स्थानीय/प्रादेशिक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
स्थानीय/प्रादेशिक लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 23 अक्तूबर 2021

यूपी में 14 आईपीएस अधिकारियों का तबादला

यूपी में 14 आईपीएस अधिकारियों का तबादला   

संदीप मिश्रा   

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने अभी थोड़ी देर पहले प्रदेश के 14 आईपीएस अधिकारियों का तबादला किया है।  इसी क्रम में एक दर्जन जिलों के पुलिस कप्तान भी बदले गए हैं। प्रभावित अधिकारियों की लिस्ट इस प्रकार है –2009 बैच के आईपीएस सुधीर कुमार सिंह को आजमगढ़ से आगरा का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। बरेली के पुलिस अधीक्षक (क्षेत्रीय अभिसूचना) व 2013 बैच के आईपीएस अधिकारी अनुराग आर्य को पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ बनाया गया है। वर्तमान पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय पुलिस महानिदेशक, लखनऊ) व 2013 के टॉपर रहे आकाश तोमर को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहारनपुर बना के भेजा गया है। वर्तमान सेनानायक, 9वीं वाहिनी – पीएसी मुरादाबाद अनुराग वत्स कोपुलिस अधीक्षक बाराबंकी बनाया गया है। अनुराग 2013 बैच के अधिकारी हैं। वर्तमान पुलिस अधीक्षक, पीएसी मुख्यालय -लखनऊ अंकुर अग्रवाल को पुलिस अधीक्षक चंदौली बनाया गया है। अंकुर 2016 बैच के अधिकारी है। अपर पुलिस अधीक्षक (एटीएस) लखनऊ जय प्रकाश सिंह को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा बनाया गया है। जय प्रकाश 2016 बैच के आईपीएस हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक – आगरा मुनिराज जी को चुनाव सेल – मुख्यालय लखनऊ में पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। वे 2009 बैच के अधिकारी हैं। पुलिस अधीक्षक पीएसी मुख्यालय लखनऊ दिनेश त्रिपाठी को पुलिस अधीक्षक उन्नाव बनाया गया है। वे 2000 बैच के आईपीएस हैं। वर्तमान में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक – सहारनपुर पद पर नियुक्त एस चेनप्पा को पुलिस अधीक्षक (वीआईपी सुरक्षा) लखनऊ बनाया गया है। वे 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक – इटावा,बृजेश कुमार सिंह को पुलिस अधीक्षक एसटीएस बनाया गया है। वे 2000 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। पुलिस अधीक्षक – उन्नाव, अविनाश पाण्डेय को सेनानायक 38वीं वाहिनी पीएसी – अलीगढ़ बनाया गया है। वे 2015 बैच के अधिकारी हैं। पुलिस अधीक्षक बाराबंकी यमुना प्रसाद को पुलिस अधीक्षक क्षेत्रीय अभिसूचना (बरेली) बनाया गया है। वे 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। पुलिस अधीक्षक चंदौली अमित कुमार (द्वितीय) को पुलिस उपायुक्त – पुलिस कमिशनरेट गौतमबुद्ध नगर बनाया गया है। वे 2015 बैच के अधिकारी हैं। सेनानायक 38वीं वाहिनी पीएएस अलीगढ़ का ट्रांसफर निरस्त कर डॉ अखिलेश कुमार निगम को पुलिस अधीक्षक कोओपेरेटिव सेल लखनऊ पर ही यथावत रखा गया है।

माफिया से मुक्त जमीन पर बनेंगे सरकारी आवास 

अश्वनी उपाध्याय/बृजेश केसरवानी  

लखनऊ/गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार कर्मचारियों को सस्ते आवास का तोहफा देने जा रही है। मुख्तार, अतीक और बदन सिंह बद्दो जैसे तमाम माफियाओं के कब्जे से मुक्त कराई गई भूमि पर योगी सरकार कर्मचारियों के लिए आवास बनाने की तैयारी कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आवास विभाग को योजना का प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया है।

माफियाओं की ध्वस्त की गई अवैध हवेलियों पर गरीबों के आशियाने बनाने की तैयारी भी तेज कर दी गई है। शुक्रवार को अधिकारियों के साथ हुई उच्चस्तरीय बैठक में सीएम ने योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने प्रदेश में माफियाओं से खाली कराई गई जमीन पर गरीबों के आशियाने जल्द तैयार करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवास मूलभूत आवश्यकता है। हर परिवार को आवास मिलना ही चाहिए।

समूह ‘ग’ व ‘घ’ श्रेणी के कर्मचारियों को मिलेंगे मकान

माफियाओं के कब्जे से मुक्त कराई गई जमीन पर गरीबों के लिए सरकार आवास बनाएगी। समूह ‘ग’ और ‘घ’ के कर्मचारियों के लिए भी सरकार मुक्त कराई गई भूमि पर सस्ते मकान बनाएगी। मुक्त हुई भूमि पर पत्रकारों और वकीलों के लिए भी सस्ते आवास तैयार किए जाने की योजना है। सीएम ने आवास विभाग को जल्द प्रस्ताव बना कर भेजने के निर्देश दिए हैं।

