बुधवार, 3 जुलाई 2024

अमेरिका: आज मनाया जाएगा 'स्वतंत्रता दिवस'

अमेरिका: आज मनाया जाएगा 'स्वतंत्रता दिवस' 

अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी। अमेरिका, जिसे आज दुनिया का सबसे ताकतवर देश माना जाता है। क्या आप जानते हैं कि एक वक्त अमेरिका भी गुलाम था ? दुनिया के कई देशों की तरह अमेरिका पर भी लंबे समय तक राज किया गया था। अमेरिका को 4 जुलाई 1776 के दिन आजादी मिली थी। आज हम आपको बताएंगे, कि अमेरिका को किस देश ने गुलाम बनाया था और अमेरिका को आजादी कैसे मिली थी ?
भारत समेत अन्य देशों की तरह अमेरिका को भी ब्रिटेन ने लंबे समय तक गुलाम बनाकर रखा था। ब्रिटेन ने दुनिया के करीब 80 देशों और आइलैंड पर शासन किया है। ब्रिटिश साम्राज्य में दुनिया के करीब 26% इलाके इसके अधीन थे, इसमें अमेरिका देश भी शामिल था। आज भी लोगों को सुनकर आश्चर्य होता है, कि आज दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका भी कभी ब्रिटिश का गुलाम रहा है। 
बता दें, कि हर साल 4 जुलाई के दिन अमेरिका अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है। क्योंकि, 4 जुलाई 1776 को अमेरिका ने ब्रिटिश साम्राज्य से आजाद होने का ऐलान किया था। इसी के साथ ही संयुक्त राज्य अमेरिका की स्थापना हुई थी। इस बार 4 जुलाई के दिन अमेरिका 248 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। 

कैसे हुआ अमेरिका गुलाम ?

कहा जाता है कि क्रिस्टोफर कोलंबस जब भारत आने के लिए यूरोप से निकला था, उस वक्त वो गलती से अमेरिका पहुंच गया था। इसके बाद कोलंबस ने अपने लोगों को नए द्वीप के बारे में बताया था। इसके बाद ब्रिटिश लोग सबसे ज्यादा तादाद में उस आइलैंड पर पहुंचकर, अमेरिका पर कब्जा कर लिया था। भारत की तरह अमेरिका पर भी ब्रिटिश ने अत्याचार किये थे। इससे ब्रिटिश ऑफिसर्स और अमेरिकियों के बीच टकराव पैदा होने लगा था।

कैसे मिली आजादी ?

बता दें कि 4 जुलाई को अमेरिका में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। साल 1941 से इस दिन अमेरिका में 4 जुलाई को महत्वपूर्ण संघीय अवकाश घोषित होता रहा है, लेकिन स्वतंत्रता दिवस समारोह की परंपरा 18वीं शताब्दी और अमेरिकी क्रांति से चली आ रही है। 4 जुलाई, 1776 को 13 ब्रिटिश कालोनियों के प्रतिनिधियों ने स्वतंत्रता की घोषणा को अपनाया था, जो थॉमस जेफरसन द्वारा अपनाया गया एक ऐतिहासिक दस्तावेज था। इसी दिन अमेरिकी उपनिवेशों ने खुद को ब्रिटिश शासन से आजाद घोषित कर दिया था‌। 1776 से लेकर आज तक हर साल 4 जुलाई को अमेरिकी स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

आजादी के लिए वोटिंग

अमेरिकी उपनिवेशों ब्रिटेन से आजादी 4 जुलाई 1776 को मिली थी‌। लेकिन इसकी प्रक्रिया 2 जुलाई 1776 को हुई थी, जब कॉन्टिनेंटर कांग्रेस ने स्वतंत्रता की घोषणा के लिए गुप्त मतदान किया था। उस दिन 12 से 13 अमेरिकी उपनिवेशों ने आधिकारिक तौर पर ब्रिटिश शासन से अलग होने का फैसला किया था। अमेरिकी उपनिवेशों को स्वतंत्रत राज्य घोषित करने वालों में उस समय के प्रसिद्ध राजनेता और राजनयिक थॉमस जेफरसन और राजनीतिक दार्शनिक बेंजामिन फ्रैंकलिन शामिल थे। जेफरसन बाद में अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति बने थे।

