सोमवार, 29 जून 2020

फ्रांस-भारत के लिए हुआ खड़ाः राफेल

पेरिस। शीर्ष रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि उम्मीद के अनुरूप फ्रांस भारतीय वायुसेना को दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगा। अधिकारियों ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के शुरुआत में ही फ्रांस ने भारत को आपूर्ति तिथि के बारे में सूचित कर दिया था। एक वरिष्ठ आईएएफ अधिकारी ने कहा, फ्रेंच कंपनी दशॉ एविएशन बहुप्रतीक्षित दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगी। अधिकारी ने कहा, वे हमें आपूर्ति की तिथि के बारे में और यदि कोई देरी होती है तो उसके बारे में सूचित करेंगे। फिलहाल सभी को उम्मीद है कि फ्रेंच कंपनी ने जो कहा है कि उसके अनुरूप वह आपूर्ति कर देगी।


आपूर्ति तिथि 27 जुलाई के बारे में पूछे जाने पर आईएएफ अधिकारी ने कहा, हमें नहीं पता। रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने भी यही जवाब दिया। फ्रांस ने दो जून को अपने वादे को दोहराया था कि कोविड-19 महामारी द्वारा खड़ी गई चुनौती के बावजूद वह समय पर आपूर्ति के अपने वादे को पूरा करेगा। आपूर्ति की अपेक्षित तिथि जुलाई अंत है। फ्रांस की तरफ से यह वादा तब दोहराया गया था, जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के सशस्त्र बल मंत्री फ्लोरेंस पार्ली के साथ टेलीफोन पर बात की थी। उन्होंने कोविड-19 की स्थिति, क्षेत्रीय सुरक्षा सहित आपसी चिंता के मामलों पर चर्चा की थी और वे द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत करने पर सहमत हुए थे।


दोनों मंत्रियों ने भारतीय और फ्रांसीसी सशस्त्र बलों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की थी। भरतीय रक्षा मंत्रालय ने तब कहा था कि फ्रांस ने कोविड-19 महामारी द्वारा पेश की गई चुनौती के बावजूद राफेल लड़ाकू विमान की समय पर आपूर्ति सुनिश्चित कराने के अपने वादे को दोहराया था। इसके पहले आठ अक्टूबर, 2019 को राजनाथ सिंह ने फ्रांस में राफेल विमान में एक उड़ान भरी थी। उन्होंने फ्रांस के मेरिगनैक में राफेल को सौंपे जाने के लिए आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा था, नया राफेल मीडियम मल्टी-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) भारत को मजबूत बनाएगा और देश के हवाई वर्चस्व को काफी बढ़ाएगा, जिससे क्षेत्र में शांति व सुरक्षा सुनिश्चित हो सकेगी।


रूस के सहयोग से अब तनाव प्रभावित

बिजिंग। चीन से तनाव के बीच भारत की तत्काल रक्षा ज़रूरतों को मुकाम तक पहुंचाने के लिए रूस सहमत हो गया है। इस ख़बर को अंग्रेज़ी अख़बार द हिन्दू ने प्रमुखता से पेज संख्या 9 पर प्रकाशित किया है। प्राप्त सूचना के अनुसार दोनों देशों के बीच यह सहमति भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के हालिया रूस दौरे में बनी। दोनों देशों के बीच रक्षा सौदे में एके-203 असॉल्ट राइफल और का-226टी लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर को लेकर भी बात हुई। द हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार भारत ने रूस से कहा है कि उसे रक्षा सौदों में अब देरी नहीं करनी है। इस पर रूस ने भारत को आश्वस्त किया है कि वो अगले कुछ महीनों में इसे अंजाम तक पहुंचा देगा।


राजनाथ सिंह 75वीं विक्ट्री डे परेड की वर्षगांठ पर 21 जून को रूस के चार दिवसीय दौरे पर गए थे। इस दौरे में राजनाथ सिंह की रूस के उप प्रधानमंत्री युर्य बोरिसव से बात हुई थी। हिन्दू ने अपनी इस रिपोर्ट में लिखा है कि भारत ने रूस से इन रक्षा सौदों को जल्दी पूरा करने की मांग तब की है जब लद्दाख में सीमा पर चीन और भारत की सेना आमने-सामने है। दोनों देशों की ओर से सीमा पर सेना और रक्षा बचाव उपकरणों की तैनाती की गई है।


एस-400 2021 के आख़िर तक मिलना शुरू होगा


रूस से बातचीत के बाद राजनाथ सिंह ने एक बयान में कहा कि रूस ने भरोसा दिया है कि मौजूदा अनुबंधों को जारी रखा जाएगा और कुछ को जल्द आगे बढ़ाया जाएगा।



आपको ये भी रोचक लगेगाहालांकि एस-400 सौदे पर सूत्रों का कहना है कि इसकी डिलिवरी तय वक़्त पर 2021 के अंत में शुरू हो जाएगी और इस सौदे को आगे बढ़ाना मुश्किल होगा। एक राजनयिक सूत्र ने कहा, "तकनीकी रूप से इसे आगे बढ़ाना संभव नहीं है." वहीं भारतीय सूत्रों का कहना है कि डिलिवरी कॉन्ट्रैक्ट की शर्तों के अनुरूप पूरी की जाएगी। एक अन्य रजनयिक सूत्र ने बताया कि एके-203 राइफल के सौदे में कुछ प्रगति हुई है, जो दाम के मामले में रुकी हुई थी। ये सौदे साढ़े सात लाख से ज़्यादा राइफल को लेकर हुआ है।इसमें से एक लाख आयातित होंगी और 6.71 लाख राइफल एक जॉइंट वेंचर के तौर पर उत्तर प्रदेश के कोरवा में इंडो-रूस राइफल प्राइवेट लिमिटेड (आईआरआरपीएल) बनाएगा। हालांकि 200 का-226टी लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर का सौदा स्वदेशीकरण के मामले पर अटका हुआ है। टेंडर के दौरान तय हुए स्वदेशीकरण के पर्सेंटेज तक पहुंचने के लिए रूस और भारत संभावनाओं का मूल्यांकन कर रहे हैं। दोनों देख रहे हैं कि भारत में उत्पादन के दौरान भारतीय विमानन सामग्री को कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है, जिससे इसे नया स्वदेशीकरण का एंगल मिले और साथ ही घरेलू एयरो उद्योग को प्रेरणा भी मिले। भारत के लिए रफ़ाल क्यों है इतना ज़रूरी?



सहयोगी देश भारत को जल्द देंगे हथियार


भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव जारी है, इस बीच भारत के सहयोगी देशों ने तुरंत आवश्यक हथियारों और युद्ध उपकरण की डिलिवरी करने की प्रतिबद्धता ज़ाहिर की है।


द इकोनॉमिक टाइम्स अख़बार के मुताबिक़, फ्रांस ने अगले महीने तक अतिरिक्त रफ़ाल जेट डिलिवर करने का वादा किया है। वहीं इसराइल से भी जल्द ही एयर डिफेंस सिस्टम मिलने की उम्मीद है।


अमरीका भी तोपें भेजेगा और रूस एक अरब डॉलर की क़ीमत वाले हथियार और युद्ध उपकरणों की जल्द डिलिवरी करेगा। ये प्रतिबद्धताएं शीर्ष स्तरीय द्विपक्षीय बैठकों के बाद तय की गई हैं। साथ ही राजधानी में एक प्रमुख बैठक भी हुई, जिसमें फ़ैसला हुआ कि लद्दाख में लंबे वक़्त से चल रहे तनाव के मद्देनज़र भारतीय सैन्य बलों को आपातकालीन आर्थिक शक्तियां दी जाएंगी। द इकोनॉमिक टाइम्स अख़बार के मुताबिक़, अत्यधिक उन्नत रफाल लड़ाकू विमानों की पहली खेप 27 जुलाई को भारत में आने की उम्मीद है। कहा जाता है कि ये विमान दुनिया में संभवत: सबसे बेहतरीन हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल से लैस हैं। शुरुआती योजना के तहत चार फाइटर को अगले महीने होम बेस अम्बाला पहुंचना था, लेकिन सूत्रों का कहना है कि फ्रांस ने अतिरिक्त रफाल अब पहली खेप में भेजने की प्रतिबद्धता जताई है। कुल आठ विमानों का जल्द ही सर्टिफिकेशन होना है, लेकिन ये साफ़ नहीं है कि कितने अतिरिक्त फाइटर जल्दी मिल सकते है।


कश्मीर में एलपीजी स्टॉक का आदेश


नवभारत टाइम्स अख़बार के मुताबिक़, भारत-चीन तनाव के बीच जम्मू-कश्मीर सरकार के दो आदेशों ने स्थानीय लोगों की चिंता बढ़ा दी है। पहले आदेश में कहा गया कि घाटी में एलपीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स दो महीने के लिए सिलिंडर स्टॉक कर लें। दूसरे आदेश के मुताबिक़ करगिल से सटे गांदरबल में सुरक्षाबलों के लिए स्कूल की इमारतों को ख़ाली कर दिया जाए। उपराज्यपाल ने 23 जून की बैठक के बाद ये आदेश जारी किए थे। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा, आदेशों से कश्मीर में दहशत है। अख़बार के मुताबिक ऑपरेशन बालाकोट और जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द करने से पहले भी सरकार की ओर से ऐसे ही आदेश दिए गए थे।


दिल्ली दंगों पर क्या है दिल्ली पुलिस का पक्ष


तेरह धार्मिक स्थलों को बनाया निशाना


उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी में हुए सांप्रदायिक दंगों के दौरान 13 धार्मिक स्थलों को नुकसान पहुंचाया गया था। जिसके अनुसार, पुलिस ने इन मामलों में 13 प्राथमिकी दर्ज की हैं और 33 लोगों को गिरफ्तार किया है। हिंसा के दौरान दोनों पक्षों के धार्मिक स्थलों को कम या अधिक नुकसान पहुंचा। दिल्ली पुलिस ने वकील यूसुफ नकी द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के तहत दायर किए अलग-अलग आवेदनों के जवाब में यह जानकारी दी है। आरटीआई आवेदनों में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता क़ानून (सीएए) के ख़िलाफ़ और इसके समर्थन में हुए प्रदर्शनों के संबंध में दर्ज प्राथमिकियों की प्रति, गिरफ्तार लोगों के नाम भी मांगे गए थे। हालांकि पुलिस ने किसी भी अभियुक्त का नाम, प्राथमिकियों की प्रति और इन धार्मिक स्थलों का पता देने से इनकार किया। इसने बताया कि सीएए के समर्थन और विरोध में हुए प्रदर्शनों और दंगों के सिलसिले में उत्तर पूर्वी दिल्ली के अलग-अलग थानों में 193 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। इस बाबद 373 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।