धान क्रय केंद्रों को अपर जिलाधिकारी की हिदायत 
शैलेंद्र श्रीवास्तव   
आजमगढ़। अपर जिलाधिकारी आज़ाद भगत सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 की समीक्षा बैठक/कार्यशाला आयोजित की गयी।
कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 ने कहा कि खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 मे क्रय नीति का हर हाल में पालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होने सभी क्रय एजेन्सियों को निर्देश दिया कि किसी भी शिकायत को गम्भीरता से लेकर उसका तत्काल निस्तारण सुनिश्चित किया जाय। उन्होने कहा कि आगामी 01 नवम्बर से प्रारम्भ हो रहे धान क्रय के लिए सभी क्रय केन्द्र प्रातः 9ः00 बजे तक अपने निर्धारित समय पर खुल जाने चाहिए।
अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 ने सभी क्रय एजेन्सियों को निर्देश दिया कि यह सुनिश्चित करें कि सभी क्रय केन्द्र समय से खुले तथा क्रय केन्द्रों पर बैनर प्रदर्शित होना चाहिए एवं बैनर में एमएसपी एवं टोल फ्री नम्बर का प्रदर्शन स्पष्ट रूप से होना चाहिए। क्रय केन्द्र की दीवार पर आवश्यक सूचनाओं के साथ वॉल पेन्टिंग सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होने कहा कि वर्षा से धान की सुरक्षा हेतु पर्याप्त संख्या में केन्द्र पर क्रेट्स/त्रिपाल की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही क्रय केन्द्र पर धान की सफाई हेतु पॉवर डस्टर तथा विनोईंग फैन, दो जाली का छलना, दो इलेक्ट्रानिक कांटा एवं नमी मापक यंत्र की उपलब्धता सुनिश्चित होनी चाहिए। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि क्रय केन्द्र पर बांटमाप विभाग से अद्यतन मुद्रांकित/सत्यापित इलेक्ट्रानिक कांटा होना चाहिए तथा क्रय केन्द्र पर धान का मानक नमूना प्रदर्शित होना चाहिए। उन्होने कहा कि क्रय केन्द्र पर खरीद हेतु पर्याप्त संख्या में बोरे उपलब्धता होनी चाहिए। धान से भरे बोरों पर निर्धारित कोड का अंकन होना चाहिए। ई-पॉप मशीन से बॉयोमैट्रिक प्रमाणीकरण द्वारा खरीद होनी चाहिए। उन्होने कहा कि क्रय केन्द्र पर जिन किसानों ने धान बिक्री किया है, उनको नियमित भुगतान करना सुनिश्चित करकें।
अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 ने निर्देश दिया कि क्रय केन्द्र प्रभारियों द्वारा किसानों के पंजीकरण प्रपत्र/आधार कार्ड/खतौनी/बैंक पासबुक की स्वप्रमाणित छायाप्रतियां एवं किसानों का मोबाइल नम्बर संरक्षित कराना सुनिश्चित करें। क्रय केन्द्र पर घटतौली या कम भुगतान की शिकायत होने पर शिकायत की जॉच कराकर शिकायत की पुष्टि होने के उपरान्त दोषी केन्द्र प्रभारी के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि/रा0 ने निर्देश दिया कि कोविड-19 के गाइड लाइन का अनुपालन हर हाल में सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होने कहा कि प्रत्येक क्रय सेन्टर पर सेनेटाइजर/साबुन उपलब्ध होना चाहिए। इस अवसर पर जिला खाद्य विपणन अधिकारी गोविन्द कुमार उपाध्याय, सभी क्रय एजेन्सियों के प्रभारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
फैजाबाद रेलवे स्टेशन का नाम होगा अयोध्या कैंट
विशाल दत्त शर्मा   
अयोध्या/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने आज (शनिवार को) एक और बड़ा फैसला लिया है। कैबिनेट फैसले के अनुसार फैजाबाद रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर अयोध्या कैंट करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। इससे पहले 2018 में कुम्भ मेले के आयोजन से पहले योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था।दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ ने 2018 में घोषणा की थी कि फैजाबाद को अयोध्या जनपद के नाम से जाना जाएगा। इसके बाद 6 नवंबर 2018 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या करने और जिले के प्रशासनिक मुख्यालय को अयोध्या शहर में स्थानांतरित करने को मंजूरी दी। 
उसके बाद राज्य सरकार ने पूरे अयोध्या जिले में मांस और शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। वहीं उससे पहले अयोध्या के पांच किलोमीटर के दायरे में मांस और शराब प्रतिबंधित था। उसी साल अक्टूबर में इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था। इसी तरह जून 2018 में 100 साल से अधिक पुराने मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के नाम पर रखा गया था।