बारिश के मौसम में बेहद फायदेमंद हैं 'जामुन'

बारिश के मौसम में बेहद फायदेमंद हैं 'जामुन'  

सरस्वती उपाध्याय 
बारिश के मौसम में कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो स्वाद और सेहत दोनों के लिए फायदेमंद होती हैं। इनमें से एक है जामुन, जिसे इंडियन ब्लैकबेरी या ब्लैक प्लम भी कहा जाता है। अब हम सब इसे जामुन के नाम से जानते हैं।
बरसात के मौसम में इस फल को जरूर खाना चाहिए। कई लोगों को इसका खट्टा, तीखा या फीका स्वाद पसंद नहीं आता। लेकिन यह बेर मीठा भी होता है। खासकर, मधुमेह रोगियों को ब्लैकबेरी खानी चाहिए।

जामुन में कई पोषक तत्व होते हैं

जामुन विटामिन ए और सी से भरपूर होता है। जामुन आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम का एक समृद्ध स्रोत है। इसलिए त्वचा में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए ब्लैकबेरी खाना फायदेमंद होता है।

एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर

जामुन में फ्लेवोनोइड्स, एंथोसायनिन और फेनोलिक यौगिक होते हैं। जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। यह कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाता है। इसके अलावा हृदय रोग और मधुमेह का खतरा भी कम हो जाता है।

ब्लड शुगर लेवल रखता है मेंटेन

जामुन में जम्बोलन नामक एक यौगिक होता है जो स्टार्च को चीनी में बदलने को धीमा कर देता है। जिसके कारण यह मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद बताया जाता है। ब्लैकबेरी खाने से रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने और इंसुलिन संवेदनशीलता को सामान्य करने में मदद मिलती है।

पाचन के लिए फायदेमंद

इसके अलावा जिन लोगों की पाचन क्रिया खराब है उन्हें भी रोजाना ब्लैकबेरी खानी चाहिए। इससे भोजन को पचाने वाले एंजाइम बढ़ते हैं और कब्ज जैसी समस्याओं से राहत मिलती है।

जामुन का स्वाद मुंह के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है

जामुन का तीखा स्वाद मसूड़ों में बैक्टीरिया के विकास को रोकता है और मसूड़ों की सूजन को कम करता है। मुंह के छाले और सांसों की दुर्गंध जैसी समस्याओं में जामुन बहुत फायदेमंद होता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

जिन लोगों को बारिश के दौरान त्वचा के रूखेपन और मुंहासे निकलने की समस्या होती है। उन्हें जामुन खाना चाहिए. यह रक्त को शुद्ध करता है और त्वचा के बैक्टीरिया को दूर करता है।

टी-20आई और वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान

टी-20आई और वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। टी-20 विश्व कप की जीत के बाद से भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा, विराट कोहली और रवींद्र जडेजा के टी-20आई से संन्यास का ऐलान कर दिया है।
इन तीन खिलाड़ियों के टी-20 इंटरनेशनल (T-20I) से संन्यास का ऐलान करने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम का एक तेज गेंदबाज अपने साथी खिलाड़ियों के संन्यास से बुरी तरह टूट चुका है। इन तीनों के संन्यास के बाद से इस तेज गेंदबाज ने अब टी-20आई और वनडे क्रिकेट से भी संन्यास का ऐलान कर दिया है।

रोहित-कोहली के रिटायरमेंट के बाद शमी का संन्यास !