भारत के लिए नई मुसीबत खड़ी करेगा 'चीन'






















RADHEYSHYAM UPADHYAY universalexpress.editor@gmail.com




20:01 (1 hour ago)
 


 










to pashchimiupvs






नई दिल्ली। भारत चीन विवाद के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। चीनी मीडिया के मुताबिक, लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल यानी LAC पर चीन, अपनी सेना को ट्रेनिंग देने के लिए 20 मार्शल आर्ट ट्रेनर (China Martial Arts) तिब्बत भेज रहा है। 15 जून से पहले भी चीन ने मार्शल आर्ट लड़ाकों को तिब्बत भेजा था।





हालांकि हमारे भारतीय सेना के घातक कमांडो वहां पहले से ही मौजूद हैं। सेना की हर यूनिट में घातक कमांडो होते हैं, जो हथियारों के साथ लड़ाई के अलावा बिना हथियारों की लड़ाई में भी माहिर होते हैं। चीन अपने इस कदम के जरिए भले ही माइंड गेम खेलने की कोशिश कर रहा हो, लेकिन भारतीय सेना में 'घातक' कमांडो पहले से तैनात हैं। भारतीय सेना के घातक कमांडो बिना हथियारों की लड़ाई में माहिर हैं और दुश्मन को आमने सामने की लड़ाई में चित कर सकते हैं।


15 जून को हुई खूनी झड़प से पहले भी चीन ने तिब्बत के स्थानीय मार्शल आर्ट क्लब से भर्ती लड़ाकों को सेना की डिवीजन में तैनात किया था। भारत और चीन के बीच 1996 में हुए समझौते के मुताबिक एलएसी से दो किलोमीटर के दायरे में न फायरिंग की जाएगी और न ही किसी भी तरह के खतरनाक रासायनिक हथियार, बंदूक, विस्फोट की इजाजत होगी. इसलिए यहां हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। 15 जून को हुई खूनी झड़प के दौरान भी दोनों तरफ से किसी ने भी हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया।





नियम के विरुद्ध बाजारो का संचालन

अतुल त्यागी

नाजिम कालोनी में खुल रही इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान पर ग्राहकों को दे रहे खुले आम सामान

गढ़मुक्तेश्वर। दुर्गा कालोनी में कोरोना पॉजिटिव मिलने पर किया गया था 250 मीटर की दूरी का एरिया सील होने पर भी नाजिम कालोनी में खुल रही इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान पर ग्राहकों को दे रहे।

खुले आम सामानः आपको बतादे की जनपद हापुड़ के गढ़मुक्तेश्वर तहसील में कोरोना पॉजिटिव मिलने पर दुर्गा कालोनी के 250 मीटर का एरिया को किया गया था सील गढ़मुक्तेश्वर सील होने पर नहीं मान रहे दुकानदार जहां इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकाने खुली हुई है जहां शासन व प्रशासन सख्त होने के बावजूद भी नहीं मान रहे दुकानदार नहीं इन्हें किसी का डर जहां दिन दहाड़े खोल रहे इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान जहां देखा गया की बिलाल ने नाजिम कॉलोनी में खोल रखी है, इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान जहां शासन व प्रशासन के नियमों का कर रहे उलंघन ऐसे दुकानदार पर की जाए सख्त कार्यवाही जहां पर देखने वाली बात है कि शासन प्रशासन के नियमों की उड़ा रहे धज्जियां ना है इन्हे किसी का डर ऐसे दुकानदारों पर की जाए कार्यवाही।

'पेयजल' सुविधा में जनता का शोषण

श्रीकान्त शाक्य 

आरओ वाटर के नाम पर जनता को किया जा रहा गुमराह

 नगर में संचालित आरओ प्लांट के स्वामी जनता के साथ कर रहे छलावा। समरसेविल का पानी पिलाकर बोलते है आरओ का पानी है, जांच कराए जाने की मांग

 

कुरावली/मैनपुरी। अभी जनता कोरोना को लेकर पहले से ही परेशान है। दूसरी तरफ गर्मी भी अपनी चरम सीमा पर है। ऐसे में लोगो को हर पल पानी की जरुरत रहती है। लेकिन नगर में पानी की आपूर्ति करने वाले आर प्लांट संचालक नगर की जनता के साथ छलावा कर रहे है। समरसेविल से निकला हुआ पानी पिलाकर बोलते है कि आरओ का पानी है। नगर के यह गोरखधंधा जमकर पैर पसार चुका है। नगर के कई मौहल्ले में संचालित आरओ प्लांट के संचालक जनता को लूटने का काम कर रहे है।

बताते चले कि कोरोना के कहर को देखते हुए छुआछूत को लेकर नगर पंचायत की तरफ जनता की प्यास बुझाने के लिए लगवाए गए आरओं प्योरीफायर बंद कर दिए गए है। पिछले एक पखवाड़े से गर्मी का सितम भी नगर व क्षेत्र के लोगो पर भारी पड़ रहा है। गर्मी के सितम के बीच विकास खंड के गांवों से वाजार के लिए आने वाले लोग नगर पंचायत के वाटर प्योरीफायर बंद होने से पहले से ही परेशान है। ऐसे में शुद्ध पानी की जरुरत के लिए नगर के लोग आरओ प्लांट संचालको के ऊपर निर्भर हो गए है। नगर में आरओ प्लांट की बात करे तो नगर के मौहल्ला घरनाजपुर नई बस्ती, मौहल्ला सुजरई के अलावा एक या दो प्लांट और भी है। लेकिन यह सभी आरओ प्लांट संचालक नगर की जनता को समरसेविल का पानी पिलाकर लूटने का काम कर रहे है। अब खाद्य विभाग को इनके खिलाफ अभियान चलाकर कार्रबाई की जरुरत है जिससे नगर की जनता लुटने से वच जाए। नगर के लोगो ने पानी की जांच कराए जाने की मांग की है।

ओवरब्रिज बनाने की मांग पर अड़े ग्रामीण

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में तालाब को तहस-नहस किए जाने का है आरोप ग्रामीणों ने की ओवरब्रिज बनाए जाने की मांग 

बुलंदशहर। विकासखंड कुठौंद के ग्राम मिहोना  में चकबंदी के पूर्व से पूर्ण रूप से सुसज्जित ग्राम सभा के तालाब को तहसनहस करने पर बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे निर्माण का कार्य कर रही कंपनी आमादा है। इसको लेकर ग्रामीणों में गहरा रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों को शिकायती पत्र भेजकर तालाब में एक्सप्रेस वे निर्माण रोके जाने की मांग की है। प्राप्त विवरण के अनुसार ग्राम मिहोना निवासी पूर्व प्रधान भगवान सिंह यादव ओंकार सिंह यादव एवं ग्रामीण राम लखन यादव करण सिंह यादव सरदार सिंह यादव बादाम सिंह यादव लहिया सिंह यादव समेत एक सैकड़ा ग्रामीणों ने जिलाधिकारी सहित आयुक्त ,मंडलायुक्त, मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को भेजे गए पत्र में आरोप लगाया है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की कार्यदाई  संस्था जानबूझकर तालाब के अस्तित्व को मिटाने का काम कर रही है।

जिसे हम ग्रामीण किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेंगे।  विदित हो की प्रशासनिक अधिकारी भी एक्सप्रेस वे ठेकेदारों की हां में हां मिला कर किसानों की आवाज  पर    भारी पड़ रहे हैं ।ग्रामीणों का आरोप है कि प्रशासनिक अधिकारी भी किसानों की मांग नहीं सुन रहे हैं कई बार किसानों द्वारा गुहार भी लगाई गई पर नतीजा सिफर ही रहा।  ग्रामीणों ने चेतावनी भरे शब्दों में कहा है कि या तो तालाब के ऊपर ओवरब्रिज बनाकर के कार्य कराया जाए तभी काम होने देंगे अन्यथा की स्थिति में ग्रामीण आमरण अनशन से लेकर क्रमिक अनशन और भूख हड़ताल करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। तालाब को लेकर ग्रामीणों में जबरदस्त रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने एक बार पुनः जिलाधिकारी महोदय से मांग की है जनहित में तालाब के अस्तित्व को बचाए जाने के क्रम में वैकल्पिक व्यवस्था बनवाए जाने की कार्यवाही करें।  गौरतलब है कि एक तरफ सरकार जहां तालाब पोखर  आदि के अस्तित्व को बनाए जाने के लिए खूब धन की व्यवस्था कर रही है वहीं दूसरी तरफ ग्राम मिहोना के तालाब को तहस-नहस होता देख रही है।

'गंगा-स्नान' के लिए गई, 3 महिलाएं डूबी

बुलंदशहर/अनूपशहर। सोमवार को गंगा स्नान करने पहुंची तीन महिलाएं गंगा में डूब गईं। सूचना मिलते ही मौके पर पर पहुंचे पुलिस व प्रशासन द्वारा गोताखोरों से महिलाओं को तलाश कराने की प्रक्रिया प्रारंभ कराई गई। परंतु महिलाओं का कुछ पता नहीं चल सका। बताया जा रहा है कि महिलाएं अपने भाई की शादी में शामिल होने परिजनों के साथ मायके में आयी हुई थीं। महिलाएं परिवार के कुछ पुरूषों के साथ गंगा स्थान को पहुंच गई। गंगा स्नान करते समय अचानक गहरे पानी में दो युवक डूबने लगे। युवकों को डूबता देख अपने पति व ननदोई को बचाने के प्रयास में पहुंची सुनीता व उसकी बहन व ननद भी डूबने लगी। इस दौरान किसी प्रकार से पुरूष तो बाहर निकल आए परंतु तीनों महिलाएं गहरे पानी में डूब गईं। सूचना मिलते ही आनन फानन में मौके पर पहुंचे अनूपशहर कोतवाल अखिलेश त्रिपाठी, सीओ अतुल चैबे, एसडीएम पदम सिंह ने मोटरबोट व कांटों तथा स्थानीय गोताखोरों को लेकर मौके पहुंचकर तलाशी अभियान शुरू करा दिया। महिलाओं का पता नहीं चलने पीएसी फ्लड प्लाटून के जवान भी तलाशी में जुटे रहे।


