राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
राजस्थान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 10 जून 2021

अंधविश्वास: भोपा के कहने पर ऊंट की गर्दन काटीं

नरेश राघानी            

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में अंधविश्वास की वजह एक इंसान वहशी बन गया। जिले के सूरजपोल इलाके में पुलिस क्वार्टरों के पीछे ही एक व्यवसायी ने एक भोपा के कहने पर ऊंट की गर्दन काट दी और तंत्र-मंत्र किया। राज्य पशु की बलि के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने 24 मई को ऊंट की गर्दन काटकर बलि देने का खुलासा कर मामले में दूध व्यवसायी राजेश उर्फ राजू पुत्र लालू राम निवासी बलीचा, गोवर्धन विलास, उसके एक साथी रघुनाथ उर्फ रघुवीर सिंह पुत्र प्रेम सिंह देवडा निवासी सवीना खेडा, भोपा शोभा लाल पुत्र मेंदु लाल व भोपा के पुत्र चंद्र प्रकाश उर्फ चेतन निवासी टेकरी को गिरफ्तार कर लिया है।

गुरुवार, 3 जून 2021

मंत्रिपरिषद की बैठक, सीएम के सामने भीड़े मंत्री

नरेश राघानी  
जयपुर। गहलोत सरकार के दो मंत्रियों के आपस में भिड़ने का मामला सूर्खियों में है। दरअसल राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रिपरिषद की बैठक हुई, जिसमें कोरोना वैक्सीन के अलावा बोर्ड परीक्षाओं और निराश्रित बच्चों के लिए राहत पैकेज की घोषणा को लेकर चर्चा हुई। इस बीच वैक्सीन अभियान को लेकर सीएम गहलोत के सामने ही दो मंत्री आपस में भिड़ गए। बता दें कि कैबिनेट बैठक में फ्री वैक्सीन अभियान को लेकर राजस्थान के शिक्षा मंत्री व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल आपस में भिड़ गए। इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बहस को देखते रहे। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच विवाद इतना ज्यादा हो गया था कि बैठक के बाद बाहर निकलने पर दोनों नेता एक बार फिर एक दूसरे से बहस करने लगे थे।

शुक्रवार, 28 मई 2021

रामदेव के तेल में मिली मिलावट, फैक्ट्री की सीज

नरेश राघानी   

अलवर। बाबा रामदेव की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एलोपैथी पर बयान देकर फंसने के बाद अब रामदेव अपनी ही कंपनी के सरसों के तेल को लेकर मुश्किलों में घिर गए हैं। राजस्थान के अलवर में गुरुवार देर रात प्रशासन ने पंतजलि कंपनी के सरसों के तेल में मिलावट की आशंका के चलते खैरथल की सिंघानिया आयल मिल को सीज कर दिया है। इस कार्रवाई के दौरान खुद जिला कलेक्टर वहां मौजूद रहे साथ ही कार्रवाई की वीडियोग्राफी भी करवाई गई है।

खाद्य तेल संगठन पहले से ही पंतजलि के सरसों के तेल पर आपत्ति जता चुका था। दरअसल पंतजलि के सरसों तेल के एक विज्ञापन में यह दिखाया गया है कि पंतजलि छोड़ बाकी सभी कंपनियों के कच्ची घानी तेल में मिलावट है। इसी विज्ञापन के बाद ही खाद्य तेल संगठन ने अपनी आपत्ति जताई थी। हालांकि अब बाबा रामदेव की पतंजलि ब्रांड के नाम से सरसों के तेल की पैकिंग और मिलावट किये जाने की सूचना के बाद प्रशासन ने फैक्ट्री पर छापेमारी कार्ऱवाई करते हुए देर रात ही सीज कर दिया है।
फैक्ट्री में पतंजलि की भारी मात्रा में पैकिंग सामग्री बरामद की गई है। हालांकि फैक्ट्री में बाबा रामदेव की पतंजलि का पैकिंग किये जाने की अनुमति होने की बात प्रबंधन की ओर से बताई गई है। इसके अलावा एक और ब्रांड श्री श्री ऑयल ब्रांड के भी रैपर वहां से मिले हैं। फैक्ट्री में मौजूद सरसों के तेल कच्ची घानी ओर स्पेलर से निकाले गए तेल के स्टॉक और मौजूद कच्चे सामान के खाद्य निरीक्षकों और आयुर्वेद निरिक्षकों की टीम ने सैम्पल लिए हैं। प्रशासन का कहना है कि सैंपल रिपोर्ट के आने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।
प्रशासन ने कंपनी प्रबंधन को चेतावनी दी है कि किसी भी सूरत में सामान के साथ छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए। जो समान जहां है वैसा ही होना चाहिए। बता दें कि इस फैक्ट्री से भारी मात्रा में सरसों का तेल बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि को जाता है। जिसके बाद पतंजलि इस तेल पर अपना ठप्पा लगाकर बाजारों में सप्लाई करती है। जिला कलेक्टर नन्नू मल पहाड़िया का कहना है कि प्रशासन को जैसी ही सरसों के तेल में मिलावट की बात पता चली तो शिकायत के आधार पर त्वरित कार्रवाई करते हुए अलवर के एसडीएम योगेश डागुर के नेतृत्व में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। इस कमेटी ने फैक्ट्री पर कार्रवाई करते हुए उसे सीज कर दिया है ताकि समान इधर-उधर ना हो सके। उन्होंने कहा कि मामले की जांच जारी है। सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।