रोहित शर्मा, विराट कोहली और रवींद्र जडेजा के टी-20आई से संन्यास का ऐलान करने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी टी-20 इंटरनेशनल और वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। मोहम्मद शमी इन दिनों चोट के चलते वनडे विश्व कप के बाद से ही टीम इंडिया से बाहर हैं और टीम में वापसी की तैयारियों में लगे हैं।
मोहम्मद शमी इस समय 33 वर्ष से अधिक हैं और इस उम्र में तीनों फॉर्मेंट खेलना आसान नहीं है। ऐसे में चोट से बचने के लिए और करियर लंबा खींचने के लिए शमी वनडे और टेस्ट से रिटायरमेंट का ऐलान कर सकते हैं।

मोहम्मद शमी वनडे और टी-20 करियर

मोहम्मद शमी ने टीम इंडिया के लिए 101 वनडे मैचों में हिस्सा लिया है और इस दौरान उन्होंने 23.7 की औसत, 25 के स्ट्राइक रेट और 5.55 की इकॉनमी रेट से 195 विकेट लिए हैं। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 57 रन देकर 7 विकेट है। वहीं, टी20 इंटरनेशनल की बात करें तो मोहम्मद शमी वनडे जितने प्रभावी नहीं रहे हैं और टीम इंडिया के लिए 23 मैचों में लगभग 9 की इकॉनमी रेट से 24 विकेट चटकाए हैं।

टेस्ट क्रिकेट खेलते रहेंगे मोहम्मद शमी 

33 साल के मोहम्मद शमी संभव है कि चोट से बचने के लिए सिर्फ टेस्ट क्रिकेट पर फोकस करें। हालांकि, इसके साथ वें इंडियन प्रीमियर लीग का हिस्सा बनें रह सकते हैं। शमी ने टीम इंडिया के लिए अब तक कुल 64 टेस्ट मैच खेले हैं।
इस दौरान उन्होंने 27.7 की औसत और 50.3 की स्ट्राइक रेट से 229 विकेट निकाले हैं। वहीं, टेस्ट क्रिकेट में मोहम्मद शमी का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन एक पारी में 56 रन देकर 6 विकेट चटकाना है। शमी ने टेस्ट मैच की एक पारी में 6 बार पांच विकेट लेने का कारनामा किया है।

जेएफ-17 विमान को हथियारों से लैस कर रहा पाक

जेएफ-17 विमान को हथियारों से लैस कर रहा पाक

अखिलेश पांडेय 
इस्लामाबाद। पाकिस्तान अपने जेएफ-17 लड़ाकू विमान को परमाणु हथियारों से लैस कर रहा है। इस विमान को चीन और पाकिस्तान ने मिल कर बनाया है। हाल ही में सामने आई एक तस्वीर में पाकिस्तान के JF-17 को सामरिक परमाणु मिसाइलों से लैस दिखाया गया है।
एक रिपोर्ट में इसकी पुष्टि भी की गई है। 2023 में किए गए फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स (FAS) के एक विश्लेषण के अनुसार , इन तस्वीरों से पता चलता है कि पाकिस्तान की एकमात्र परमाणु-सक्षम एयर-लॉन्च क्रूज़ मिसाइल को अब JF-17 जेट के साथ जोड़ा गया है। इससे पहले मिराज विमानों पर ये मिसाइल तैनात थी। पाकिस्तानी मिसाइल RA'AD का परीक्षण पहली बार 2007 में परीक्षण किया गया था। यह पारंपरिक और परमाणु हथियार दोनों को ले जाने में सक्षम है।
पाकिस्तान अपने पुराने मिराज विमानों को रिटायर करने की योजना बना रहा है। इसके बाद JF-17 इसकी वायु-परमाणु रक्षा के लिए मुख्य विमान बन जाएगा। पाकिस्तान अपने JF-17 को अपग्रेड करने पर काम कर रहा है ताकि मिराज की जगह पर इसे रमाणु हमले की भूमिकाओं में इस्तेमाल किया जा सके। फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान ने RAAD-II ALCM मिसाइल को फिर से डिजाइन किया है। इसके उद्देश्य या क्षमताओं के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। बता दें कि JF-17 थंडर को चीन में FC-1 जियाओलोंग भी कहा जाता है। यह एक हल्का, एकल इंजन वाला लड़ाकू विमान है। इसे पाकिस्तान और चीन ने मिलकर विकसित किया था। JF-17 लगभग 49 फीट लंबा है, इसके पंखों का फैलाव 31 फीट है और इसकी ऊंचाई 15.6 फीट है। यह अधिकतम 28,000 पाउंड वजन के साथ उड़ान भर सकता है।
यह कई प्रकार के हथियार ले जा सकता है। यह PL-5, PL-9 और SD-10 जैसी हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों का उपयोग कर सकता है। हवा से जमीन पर मार करने वाले मिशनों के लिए, यह बिना निर्देशित बम, लेजर-निर्देशित बम और जहाज-रोधी मिसाइलें लॉन्च कर सकता है। विमान में 23 मिमी जीएसएच-23-2 ट्विन-बैरल गन भी है। इसकी स्पीड लगभग 2,037 किलोमीटर प्रति घंटा है।
परमाणु हथियारों की होड़ में भारत और पाकिस्तान के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ती जा रही है। भारत द्वारा अपनी अग्नि मिसाइलों के कई सफल परीक्षण करने के बाद पाकिस्तान अबाबील मिसाइल विकसित कर रहा है। भारत पूरे चीन को कवर करने के लिए अपनी मिसाइल रेंज का विस्तार करने के लिए काम कर रहा है। पाकिस्तान ने सामरिक परमाणु हथियारों में भारी निवेश करते हुए अपनी परमाणु रणनीति भारत पर केंद्रित की है। 
दो फ्रंट पर खतरे को देखते हुए भारत अपनी परमाणु नीति में बदलाव कर सकता है। परंपरागत रूप से, भारत के परमाणु हथियारों को शांतिकाल के दौरान उनके लॉन्चरों से अलग रखता है। लेकिन बदली हुई परिस्थितियों में शांतिकाल में भी हथियार और लांचर को एक साथ रखने की दिशा में आगे बढ़ा जा सकता है। भारत फ्रांसीसी राफेल लड़ाकू विमानों को भी अग्रिम मोर्चों पर तैनात कर रहा है, जो परमाणु मिसाइल ले जा सकते हैं।