हापुड़ः जिला-बदर को किया गिरफ्तार






















RADHEYSHYAM UPADHYAY universalexpress.editor@gmail.com




21:22 (3 minutes ago)
 


 










to pashchimiupvs






अतुल त्यागी




गढमुक्तेश्वर/हापुडः आखिर चढ ही गया जिलाबदर अभियुक्त मय अवैध तमंचे के गढमुक्तेश्वर पुलिश के हत्थे।

हापुड एस पी संजीव सुमन के अपराधियों की धरपकड अभियान के मद्देनजर, गढमुक्तेश्वर सी ओ पवन कुमार के निर्देशन में।

गढमुक्तेश्वर। कोतवाल इंस्पेक्टर मुकेश कुमार के नेतृत्व में मुखबिर की सूचना पर एस आई पीतम सिंह, एस आई विनोद कुमार ,सि. अनुज कुमार और सि. विनित कुमार की टीम ने दोताई गांव के निकट जिलाबदर अभियुक्त  को गिरफ्तार कर लिया।

कोतवाल मुकेश कुमार ने बताया कि उक्त अभियुक्त गढमुक्तेश्वर के इनायतपुर निवासी जिलाबदर पीतम पुत्र धर्मबीर था को गिरफ्तार किया जिसके पास से एक अवैध तमंचा 315 बोर मय एक जिंदा कारतूस भी बरामद करने के बाद वैधानिक कार्यवाही कर जेल भेजा गया।



भाग नहीं पाएंगे अपराधिक प्रवृत्ति के लोग


 




























RADHEYSHYAM UPADHYAY universalexpress.editor@gmail.com




19:56 (1 hour ago)
 


 










to pashchimiupvs






 




अतुल त्यागी

हापुड़/बहादुरगढ़। थाना प्रभारी की पैनी नजर से छिपे नहीं रह सकेंगे अपराधिक प्रवृत्ति के लोग, जेल तो जाना ही होग

गढ़मुक्तेश्वर/हापुड़। जिले में एसपी संजीव सुमन एडिशनल एसपी सर्वेश कुमार मिश्र गढ़मुक्तेश्वर पुलिस क्षेत्राधिकारी डॉक्टर पवन कुमार के नेतृत्व में अपराधियों की धरपकड़ अभियान को लेकर रात-दिन एक किए हुए हैं। थाना प्रभारी नीरज कुमार बहादुरगढ़ के द्वारा चार्ज लेते ही अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। इसी घटनाक्रम के चलते हुए रात्रि गश्त के दौरान तेज तर्रार थाना प्रभारी नीरज कुमार ने अपनी पुलिस टीम के एसआई लालाराम शर्मा चालक साहब सिंह कांस्टेबल सचिन सैनी कांस्टेबल रविंद्र कुमार के साथ किसी आपराधिक वारदात को अंजाम देने की फिराक में आए जीतपाल उर्फ जीतू पुत्र उदल सिंह निवासी खुशावली थाना गजरौला अमरोहा को एक देशी राइफल तीन जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में किया पेश।

















 ReplyForward









 


गाय माता का रीति-रिवाज से संस्कार

चंद्रमौलेश्वर शिवांशु  'निर्भयपुत्र'

गाजियाबाद। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के नगर अध्यक्ष अभय चौहान को  विक्रांत धामा (बबलू खलीफा) द्वारा सूचना प्राप्त हुई नहर रोड पर एवन मैरिज होम के पास 1 गोवंश की अश्मित मृत्यु हो गई है। सूचना प्राप्त होने के पश्चात अभय चौहान अपनी समस्त टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। वहां क्षेत्र के चौकी प्रभारी को सूचना की। वहां पर वे लोग भी पहुंचे। पूरी 'हिंदू' रीति-रिवाज के साथ गोवंश का अंतिम संस्कार किया। जिसमें नगर सह-संयोजक मोहित सैन नगर सुरक्षा प्रमुख, नितिन प्रजापति नगर विद्यार्थी प्रमुख, रवि, सोनू राठौर ,मनीष प्रजापति, राहुल कुमार व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

चालबाजी से बाज नहीं आयेगा चीन

नई दिल्ली/ बीजिंग। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर तनातनी के बीच ड्रैगन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा। एक तरफ वह शांति की बात पर बल देता है, तो दूसरी ओर अपनी ही बात के खिलाफ काम करता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि ताजा सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा हुआ है कि चीन ने लद्दाख के गलवान इलाके में 423 मीटर भीतर तक भारतीय इलाके में कर ली घुसपैठ कर ली है। एनडीटीवी ने इन हाई रेस्जोल्यूशन तस्वीरों के आधार पर बताया कि 25 जून तक भारतीय क्षेत्र में 423 मीटर अंदर तक 16 चीनी टेंट और तिरपाल, एक बड़ा शेल्टर और कम से कम 14 वाहन इस क्षेत्र में थे।


वहीं, भारत और चीन में तीसरे दौर की Corps Commander स्तर की बात मंगलवार को सुबह 10:30 बजे लद्दाख के चुशुल में होगी। पहले दो राउंड्स की बातचीत मोल्डो में हुई थीं, जो कि एलएसी पर चीन की ओर पड़ता है। यह जानकारी समचार एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से सोमवार को दी। इससे पहले, भारत चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के बीच एक बड़ी खबर सामने आयी है। दरअसल जुलाई माह के अंत तक फ्रांस से हमें 6 लड़ाकू विमान मिल जाएंगे। इससे वायुसेना की ताकत में उल्लेखनीय इजाफा होगा। राफेल की मेटेओर मिसाइल से 150 किलोमीटर दूर का निशाना भेदा जा सकता है। ऐसे में भारतीय वायुसेना को चीनी वायुसेना पर बढ़त मिलने की उम्मीद है।


लद्दाख में एलएसी पर चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच भारत और जापान ने हिंद महासागर में युद्धभ्यास किया है। दोनों देशों की नौसेनाओं ने इस युद्धाभ्यास में भाग लिया। युद्धाभ्यास में दोनों देशों के दो-दो युद्धपोत शामिल हुए। इस दौरान रणनीतिक संचार बेहतर करने का अभ्यास किया गया। बता दें कि बीते तीन वर्षों से भारत और जापान की नौसेनाएं हिंद महासागर में युद्धाभ्यास कर रही हैं। जिस तरह से चीन दक्षिणी चीन सागर के बाद अब हिंद महासागर में भी अपनी ताकत बढ़ाने का प्रयास कर रहा है। ऐसे में भारत और जापान भी मिलकर चीन की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।


लद्दाख में एलएसी पर सेना ने इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप की तैनाती की है। बता दें कि इस ग्रुप में शामिल जवान ऊंची पहाड़ियों में युद्ध करने में पारंगत होते हैं। ये 17वीं माउंटेन कोर के जवान हैं, जिन्हें ऊंचे और दुर्गम इलाकों में युद्ध के लिए प्रशिक्षित किया गया है। दरअसल चीनी मीडिया में खबर आयी थी कि गलवान घाटी में हुई खूनी झड़प से पहले चीन ने पर्वतारोहियों और मार्शल आर्ट के लड़ाकों को एलएसी पर भेजा था। इसके बाद भारतीय सेना ने भी अपने इंटीग्रेडेट बैटल ग्रुप को सीमा पर तैनात करने का फैसला किया है।


चंद्रमौलेश्वर शिवांंशु 'निर्भयपुत्र'


वायरस के कारण राष्ट्रपति चुनाव में देरी





वॉरसॉ। पोलैंड में राष्ट्रपति चुनाव के लिए रविवार को मतदान हो रहा है। कोरोना वायरस महामारी के कारण चुनाव में देरी हुई है। यह चुनाव ऐसे वक्त हो रहा है जब यूरोपीय संघ के इस देश में सांस्कृतिक और राजनीतिक विभाजन गहरा गया है। राष्ट्रपति आंद्रेज डूडा (48) को सत्ताधारी लॉ एंड जस्टिस पार्टी का समर्थन प्राप्त है। उनके मुकाबले में 10 और उम्मीदवार खड़े हैं. डूडा को जीत मिलती है या नहीं, लेकिन सत्ताधारी दल का पोलैंड में दबदबा बना रहेगा। इस चुनाव में मौजूदा राष्ट्रपति डूडा दूसरा कार्यकाल हासिल करने के लिए प्रयासरत हैं।हालिया सर्वेक्षण में पता चला है कि किसी भी उम्मीदवार को 50 प्रतिशत जरूरी वोट मिलने की संभावना नहीं है। ऐसी स्थिति में सबसे ज्यादा वोट हासिल करने वाले दो उम्मीदवारों के बीच 12 जुलाई को मुकाबला होगा। 10 मई को होने वाला था चुनावः पहले यह चुनाव 10 मई को ही होने वाला था लेकिन बाद में इसे टाल दिया गया। रविवार को रात नौ बजे (स्थानीय समयानुसार) मतदान केंद्रों के बंद होने के ठीक बाद एक्जिट पोल की घोषणा की जाएगी। अंतिम आधिकारिक नतीजे बुधवार को आने की संभावना है। डूडा को वॉरसॉ के मेयर रफाल त्रजासकोवस्की (48) से कड़ी चुनाती मिल रही है।त्रजासकोवस्की को मध्यमार्गी सिविक प्लेटफॉर्म पार्टी का समर्थन प्राप्त है।

दुनिया में कोरोना का हालः उल्लेखनीय है कि, विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लिया है। दुनिया भर में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर एक करोड़ के पार पहुंच गई है। इस वायरस से दुनियाभर में अब तक पांच लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इस महामारी से अब तक 54.58 लाख लोग ठीक हो चुके है। कोविड-19 से अमेरिका में सबसे अधिक लोग प्रभावित है। अमेरिका में इसके मरीजों की संख्या 25.96 लाख के पार पहुंच चुकी है, जबकि 1.28 लाख से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके है।







वायरस एंटी एक्टिव, एडीएम संक्रमित


अश्वनी उपाध्याय 


गाजियाबाद। जनपद में जब से कोरोना संक्रमण की शुरुआत हुई थी, एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह तभी से लगातार संक्रमण के खिलाफ चल रहे अभियान में अत्यधिक रूप से सक्रिय रहे हैं।गाज़ियाबाद के एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह और उनकी पत्नी गुंजा सिंह कोविड 19 वायरस के शिकार हो गए हैं।  प्राप्त जानकारी के अनुसार उनके बच्चों और परिजनों को भी क्वारंटाइन में भेज दिया गया है।  गुंजा सिंह जेवर में एसडीएम पद पर कार्यरत हैं। जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पाण्डेय ने बताया कि एडीएम सिटी कार्यालय परिसर को 24 घंटों के लिए सील कर दिया जाएगा।  