आज मेट्रो की येलो लाइन पर नहीं कर सकेंगे सफर  
मोहम्मद रियाज  
नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन से यात्रा करने वाले यात्रियों को रविवार को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। दिल्‍ली मेट्रो की ओर से दी गई जानकारी में कहा गया है कि मेट्रो की पीली लाइन पर बने मॉडल टाउन से लेकर विश्‍वविद्यालय मेट्रो स्‍टेशन तक मेट्रो में सफर नहीं कर पाएंगे। दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन की ओर से जारी एक ट्वीट में बताया गया कि दिल्‍ली मेट्रो की पीली लाइन पर पहले से तय किए गए मरम्‍मत कार्य के चलते मेट्रो यात्रियों को असुविधा हो सकती है। 
मेट्रो ने रविवार सुबह साढ़े 7 बजे तक यात्री सेवाओं को बंद करने का फैसला किया गया है। हालांकि इसके बाद ट्रेनें पहले की भांति चलेंगी। इतना ही नहीं जीटीबी नगर स्‍टेशन भी इस अवधि में बंद रहेगा और यहां यात्रियों को मेट्रो में सफर करने के लिए प्रवेश नहीं मिलेगा। दिल्‍ली मेट्रो की ओर से कहा गया है कि मेट्रो रेल नेटवर्क के बाकी बचे स्‍टेशनों और लाइनों पर ट्रेनों की सेवाएं सुचारू रूप से चलेंगी।

संस्था ने पेंसिल, मिष्ठान, चोकलेट का वितरण किया
बृजेश केसरवानी        
प्रयागराज। शनिवार को स्वदेश सेवा संस्थान प्रयागराज की शाखा बड़ा बघाड़ा में बच्चों के बीच रियल कॉन्सेप्ट के ओनर विनय मिश्रा ने अपना जन्मदिन मनाया। स्वदेश सेवा संस्थान के बच्चों को कॉपी, पेन, पेंसिल, मिष्ठान और चॉकलेट का वितरण किया गया और बच्चो ने बहुत ही प्रशन्नता से जन्मदिन को मनाया।
विनय ने समाज के युवाओं को संदेश दिया कि हमे भी अपने खुशियों को दूसरों के साथ बाँटना चाहिए। कार्यक्रम को सफल बनाने में एवरग्रीन एकेडमी के सोमेश सर , सूरज, तुषार, सचिन , हरिओम , प्रखर व हर्ष तोमर के उपस्तिथि में कार्यक्रम सफल हुआ।

यूपी: विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया 
विजय कुमार 
कौशाम्बी। जनपद न्यायाधीश के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में शनिवार को आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत 58 ग्राम सभा में डोर टू डोर कैम्पेन व विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया है।
सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सौजन्य से 58 ग्राम सभाओं में घर-घर जाकर विधिक साक्षरता एवं सहायता हेतू जागरूक किया गया एवं बाल विकास केन्द्र परियोजना चायल में सीडीपीओ सुदीप्ता जायसवाल, मुख्य सेविका पुष्पा, मीरा मिश्रा और आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा विधिक साक्षरता एवं जागरूकता रैली निकाली गयी।

बिहार में छठ पर्व को लेकर तैयारियां प्रारंभ हुईं
अविनाश श्रीवास्तव        
पटना। बिहार में छठ पर्व को लेकर तैयारियां प्रारंभ हो गई हैं। नगर विकास एवं आवास विभाग की कोशिश है कि व्रतियों को भगवान भास्कर को अघ्र्य देने में कोई दिक्कत नहीं हो। इसके लिए तैयारियां अभी से ही प्रारंभ कर दी गई हैं। नगर विकास एवं आवास विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि छठ महापर्व को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि पटना के पार्कों में स्थित स्थायी तालाबों को चिह्न्ति कर लिया गया है तथा अस्थायी तालाबों के निर्माण स्थलों की पहचान की जा रही है। उन्होंने बताया कि गंगा घाटों के अलावा पटना के 45 पार्कों तालाबों को चिन्हित किया गया है।

विभाग के मुताबिक राज्य के सभी नगर निकायों में मिलाकर करीब 1400 नदी घाट व तीन हजार तालाबों को साफ-सफाई कर सु²ढ़ करने के निर्देश दिए गए हैं। उनके संपर्क पथों को भी ठीक करने की कवायद प्रारंभ कर दी गई है, जिससे छठव्रतियों को आने-जाने में कष्ट नहीं हो। सभी नगर निकायों के अधिकारियों को दीपावली तक छठ घाटों तालाबों, पोखरों की अच्छे से साफ-सफाई कराने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि नवंबर के दूसरे सप्ताह में छठ पर्व को देखते हुए दीपावली से लेकर छठ पर्व तक शहरी निकायों में विशेष साफ-सफाई अभियान चलाया जाएगा। इधर, पटना नगर निगम क्षेत्र के सभी अंचल के कार्यपालक अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे चिह्न्ति पार्कों अस्थायी तालाबों को आठ नवंबर तक किसी भी हाल में महापर्व के लिए तैयार कर लें। इन स्थायी अस्थायी तालाबों में गंगा जल डाला जाएगा।

राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने बताया कि छठ महापर्व में किसी प्रकार की दिक्कत व्रतियों को नहीं हो इसके मद्देनजर तैयारी प्रारंभ कर दी गई है। उन्होंने कहा कि सड़कों सहित नदी घाटों, तालाबों को दुरूस्त कराया जा रहा है। इसके अलावे साफ-सफाई की भी व्यवस्था भी की जा रही है। यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है। इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है। ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी।

थाना दिवस पर फरियादियों की शिकायतें सुनी

बृजेश केसरवानी

प्रयागराज। मेजा कोतवाल थाना समाधान दिवस पर आज शनिवार को एसडीएम रेनु सिंह व तहसीलदार गजराज सिंह यादव द्वारा आए फरियादियों की शिकायतों को सुना गया। इस दौरान अधिकारीगणो ने आये हुए शिकायतों को बारी बारी से सुने और निष्पक्षता से निस्तारण के लिए संबंधित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। पुलिस से सम्बन्धित पत्रों का मौके पर ही निपटाया गया और शेष प्रकरणों में राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर गुणवत्ता पूर्वक निस्तारण करने के निर्देश दिए गये अधिकांश शिकायते राजस्व से जुड़े थी।वहींं अधिकारियो ने कहा कि आप सभी शिकायतोकर्ता को भी मामले की कार्यवाही से अवगत करायेगे। वहींं पुलिस मामले की शिकायतो थाना प्रभारी पंकज त्रिपाठी द्वारा सुनकर सम्बन्धित पुलिस अधिकारीगणो को त्वरित निस्तारित करने हेतु निर्देश दिए गये। शिकायतो के निस्तारण में चौकी प्रभारी जेवनिया आशीष चौबे कोहड़ार जितेन्द्र कुमार राजपूत,एसआई अतुल मिश्र एसआई संजय कुमार का. अरविन्द चौबे कानूनगो मंसूरअली,राजकुमार, लेखपाल राजकरन संदीप अन्य राजस्व एवं पुलिस प्रशासन द्वारा सहयोग किया गया।

'गंगा' की संरक्षा विषय पर संगोष्ठी का आयोजन

 बृजेश केसरवानी  

प्रयागराज। यंग लाॅयर्स एसोसिएशन, हाईकोर्ट द्वारा ‘‘मोक्षदायिनी मां गंगा की अविरल एवं निर्मल धारा व इसकी संरक्षा’’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन उत्तर मध्य सांस्कृतिक केन्द्र में किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में माननीय राज्यपाल, केरल श्री आरिफ मोहम्मद खान ने प्रतिभाग किया। मा. न्यायमूर्ती श्री सुधीर अग्रवाल, सदस्य नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मा. राज्यपाल केरल श्री आरिफ मोहम्मद खान ने अपने सम्बोधन में मोक्षदायिनी मां गंगा को अविरल एवं निर्मल बनाये रखने के लिए सभी लोगो से अपील की व सभी से इस कार्य में सहयोग का आह्वाहन किया। उन्होंने कहा कि विभिन्न तरीके से मां गंगा प्रदूषित हो रही है। जिसमें सिर्फ विकास ही एक कारक नहीं है। बल्कि हमारे-आपके द्वारा भी लगातार मां गंगा को प्रदूषित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम सबको यह प्रण लेना चाहिए कि न तो हम मां गंगा को प्रदूषित करेंगे और न ही अपने सामने किसी और को प्रदूषित करने देंगे। हमें यह समझना होगा कि पृथ्वी से हमें उतना ही लेना चाहिए। जितना हम वापस कर सकें। मा.राज्यपाल जी ने कहा कि सिर्फ सरकार व एजेंसियों को कोसने से ही गंगा की सफाई नहीं हो जायेंगी बल्कि हमें खुद भी मां गंगा की अविरलता को बनाये रखने के लिए निःस्वार्थ भाव से गंगा जी की स्वच्छता के लिए कार्य करना होगा। उन्होंने गंगा के किनारों पर बसने वाली आबादी से मां गंगा को स्वच्छ, निर्मल बनाने में साथ आने के लिए कहा, तभी गंगा की सफाई के कार्य में शत-प्रतिशत सफलता मिल पायेंगी। इस अवसर पर मा. न्यायमूर्ती श्री सुधीर अग्रवाल, सदस्य नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने कहा कि जिस प्रकार लोग अपने घरों की साफ-सफाई निरंतर करते है। उसी प्रकार से हमें मोक्षदायिनी मां गंगा के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए निरंतर साफ-सफाई का कार्य करना है। उन्होंने कहा कि हमें इस पर विचार करना होगा कि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाये बिना विकास के कार्य कैसे कराये जा सकते है। उन्होंने कहा कि यह हमारा देश है और हमारी ही गंगा है। इसलिए इसे हमकों और आपको ही बचाना होगा। आज हम सब को यह प्रण लेना होगा कि हफ्ते में एक बार मां गंगा ही नहीं, जो भी आपके आस-पास पानी के श्रोत हो। वहां पर साफ-सफाई करेंगे। इस अवसर पर श्री नरेश चन्द्र राजवंशी, वरिष्ठ अधिवक्ता इलाहाबाद हाइकोर्ट ने भी अपने विचार रखें। इस अवसर पर श्री संतोष कुमार त्रिपाठी, श्री जे.बी. सिंह, डाॅ. संतोष जैन, अधिवक्तागणों के अलावा अन्य लोग उपस्थित रहे।