मंगलवार, 25 मई 2021

गलत आंकड़े पेश करने का खेल बंद करें सरकार

नरेश रघानी  

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को आंकड़ेबाजी छोड़कर राज्यों को अधिकाधिक वैक्सीन उपलब्ध करने के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि प्रदेश में जनता को गुमराह करना एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मौतों के वास्तविक आंकड़ों को छिपाकर कम आंकड़े पेश करने का खेल बंद करना चाहिए।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने सोशल मीडिया के जरिए राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राजस्थान में न अस्पतालों की दशा सुधरी, न स्टाफ़ लगाया, न आक्सीजन प्लांट लगाये, बैड और दवा की कालाबाजारी होती रही, मरीज अस्पताल के दरवाजे पर मरते रहे, मौत के आंकड़े छुपाते रहे, पचास प्रतिशत वैक्सीनेशन राज्य सरकार की जिम्मेदारी थी, प्रदेश की जनता को गुमराह करते रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता आपकों कभी माफ़ नहीं करेगी। इसी तरह उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि केन्द्र सरकार को आंकड़ेबाजी छोड़ने का सुझाव देने से पहले मुख्यमंत्री ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मौतों के वास्तविक आंकड़ों को छिपाकर कम आंकड़े पेश करने का खेल बंद करें तो मुनासिब होगा।

उल्लेखनीय है कि आज ही अशोक गहलोत ने कहा कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को आंकड़ेबाजी छोड़कर राज्यों को अधिकाधिक वैक्सीन उपलब्ध करना सुनिश्चित करना चाहिए। यदि तीसरी लहर ने बच्चों को प्रभावित किया तो देश कभी माफ नहीं करेगा।

रविवार, 23 मई 2021

341 बच्चें संक्रमित मिलें, तीसरी लहर का आगाज

नरेश राघानी   

दौसा। राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर के संकेत मिल रहे हैं। इसकी वजह ये है कि दौसा में 341 बच्चे कोरोना संक्रमित पाए गये हैं। दौसा में 1 मई से 21 मई के बीच 18 साल से कम उम्र के 341 बच्चों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे प्रशासन के होश उड़ गये हैं और जिले के अस्पताल को एलर्ट कर दिया गया है। इससे पहले प्रदेश के डूंगरपुर जिले में भी 10 दिनों में 325 बच्चों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। रविवार को बाड़मेर में भी 8 साल के एक बच्चे के संक्रमित होने की जानकारी सामने आई। उसके फेफड़ों में संक्रमण मिला है। यानी राजस्थान में अब युवाओं और बुजुर्गों के मुकाबले, बच्चों में कोरोना का ज्यादा देखने को मिल रहा है।

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी थमी भी नहीं है और संभावना जताई जा रही है कि इसकी तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। दौसा के जिला कलेक्टर के मुताबिक यहां 341 बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। लेकिन इनमें से एक भी बच्चा अस्पताल में एडमिट नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए जिला अस्पताल को अलर्ट कर रखा है। साथ ही इस पर काबू पाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं।