कोरोना योद्धा हैं शैलेंद्र सिंह


गाज़ियाबाद में जब से कोरोना संक्रमण की शुरुआत हुई थी,  एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह तभी से लगातार संक्रमण के खिलाफ चल रहे अभियान में अत्यधिक रूप से सक्रिय रहे हैं।  चाहे वह कंटेनमेंट ज़ोन को सील करने से लेकर वहाँ रह रहे लोगों की परेशानियाँ दूर करना हो या फिर लॉकडाउन शहर के दूकानदारों की समस्याएँ,  एक जिम्मेदार अधिकारी के रूप में वे हर फ्रंट पर सक्रिय रहे हैं।




जीडीए में अधिक भ्रष्टाचार-लापरवाही

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण के बोर्ड सदस्य हिमांशु मित्तल ने फरवरी महीने में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भवनों के ड्रॉ पर सवाल उठाया है। उनका कहना है कि इस ड्रॉ में ढाई सौ से अधिक ऐसे लोगों को आवास आवंटित कर दिया गया जिनका आय एवं जाति प्रमाणपत्र आवेदनों के साथ संलग्न नहीं था। ऐसी परिस्थिति में ऐसे आवंटन की जांच होनी चाहिए। इस मामले में प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है।


बोर्ड सदस्य हिमांशु मित्तल ने बताया कि गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा मधुबन बापूधाम योजना में पीएम आवास योजना के तहत 856 मकान बनवाए थे। इन भवनों के आवंटन के लिए प्राधिकरण ने आवेदन मंगाए जिनमें कुल 3885 आवेदन मिले थे। इन भवनों का आवंटन ड्रॉ के माध्यम से 7 फरवरी 2020 को किया गया। इस ड्रॉ में सफल 856 आवेदनों में से 253 लोग ऐसे चयनित हुए जिनके आवदेनों के साथ जाति प्रमाण पत्र एवं आय प्रमाण पत्र नहीं लगा था। हिमांशु मित्तल ने कहा कि उन्होंने इस मामले में आवेदनों में हुई हेराफेरी के बारे में एक फरवरी को जीडीए के अपर सचिव को अवगत करा दिया था। तीन फरवरी को इस मामले में अपर सचिव के साथ जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अनियमितताओं को अवगत कराया गया था।



हिमांशु मित्तल का कहना है कि इन भवनों के आवंटन के लिए कुल 7 हजार आवेदन मिल थे। इनमें से छांटकर 3895 लोगों को ड्रॉ के लिए चयनित किया गया था। इनमें 653 ऐसे लोगों के नाम थे जिनके आय प्रमाण पत्र नहीं लगे हुए थे। वहीं अनुसूचित जनजाति श्रेणी के 160 आवेदनों में आय प्रमाण पत्र संलग्न नहीं था। अनुसूचित जनजाति श्रेणी-3 के 35 आवेदन ऐसे थे जिनका जाति प्रमाणपत्र आवेदन के साथ नहीं लगा था। इसी प्रकार 256 आवेदन ऐसे थे जिसमें पिछड़ी जाति का प्रमाण पत्र संलग्न नहीं था। इनमें वरिष्ठ नागरिक वर्ग के आवेदनों को ठीक से देखा नहीं गया। इनमें 26 वर्ष के लोगों को वरिष्ठ नगारिक वर्ग में शामिल कर दिया गया। इसी प्रकार विकलांग श्रेणी के आवेदनों में तय मानकों का ध्यान नहीं रखा गया। इनमें भी प्रमाण पत्र नहीं लगाए गए थे। हिमांशु मित्तल ने इस मामले में मुख्य सचिव को पत्र लिखकर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। पत्र की कापी प्रमुख सचिव, मंडलायुक्त, जिलाधिकारी को भी भेजी गई है।


बैंक्विट हॉल, होटलो पर होगी कार्रवाई


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने बताया कि काफी दिनों से शिकायत मिल रही थीं कि बैंक्वेट हॉल और होटल प्रबंधक लॉकडाउन के दौरान निरस्त हुई शादियों के एडवांस पेमेंट संबंधी मामलों में मनमानी कर रहे हैं। बैंक्वेट हॉल व होटल प्रबंधक अब शादी विवाह के नाम पर मनमानी नहीं कर सकेंगे। इस संबंध में जिला प्रशासन ने बेहद कड़ा रुख अपनाते हुए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। आदेशों की अवहेलना करने पर बैंक्वेट हॉल एवं होटल प्रबंधकों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की बात कही गई है।





जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने बताया कि काफी दिनों से शिकायत मिल रही थीं कि बैंक्वेट हॉल और होटल प्रबंधक लॉकडाउन के दौरान निरस्त हुई शादियों के एडवांस पेमेंट संबंधी मामलों में मनमानी कर रहे हैं। इस वजह से लोगों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिलाधिकारी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए अपर जिलाधिकारी नगर शैलेंन्द्र सिंह को लॉकडाउन शुरू होने की तिथि और अनलॉक होने की घोषणा के बीच की अवधि के दौरान बैंक्वेट हॉल एवं होटल प्रबंधकों से विस्तृत जानकारी लेने के आदेश दिए हैं। इसके अंतर्गत बैंक्वेट हॉल एवं होटल प्रबंधकों को बुकिंग करने वाले का नाम, पता व मोबाइल नंबर, बुकिंग किस आयोजन के लिए की गई थी, बुकिंग कब की गई थी, किस तारीख को समारोह का आयोजन होना था, कितनी धनराशि अग्रिम जमा कराई गई थी, समारोह का आयोजन हुआ या नहीं हुआ, क्या भविष्य में समारोह के आयोजन की सहमति बनी है, क्या कोई धनराशि रिफंड की गई है सहित अन्य जानकारियां अब जिला प्रशासन को देनी होंगी।


बता दें कि इस संबंध में अब तक जिलाधिकारी के पास 11 शिकायतें आ गई हैं, जहां अब जिला प्रशासन द्वारा इस बात पता लगाएगा कि जिन लोगों ने विवाह आदि समारोह के लिए बैंक्वेट हॉल, होटल में बुकिंग कराई थी और उनका समारोह आयोजित नहीं हो सका तो उन्हें किस प्रकार की राहत दी जाए एवं रिफंड राशि आदि के संबंध में न्याय संगत फैसला कर दोनों पक्षों के हितों की रक्षा की जाए। 




विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। जिले के मुरादनगर थाना क्षेत्र में मामूली विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। संघर्ष में एक महिला समेत चार लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने आधा दर्जन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि संघर्ष के दौरान गोलियां भी चलाई गईं थी। देर रात में हुए संघर्ष के चलते गांव में अफरातफरी मच गई।


प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव ढिंडार में जितेन्द्र चौधरी का गाँव के ही एक दूसरे पक्ष से कोई पुराना विवाद चला आ रहा है। कल रात को भी शराब को लेकर दोनों पक्षों में विवाद बहसबाजी से शुरू होकर मारपीट में बदल गया। मुरादनगर थाना प्रभारी ओपी सिंह ने बताया कि शराब पीकर गाली-गलौच को लेकर विवाद हुआ था। एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हमला बोल दिया। हमले में एक महिला समेत चार लोग घायल हो गए। घायलों को गाजियाबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टरों ने दो लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दे दी है। थाना प्रभारी ने बताया कि जितेन्द्र चौधरी की ओर से आधा दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ तहरीर दी गई है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। उन्होंने बताया कि आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा। गांव में कानून व्यवस्था को भंग करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्ती से पेश आएगी। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस बल को तैनात किया गया है।


हॉटस्पॉट क्षेत्र में स्वास्थ्य टीम ने की जांच

हॉट स्पॉट क्षेत्र में जांच करने पहुंची स्वास्थ्य केंद्र की टीम


अझुवा कौशाम्बी। अझुवा कस्बे के एक ब्यक्ति को इलाज के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उस क्षेत्र को प्रशासन ने सील कर दिया है जिस पर आज प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कड़ा की चिकित्सकीय टीम ने दर्जनों घर के लोगो के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिया है


नगर पंचायत अझुवा वार्ड नं 8 जीटी रोड गांधीनगर के होरीलाल पड़ोस की दुकान से शैम्पू लाने गए सीढ़ियों से फिसलने पर उनके कुल्हा की हड्डी फ्रैक्चर हो गया था जिन्हें प्रयागराज के निजी चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था वहां कोरोना जांच 26 जून को पॉजिटिव आयी थी जिस पर आनन फानन नगर पंचायत प्रशासन और पुलिसकर्मियों ने उस क्षेत्र को सील करवा दिया था डॉक्टरों की टीम ने जांच भी किया था । आज 3 दिन बाद कड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर मो.आसिफ ने जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी पी एन चतुर्वेदी के निर्देशानुसार अशोक कुमार,सीमा देवी,रोहित दिलीप सीवी सिंह धर्मेंद्र कुमार जितेंद्र कुमार के साथ रैंडम जांच के लिए कोरोना संक्रमण से पीड़ित घर पहुंच कर पड़ोस के कई घरों से आधा सैकड़ा लोगों का सैम्पल लिया! लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि सरकार की गाइडलाइंस को फॉलो करने से काफी हद तक कोरोना के संक्रमण से बंचा जा सकता है।।


सन्तलाल मौर्य


योजनाओं के अभाव में झूजते पात्र लोग

जाको राखै साईंया मार सकै ना कोय


कच्चे मकान पर गिरा बड़ा सा पेड़


बाल बाल बचा 7 लोगों का परिवार


जरूरत मंदों को आवास देने की मुंह चिढ़ाती योजना


अझुवा कौशाम्बी। एक तरफ कोरोना का कहर तो दूसरी तरफ प्रकृति का कहर जरूरत मंदों गरीबों आम और खास पर कहर बन कर टूट रहा है! बीती रात नगर पंचायत अझुवा के वार्ड नं 2 अम्बेडकर नगर दलित बस्ती निवासी शरीफ पुत्र लल्लू के कच्चे घर के ऊपर  एक विशालकाय यूकेलिप्टस का बृक्ष गिर गया झोपड़ पट्टी डालकर रह रहे शरीफ का  परिवार जिनमे 4 पुत्रियां और 2 पुत्र पति और पत्नी दबने से बाल बाल बच गए। हलांकि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना सबको आवास की नगर पंचायत अझुवा में जोर शोर से चलाई गई थी फिर क्या वजह रही कि शरीफ और उसके पात्र परिवार में किसी को भी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नही दिया गया!