सोमवार, 18 अक्तूबर 2021

कोर्ट परिसर में वकील की हत्या, आरोपी फरार

कोर्ट परिसर में वकील की हत्या, आरोपी फरार   

आदर्श श्रीवास्तव   

शाहजहांपुर। जिला शाहजहांपुर में एक दुस्‍साहिक वारदात को अंजाम देते हुए हत्‍यारों ने कचहरी परिसर के अंदर एक वकील की गोली मारकर हत्‍या कर दी। वकील की लाश अदालत की तीसरी मंजिल पर मिली है। हत्‍या के बाद कातिल मोके पर देसी पिस्‍टल फेंककर चले गए। इस घटना ने पूरे जिले में हड़कंप मचा दिया है। घटना की सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल के साथ डीएम-एसपी भी मौके पर पहुंचे। उधर, घटना से आक्रोशित वकीलों ने चौराहे पर जाम लगा दिया है। वकीलों को समझाने के लिए एसएसपी, एसपी सिटी सहित लिस के कई आला अधिकारी पहुंचे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार शाहजहांपुर के ईदगाह मोहल्ले के रहने वाले अधिवक्ता भूपेंद्र प्रताप सिंह ( उम्र 36 वर्ष) ने दो साल पहले ही कचहरी में वकालत शुरू की थी। इससे पहले यह टीचिंंग करते थे। सोमवार को भूपेंद्र सिंह की लाश अदालत की तीसरी मंजिल पर मिली। बताया जा रहा है भूपेंन्‍द्र तीसरी मंजिल पर रिकार्ड रूम में कागज चेक करने गए थे। यहां पर ज्यादा लोगों की आवा-जाही नहीं रहती है। दोपहर करीब सवा 12 बजे हमलावरों ने भूपेंद्र पर तमंचे से गोली मारी दी और फरार हो गए। उन्‍हें पीछे से गोली मारी गई है।

 कचहरी परिसर में गोली चलने से हड़कंप मच गया। तमाम वकील मौके पर दौड़कर मौके पहुंच गए। भूपेंद्र सिंह खून से लथपथ गैलरी में पड़े थे। उनकी सांसें थम चुकी थीं। शव से कुछ दूरी पर 315 बोर का तमंचा पड़ा था। पुलिस ने तुरंंत ही कचहरी के गेटों की नाकाबंदी कराकर चेकिंग कराई, पर नतीजा शून्य रहा। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। डीएम इंद्र विक्रम सिंह और एसपी एस आनंद भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने घटना के बारे में जानकारी ली। वकीलों से पूछताछ भी की। एसपी ने घटना के जल्‍द खुलासे का दावा करते हुए कई टीमों का गठन किया है।



किसानों के रेल रोको आंदोलन में प्रशासन अडा  
अकांशु उपाध्याय  
गाजियाबाद। गाजियाबाद में किसानों के रेल रोको आह्वान के चलते प्रशासन एवं रेलवे के अधिकारी पूरा दिन अलर्ट पर रहे। गाजियाबाद, साहिबाबाद, मोदीनगर व लोनी आदि रेलवे ट्रैक पर भारी पुलिस बल एवं रेलवे के अधिकारी मौजूद रहे। लोनी रेलवे स्टेशन पर पंडित सचिन शर्मा प्रदेश अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन अंबावता के रेल रोको आंदोलन के चलते क्षेत्राधिकारी लोनी अतुल कुमार सोनकर एवं लोनी प्रभारी निरीक्षक पुलिस बल के साथ मौजूद रहे। पं सचिन शर्मा एवं जिला अध्यक्ष अमित कसाना को पुलिस ने नजर बंद करके सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखीं। जिससे रेल आवागमन में कोई बाधा नही हुई।

मेरठ में रेल रोको आंदोलन रस्म अदायगी बना 

सत्येंद्र पंवार   

मेरठ। लखीमपुर कांड और कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन द्वारा किया गया ‘रेल रोको आंदोलन’ मेरठ जिले में महज रस्म अदायगी बनकर रह गया। दरअसल अन्य जिलों में किसानों द्वारा ट्रेनों को पहले से ही रोक लिए जाने के कारण मेरठ में ट्रेन नहीं पहुंचीं। इक्का-दुक्का स्थानों पर ट्रेनों के सामने रस्म अदायगी करते हुए किसानों ने सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की गिरफ्तारी और कृषि कानूनों को ‘काला कानून’ बताते हुए अविलंब वापस लिए जाने की मांग उठाई गई।

लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की गिरफ्तारी की मांग और कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन और अन्य किसान संगठनों ने सोमवार को देशभर में Kisan Protest ‘रेल रोको आंदोलन’ का ऐलान किया था। मेरठ में भी किसानों ने तीन रेलवे ट्रैक पर जाम लगाने की घोषणा की थी। जिसके चलते मेरठ का परतापुर रेलवे स्टेशन, कंकरखेड़ा रेलवे स्टेशन और सकौती रेलवे स्टेशन सोमवार की सुबह से ही छावनी में तब्दील रहे।