खेल: दुनिया के नंबर-1 ऑलराउंडर बनें हार्दिक

खेल: दुनिया के नंबर-1 ऑलराउंडर बनें हार्दिक 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। टी20 वर्ल्ड कप 2024 में शानदार प्रदर्शन से भारतीय टीम के स्टार खिलाड़ी हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव और जसप्रीत बुमराह को टी20 रैंकिंग में फायदा हुआ है। हार्दिक संयुक्त रूप से दुनिया के नंबर-1 ऑलराउंडर बन गए हैं।
वहीं, कुलदीप यादव की टॉप-10 गेंदबाजों में एंट्री हो गई है। जसप्रीत बुमराह ने 12 स्थान की छलांग लगाई है। अर्शदीप सिंह करियर के सर्वश्रेष्ठ रैंक पर पहुंच गए हैं। आईसीसी ने बुधवार (3 जून) को इसकी जानकारी दी।
हार्दिक पंड्या दो पायदान ऊपर चढ़कर श्रीलंका के स्टार वानिंदु हसरंगा के साथ नंबर-1 ऑलराउंडर बन गए हैं। टी20 वर्ल्ड कप 2024 के फाइनल में हेनरिक क्लासेन और डेविड मिलर के महत्वपूर्ण विकेट लेकर बड़ा योगदान देने वाले इस ऑलराउंडर ने बल्ले और गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया और में नंबर 1 ऑलराउंडर बनने वाले पहले भारतीय बन गए। टी20 ऑलराउंडर रैंकिंग के शीर्ष 10 में और भी बदलाव हुए हैं। मार्कस स्टोइनिस, सिकंदर रजा, शाकिब अल हसन और लियाम लिविंगस्टोन एक-एक स्थान ऊपर चढ़ गए हैं। मोहम्मद नबी चार स्थान नीचे खिसककर शीर्ष पांच से बाहर हो गए हैं।

जसप्रीत बुमराह की रैंकिंग

टी20 बॉलिंग रैंकिंग में एनरिक नॉर्खिया सात पायदान ऊपर चढ़कर करियर के सर्वश्रेष्ठ दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। 675 रेटिंग अंकों के साथ शीर्ष पर काबिज आदिल राशिद से ठीक पीछे हैं। टी20 विश्व कप में 15 विकेट लेकर प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहने वाले भारत के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह 12 पायदान ऊपर चढ़कर 12वें नंबर पर है। यह 2020 के अंत के बाद से उनका सर्वोच्च स्थान है।