सूत्रों के अनुसार नगर पंचायत अझुवा में जिम्मेदारों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में जमकर धांधली की है  अपात्रों को आवास का लाभ देकर महत्वाकांक्षी योजना की  धज्जियां उड़ाई गयी हैं इसकी शिकायत मुख्यमंत्री के पोर्टल समेत कई बार समाचार पत्रों के माध्यम से उठाया गया किंतु कोई जांच नही हुई! बड़ा सवाल यही की तेज तर्रार जिलाधिकारी क्या इसकी जांच कराएंगे?


सन्तलाल मौर्य 


सैनिटाइजर ने ली 3 की जान, अन्य गंभीर

हाल ही में अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने लोगों से अपील की थी कि वे मैक्सिको की कंपनी Eskbiochem SA के बनाए सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं करें


डी.नंदनी


मैक्सिको। कोरोना का कहर पूरी दुनिया में जारी है। इससे बचाव का तरीका है लगातार हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना। लेकिन हाल ही में एक घटना सामने आई है कि हैंड सैनिटाइजर ने लोगों की जान ही ले ली। यह घटना है मेक्सिको की, जहां हैंड सैनिटाइजर पीने से तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि एक शख्स की आंखों की रोशनी चली गई। न्यू मेक्सिको के स्वास्थ्य अधिकारियों ने ये जानकारी दी है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, हैंड सैनिटाइजर पीने की घटना के बाद तीन अन्य लोग गंभीर स्थिति में हैं। ऐसा समझा जाता है कि सभी सातों लोगों ने जो हैंड सैनिटाइजर पिया था, उसमें मेथनॉल था।


मेक्सिको के हेल्थ सेक्रेटरी केथी कुंकेल ने कहा कि अगर आपको लगता है कि आपने मेथनॉल वाला हैंड सैनिटाइजर पी लिया है तो मेडिकल हेल्प लें। ऐसा समझा जाता है कि कुछ लोगों ने शराब के विकल्प के तौर पर सैनिटाइजर पिया था। केथी कुंकेल ने कहा कि मेथनॉल पीने वाले लोगों को बचाने के लिए दवा मौजूद है। लेकिन लोग जितनी जल्दी हॉस्पिटल आएंगे, रिकवरी के मौके उतने अधिक होंगे। बता दें कि मेथनॉल की अधिक मात्रा के संपर्क में आने से मिचली, सिर दर्द, वोमिटिंग, साफ दिखाई नहीं देने, कोमा में जाने या नर्वस सिस्टम को स्थाई क्षति पहुंचने की समस्या और मौत भी हो सकती है।


कई जेलों में था सैनिटाइजर बैन


कोरोना महामारी से पहले कई जेलों में सैनिटाइजर का उपयोग बैन था। जेल में ये डर बना रहता था कि कैदी इसे पी जाएंगे या आग लगाने में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। हाल ही में अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने लोगों से अपील की थी कि वे मैक्सिको की कंपनी Eskbiochem SA के बनाए सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं करें। इस सैनिटाइजर में टॉक्सिक केमिकल बताया गया था। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक, Eskbiochem SA सैनिटाइजर की जांच के दौरान पता चला कि स्किन के मेथनॉल सोखने पर नुकसान पहुंच सकता है। यह साफ नहीं हो पाया है कि मृत लोगों ने किस कंपनी के सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया था।


बिजली का बिल देख हैरान हुई तापसी

मनोज कुमार


मुंबई। तापसी पन्नू बॉलीवुड की शानदार अभिनेत्रियों में से एक हैं। ‘जुड़वा 2’, ‘मिशन मंगल’, ‘पिंक’ और ‘थप्पड़’ जैसी फिल्मों में अपने दमदार अभिनय से तापसी ने हर दिल में जगह बना ली है। तापसी सोशल मीडिया पर बेबाकी से देश से जुड़े मुद्दों पर अपनी बातें रखती हैं। हालांकि इस बार का माजरा कुछ अलग है, क्योंकि इस बार तापसी पन्नू को अपना बिजली का बिल देखकर झटका लगा है। अपने घर के बिजली का बिल देखकर हैरान और परेशान हो गई हैं। इस बात की जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के द्वारा दी है। तापसी ने सोशल मीडिया पर लिखा, “लॉकडाउन को तीन महीने हो गए और मैं यही सोच रही हूं कि मैंने अपार्टमेंट में पिछले महीने ऐसा कौन-सा उपकरण इस्तेमाल करना शुरू किया है या लाई हूं जिससे मेरा बिजली बिल इतना बढ़कर आया है।” इसके साथ ही तापसी ने अडानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई को टैग करते हुए पूछा कि आप कितना चार्ज करते हैं।


गिलानी ने हुर्रियत कांफ्रेंस से दिया इस्तीफा

श्रीनगर। इस वक़्त की बड़ी खबर जम्मू-कश्मीर से आ रही है। जहां सीनियर हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी ने ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से इस्तीफा दे दिया है। जारी ऑडियो संदेश में उन्होंने इसका ऐलान किया। सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि उन्होंने हुर्रियत से खुद को दूर कर लिया है।


सैयद अली शाह गिलानी ने कहा, “वर्तमान स्थिति को देखते हुए, मैं ऑल पार्टीज हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से इस्तीफा देता हूं। मैंने हुर्रियत के सभी घटकों को फैसले के बारे में सूचित कर दिया है। अपने ऑडियो संदेश में उन्होंने कहा है कि मौजूदा हालात में मैं आल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस से इस्तीफा देता हूं। मैने हुर्रियत के सभी घटक दलों को भी अपने फैसले से अवगत करा दिया है।


90 साल के सैयद अली शाह गिलानी कई सालों से घर के भीतर नजरबंद हैं और पिछले कुछ महीनों से उनकी तबीयत बहुत नाजुक बताई जा रही है। बता दें कि पांच अगस्त 2019 के बाद जम्मू-कश्मीर में लगातार बदल रहे राजनीतिक हालात के बीच यह अलगाववादी धड़े की सियासत का यह सबसे बड़ा घटनाक्रम है।


16487 की मौत, 50,49,048 संक्रमित

एकाउंट्स उपाध्याय


नई दिल्ली। अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से बढ़ रही है। भारत में संक्रमित लोगों की कुल संख्या साढ़ें पांच लाख के करीब पहुंच चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 5 लाख 49 हजार 48 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 16,487 की मौत हो चुकी है, जबकि तीन लाख 20 हजार लोग ठीक भी हुए हैं। पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 14 हजार 516 नए मामले सामने आए और 375 मौतें हुईं।


कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का चौथा सबसे प्रभावित देश है। अमेरिका, ब्राजील, रूस के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में भारत चौथे स्थान पर है। भारत से अधिक मामले अमेरिका (2,637,039), ब्राजील (1,345,254), रूस (634,437) में हैं। लेकिन भारत में मामले बढ़ने की रफ्तार दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है। अमेरिका और ब्राजील के बाद एक दिन में सबसे ज्यादा मामले भारत में दर्ज किए जा रहे हैं।


आंकड़ों के मुताबिक, देश में इस वक्त 2 लाख 10 हजार कोरोना के एक्टिव केस हैं। सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। महाराष्ट्र में 68 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर दिल्ली, तीसरे नंबर पर तमिलनाडु, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का चौथा स्थान है। यानी कि भारत ऐसा चौथा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है।


पूरे देश में भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन

नई दिल्ली। कोरोना की त्रासदी के चलते दुनियाभर के देश आर्थिक संकट में घिरे हैं। इस बीच राजस्व बढ़ाने के चक्कर में सरकारें तेल की कीमत लगातार बढ़ा रही हैं। जिसको लेकर कांग्रेस हमलावर हो गई है। दरअसल, देश में पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों ने जनता की कमर तोड़ दी है। जिसका विरोध देश के लगभग हर हिस्से में हो रहा है। पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में आज कांग्रेस ने देशभर में विरोध प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया। इस कड़ी में कांग्रेस कार्यकर्ता पूरे देश में विरोध प्रदर्शन करने में जुटे हैं।


इसी कड़ी में आज दिल्ली कांग्रेस के कार्यकर्ता पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे थे तभी दिल्ली पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया। देश के अलग-अलग हिस्सों में कांग्रेस का प्रदर्शन जारी है, कर्नाटक में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार साइकिल पर विरोध करने निकले जबकि पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने भी साइकिल चलाकर विरोध जताया।


विदेशी महिला से जन्मा राष्ट्रभक्त: प्रज्ञा

नई दिल्ली। भाजपा की फायरब्रांड नेता और भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बयान से फिर एक नए राजनीतिक विवाद को जन्म दे दिया है। इस बयान पर बवाल मचना तय है।









भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में पहुंचीं साध्वी ने कांग्रेस द्वारा लगातार चीन के मामले को लेकर सरकार से किए जा रहे सवाल पर मीडिया से कहा कि विदेशी महिला के गर्भ से जन्मा कोई भी व्यक्ति राष्ट्र भक्त नहीं हो सकता। उन्होंने अपने बयान में चाणक्य का हवाला देते हुए कहा कि चाणक्य ने था कि इस भूमि का पुत्र ही देश की रक्षा कर सकता है। साध्वी ने अपने बयान से कांग्रेस नेता सोनिया गांधी व राहुल गांधी पर हमला किया।








अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर साध्वी प्रज्ञा यहीं नहीं रूकी। उन्होंने कहा कि ‘कांग्रेस पार्टी में न बोलने की सभ्यता है न संस्कार और न ही देश भक्ति है। मैं कहती हूं कि देश भक्ति आएगी भी कहां से, जब इसके नेता दो-दो देश की सदस्यता लेकर रहेंगे।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शान में कसीदे पढ़ते हुए साध्वी ने कहाकि मोदी के नेतृत्व में चीन से निपटने के लिए देश तैयार है। केंद्र की मजबूत सरकार चीन को पूरी ताकत से जवाब देगी। भारत की एक इंच जमीन पर भी चीन कब्जा नहीं कर पाएगा।


महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज । आज सिविल लाइन स्थित सुभाष चौराहे पर युवा कांग्रेसियों द्वारा जमकर प्रदर्शन किया गया बढ़ते पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि को लेकर प्रयागराज युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष जितेंद्र तिवारी जी के नेतृत्व में बढ़े हुए डीजल पेट्रोल के दामों को लेकर जमकर प्रदर्शन किया गया।