परतापुर रेलवे स्टेशन

सोमवार की सुबह परतापुर रेलवे स्टेशन के रेलवे ट्रैक पर किसान नेता विजयपाल घोपला, लोकदल के महासचिव सचिन शर्मा घाट, सपा नेता पवन गुर्जर, पूर्व चेयरमैन नरेंद्र चौधरी और प्रखर चौधरी सहित सैकड़ों किसानों ने रेलवे ट्रैक पर जाम लगा दिया। इस दौरान किसान नेताओं ने सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए जमकर हंगामा किया। मौके पर मौजूद पीएसी और आरपीएफ सहित परतापुर पुलिस और एसडीएम गणेश कन्नौजिया किसानों को समझाने में जुटे रहे। हालांकि दोपहर तक रेलवे ट्रैक पर कोई ट्रेन ना पहुंचने के कारण किसान कोई ट्रेन नहीं रोक सके।

कंकरखेड़ा फ्लाईओवर के नीचे

कंकरखेड़ा फ्लाईओवर के नीचे किसान नेता मनोज त्यागी, बबलू जिटौली, विनोद जिटौली, जगबीर सिंह दबथुवा और रविंद्र दौरालिया के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने रेलवे ट्रैक पर जाम लगाया। मगर पीछे से ही कोई ट्रेन ना आने के कारण यहां भी किसान दोपहर तक ट्रेन का इंतजार करते दिखाई दिए। उधर, ट्रेनों के समय पर ना पहुंचने के चलते रेलवे स्टेशन पर यात्री परेशान दिखाई दिए।


वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रामलीला का शुभारंभ किया

कौशाम्बी। कौशाम्बी में इन दिनों भक्ति की बयार चल रही है। नगर पंचायत अझुवा कार्यालय के सामने स्थित गांधी चबूतरा मैदान में बीती देर शाम सिराथू विधायक शीतला प्रसाद पटेल, उर्फ पप्पू पटेल ने गणेश पूजा ,रामलीला की मुकुट पूजन के साथ वैदिक मंत्रोच्चार के   बीच रामलीला का शुभारंभ करवाया। इसके साथ ही 10 दिनों तक चलने वाले रामलीला कार्यक्रम का शुभारंभ हो गया। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश कुशवाहा ने बताया कि नगर में 25 और 26 अक्टूबर को विशाल मेले का आयोजन होगा। जिसमें विविध प्रकार की सांस्कृतिक झांकियों का भी प्रदर्शन होगा। हलांकि कोरोना संक्रमण के चलते बीते वर्ष नगर का विशाल रामलीला -दशहरा नही हो पाया था इस वर्ष नगर पंचायत अझुवा में दशहरा और रामलीला धूमधाम पूरे लाव लश्कर के साथ मनाया जा रहा है। आयोजकों ने दशहरा और रामलीला की तैयारी की कमर कस ली है। जिसकी बानगी गणेश पूजन,मुकुट पूजन के समय दिखाई भी दी है। रामलीला मैदान जय श्री राम के घोष से गूंजता रहा है। मुकुट पूजन के बाद चित्रकूट धाम से आये रामलीला के उत्कृष्ट कलाकारों ने नारद मोह का सजीव मंचन किया है। लीला का मंचन देख दर्शक निहाल हो गए रात भर रामलीला मैदान जयश्री राम के घोष से गूंजता रहा है। भगवान शिव ने मां पार्वती को विस्तार से भगवान राम की कथा सुनाई कि अहंकार सभी जीवों का शत्रु होता है। चाहे भगवान हो या इंसान ,मुनि नारद ने घोर तपस्या कर रिद्धि-सिद्धि को प्राप्त कर लिया था। इसी के बल पर देव विजय प्राप्त कर लिया था। जिसका उन्हें अहंकार हो गया कि मुझसे बढ़कर कौन भगवान विष्णु ने नारद का घमंड तोड़ने के लिए लीला रची। एक सुंदर मायानगरी का निर्माण कर एक स्वयंबर का आयोजन किया। नारद मुनि भगवान विष्णु से सुंदर अक्स मांगने गए तो प्रभु ने उन्हें बंदर का रूप दे दिया। स्वयंवर में बंदर का रूप लेकर नारद मुनि इठला रहे थे। लेकिन स्वयंबर में हंसी का पात्र बन गए। इस प्रकार भगवान ने नारद मुनि का अहंकार चकनाचूर किया। जिस पर नारद मुनि ने भगवान को श्राप भी दिया। मुकुट पूजन के अवसर पर रामलीला कमेटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश कुशवाहा, डॉ भोला नाथ,शंकरलाल केसरवानी,कपूर चंद्र केसरवानी,पंकज मौर्य ,रमेश चंद्र,अनिल केसरवानी(अनिल बाबा) राजू केसरवानी, उदय अग्रहरी,ज्ञानचंद्र पाल,दौलत राम पंडा,छोटेलाल केसरवानी सहित तमाम श्रद्धालु मौजूद रहे।
सन्तलाल मौर्य 