इस बीच राजस्थान सरकार इस महामारी से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारी में जुट गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांव-गांव और डोर-टू-डोर जाकर लोगों का कोविड टेस्ट करने का अभियान शुरू करने जा रही हैं। इसके अलावा गांव में ही कोविड सेंटर बनाकर उनका इलाज भी करने की व्यवस्था पर काम किया जा रहा है।

वैसे राजस्थान में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है। पिछले कुछ दिनों से यहां कोरोना पॉजिटिव होने की दर 19 फीसदी से ज्यादा थी, लेकिन शनिवार को यह घटकर 9 फीसदी रह गई। यानी अब 100 में से 9 लोग ही कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद माना जा रहा है कि प्रदेश में लगा लॉकडाउन अगले 15 दिन और बढ़ाया जाना तय है।

शुक्रवार, 21 मई 2021

आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका खारिज की

नरेश राघानी             

जोधपुर। राजस्थान उच्च न्यायालय ने स्वयंभू धर्मगुरु आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी। याचिका में आसाराम ने हरिद्वार जाकर आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज कराने के लिए जमानत देने का अनुरोध किया था। अदालत ने जोधपुर स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की चिकित्सा रिपोर्ट पर गौर करने के बाद दुष्कर्म में मामले में कैद आसाराम को जमानत देने से इनकार कर दिया। आसाराम को कोविड-19 होने के बाद एम्स जोधुपर में भर्ती किया गया है। न्यायमूर्ति संदीप मेहता और न्यायमूर्ति देवेंद्र कछवाहा की पीठ ने चिकित्सा रिपोर्ट देखने के बाद जिला और जेल प्राधिकार को निर्देश दिया कि वह आसाराम को योग्य चिकित्सा संस्थान में उचित इलाज सुनिश्चित करे। अदालत ने कहा कि आसाराम को जेल में लौटने पर पौष्टिक आहार और सुरक्षित वातावरण मुहैया कराया जाए।

रविवार, 9 मई 2021

अलवर: ट्रक में आग लगने से 4 बच्चों की मौत हुईं

अलवर। राजस्थान के जिला अलवर के रामगढ़ थाना क्षेत्र के चैमा गांव में एक ट्रक में आग लगने से झुलसे चारों बच्चों की मौत हो गई। पुलिस उपाधीक्षक ओम प्रकाश मीणा ने बताया कि शनिवार शाम चैमा गांव में सड़क पर खड़े ट्रक में आग लग जाने से ये चारों बच्चें गंभीर रुप से झुलस गए थे। इनमें तीन बच्चों अजीम खान (06), अमन (07) एवं अरमान (08) को शनिवार देर रात जयपुर रैफर किया गया। लेकिन तीनों ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

उन्होंने बताया कि गंभीर रुप से झुलसे चैथे बच्चे शाहरुख (06) की भी रविवार दोपहर में अलवर के एक निजी अस्पताल में मृत्यु हो गई। गोविंदगढ थाना क्षेत्र का बारोली गांव निवासी अनवर दिल्ली से ट्रक खाली कर अपने घर जाते समय रास्ते में चैमा गांव में सड़क पर ट्रक खड़ा कर अपने ससुराल चला गया। पीछे से ससुराल पक्ष के लोगों के ये बच्चे ट्रक में खेलने के लिए चढ गए। कुछ समय बाद पडोस में रहने वाले युवक ने ट्रक में आग लगती देख शौर मचाया और लोग आग बुझाने में जुट गए। इसी बीच पता चला कि ट्रक में बच्चे भी हैं। लोगों द्वारा कडी़ मश्शकत के बाद जलते ट्रक में से चार बच्चों को बाहर निकाल तुरंत अलवर ले जाया गया।