नरेंद्र मोदी पेट्रोलियम मंत्री उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुर्दाबाद के गगनभेदी नारे लगाए गए पूरे सुभाष चौराहा हो पुलिस द्वारा घेरा गया था। जिला प्रशासन के सामने जमकर प्रदर्शन किया गया प्रदर्शन करने वालों में गंगा पार युवा कांग्रेस जिला अध्यक्ष जीशान अहमद जिला उपाध्यक्ष फारुख कमर फूलपुर विधानसभा अध्यक्ष करण त्रिपाठी जिला महासचिव मोनू यादव शिवराम यादव शमशाद अली मुलायम वर्मा अभिषेक हरिजन आरिफ बाबा आदि सैकड़ों युवा कांग्रेसी मौजूद रहे।


विराट-धोनी की कप्तानी में बड़ा अंतर


नई दिल्ली। भारतीय विकेटकीपर पार्थिव पटेल एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो आईपीएल में अलग-अलग टीमों को मिलाकर अलग कप्तानों के अंडर खेल चुके हैं। और पार्थिव ने बहुत ही नजदीकी से इन कप्तानों की शैली को देखा है। फिर चाहे यह एमएस धोनी रहे हों, रोहित शर्मा या फिर विराट कोहली। अब विराट कोहली ने इन तीनों ही कप्तानों की शैली के अंतर को बयां किया है। पार्थिव ने विराट के बारे में कहा है कि कोहली की खासियत यह है कि वह प्रत्येक खिलाड़ी को ऊर्जावान बनाए रखते हैं, जबकि एमएस धोनी और रोहित शर्मा ड्रेसिंग रूम को एकदम शांत रखते हैं। जब ये दोनों इर्द-गिर्द रहते हैं, तो ड्रेसिंग रूम पूरी तरह तनावमुक्त रहता है।








पूर्व विकेटकीपर ने आकाश चोपड़ा के यू-ट्यूब शो पर इन तीनों कप्तानों की शैलियों के अंतर को बयां किया। पटेल ने कहा कि कोहली की कप्तानी की शैली एकदम अलग है। वह हर बार सही होने की कोशिश करते हैं। वह आगे रहकर टीम की अगुवाई करना पसंद करते हैं और आक्रामक बने रहते हैं। यह ऐसी शैली है, जो पूरी तरह उन्हें भाती या या उनके अनुकूल है।


वहीं एमएस के बारे में पार्थिव ने कहा कि वह जानत हैं कि खिलाड़ियों से उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कैसे निकलवाना है। मैं सोचता हूं कि एमएस किसी खिलाड़ी की क्षमता के बारे में पूर्ण रूप से जानते हैं। और उन्हें यह भी पता है कि इस क्षमता को कैसे प्रदर्शन में तब्दील करना है। एमएस खिलाड़ियों की उनकी खुद की शैली में खेलने की इजाजत देते हैं और उन्हें खुद की बात कहने का स्पेस भी देते हैं।


रोहित के बारे में बात करते हुए पटेल ने कहा कि रोहित योजनाएं बहुत अच्छी बनाते हैं। वह इस पर काम करते हैं कि उस जानकारी का बेहतर इस्तेमाल कैसे करना है, जो उन्हें प्राप्त हुई है। और किस खिलाड़ी को किस भूमिका में रखना है। पार्थिव ने कहा कि अगर आप साल 2014 से अब तक उनके करियर पर नजर डालोगे, तो पाओगे कि हालिया सालों में रोहित ने बहुत ज्यादा सुधार किया है। मैन मैनेजमेंट में एमएस और रोहित दोनों ही बहुत ही शानदार हैं।







अमेरिका में मृत्यु-दर में आई कमी

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस महामारी से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं अमेरिका में कोरोना कोहराम बनकर टूट रहा है। देश में कोरोना वायरस से कभी सबसे अधिक प्रभावित रहे न्यूयॉर्क राज्य में शनिवार को इस घातक वायरस से महज पांच लोगों की मौत हुई। राज्य में 15 मार्च के बाद से एक दिन में मरने वाले लोगों की यह सबसे कम संख्या है। शनिवार से एक दिन पहले 13 लोगों की मौत हुई थी। अप्रैल में वैश्विक महामारी के चरम पर पहुंचने के दौरान, कोरोना वायरस से एक दिन में करीब 800 लोगों की मौत हो रही थी। गवर्नर एंड्रियू क्यूमो ने एनबीसी के मीट द प्रेस के साथ एक साक्षात्कार में कहा, हम अब ठीक दूसरी तरफ हैं।


राज्य के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 से हुई मौत के मामले में न्यूयॉर्क अब भी देश में सबसे ऊपर है जहां अब तक कुल 25,000 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। इन आंकड़ों में वे लोग शामिल नहीं हैं जिनके इस बीमारी से मारे जाने की आशंका है। इस बीच, 900 से कम मरीजों को कोविड-19 के चलते शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था जबकि अप्रैल में यह संख्या 18,000 से अधिक थी। गवर्नर ने आगाह किया कि अगर न्यूयॉर्कवासी लापरवाही बरतेंगे और सामाजिक दूरी एवं मास्क पहनने संबंधी नियमों का पालन नहीं करेंगे तो यह संख्या फिर से बढ़ सकती है।


सीएम ऑफिस के सामने खुद को लगाई आग

रायपुर। राजधानी से एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है सीएम भूपेश बघेल के निवास स्थल के सामने एक युवक ने खुद को आग के हवाले किया बता देकि युवक गंभीर रूप से घायल हो गया है। युवक को मेकाहारा मे भर्ती करवाया गया है। दरअसल जानकारी के मुताबिक युवक बेरोजगारी से परेशान था। अनुसार युवक का नाम हरदेव है जो कि बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहा था। मुख्यमंत्री से मिलने सीएम हाउस पहुंचा था युवक 70 प्रतिशत जल चूका है। उसे बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।


प्लाज्मा बैंक शुरू करने की कवायद

अनिल कपूर


नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा बैंक की शुरुआत की कवायत शुरू हो गई है। बता दें कि यह घोषणा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में की है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा बैंक को शुरू करने का फैसला लिया है। यह आने वाले दो दिनों में शुरू हो जाएगा। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा है कि कोरोना से ठीक हुए मरीजों से मेरा निवेदन है कि वे प्लाज्मा को जरूर डोनेट करें।


बता दें कि दिल्ली में 2889 नए लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या 83 हजार को पार कर गई है। दिल्ली सरकार की हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, 2889 नए मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या अब 83,077 हो गई है। इनमें से 52,607 लोग इलाज के बाद पूर्णतः उपचारित हो चुके हैं। वहीं 27,847 लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। इसके अलावा तीन दिनों में दिल्ली में 141 नए कंटेनमेंट जोन बढ़ गए है। बीते 26 जून से कंटेनमेंट जोन को नए सिरे से परिसीमन हो रहा है। बड़े-बड़े कंटेनमेंट जोन को माइक्रो कंटेनमेंट जोन में तब्दील किया जा रहा है। जिससे वहां बेहतर निगरानी के साथ कांटेक्ट ट्रेसिंग में आसानी हो।


हरियाणा भाजपा विधायक हुए संक्रमित

राणा ओबरॉय


थानेसर। हरियाणा की थानेसर विधानसभा से बीजेपी विधायक सुभाष सुधा कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वो दो दिन पहले ही गुरुग्राम के मेदांता द मेडिसिटी अस्पताल में दाखिल हुए थे, कोरोना संक्रमण के लक्षणों को देखते हुए उन्हे आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया है।


रविवार को बीजेपी विधायक विधायक सुभाष सुधा की कोरोना रिपॉर्ट पॉजिटिव पाई गई जिसके बाद उनका ईलाज शुरु किया गया है। उनका ईलाज मेदांता अस्पताल में चल रहा है। बताया जा रहा है कि इससे पहले उन्होने कुरुक्षेत्र में वो एक निजी अस्पताल में दाखिल हुए थे। जहां से उन्हे राहत नहीं मिली तो उन्होंने मेदांता में इलाज करवाने के लिए पहुंचे थे।


वहीं एक बड़ी लापरवाही की बात भी सामने आ रही है। विधायक सुभाष सुधा 21 जून को ही ब्रह्मसरोवर पर कार्यक्रम में शामिल हुए थे और ब्रह्मसरोवर में डुबकी लगाई थी, इस दौरान काफी संख्या में साधु संत और अफसर भी मौजूद थे। वो 22 जून को तबीयत खराब होने के चलते अस्पताल में दाखिल भी हुए थे।


'वंदे भारत मिशन’ लाखों स्वदेश लौटे

नई दिल्ली। ‘वंदे भारत मिशन’ में अब तक डेढ़ लाख से अधिक भारतीय स्वदेश वापस आ चुके हैं। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। पुरी ने लिखा “वंदे भारत मिशन की उड़ानों में डेढ़ लाख से अधिक लोग वापस आये हैं और 55 हजार से अधिक लोग देश से बाहर गये हैं।”


उन्होंने बताया कि रविवार को इस मिशन के तहत 4,784 लोग भारत लौटे। मिशन की शुरुआत कोविड-19 के कारण विदेशों में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए की गई थी। इसमें विदेशों में स्थित भारतीय दूतावासों की मदद से विशेष उड़ानों से भारतीय नागरिकों को लाया जा रहा है। वंदे भारत मिशन का चौथा चरण भी इस सप्ताह शुरू होना है। पुरी ने बताया कि चौथे चरण के बाद विदेशों से आने वाले भारतीयों की संख्या तेजी से बढ़ेगी।


महामारी की वजह से हुआ नुकसान'

  
 
 



नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा है। प्राइवेट सेक्टर भी लॉकडाउन के प्रभाव से अछूत नहीं रहा, जिस वजह से देश में लाखों लोगों का रोजगार छिन गया। अब दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इंडिया ने बेरोजगारों को एक राहत भरी खबर दी है। जिसके तहत कंपनी ने बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार देने का फैसला किया है। ये भर्तियां देश के अलग-अलग शहरों में जल्द की जाएंगी।