अर्शदीप सिंह 13वें स्थान पर

कुलदीप यादव गेंदबाजी रैंकिंग में शीर्ष दस में शामिल हो गए हैं। वे तीन पायदान ऊपर चढ़कर संयुक्त रूप से आठवें स्थान पर हैं। टी-20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले अर्शदीप सिंह चार पायदान ऊपर चढ़कर करियर के सर्वश्रेष्ठ 13वें स्थान पर पहुंच गए हैं। तबरेज शम्सी पांच पायदान ऊपर चढ़कर शीर्ष 15 में पहुंच गए हैं। बल्लेबाजी रैंकिंग में शीर्ष दस में बहुत अधिक बदलाव नहीं हुआ, केवल एक मामूली बदलाव हुआ है। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एडेन मार्करम बल्ले दो पायदान नीचे आ गए।

विदेश मंत्री ने भारतीय नागरिकों का मुद्दा उठाया

विदेश मंत्री ने भारतीय नागरिकों का मुद्दा उठाया

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बुधवार को यहां रूस के अपने समकक्ष सर्गेई लावरोव के समक्ष युद्ध क्षेत्र में भारतीय नागरिकों का मुद्दा उठाया और उनकी सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का अनुरोध किया।
जयशंकर शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के वार्षिक शिखर सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करने मंगलवार को कजाखस्तान के अस्ताना पहुंचे।

लावरोव से मिले जयशंकर

जयशंकर ने 'एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ''रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से मुलाकात कर आज खुशी हुई। हमारी द्विपक्षीय साझेदारी और समकालीन मुद्दों पर व्यापक बातचीत हुई। दिसंबर 2023 में हमारी आखिरी मुलाकात के बाद से कई क्षेत्रों में हुई प्रगति पर चर्चा की।''
दोनों विदेश मंत्रियों के बीच यह मुलाकात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करने के लिए मॉस्को की प्रस्तावित यात्रा से पहले हुई है। जयशंकर ने पोस्ट में कहा, ''भारतीय नागरिकों को लेकर अपनी गंभीर चिंता जतायी, जो अभी युद्ध क्षेत्र में हैं। उनकी सुरक्षित तथा जल्द वापसी पर जोर दिया।'' उन्होंने बैठक की तस्वीरें भी पोस्ट की हैं। उन्होंने लावरोव के साथ वैश्विक सामरिक परिदृश्य पर भी चर्चा की।
इससे पहले विदेश मंत्री जयशंकर ने मंगलवार को यहां कजाखस्तान के उपप्रधानमंत्री मूरत नूरतलेउ से मुलाकात की और रणनीतिक साझेदारी के विस्तार तथा विभिन्न प्रारूपों में मध्य एशिया के साथ भारत की बढ़ती भागीदारी पर चर्चा की थी। जयशंकर ने नूरतलेउ के साथ क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। नूरतलेउ विदेश मंत्री का प्रभार भी संभाल रहे हैं।

सोरेन ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा

सोरेन ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा 

इकबाल अंसारी 
रांची। इंडिया गठबंधन के विधायक दल की बैठक में हेमंत सोरेन को फिर से विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। वर्तमान मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। हेमंत सोरेन 7 जुलाई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। 
गौरतलब है कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी ने लगभग 5 महीने पहले गिरफ्तार कर लिया था। ईडी द्वारा गिरफ्तारी से पहले ही झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने पद से इस्तीफा देते हुए चंपई सोरेन को नया मुख्यमंत्री बना दिया था। इसके बाद से हेमंत सोरेन लगातार जमानत पाने के लिए प्रयासरत थे। इसी बीच हेमंत सोरेन को झारखंड हाईकोर्ट ने जमाना दे दी थी। जेल से निकलने के बाद ही माना जा रहा था कि हेमंत सोरेन फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे। आज झारखंड के इंडिया गठबंधन दल के विधायकों की बैठक में हेमंत सोरेन को फिर से विधायक दल का नेता चुन लिया गया। इसके बाद झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। 
चंपई सोरेन के इस्तीफा देने के बाद अब हेमंत सोरेन झारखंड में नई सरकार बनाने के लिए दावा पेश करेंगे। बताया जा रहा है कि 7 जुलाई 2024 को हेमंत सोरेन नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले सकते हैं।

