोरोना महामारी के समय ‘केंद्रीकरण व वैक्सीन राष्ट्रवाद ‘ समर्थक नीतियों की आलोचना करते हुए शुक्रवार को सवाल किया कि क्या भारतीय लोकतंत्र कोरोना महामारी से उपजी चुनौती के लिए तैयार था और क्या इसने अपने लोगों के जीवन और आजीविका की रक्षा की। वह यहां राजस्थान विधानसभा में ‘वैश्विक महामारी तथा लोकतंत्र के समक्ष चुनौतियां’ विषय पर आयोजित एक दिवसीय संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। संगोष्ठी का आयोजन राष्ट्रमण्डल संसदीय संघ की राजस्थान शाखा के तत्वावधान में किया गया।
चिदंबरम ने कहा, “क्या भारतीय लोकतंत्र ने महामारी की चुनौती का सामना किया और अपने लोगों, विशेष रूप से गरीबों और बच्चों के जीवन व आजीविका तथा हितों की रक्षा की।” उन्होंने कहा कि महामारी पर तो सार्वभौमिक टीकाकरण से काबू पाया जा सकता है या दवाओं की खोज से बीमारी को ठीक किया जा सकता है लेकिन इस एक प्रश्न के उत्तर की निरंतर खोज की आवश्यकता है।
कांग्रेस नेता ने कहा कि हर राजनीतिक व्यवस्था यह दावा करती है कि यह लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए सबसे उपयुक्त है, लेकिन “इस महामारी ने इस आत्मश्लाघा की कमियों को उजागर कर दिया। एक सच्ची संसदीय लोकतांत्रिक प्रणाली में, प्रधानमंत्री हर दिन संसद और जनता के लिए जवाबदेह होते हैं।
हालांकि, किसी भी कमजोर लोकतंत्र में शासक अपनी जिम्मेदारी से बचने के अनेक रास्ते निकाल लेते हैं।” उन्होंने कहा कि किसी भी प्रतिकूल स्थिति से दो चार होने पर कमजोरियां समय के साथ सामने आ ही जाती हैं लेकिन इस महामारी ने कमजोरियों को बेरहमी से उजागर किया और कोई बहाना बनाने या छिपाने की गुंजाइश नहीं छोड़ी।
चिदंबरम ने महामारी के समय केंद्रीयकरण सहित सात चुनौतियों को रेखांकित किया। उन्होंने टीकों की आपूर्ति का आदेश नहीं देने को केंद्रीयकरण के खतरे का एक रूप करार दिया। उन्होंने कहा कि गरीबी उन्मूलन और असमानता को कम करना लोकतांत्रिक देशों के बीच स्वीकृत लक्ष्य हैं और एक अध्ययन के अनुसार, पिछले दो साल में 23 करोड़ लोगों को गरीबी की ओर धकेला गया।
उन्होंने कहा कि स्कूली शिक्षा का अभाव महामारी का सबसे विनाशकारी प्रभाव रहा है। केंद्र और राज्यों की सरकारों के पास इस तबाही का कोई जवाब नहीं था और वे बस मूकदर्शक बनकर खड़ी रहीं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के लिए चुनौतियां अकेले राष्ट्रीय स्तर पर नहीं हैं।
महामारी ने ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ की एक असामान्य घटना को जन्म दिया है। चिदंबरम ने कहा,”मैं जो बनाता हूं वह मेरा है, जो मैं खरीद सकता हूं वह मेरा है’ यह ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ है।” उन्होंने कहा कि देश अपने टीके को बढ़ावा देने के लिए अन्य टीकों के उपयोग की अनुमति नहीं दे रहे हैं।
इस ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में वैश्विक भागीदारी को नुकसान पहुंचाया है। कार्यक्रम में राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी, विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने भी अपने विचार रखे।

रविवार, 11 जुलाई 2021

हादसा: 2 गाड़ियों के टकराने से 3 लोगों की मौत हुईं

नरेश राघानी                                
जयपुर। राजस्थान में झुंझुनूं जिले के मंडावा थाना क्षेत्र में दो गाड़ियों के आपस में टकरा जाने से तीन लोगों की मौत हो गई तथा दो अन्य घायल हो गए।
पुलिस के अनुसार हादसा शनिवार देर रात मंडावा थाना इलाके के गाड़जी का बास गांव के समीप हुआ। जिसमें झुंझुनूं से हेतमसर की तरफ से बोलेरो तथा मंडावा से कानसूजिया का बास की तरफ आ रही मार्शल गाड़ी आपस में टकरा गई। हादसे में हेतमसर निवासी तनवीर सिंह तथा कानसूजिया का बास निवासी इंद्राज जाट की मौके पर ही मौत हो गई। 
हादसे में कानसूजिया का बास निवासी विजेंद्र, तपेश तथा विनय घायल हो गए। जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन बाद में विजेंद्र ने भी दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मिलने पर मंडावा थानाधिकारी महावीर सिंह मौके पर पहुंचे और वाहनों को सड़कों से हटाकर आवागमन दुरूस्त कराया। पुलिस ने आज तीनों शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिये।

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...