वर्क फ्रॉम होम की सुविधा अमेजन इंडिया के मुताबिक भारत समेत अन्य देशों में अगले कुछ महीनों में कई त्योहार और छुट्टियां पड़ेंगी। ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि साइट पर कस्टमर ट्रैफिक तेजी से बढ़ेगा।
ग्राहकों को बेहतर ऑनलाइन शॉपिंग की सुविधा मिले, इसके लिए 20 हजार अस्थायी कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी। ये नियुक्तियां कस्टमर सर्विस डिपार्टमेंट में होंगी यानी की अमेजन इंडिया के कॉल सेंटर में। अमेजन के मुताबिक उन्होंने वर्चुअल कस्टमर सर्विस प्रोग्राम के तहत भर्ती करने की योजना बनाई है, जिस वजह से कोरोना महामारी के चलते कर्मचारी घर बैठे (Work From Home) काम कर सकते हैं।


इन शहरों में होंगी भर्तियां ये भर्तियां इंदौर, भोपाल, नोएडा, कोलकाता, जयपुर, हैदराबाद, पुणे, कोयम्बटूर, चंडीगढ़, मैंगलुरु और लखनऊ में होंगी। कंपनी के मुताबिक कर्मचारियों को ग्राहकों की शॉपिंग में मदद करनी होगी। जिसके तहत उन्हें मेल, सोशल मीडिया, चैट और फोन के जरिए संवाद करना होगा। जिस वजह से इन पोस्ट की योग्यता 12वीं पास ही रखी गई है। वहीं जो उम्मीदवार इन पोस्ट के लिए अप्लाई करेंगे, उन्हें इंग्लिश, हिंदी, तमिल, कन्नड़ या तेलुगू में से एक भाषा का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।


क्या रहेगा भविष्य? अमेजन अधिकारियों के मुताबिक अगर अस्थायी पोस्ट पर नियुक्त कोई कर्मचारी अच्छा प्रदर्शन करता है, तो उसे स्थायी कर दिया जाएगा, लेकिन ये फैसला साल के अंत में होगा। उन्होंने कहा कि कंपनी का मकसद मौजूदा हालात को देखते हुए उम्मीदवारों को जॉब सिक्योरिटी देना है। इसके साथ ही लॉकडाउन में बेरोजगार हुए युवाओं को भी इन भर्तियों से लाभ मिलेगा। इसके अलावा कंपनी 2025 तक टेक्नोलॉजी, इन्फ्रास्ट्रक्चर समेत कई चीजों में निवेश करेगी। जिससे 10 लाख नई नौकरियां मिलेंगी।





'चारधाम-यात्रा' प्रारंभ करने की तैयारी

नई दिल्ली। देश भर में कोरोना वायरस थमनें का नाम नहीं ले रहा है। इस महामारी से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वहीं केंद्र सरकार ने एक जुलाई से चारधाम यात्रा शुरू करने को तैयार हो गई है। राज्य के भीतर एक जिले से दूसरे जिले में लोगों को चारधाम के दर्शन की सीमित संख्या में अनुमति ही दी जाएगी। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन ने बताया कि अभी राज्य के भीतर के लोगों को ही मंजूरी दी जा रही है। इसके लिए लोगों को सम्बन्धित धाम के जिला प्रशासन से मंजूरी लेनी होगी। सोमवार तक तीनों जिला प्रशासन वेबसाइट जारी कर देगा। स्थानीय प्रशासन से यात्रा पास जारी होने के बाद ही लोग यात्रा कर सकेंगे। अभी तक धामों से जुड़े जिलों उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली के भीतर के ही स्थानीय लोगों को ही मंजूरी दी गई थी। बदरीनाथ धाम में तो पूरे जिले को भी मंजूरी नहीं थी। 


कंटेनमेंट जोन के लोगों को नहीं होगी मंजूरी :
अभी राज्य के कंटेनमेंट जोन वाले क्षेत्र के लोगों को धामों में दर्शन की अनुमति नहीं होगी। राज्य के लोगों को अपने स्थानीय निवासी का प्रमाण के रूप में आईडी दिखानी होगी। क्वारंटाइन किए गए लोगों को भी धाम में जाने की मंजूरी नहीं होगी। राज्य से बाहर के लोगों को किसी भी तरह की मंजूरी नहीं मिलेगी।


सीमित संख्या में प्रवेश :
चारधाम में लोगों को बेहद सीमित संख्या में प्रवेश दिया जाएगा। बदरीनाथ धाम में 1200, केदारनाथ 800, गंगोत्री 600, यमुनोत्री में 400 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा। अभी भी जिलों के भीतर स्थानीय लोगों के दर्शन करने की संख्या बहुत कम रही है। नौ जून से अभी केदारनाथ धाम पहुंचने वालों की संख्या 57, बदरीनाथ धाम में 213 लोग ही दर्शन को पहुंचे जबकि गंगोत्री व यमनोत्री तो कोई पहुंचा ही नहीं। अभी यात्रा को सिर्फ राज्य के भीतर के लोगों के लिए ही शुरू किया जा रहा है। तीर्थ पुरोहितों में भी एक वर्ग यात्रा संचालन को तैयार है। अभी बेहद सीमित संख्या में लोगों को अनुमति दी जा रही है। उस संख्या के अनुरूप तैयारियां पूरी हैं। सोमवार को इसकी गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी।


महंगाई के विरुद्ध अभियान में जन आह्वान

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना संकट के बीच पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ाने के सरकार के फैसले को जनता के साथ अन्याय बताते हुए लोगो से इसके विरुद्ध शुरू किये गये अभियान में शामिल होने का आह्वान किया है।


राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा “आइए ईंधन दरों में बढ़ोतरी के खिलाफ आयोजित अभियान से जुड़ें।” इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस का इस बढ़ोतरी के खिलाफ जारी अभियान का एक घंटे चार मिनट का वीडियो पोस्ट किया है जिसमें पार्टी ने कहा है कि निष्ठुर केंद्र सरकार ने लोगो को उनके हालात पर छोड़ दिया है और लोगो के घावों पर मरहम लगाने की बजाय नमक छिड़क रही है। गौरतलब है कि पार्टी ने आज दिल्ली तथा प्रदेशो की राजधानी में ”स्पीक अप अगेंस्ट फ्यूल हाइक कैंपेन” का आयोजन कर सरकार से पेट्रोल और डीजल की बढ़ी दरे वापस लेने का आग्रह किया है।


सीए इंस्टीट्यूट के लिए जमीन की घोषणा

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ की ग्राम पंचायतों तथा नगरीय निकायों के वित्तीय प्रबंधन को मजबूत बनाने चार्टर्ड एकाउंटेंट्स से किया सहयोग का आव्हान


आईसीएआई की रायपुर शाखा को नया रायपुर में सीए की कोचिंग और इंस्टीट्यूट के कार्यालय के लिए जमीन उपलब्ध कराने की घोषणा


छत्तीसगढ़ में नए उद्योगों की संभावनाओं और औद्योगिक नीति में रियायतों की दी जानकारी


बिलासपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड एकाउंटेंटस ऑफ इंडिया से जुड़े देशभर के सीए से ग्राम पंचायतों और नगरीय प्रशासन के काम काज में कसावट और वित्तीय प्रबंधन को मजबूत बनाने के लिए सहयोग का आव्हान किया है। उन्होंने कहा है कि छत्तीसगढ़ में बहुत सी वनोपज हैं जिनकी पैदावार देश के अन्य हिस्सों में नहीं होती है। वर्तमान में इन वनोपजों के संग्रहण के बाद इनका प्रसंस्करण छतीसगढ़ के बाहर होता है। यदि इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड एकाउंटेंटस ऑफ इंडिया इनके प्रसंकरण के लिए निवेश छत्तीसगढ़ में लाने की पहल करते हैं तो इससे प्रदेश के उत्पादकों और संग्राहकों को लाभ मिलेगा और इनका निर्यात अन्य हिस्सों में करने से वहां की आवश्यकता की पूर्ति भी होगी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय से इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड एकाउंटेंटस ऑफ इंडिया द्वारा ‘रिसर्जेट छत्तीसगढ़‘ विषय पर आयोजित वेबिनार में देशभर के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को सम्बोधित किया। उन्होंने सभी को आगामी एक जुलाई को सीए दिवस की अग्रिम शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस अवसर पर आईसीएआई की रायपुर शाखा को नया रायपुर में छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों के लिए सीए की कोचिंग इंस्टीट्यूट और कार्यालय भवन के लिए जमीन उपलब्ध कराने की घोषणा की। उन्होंने इस अवसर पर वेबीनार की ई-स्मारिका का विमोचन भी किया।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आईसीएआई द्वारा छत्तीसगढ़ के एक हजार उद्यमियों को निर्यात के लिए तैयार करने में सहयोग के प्रस्ताव का स्वागत करते हुए इसके लिए सहमति प्रदान की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ के हर गांव में गौठान और चारागाह विकसित किए जा रहे हैं। इनमें एक एकड भूमि महिला स्व सहायता समूहों की आर्थिक और व्यावसायिक गतिविधियों के लिए आरक्षित की गई है। आईसीएआई उद्योगपतियों और महिला समूहों से टाईअप कर वहां अपनी आवश्यकतानुसार निर्धारित गुणवत्ता की सामग्रियां तैयार कराकर उन्हें अपने ब्रांड में बेच सकते हैं। इस काम के लिए महिला समूहों को लाभांश का हिस्सा देकर उन्हें आमदनी का जरिया उपलब्ध कराने में मदद कर सकते हैं।
श्री बधेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में औद्योगिक और व्यावसायिक गतिविधियों के लिए अनुकूल वातावरण है। यहां कुशल और अकुशल श्रमिक, भूमि, जल और विद्युत उपलब्ध है। राज्य सरकार की नई औद्योगिक नीति की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि कोलकता, सूरत और मुम्बई के बाद रायपुर में बड़ा जेम्स एण्ड ज्वेलरी पार्क बनाया जा रहा है। उन्होंने इस अवसर पर सुराजी गांव योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, लघुवनोपज संग्रहण, मनरेगा सहित कोविड नियंत्रण तथा लॉकडाउन में कृषि और उद्योगो तथा व्यापारिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल हमारा यह अनुभव रहा है कि किसान, वनवासियों की जेब में पैसा डालने से छत्तीसगढ़ वैश्विक मंदी से अछूता रहा है। इस साल भी हमने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को 5750 करोड़ रूपए की राशि दे रहे है। इसी प्रकार सर्वाधिक कीमत में तेन्दूपत्ता की खरीदी कर रहे है। इसके साथ ही राज्य में 31 लघुवनोपजों की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा रही है। इसका असर बाजार में देखने को मिला। छत्तीसगढ़ में 3 हजार ट्रेक्टर बिके, कंपनियां मांग के अनुसार ट्रेक्टर की आपूर्ति नही कर पा रहीं है। आईसीएआई के राष्ट्रीय अघ्यक्ष श्री अतुल गुप्ता ने कहा कि उनका संगठन राज्य सरकार को हर सहयोग देने के लिए तैयार है। उन्होंने नगरीय निकार्यों में नए रेवेन्यू जनरेट करने में सहयोग करने, पंचायतों के मेनेजमेंट, स्नातक के बाद छात्रों को सीए के मार्गदर्शन में तीन साल गहन प्रशिक्षण जैसे कार्य संचालित करने में राज्य सरकार के साथ सहयोग का प्रस्ताव दिया।  इस वेबीनार में देशभर के चार्टर्ड अकाउंटेंट्स शामिल हुए। उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनोज कुमार पिंगुआ और लघु वनोपज संघ के एमडी श्री संजय शुक्ला, आईसीएआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अतुल गुप्ता और पब्लिक व गवर्नमेंट फाइनेंसियल मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष श्री धीरज खंडेलवाल सहित अनेक पदाधिकारी इस कार्यक्रम में जुड़े। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की रायपुर शाखा के अध्यक्ष सीए श्री किशोर बरड़िया और सचिव श्री रवि ग्वालानी मुख्यमंत्री निवास में उपस्थित थे। वेबिनार में छत्तीसगढ़ चेम्बर्स ऑफ कामर्स, कैट और उरला इंडस्ट्रिज एसोसिएशन के पदाधिकारी भी जुड़े।


