रविवार, 11 फ़रवरी 2024

डीएसपी धोखे का शिकार, आईआरएस पति धोखेबाज

डीएसपी धोखे का शिकार, आईआरएस पति धोखेबाज 

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के जनपद शामली में डीएसपी के पद पर तैनात श्रेष्ठा ठाकुर एक बड़े धोखे का शिकार हुईं हैं। उनका पति बेहद शातिर और धोखेबाज निकला है, जिससे साल 2018 में श्रेष्ठा ठाकुर की शादी हुई थी। उस समय पति से पहचान ऑनलाइन मेट्रोमेनियल साइट पर हुई थी। पति ने खुद को 2008 बैच का आईआरएस अफसर बताया था। झारखंड की राजधानी रांची में बतौर डिप्टी कमिश्नर तैनात होना बताया था जबकि यह फर्जी निकला।  पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर लिया है।
जनपद के थाना भवन में सीओ के पद पर तैनात श्रेष्ठा ठाकुर ने गाजियाबाद के कौशांबी थाने में अपने पति और उसके परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है कि उनके पति रोहित राज ने ना सिर्फ शादी के समय उन्हें धोखा दिया बल्कि शादी के बाद भी उनके नाम से अब तक फर्जीवाड़ा करता रहा है। यही नहीं, श्रेष्ठा ठाकुर के नाम का गलत इस्तेमाल कर दूसरों से भी फर्जीवाड़ा करने लगा। जिस वजह से 3 साल पहले ही श्रेष्ठा ठाकुर ने पति रोहित राज से तलाक ले लिया था लेकिन अब वो धमकी दिलाने लगा था। जिस वजह से उन्होंने अब एफआईआर कराई।  अब आरोपी रोहित राज को गाजियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
एफआईआर 8 फरवरी को गाजियाबाद के कौशांबी थाने में दर्ज हुई जिसमे पति रोहित राज सिंह, ससुर वकील शरण सिंह और रोहित के भाई संजीत सिंह को नामजद किया गया है।
एफआईआर में बताया गया है कि साल 2018 में श्रेष्ठा की शादी रोहित राज से हुई थी। उस समय श्रेष्ठा के परिवार के लोगों ने मेट्रिमोनियल वेबसाइट से उनका रिश्ता तय किया था।  रांची में पोस्टेड होने का दावा करने वाले रोहित राज को जाकर देखा भी था। सबकुछ ठीक होने पर ही रिश्ता फाइनल हुआ था। फिर शादी हुई थी।  शादी के कुछ समय बाद ही श्रेष्ठा ठाकुर को पता चल गया कि उनका पति कोई IRS अफसर नहीं है।
लेकिन रिश्ता बचाए रखने के लिए वो चुप रहीं। उन्होंने उसकी हर शर्त मानी। उसके कहने पर उसके पिता के अकाउंट में अपनी सैलरी के पैसे भी डालती रहीं। लेकिन धीरे-धीरे बदलते समय के साथ रोहित राज उन्हें ज्यादा परेशान करने लगा। इन दोनों से हुए बच्चे को धमकी देकर वो ब्लैकमेल करने लगा।
सिर्फ मामला यही नहीं खत्म हुआ। उसने लखनऊ में प्लॉट खरीदने के लिए उनके अकाउंट से फर्जी तरीके से साइन करके 15 लाख रुपये भी निकाल लिए। उनके बैंक अकाउंट से लेकर एटीएम कार्ड का भी गलत तरीके से इस्तेमाल करने लगा। इसके साथ ही उनके नाम का दुरुपयोग करते हुए लोगों को झांसे में लेने लगा। इसलिए 3 साल पहले ही श्रेष्ठा ठाकुर ने पति रोहित राज से तलाक ले लिया था।
बताया जाता है कि इसके बाद भी वो परेशान करता था। धमकी देता था। उसने हाल में 6 फरवरी को गोंजा के रहने वाले अभय सिंह नामक व्यक्ति से धमकी दिलाई थी जिसमें कहा गया था कि तुम्हें सफारी से घसीट कर जान से मार देंगे, ये सब देखते हुए श्रेष्ठा ने अपनी एफआईआर में ये जिक्र किया है कि रोहित राज से उनकी जान को खतरा है।
मूल रुप से उन्नाव की रहने वाली श्रेष्ठा गाजियाबाद में रहती हैं।  उनकी जिन जिलों में पोस्टिंग होती है रोहित वहां अपना ठिकाना बना लेता है। इसके बाद उनके नाम और पद का दुरुपयोग करके लोगों से धन उगाही करता है। वह लोगों को बताता है कि श्रेष्ठा का पति है। इसकी वजह से लोग उसके झांसे में आ जाते हैं। मौजूदा समय में उसने गाजियाबाद में अपना ठिकाना बना रखा है।