रविवार, 2 मई 2021

राजनीति में फिर से दबदबा बनानें की कोशिश: कांग्रेस

नरेश राघानी                       
जयपुर। राजस्थान में 3 विधानसभा क्षेत्रों में हुए उपचुनाव की मतगणना में सत्तारूढ़ कांग्रेस 2 सीटों पर बढ़त बनाते हुए राज्य की राजनीति में अपना फिर से दबदबा बनाए रखने की कोशिश कर रही है। भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार एक सीट पर कांग्रेस से आगे चल रहे हैं।
देश के पांच राज्य में पिछले दिनों हुए विधान सभा चुनाव की मतगणना के साथ ही राजस्थान में पिछले दिनों हुए 3 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव की गिनती भी आज सवेरे 8.00 बजे शुरू हुई। मतगणना के सातवें दौर के बाद कांग्रेस प्रत्याशी गायत्री द्विवेदी भीलवाड़ा जिले की सहाड़ा विधानसभा सीट पर अपने निकटतम प्रतिद्वंदी उम्मीदवार भाजपा के डॉ रतन लाल जाट से 1813 मतों से आगे चल रही है। इस सीट पर वोटों की गिनती में कांग्रेस उम्मीदवार गायत्री त्रिवेदी को 19947 एवं डॉ रतन लाल जाट को 18397 मत मिले हैं। चूरू जनपद की सुजानगढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार मनोज कुमार राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार सीताराम नायक से 3036 मतों से आगे चल रहे हैं। कांग्रेस के मनोज कुमार को 12086 एवं भाजपा के सीताराम नायक को 9050 वोट मिले हैं। जबकि भाजपा के उम्मीदवार एवं पूर्व मंत्री खेमाराम मेघवाल इस विधानसभा सीट पर तीसरे स्थान पर चल रहे हैं। उन्हें अभी तक महज 7487 मत मिले हैं। उधर राजसमंद विधानसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी दीप्ति माहेश्वरी अपने निकटतम प्रतिद्वंदी एवं कांग्रेस उम्मीदवार तनसुख बोहरा से 1555 मतों से आगे चल रही है। दीप्ति माहेश्वरी को 22858 मत एवं तनसुख बोहरा को 21303 मत मिले हैं।

गुरुवार, 29 अप्रैल 2021

कोरोना: राजस्थान के सीएम अशोक पाएं गए संक्रमित

नरेश राघानी                                   
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। गहलोत ने बृहस्पतिवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा, ”कोरोना जांच करवाने पर आज मेरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मुझे किसी तरह के लक्षण नहीं हैं और मैं ठीक महसूस कर रहा हूं।’गहलोत के अनुसार वह कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पृथकवास में रहकर ही कार्य जारी रखेंगे। उल्लेखनीय है कि बुधवार को गहलोत की पत्नी सुनीता गहलोत कोरोना संक्रमित पाई गईं। राजस्थान में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के रिकार्ड 16,613 नए मामले आए।

रविवार, 25 अप्रैल 2021

सेंट्रल जेल में 17 केदियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आईं

नरेश राघानी         

बीकानेर। राजस्थान में बीकानेर की सेंट्रल जेल में 17 केदियोंं की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। जेल अधीक्षक परमजीतसिंह सिद्धू ने आज बताया कि डॉक्टर्स ने कोरोना पॉजिटिव बंदियों का इलाज शुरू कर दिया है और उन्हें दवाइयां दी जा रही हैं। रविवार को पीबीएम अस्‍पताल से आई टीम ने जेल परिसर में कोविड वार्ड सहित पूरी जेल को सेनेटाइज किया है। सभी आवश्‍यक सुरक्षा उपाय किए जा रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि बाहर से आये बंदियों की रविवार को भी जांच की गई है।

गुरुवार, 22 अप्रैल 2021

मोदी विश्वविद्यालय के खिलाफ महामारी के तहत मामला

नरेश राघानी         
सीकर। राजस्थान में कोरोना संक्रमण की रोकथाम में सहयोग नहीं करने पर चिकित्सा विभाग की ओर से लक्ष्मणगढ़ में मोदी विश्वविद्यालय के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया गया है।
सूत्रों ने आज बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. राजीव ढाका की ओर से पुलिस में दी गई रिपोर्ट में 16 अप्रैल से अब तक मोदी विश्वविद्यालय में 68 से अधिक पॉजिटिव मिले चुके हैं। प्रशासन ने संस्थान प्रबंधन को सरकारी गाइडलाइन की कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए। इसके बावजूद प्रबंधन ने कोरोना रोकथाम में कोई सहयोग नहीं किया बल्कि लापरवाही भी बरतते हुए कोरोना संक्रमित छात्राओं को उनके घर भी भेज दिया, ऐसे में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ गई।चिकित्सा विभाग की रिपोर्ट पर पुलिस ने महामारी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। दरअसल जिला प्रशासन ने मोदी विश्वविद्यालय प्रबंधन को कोविड प्रभावित छात्रों को उपचार के लिए सांवली अस्पताल भेजने के निर्देश दिए थे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने हॉस्टल में कोविड के तहत क्वाॅरंटीन करने का दावा किया। लेकिन जांच में आया कि 68 से अधिक छात्राएं विभिन्न जिलों एवं राज्यों के लिए चुपके से रवाना कर दी गई। जबकि विश्वविद्यालय प्रशासन को पता होने के बावजूद भी प्रशासन को कोई सूचना नहीं दी गई।