सीएम ने सिंचाई विभाग की समीक्षा की, निर्देश दिए

सीएम ने सिंचाई विभाग की समीक्षा की, निर्देश दिए 

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सचिवालय में सिंचाई विभाग की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए, कि शहरों के मास्टर ड्रेनेज प्लान तथा फ्लड प्लैन जोनिंग के कार्यों में तेजी लाई जाए। जल स्तर बढ़ाने के लिए बांधों से सिल्ट निकालने और ड्रेजिंग सिस्टम के लिए 02 माह के अन्दर ठोस प्लान बनाकर प्रस्तुत किये जाने के साथ पिंडर और कोसी नदी को आपस में जोड़ने के लिए राज्य स्तर पर की जाने वाली सभी कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गंगा और उसकी सहायक नदियों में शुद्ध पानी जाए, इसके लिए ऐसे नाले भी चिन्हित किये जाए जहां एसटीपी नहीं लगे हैं। घाटों के निर्माण पर विशेष ध्यान दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ सुरक्षा के कार्यों में तेजी लाई जाए। पर्वतीय क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा बढाने तथा नहरों के अनुरक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाए।
मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिए, कि जमरानी बांध बहुउद्देशीय परियोजना और सौंग बांध पेयजल परियोजना पर कार्य जल्द शुरू हो, इसके लिए सितम्बर तक सभी कार्यवाही पूर्ण की जाए। जमरानी बांध परियोजना के लिए वित्तीय वर्ष 2024-25 में 710 करोड़ रूपये के बजट का प्राविधान किया गया है।
इस परियोजना से हल्द्वानी शहर एवं उसके समीपवर्ती क्षेत्रों में 117 एम.एल.डी पैयजल की उपलब्धता, लगभग 57 हजार हैक्टैयर अतिरिक्त सिंचन क्षमता का सृजन किया जाएगा। जबकि, सौंग बांध परियोजना से देहरादून शहर एवं उपनगरीय क्षेत्रों के लिए 2053 तक की अनुमानित आबादी के लिए 150 एम.एल.डी. ग्रविटी से पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जायेगी। वित्तीय वर्ष 2024-25 में सौंग बांध के लिए 300 करोड़ के बजट का प्राविधान किया गया है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि नैनीताल जनपद के बलियानाला भूस्खलन क्षेत्र का उपचार कार्य, चमोली जनपद के हल्दापानी लॉ कॉलेज के निकट भूधसांव और भूस्खलन की रोकथाम के लिए सुरक्षात्मक कार्य और पिथौरागढ़ के धारचूला विकासखण्ड में ग्वालगांव भूस्खलन उपचार के कार्य जल्द पूर्ण किए जाएं।
बैठक में जानकारी दी गई कि स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने, पर्यटन विकास मत्स्य पालन एवं भू जल संवंर्द्धन लिए पिथौरागढ़ में थरकोट झील, चम्पावत में कोलीढ़ेक झाल अल्मोड़ा में गगास नदी पर जलाशय का निर्माण किया गया है। धारचूला में काली नदी पर स्थित घटगाढ़ नाले से भारत-नेपाल पुल तक तटबन्ध सुदृढ़ीकरण का कार्य किया गया है। राज्य के 14 महत्वपूर्ण शहरों में ड्रेनेज प्लान पर कार्य किया जा रहा है, देहरादून का सर्वे पूरा कर लिया गया है।
बैठक में उपाध्यक्ष अवस्थापना अनुश्रवण परिषद श्री विश्वास डाबर, मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव श्री आनंद बर्द्धन, प्रमुख सचिव श्री आर.के सुधांशु, सचिव श्री आर. मीनाक्षी सुंदरम, डॉ. आर. राजेश कुमार, विशेष सचिव डा. पराग मधुकर धकाते एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-257, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बृहस्पतिवार, जुलाई 04, 2024

3. शक-1945, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 39 डी.सै., अधिकतम- 25+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...