हाईकोर्ट ने धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया         

दुष्यंत टीकम    

बिलासपुर। द मिलादुन्नबी पर्व पर बिलासपुर हाईकोर्ट ने वक्फ बोर्ड की अनुशंसा पर इस बार धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस आदेश के खिलाफ बिलासपुर के मुस्लिम समुदाय ने हाईकोर्ट की शरण ली थी। प्रकरण की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने ये कहते हुए याचिका खारिज की उन्हें इस फैसले में राहत देने का अधिकार नहीं है।

हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने अपने फैसले में कहा कि यह राज्य का नीतिगत निर्णय है। सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के तहत राज्य के नीतिगत फैसलों पर यह कोर्ट कोई निर्णय नहीं कर सकती। कोर्ट ने कहा कि इस समय कोरोना की परिस्थितियां भी हैं, लिहाजा यदि किसी जिले में जुलूस आयोजन की अनुमति दी गई और किसी में नहीं तो ऐसे में व्यवस्था का संकट खड़ा हो जाएगा। यह निर्णय प्रशासन और राज्य शासन ही ले सकता है। इस फैसले के बाद साफ हो गया कि छत्तीसगढ़ में मंगलवार को ईद पर कहीं जुलूस, रैली और बड़े आयोजन नहीं होंगे। बिलासपुर की ‘उसकी देन कमेटी’ के अध्यक्ष हाजी गफूर हुसैन ने अधिवक्ता विवेक श्रीवास्तव के माध्यम से याचिका दायर की थी। इसमें वक्फ बोर्ड एवं छत्तीसगढ़ सरकार के जारी आदेश को चुनौती दी गई थी। याचिका में बताया गया है कि वक्फ बोर्ड को मुस्लिम समुदाय की संपत्तियों की देखरेख व संरक्षित करने की जिम्मेदारी दी गई। वक्फ बोर्ड को समुदाय के धार्मिक आयोजनों पर फतवा जारी करने का कोई अधिकार नहीं है।

याचिका में बताया गया था कि राज्य शासन ने वक्फ बोर्ड की अनुशंसा पर ईद मिलादुन्नबी पर्व पर किसी प्रकार के जुलूस निकालने, जलसा व सामूहिक आयोजन नहीं करने का आदेश जारी किया है। इस आदेश के अनुसार ही कलेक्टर ने भी यहां समाज के धार्मिक आयोजन को बैन करने का आदेश दिया है। याचिका में वक्फ बोर्ड व शासन के आदेश को संवैधानिक अधिकारों का हनन बताया गया है। इस प्रकरण में सोमवार को ही याचिका दायर कर अर्जेंट हियरिंग करने की मांग की गई थी। हाईकोर्ट ने इस प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए सुनवाई की और शासन-प्रशासन का भी पक्ष सुना। सभी पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुनाया है।

याचिका में कहा गया है कि राज्य शासन व जिला प्रशासन ने धार्मिक आयोजन पर प्रतिबंध लगाकर समुदाय को उनके आयोजन से वंचित किया है। वह भी सिर्फ वक्फ बोर्ड की अनुशंसा को आधार बनाकर शासन ने आदेश जारी किया है। जबकि, वक्फ बोर्ड को इस तरह से समुदाय के धार्मिक आयोजनों पर फैसला लेने का कोई अधिकार ही नहीं है। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता रोहित शर्मा ने इस मामले में तर्क देते हुए मुस्लिम लॉ कमेटी, वक्फ बोर्ड के अधिकार क्षेत्र पर बहस की। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कोविड प्रोटोकॉल के तहत राज्य शासन व जिला प्रशासन ने प्रदेश में सभी जगहों पर नवरात्रि व दशहरा पर्व पर गरबा व उत्सव मनाने की अनुमति दी है। उसी तरह मुस्लिम समुदाय को भी निर्धारित शर्तों के तहत धार्मिक आयोजन करने की अनुमति दी जाए।

कश्मीर: आतंकी हमले में कई बिहारी मजदूर मारें गए

अविनाश श्रीवास्तव      

श्रीनगर/ पटना। कश्मीर में पिछले दिनों से लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। वहीं, इस आतंकी हमले में कश्मीर में अब तक कई बिहारी मजदूर मारे गए है। जिसके बाद उन सभी मजदूरों के परिवारों में कोहराम मच गया है। लेकिन, कश्मीर में हो रहे आतंकी हमले को लेकर अब बिहार में सियासत शुरू हो गयी है।

 कश्मीर में पिछले दिनों से लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। वहीं, इस आतंकी हमले में कश्मीर में अब तक कई बिहारी मजदूर मारे गए हैं। जिसके बाद उन सभी मजदूरों के परिवारों में कोहराम मच गया है। लेकिन, कश्मीर में हो रहे आतंकी हमले को लेकर अब बिहार में सियासत शुरू हो गयी है। बिहार में हमले और हत्या के मामले में राजनीति शुरू हो गई है। इस हमले को लेकर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी भड़क गए हैं।