सोमवार, 19 अप्रैल 2021

राजस्थान में वीकेंड कर्फ्यू जैसी पाबंदियां लागू की

नरेश राघानी                  
जयपुर। देश में कोरोना संक्रमण का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना को बढ़ते मामलों को देखते हुए राजस्थान सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए प्रदेश में आगामी तीन मई सुबह पांच बजे तक वीकेंड कर्फ्यू जैसी पाबंदियां लागू रखने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में रविवार देर रात तक मुख्यमंत्री निवास पर चली उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया। जन अनुशासन पखवाड़े के तहत विभिन्न गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय किया गया है।गहलोत ने कहा कि इस दौरान सरकारी कार्यालय, बाजार, मॉल्स तथा कार्यस्थल बंद रहेंगे। लेकिन श्रमिकों के रोजगार से जुड़ी गतिविधियां जैसी फैक्ट्री तथा निर्माण कार्य पर रोक नहीं होगी। साथ ही ठेला एवं फेरी लगाकर जीवनयापन करने वाले लोगों को जीविकोपार्जन की छूट दी जाएगी।

बुधवार, 14 अप्रैल 2021

राजस्थान के सभी शहरों में कर्फ्यू लगाने की घोषणा

नरेश राघानी          

जयपुर। राजस्थान सरकार ने प्रदेश के सभी शहरों में 16 अप्रैल से 15 दिन के लिए शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। राज्य सरकार ने कोरोना के मामले बढ़ने के बाद आज प्रदेश में 30 अप्रैल तक के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है।नई गाइडलाइन मे प्रदेश के सभी शहरों में शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। शहरी क्षेत्रों में शाम पाच बजे से बाजार बंद करने होंगे। इस बीच प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड़ की कक्षा दसवीं एवं 12वीं बोर्ड़ की परीक्षा स्थगित कर दी गयी है।

सोमवार, 5 अप्रैल 2021

10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 की डेटशीट जारी की

नरेश राघानी    
जयपुर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 की डेटशीट जारी कर दी है। राज्य में 10वीं की बोर्ड परीक्षा 25 मई तक और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 29 मई 2021 तक चलेगी। वहीं राजस्थान बोर्ड राज्य में स्वामी विवेकानंद राजकीय मॉडल स्कूल से 12वीं परीक्षा में राज्य में पहला स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा को विदेश में पढ़ाई करने का मौका देगी।बोर्ड की ओर से जारी सूचना के अनुसार राज्य में प्रथम आने वाली छात्रा को 4 वर्षीय डिग्री की पढ़ाई के लिए विदेश में पढ़ने का अवसर मिलेगा।जिसका सारा खर्च राज्य सरकार उठाएगी। बोर्ड ने इस संबंध में अपने अधिकारिक अकाउंट से ट्वीट कर जानकारी दी है।

रविवार, 4 अप्रैल 2021

मोटरसाइकिल चोरी के मामले में 3 आरोपी गिरफ्तार

अलवर। राजस्थान में अलवर शहर के कोतवाली थाना पुलिस ने बस स्टैंड मोटरसाइकिल चोरी के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। कोतवाली थाने के सहायक उपनिरीक्षक इशराक खान ने आज बताया कि इस मामले में अमित कुमार, ललित और आशु शर्मा को गिरफ्तार किया है। 

इशराक खान ने बताया कि गत दो अप्रैल को विकास शर्मा ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि गत 31 मार्च को वह बस स्टैंड के समीप दुकान पर मोटरसाइकिल खड़ी कर कर चला गया। जब वह वापस आया तो वहां मोटरसाइकिल नहीं मिली। दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि उसके पड़ोस के रहने वाले ये तीनों लोग मोटरसाइकिल को ले जा रहे थे। इस पर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