मैं कांग्रेस पार्टी का नौकर नहीं था: कृष्णम आचार्य

मैं कांग्रेस पार्टी का नौकर नहीं था: कृष्णम आचार्य

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। कांग्रेस से निष्कासित किए गए आचार्य प्रमोद कृष्णम लगातार कांग्रेस के दिग्गज नेताओं पर निशाना साध रहे हैं। कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से छह सालों के लिए निष्कासित कर दिया है।
निष्कासन के बाद उन्होंने कहा," कांग्रेस की मुख्य विचारधारा सर्वधर्म समभाव है। महात्मा गांधी की सभा की शुरुआत 'रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम' गीत से होती थी।  मैं कांग्रेस पार्टी का नौकर नहीं था, और मैंने नौकरी भी नहीं मांगी थी।"
सनातन मिटाना चाहती है कांग्रेस पार्टी: आचार्य प्रमोद कृष्णम
उन्होंने आगे पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा,"रामराज्य का सपना देखने वाले पहले व्यक्ति महात्मा गांधी थे और पीएम मोदी उनके सपनों को पूरा कर रहे हैं। अगर पीएम मोदी देश के कल्याण के लिए फैसले ले रहे हैं तो इसकी सराहना की जानी चाहिए लेकिन कांग्रेस पार्टी पीएम मोदी से इतनी नफरत करती है कि अब उन्हें पूरे देश से नफरत होने लगी है। अब वे 'सनातन' को मिटाना चाहते हैं।" 
पीएम मोदी की मुलाकात को लेकर क्या बोले आचार्य कृष्णम
आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आगे कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा,"वे पीएम मोदी से इतनी नफरत करते हैं कि वे उनसे मिलने वाले किसी भी व्यक्ति से नफरत करने लगते हैं। मैं कांग्रेस के उन नेताओं को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मुझे पार्टी से निकालने में अहम भूमिका निभाई।"
आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं पर निशाना साधा
उन्होंने आगे कांग्रेस के दिग्गज नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि उनसे पूछिए कि क्या श्री राम मंदिर उद्घाटन में जाना इतना बड़ा गुनाह है। श्री कल्कि धाम के शिलान्यास में भारत के प्रधानमंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को न्योता भेजना इतना बड़ा गुनाह है कि हमारे 40 सालों की तमाम तपस्या को आप खत्म कर दें।

कांटों के बीच खिला 'गुलाब', मेहनत रंग लाई

कांटों के बीच खिला 'गुलाब', मेहनत रंग लाई

इकबाल अंसारी 
मुंबई। गुलाब सलाट बतौर एक्शन एक्टर के रूप में खुद को स्थापित करने में सफल हुए। वर्षों की कड़ी मेहनत और आर्थिक अभाव में व्यतीत बुरे दौर के सामने एक चुनौती बनकर मुकाबला करना आखिरकार सफल हुआ। देश में विभिन्न स्थानों पर विभिन्न संगठनों और संस्थाओं के द्वारा सम्मानित करते हुए इस नवीन अभिनेता को उत्साहित करने का काम किया है। 
लोकगौरव राष्ट्रीय एकात्मता, गौरव पुरस्कार अवार्ड, सीएसटी सम्मानपत्र आदि गुलाब सलाट एक्शन एक्टर को मिलें है। इस यात्रा में उनके सहयोगियों डॉक्टर शैलेंद्र पवार, सलमा खान, नासिर खान, जाकिर खान का दिल से शुक्रिया अदा किया।
इंडिया फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट, भारतीय श्रमजीवी पत्रकार महासंघ के द्वारा सम्मानपत्र दिया गया। नेशनल एचिवमेट, सीने रिपोर्टर अवार्ड, गौरव महाराष्ट्र पुरस्कार, जनगौरव कार्य दर्पण पुरस्कार, सीने मीडिया अवार्ड, वाइब्रेट गुजराती फिल्म अवार्ड से नवाजा गया है। गुलाब एक्शन एक्टर आनंद गुजरात की पैदाइश है गुलाब के माता पिता बहुत ही गरीब थे और उनका पूरा जीवन चारपाई और तंबू में गुजार दिया।
लेकिन गुलाब के पिता तम्मा भाई सलाट मजदूरी कर अपने बेटे को एक अच्छे मुकाम तक पहुंचाने की कोशिश में थे। 8 वर्ष की उम्र से ही फिल्मों से लगाव और फिल्मों में काम करने की तमन्ना। अपने बेटे को एक अकैडमी में जॉइनिंग करवा दिया, मार्शल आर्ट कराटे ऑल इंडिया वाडो काई कराटे डो एकेडमी इंडिया इंटरनेशनल में तकरीबन 5 साल लगातार मेहनत करके, अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कराटे मार्शल आर्ट में ब्लैक बेल्ट की डिग्री हासिल की। गुलाब डांस का अभ्यास बाग-बगीचों में करते थे, बिना मास्टर के जिमनास्टिक और डांस की ट्रेनिंग ली। हैदराबाद वहां से कड़ी मेहनत कर कर 1 साल के बाद डिग्री मिली पिता तम्मा भाई का देहांत हो गया। आठवीं कक्षा में पढ़ाई छोड़ना पड़ी, फिल्म प्रोड्यूसर, डायरेक्टर्स से अपने काम के लिए गुजारिश की। लेकिन नाकाम रहा अपने शहर वापस आए और फिर अपनी ट्रेनिंग करना चालू कर दिया। अपने पापा, अपने शहर का नाम रोशन करुंगा, हिम्मत नहीं हारूंगा। किस्मत ऐसी जगी कि सीरियल जय जय जग जननी दुर्गा मां, जय बजरंगबली फिल्म में काम करने की शुरुआत हुई। छोटी बड़ी 17 फिल्मों में काम मिला। हिंदी, गुजराती, भोजपुरी अप कमिंग फिल्म 'भविष्य का सुपरस्टार' जिसमें लीड हीरो का रोल करेंगे। जिसकी शूटिंग गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, बैंगलोर एंड कोलकाता में होगी।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-114, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. सोमवार, फरवरी 12, 2024