इस गुस्से में जीतन राम मांझी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को निशाने पे ले लिया है।मांझी ने बड़ा हमला बोलते हुए मोदी-शाह को चुनौती दे डाली है कि यदि उनसे यह सब नहीं संभल रहा तो इसकी जिम्मेदारी बिहारियों पर छोड़ दे। वे खुद ही निपट लेंगे। दरअसल, जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर लिखा कि, “कश्मीर में लगातार हमारे निहत्थे बिहारी भाईयों की हत्या की जा रहीं है, जिससे मन व्यथित है। अगर हालात में बदलाव नहीं हो पा रहें तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमित शाह जी से आग्रह है। कश्मीर को सुधारने की जिम्मेवारी हम बिहारियों पर छोड दिजिए 15 दिन में सुधार नहीं दिया तो कहिएगा।

प्रयागराज: सिविल लाइंस पृथ्वी गार्डन में हुईं बैठक       

बृजेश केसरवानी    

प्रयागराज। महानगर उद्योग व्यापार मंडल और महिला उद्योग व्यापार मंडल संयुक्त बैठक सिविल लाइंस पृथ्वी गार्डन में हुई। जिसमें, कि बोलते हुए संगठन के जिला अध्यक्ष सुशांत कुमार केसरवानी ने कहा कि भारत सरकार को वर्ल्ड कप टी-20 में पाकिस्तान के साथ मैच का बहिष्कार करना चाहिए। जिस तरह से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद कश्मीर में गैर कश्मीरियों का कत्ल कर रहा है। उसे इस्थिति में पाकिस्तान से सभी प्रकार के रिश्ते खत्म कर लेना चाहिए। इस संबध में शीर्षक से भारत सरकार प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी समेत रक्षामंत्री, और खेल मंत्री को ट्वीट कर अपनी भावनाएं जताई और मांग की। संरक्षक राजीव कृष्ण श्रीवास्तव और वरिष्ठ महामंत्री अनुप वर्मा ने कहा की जंग और खेल एक साथ नही हो सकते जिला कोषाध्यक्ष मनीष कुमार गुप्ता ने भारत सरकार से निवेदन किया, कि क्रिकेट के खेल की जगह पाकिस्तान को आतंक का खेल ज्यादा पसंद है तो एक बार आर पार का खेल हो जाना चाहिए। नगर वरिष्ठ महामंत्री निखिल पांडेय ने कहा की किसी भी विपरीत परिस्थिति में व्यापारी समाज देश हित में सरकार के साथ खड़ा है।

आज की बैठक में मुख्य रूप से वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओम प्रकाश गुप्ता, विशाल वर्मा, नमनजोत सिंह, संजीव मेहरोत्रा, उज्जवल टंडन, संदीप जायसवाल, मुसाब खान, जैकी खान, अमित केसरवानी, आशीष केसरवानी, शरद केसरवानी, बृजेश चौरसिया, राजेंद्र अग्रवाल, मुनीमजी रचना त्रिवेदी, रोशनी अग्रवाल सारिका भरद्वाज, रीता सोढ़ी आदि पदाधिकारियों ने भी सहमति जताई और 2 मिनट का मौन रखे मारे गए। लोगो की आत्मा की शांति की प्रार्थना की।

यूपी: अस्करी को फूल माला पहनाकर नवाज़ा गया

बृजेश केसरवानी      

प्रयागराज। बख्शी बाज़ार में अन्जुमन ग़ुन्चा-ए-क़ासिमया के सदस्यों के उत्कृष्ट योगदान के लिए ओलमाओं द्वारा फूल माला पहना कर इनामात से नवाज़ा गया। अस्करी अब्बास की ओर से अन्जुमन ग़ुन्चा-ए-क़ासिमया के शायर तालिब इलाहाबादी को बेहतरीन कलाम लिखने, नौहाख्वान शादाब ज़मन को नौहे की बेहतरीन अदायगी,मिर्ज़ा अज़ादार को अन्जुमन को संचालित करने और सै.मो.अस्करी को नशरो अशात मे बेहतरीन कार्य के लिए स्व सग़ीर अब्बास स्मृति सम्मान से नवाज़ा गया। वहीं हसनैन अख्तर की ओर से ओलमाओं, शायर, नौहाख्वानों, मीडिया इन्चार्ज सै.मो.अस्करी अन्जुमन के अध्यक्ष रिज़वान जव्वादी, महासचिव मिर्ज़ा अज़ादार हुसैन को गिफ्ट पैक तो मोहम्मद नक़वी की ओर से इत्र और रुमाल भेंट किया गया। मौलाना रज़ी हैदर के हाँथो इनामात मिलने पर ओहदेदारों के चेहरे खिल गए। उपाध्यक्ष बाक़र मेंहदी व नजमुल हुसैन उप महासचिव महमूद अब्बास, बाशू भाई ,ज़ैग़म नक़वी ,हसन हैदर, दस्ता सेक्रेट्री अली रज़ा रिज़वी, मिर्ज़ा दानिश को भी इनामात से नवाज़ा गया।


कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...