शनिवार, 3 अप्रैल 2021

किसान नेता के काफिले पर पथराव, 14 अरेस्ट

नरेश राघानी         
यपुर। किसान नेता राकेश टिकैत के काफिले पर शुक्रवार को राजस्थान के अलवर जिले में कुछ लोगों ने पत्थर से हमला कर दिया। घटना में किसी को चोट तो नहीं आई है। लेकिन टिकैत की कार का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। मामले पुलिस ने एबीवीपी नेता समेत 14 लोगों  को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में एक बीजेपी का नेता है।
राकेश टिकैट ने ट्वीट कर कहा कि अलवर में काफिले पर हमला सुनियोजित था। भाजपा के सांसद और विधायक अपने गुंडों से सड़क पर हमला कराएंगे तो यूपी में इनके सांसद-विधायकों को सड़क पर नहीं निकलने दिया जाएगा।

मंगलवार, 30 मार्च 2021

स्लीपर सेल, 12 दोषियों को आजीवन कारावास

नरेश राघानी         
जयपुर। राजस्थान में जयपुर जिला एवं सेशन न्यायालय ने स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट आफ इंडिया (सिमी) के स्लीपर सेल से जुड़े मामले में आरोपियों को आज दोषी ठहराते हुए बारह लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई जबकि एक आरोपी को बरी कर दिया।न्यायाधीश उमाशंकर व्यास ने आज यह फैसला सुनाते हुये वर्ष 2014 में गिरफ्तार सिमी के राजस्थान स्लीपर सेल से जुड़े इस मामले में 13 लोगों में 12 को आतंकवादी गतिविधियों में दोषी करार दिया गया जबकि एक को इस मामले में बरी कर दिया। इसके बाद इन बारह दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी गई।अदालत ने देशद्रोह एवं विस्फोट रखने आदि आरोप में इन्हें दोषी माना और सजा सुनाई गई। जिन लोगों को सजा सुनाई उनमें अब्दुल मजीद, मोहम्मद वाहिद, मोहम्मद उमर, मोहम्मद आकिब, मोहम्मद वकार, मोहम्मद अम्मार, बरकत अली, मशरफ इकबाल, मोहम्मद मारूफ, अशरफ अली, मोहम्मद साकिब अंसारी, वकार अजहर एवं मोहम्मद सज्जाद शामिल हैं जबकि जोधपुर के रहने वाले आरोपी इकबाल को बरी कर दिया गया।इनमें एक बिहार का रहने वाला हैं जबकि शेष सभी राजस्थान के रहने वाले हैं। सरकारी गवाह बने सज्जाद को भी सजा सुनाई गई हैं। एटीएस एवं एसओजी ने इस मामले में 177 गवाहों के बयान कराये गये तथा 506 दस्तावेज पेश किये गये। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में सिमी की स्लीपर सेल से जुड़ा यह मामला करीब सात साल पुराना है। दिल्ली में गिरफ्तार हुए आतंकवादियों से मिली जानकारी के आधार पर प्रदेश में एटीएस एवं एसओजी की टीमों ने वर्ष 2014 में जयपुर, सीकर एवं अन्य जिलों में तेरह संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार किया था। इन पर 28 मार्च 2014 में मामला दर्ज किया गया था। इन पर आरोप था कि ये प्रतिबंधित संगठन सिमी से जुड़े है और राजस्थान में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए बम बनाने आदि गतिविधियों में शामिल थे।