3. शक-1945, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 07:13, सूर्यास्त: 06:52।

5. न्‍यूनतम तापमान- 14 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

शनिवार, 10 फ़रवरी 2024

सीएम योगी ने अखिलेश पर तीखे तंज किए

सीएम योगी ने अखिलेश पर तीखे तंज किए

संदीप मिश्र 
लखनऊ। बजट सत्र के अंतिम दिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने बजट चर्चा का जवाब देते हुए अखिलेश यादव पर तीखे तंज किए। इशारों-इशारों में उन्होंने जयंत चौधरी के इंडिया गठबंधन छोड़ने पर भी तंज किया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में बजट चर्चा का जवाब देते हुए नेता प्रतिपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि आपने दिए फेल्योर, हमने किया सिक्योर। आपने अरबों लूटे थे, हम खरबों देने जा रहे हैं। आपके साथ तो कोई आने को भी तैयार नहीं है कि पता नहीं कब धोखा दे दें। प्रदेश में क्षमता थी, युवा प्रतिभाशाली थे लेकिन कुछ करने की जिजीविषा आपके नेतृत्व में नहीं थी। हमारी प्राथमिकता युवा, महिला, किसान, गरीब हैं, आपकी अपनी थी। इसी वजह से प्रदेश ने पांच साल तक आपको देखा और झेला है।
योगी ने कहा कि नेता विरोधी दल को बजट के आकार पर आपत्ति हो सकती है, लेकिन हमने कोरोना काल के बावजूद राज्य सकल घरेलू उत्पाद दोगुना करने में सफल रही। जो बीते 70 वर्षों में नहीं हुआ, हमने सात वर्षों में करके दिखाया है। वर्ष 2017 में यूपी देश की आबादी में नंबर वन पर था, जबकि अर्थव्यवस्था छठवें स्थान पर थी। अब हमारी अर्थव्यवस्था देश में दूसरे स्थान पर है। बीमारू राज्य की छवि से उबरने पर नेता विरोधी दल चिढ़ रहे हैं। हमने सात साल में नया टैक्स नहीं लगाया, मंडी शुल्क आधा किया। यूपी में डीजल-पेट्रोल पर टैक्स की दर देश में सबसे कम है। यह सफलता कर चोरी पर नियंत्रण पाने से मिली है। राज्य का सिबिल रेशियो ठीक हुआ है। बैंकिंग इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत हुआ है। हम 19 फरवरी को वैश्विक निवेश सम्मेलन का शिलान्यास करने जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि आप तो भारत के दुनिया की पांचवीं अर्थव्यवस्था बनने पर भी संदेह है। देश का आर्थिक शक्ति बनना भी रास नहीं आ रहा है। भरोसा रखिए, पीएम मोदी के नेतृत्व में देश जल्द दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने जा रही है। वहीं यूपी की अर्थव्यवस्था भी पूरे देश में चर्चा का केंद्र बन चुकी है। आज यूपी को बैंक लोन देने और निवेशक निवेश करने को आतुर हैं।
योगी ने मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष का जिक्र करते हुए कहा कि गरीबों का इलाज कितना आसान हुआ है, नेता विरोधी दल को पता ही नहीं है। आप तो चेहरा देखकर इलाज के लिए पैसा देते थे। अब सभी को तत्काल पैसा मिल रहा है। विपक्षी दलों के विधायकों का कोई प्रस्ताव भी नहीं रुकता है। राज्य का पैसा उसके नागरिकों को मिले, यही रामराज्य है।
नेता सदन ने कहा कि हम प्रदेश में हाइवे के साथ डिजिटल ढांचे को मजबूत करने के लिए आईवे पर काम कर रहे हैं। ओएफसी से गांवों को जोड़ रहे हैं। टेलेंट, ट्रेडिशन, ट्रेड, टूरिज्म और टेक्नोलॉजी के मंत्र पर सरकार काम कर रही है। आपकी सरकार-आपके द्वार के जरिए योजनाओं को घरों तक पहुंचा रहे हैं। फैमिली आईडी बनाकर हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी दे रहे हैं। इसी वजह से छह करोड़ लोग गरीबी रेखा से उबर पाए हैं।