आयुर्वेद से बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता

इस समय इम्यूनिटी बढ़ाने की बातें की जा रही हैं जिससे वायरस, फ्लू और आम सर्दी-खांसी से बचा जा सके। इम्यूनिटी के लिए आयुर्वेदिक पर लोग ज्यादा विश्वास करते हैं क्योंकि इम्यूनिटी बढ़ाने हर्ब्स कारगर हो सकती हैं। हमारे आसपास ऐसी कई औषधियां हैं जिनका आयुर्वेद में काफी इस्तेमाल किया जाता है।


ये न सिर्फ हमारी इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकती हैं बल्कि हमें एंटॉ ऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लेमेट्री गुए भी प्रदान कर सकती हैं। इन्हीं में से एक ही तुलसी। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए तुलसी को काफी फायदेमंद माना जाता है। तुलसी में कई तरह के गुण होते हैं। जो हमारे स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाती है।इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए तुलसी का सेवन करने के तरीके कई हैं। साथ ही दूध (Milk) को भी इम्यूनिटी के एक प्रमुख पेय माना जाता है। दूध में कुछ चीजें मिलाकर इसका सेवन करने की भी सलाह दी जा रही है। तुलसी के फायदे कई हैं। साथ दूध भी आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। लेकिन क्या दूध और तुलसी का सेवन एक साथ किया जा सकता है। क्या इन दोनों का संयोजन हानिकारक हो सकता है? यहां जानें हर सवाल का जवाब…


रात को सोने से पहले एक गिलास दूध पीन के फायदे
दूध को किसी भी समय पीना सेहत के लिए काफी लाभदायक है. लेकिन अगर आप दूध को रात के समय पीते हैं तो यह न सिर्फ आपको एक अच्छी नींद दिला सकता है बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ भी दे सकता है। अगर आप दूध में कुछ चीजें मिलाकर इसका सेवन करते हैं जैसे हल्दी, केसर आदि तो दूध की शक्ति और भी बढ़ सकती है। ऐसे में दूध का रोजाना रात को सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। दूध आपकी हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। दूध में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।




तुलसी भी है कई गुणों से भरपूर
तुलसी ज्यादातर भारतीयों के घर में आसानी से मिल जाती है। तुलसी के बीज, पत्ते दोनों का औषधियों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए भी तुलसी का इस्तेमाल करने की बातें सामने आई हैं। तुलसी में काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इससे आपका दिल स्वस्थ रहता है। यह सांस से जुडी बीमारियों से लड़ने में भी मदद कर सकती है। तुलसी में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए इस समय दूध और तुलसी के सेवन के कई तरीके बताए जा रहे हैं। दोनों जरूर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं। साथ ही इम्यूनिटी बढ़ाने में भी काफी योगदान दे सकते हैं। लेकिन क्या दोनों का सेवन एक साथ किया जा सकता है। तुलसी में मौजूद तीखेपन के कारण, इसे दूध के साथ लेने से बचना चाहिए। दूध के साथ तुलसी का सेवन स्वास्थ्य के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। दोनों प्रकृति में अलग है। तुलसी को दूध के साथ लेने पर शरीर में गड़बड़ हो सकती है। दूध के साथ तुलसी लेने से दूध एसिडिक हो सकता है। हालाकि ऐसा कोई अध्ययन अभी तक नहीं है।


दावाः चीनी तंबू में रहस्यमय आग थी ?

नई दिल्ली। क्या भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प की वजह चीनी तंबू में लगी रहस्यमय आग थी? केंद्रीय मंत्री और पूर्व आर्मी चीफ वीके सिंह ने ऐसा दावा किया है। वीके सिंह का कहना है कि अचानक लगी आग से भारतीय सैनिक भड़क उठे थे। उनके मुताबिक, यह कह पाना मुश्किल है कि चीनी सैनिकों ने तंबू में क्या रखा हुआ था जिससे वह आग लगी। हालांकि, वीके सिंह का यह दावा अबतक सामने आ रही बात से थोड़ा अलग है। अबतक कहा जा रहा था कि चीनी सैनिकों के पीछे न हटने की बात पर भारतीय सैनिकों ने तंबू उखाड़कर फेंका था।


अब वीके सिंह ने कहा कि 15 जून की रात जब कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू पेट्रोल पॉइंट 14 पहुंचे तो पाया कि चीन ने वहां से तंबू नहीं हटाया था। वह तंबू यह देखने के लिए लगाया गया था कि भारतीय सेना पीछे गई या नहीं। फिर जब बातचीत में दोनों के पीछे जाने की बात हुई तो संतोष बाबू ने चीनी सैनिकों से उसे हटाने को कहा। वीके सिंह से मुताबिक, PLA जवान तंबू हटा रहे थे कि अचानक की उसमें आग लग गई। अबतक साफ नहीं है कि चीनियों ने तंबू में क्या रखा हुआ था। वीके सिंह कहते हैं कि इसके बाद ही सैनिकों के बीच पहले बहस हुई जो फिर हिंसक झड़प तक पहुंच गई।


पीपी 14 क्यों कब्जाना चाहता है चीन, वीके सिंह ने बताया
वीके सिंह ने एबीपी न्यूज से हुई बातचीत में कहा कि 1962 के बाद से ही पेट्रोल पॉइंट 14 (पीपी 14) हमारे पास है। अब भारत ने श्योक नदी के साथ-साथ रोड बनाई है जो दौलत बेग ओल्डी तक जाती है। पहले जो सामान 15 दिन में पहुंचता था वह इस सड़क की मदद से सिर्फ 2 दिन में पहुंच जाता है। वीके सिंह के मुताबिक, चीन की तरफ से उसे यह सड़क नहीं दिखती। इससे ही चीनी सेना में खलबली है। इस सड़क पर नजर बनी रहे इसके लिए उसने पीपी 14 पर दावा करना शुरू कर दिया, उसके सैनिकों ने आगे आने की कोशिश की जिन्हें भारतीय जवानों ने रोक दिया। वीके सिंह के मुताबिक, दोनों देशों के बीच जब बातचीत हुई तो यह हुआ कि स्थिति वैसी रहेगी जैसी 15 जून से पहले तक थी। यानी चीनी सेना को पीछे जाना था। यह भी तय हुआ था कि पीपी 14 पर, उसके पीछे 2 किलोमीटर तक और 5 किलोमीटर के दायरे में कितने-कितने सैनिक रह सकते हैं। लेकिन चीन ने इसका पालन नहीं किया।


17 मिनट में चार्ज होती है 'डिस्चार्ज बैटरी'

नई दिल्ली। शाओमी नई साल मार्च में अपनी सुपर चार्ज टर्बो फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस में पेश की थी। इस टेक्नॉलजी के इस्तेमाल से 4000mAh की पूरी तरह से डिस्चार्ज बैटरी सिर्फ 17 मिनट में चार्ज हो जाएगी। हालांकि इस टेक्नॉलजी का कमर्शल वर्जन कंपनी ने कभी लॉन्च नहीं किया। अब जानकारी के मुताबिक कंपनी जल्द ही 100W फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी लाने जा रही है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि कंपनी किस फोन में सबसे इस टेक्नॉलजी का इस्तेमाल करेगी।


Mi Mix 4 में मिल सकती है 100W चार्जिंग
कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि कंपनी Mi Mix 4 में 100W चार्जिंग का इस्तेमाल कर सकती है। हालांकि इस बारे में कंपनी की तरफ से कोई ऑफिशल जानकारी अभी तक नहीं दी गई है।


गेमिंग स्मार्टफोन्स 100W चार्जिंग
चीन के जाने माने टिप्सटर डिजिटल चैट स्टेशन के मुताबिक क्वालकॉम नया प्रोसेसर स्नैपड्रैगन 875 ला रहा है और आने वाले गेमिंग स्मार्टफोन्स में इसका इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अलावा शाओमी की 100W चार्जिंग भी गेमिंग स्मार्टफोन्स में देखने को मिलेगी। शाओमी का कहना है कि 100 W सुपर चार्ज टर्बो टेक्नॉलजी 9 फोल्ड चार्ज प्रोटेक्शन और हाई-वोल्टेज चार्ज पंप के साथ आती है। कंपनी के मुताबिक, 9 फोल्ड प्रोटेक्शन में से 7 मदरबोर्ड के लिए हैं, जबकि 2 फोल्ड प्रोटेक्शन बैटरी के लिए हैं।



  • वीवो ला रहा 120W सुपरफास्ट चार्जिंग
    सुपरफास्ट चार्जिंग के मामले में शओमी को भी कड़ी टक्कर मिल सकती है। वीवो भी नई फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी डिवेलप करने की कोशिश कर रहा है। शाओमी से भी दो कदम आगे निकलते हुए वीवो 120W फास्ट चार्जिंग टेक्नॉलजी लाने की तैयारी कर रहा है। वीवो ने पिछले साल मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस में ‘सुपर फ्लैश चार्ज’ टेक्नॉलजी पेश की थी। वीवो की इस टेक्नॉलजी से सिर्फ 13 मिनट में आपका फोन फुल चार्ज हो जाएगा।


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...