गुरुवार, 25 मार्च 2021

सेना की जिप्सी में लगीं आग, 3 सैनिकों की मौत

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में राजियासर थाना क्षेत्र में छतरगढ़ मार्ग पर सेना की एक जिप्सी पलट जाने एवं उसमें आग लग जाने से तीन जवानों की मौत हो गई। जबकि, पांच जवान घायल हो गए। थाना प्रभारी विक्रम तिवारी ने बताया, घायल जवानों को सूरतगढ़ के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
उन्होंने बताया कि राजियासर थाना क्षेत्र में बुधवार देर रात करीब डेढ़ बजे राजियासर छतरगढ़ मार्ग पर इंदिरा गांधी नहर की बुर्जी संख्या 330 के पास यह हादसा हुआ। सेना की 47 आर्मड रेजीमेंट (बठिंडा, पंजाब) के आठ जवान जिप्सी में जा रहे थे। अचानक जिप्सी अनियंत्रित होकर पलटते हुए सड़क किनारे झाड़ियों एवं पेड़ों में जा गिरी। इसके बाद जिप्सी में आग लग गई। जवानों को बाहर निकलने का मौका नहीं मिला। उन्होंने बताया कि इसी दौरान आसपास के लोग जिप्सी पलटने की आवाज सुनकर और आग की लपटें उठती देख कर भाग कर आए।ग्रामीणों ने मशक्कत कर पांच जवानों को बाहर निकाला लेकिन तीन को नहीं निकाला जा सका। इन की मौके पर ही जल जाने से मौत हो गई। मृतकों की पहचान सूबेदार ए मैमेजर, हेड कांस्टेबल देव कुमार और हवलदार एसके शुक्ला के रूप में हुई है।
घायलों में एसके प्रजापति (35) ,अंकित बाजपाई (34) , उमेश यादव(27),अशोक ओझा (28) बबलू (27) शामिल हैं। आपातकाल सेवा 108 की एंबुलेंस से घायलों को सूरतगढ़ के सरकारी अस्पताल भिजवाया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने भीषण आग लगे देख कर सूरतगढ़ में दमकल सेवा को फोन किया। सेना के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं और मामले जांच कर रहे हैं।
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हादसे में सेना के तीन जवानों की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया है। गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए हादसे पर संवेदना जताते हुए कहा कि श्रीगंगानगर के सूरतगढ़ क्षेत्र में एक हादसे में सेना के तीन जवानों की जान चली गई और पांच घायल हो गए, यह जानकार उन्हें दुख पहुंचा हैं। उन्होंने शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए ईश्वर से इस कठिन समय में उन्हें हिम्मत देने तथा घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना की।
भारतीय जनता पार्टी की उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी हादसे पर दुख जताते हुए कहा “श्रीगंगानगर जिले में छत्तरगढ़ रोड पर सेना की जिप्सी दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण तीन जवानों की मृत्यु तथा पांच जवानों के घायल होने की सूचना है। मैं ईश्वर से हादसे में जान गंवाने वाले सैनिकों की आत्मा को शांति तथा घायलों के स्वास्थ्य लाभ की कामना करती हूं।
नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने भी इस पर गहरा दुख प्रकट करते हुए कहा कि सैन्य जवानों की एक जिप्सी अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त होने के चलते हादसे में तीन जवानों की मृत्यु का समाचार अत्यंत दुःखद है। उन्होंने ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शान्ति, घायलों को स्वास्थ्य लाभ तथा परिजनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना की।

रेलवे इंजीनियर 35 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

नरेश राघानी      
कोटा। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने कोटा मंडल रेल प्रबंधक के यूएसएफडी कार्यालय के सीनियर सेक्शन इंजीनियर घनश्याम शर्मा को पैतीस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। ब्यूरो के अनुसार, इस मामले में शर्मा को उनके निवास पर मंगलवार देर रात परिवादी से रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। आरोपी ने परिवादी से बकाया बिलों के भुगतान की एवज में खुद के लिए सात प्रतिशत तथा अन्य अधिकारियों के लिए भी कमीशन के रुप में रिश्वत मांगी। परिवादी ने इसकी शिकायत ब्यूरो में करने पर ब्यूरो ने इसके सत्यापन के बाद आरोपी को रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया और उसके पास से रिश्वत के रुप में लिए गए रुपए भी बरामद कर लिए गए। परिवादी ने अपनी शिकायत में बताया था। कि उसके मालिक की कार्य में लगी पिकअप गाड़ियों के लंबित बिलों के भुगतान के लिए आरोपी रिश्वत की मांग कर रहा है। इस मामले में अन्य अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है।

तहसीलदार के घर पर रेड, जला दिये 20 लाख रुपये

नरेश राघानी    
सिरोही। राजस्थान के सिरोही जिले के पिंडवाड़ा तहसील में तहसीलदार ने पहले तो जम के भ्रष्टाचारी में अपने हाथ धोये और फिर जब उसका भ्रष्टाचार सबके सामने आ गया तो उसने ऐसा कदम उठा डाला, जिसने सबकों चौंका दिया।दरअसल भ्रष्टाचार के आरोपी तहसीलदार के यहां छापेमारी वाली टीम कार्रवाई के लिए पहुंची थी। लेकिन तहसीलदार ने अपना अलग ही खेल खेल डाला। पूरे घर को लॉक करके लाखों रूपए आग के हवाले कर दिए। तहसीलदार ने घर पर गैस चुल्हे पर करीब 20 लाख रूपए जला दिए।

जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...