अभियान: एनडी स्कूल ने सकारात्मक कदम उठाया

अभियान: एनडी स्कूल ने सकारात्मक कदम उठाया 

कौशाम्बी। भारतीय लोकतंत्र के महत्वपूर्ण समय में, राष्ट्रीय मतदाता जागरूकता अभियान के तहत एनडी स्कूल ने एक सकारात्मक कदम उठाया है। इस अभियान के माध्यम से छात्रों को मतदाता के महत्व के बारे में जागरूक करने का प्रयास किया गया। इस अभियान के अंतर्गत, विद्यालय में जागरूकता संबंधी विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। 
स्कूल के छात्रों को मतदान के महत्व और प्रक्रिया के बारे में जागरूक करने के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया है। छात्रों को इस अभियान में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया गया है। ताकि वे अपने देश के लिए जिम्मेदारी पूर्ण नागरिक बन सकें। संस्थान के प्रधानाचार्य डॉ मयंक कुमार मिश्रा ने कहा कि हमारे अभियान का उद्देश्य है कि हमारे छात्र वास्तविक लोकतंत्र में अपनी भूमिका को समझें और अपने मतदान का महत्व समझें। इस प्रयास में हमारे स्कूल ने समाज में मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। यह अभियान हमें एक सशक्त और समर्थ लोकतंत्र की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाने में मदद करेगा। अतः हम सभी छात्रों को अपील करते हैं कि वे इस अभियान में सक्रिय भाग लें। यह हमारा कर्तव्य है और हमें इसे समझना चाहिए कि हमारे मतदान से हमारे देश का भविष्य निर्धारित होता है।  इस जागरूकता अभियान में डॉ सचिन त्रिपाठी, नितेश सिंह, रणजीत सिंह , अंबुज श्रीवास्तव नारायण,शैलेंद्र सिंह, मयंक जायसवाल, प्रज्ञा शर्मा, शिवम त्रिपाठी एवं समस्त शिक्षक एवं शिक्षिकाएं उपस्थित रहे।
सुशील केसरवानी

डीएम व एसपी ने जन-शिकायतों को सुना

डीएम व एसपी ने जन-शिकायतों को सुना 

जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने थाना चरवा में सुनी जन-शिकायतें

राजस्व एवं पुलिस की संयुक्त टीम को मौके पर जाकर निस्तारित करने के दिये निर्देश

कौशाम्बी। जिलाधिकारी राजेश कुमार राय एवं पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने थाना समाधान दिवस के अवसर पर थाना चरवा में जन-शिकायतों को सुनकर सम्बन्धित अधिकारियों को तत्काल मौके पर जाकर निस्तारित करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने थाना समाधान दिवस रजिस्टर की जॉच करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को प्रतिदिन जनसुनवाई में प्राप्त प्रार्थना-पत्रों को रजिस्टर में अंकित कर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने उप जिलाधिकारी चायल सौम्य मिश्र एवं तहसीलदार को अपने क्षेत्र के समस्त बूथ का निरीक्षण कर आवश्यक मूलभूत सुविधाओं यथा-पेयजल, रैम्प एवं प्रकाश आदि सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने उपस्थित लेखपालों को राजस्व से सम्बन्धित सभी शिकायतों को मौके पर जाकर निस्तारण करने के निर्देश दिए।  
थाना चरवा में कुल 10 शिकायतें प्राप्त हुई, जिसमें से 01 शिकायतों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया, शेष शिकायतों के निस्तारण के लिए जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम को मौके पर जाकर निस्तारित करने के निर्देश दिए इस अवसर पर उप जिलाधिकारी चायल सौम्य मिश्र एवं क्षेत्राधिकारी चायल मनोज कुमार सिंह रघुवंशी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।
गणेश साहू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...