गुरुवार, 10 जून 2021

ऐसा क्या हुआ बैठक में सीएम योगी दिल्ली पहुंचे

हरिओम उपाध्याय   

नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अचानक दिल्ली दौरे पर पहुंच गए हैं. जानकारी के अनुसार, सीएम योगी दिल्ली में पहले गृह मंत्री अमित शाह और फिर शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। लखनऊ के सत्ता के गलियारों में सीएम योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं। इस यात्रा में सबसे अहम बुधवार देर रात की वो बैठक है, जिसमें सीएम योगी के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन महामंत्री सुनील बंसल शामिल हुए थे।

जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बुधवार देर रात लखनऊ में स्वतंत्र देव सिंह और सुनील बंसल के साथ बैठक हुई। इस बैठक के बारे में वैसे तो सरकार की तरफ से कहा गया कि ये हर महीने होने वाली रूटीन बैठक थी, लेकिन इस बैठक में शामिल होने के लिए सुनील बंसल अपने कार्यक्रम छोड़ हेलीकॉप्टर से वापस लखनऊ पहुंचे थे। कहा ये जा रहा है कि ये बैठक और हाल के दिनों में सियासी कयासों के बारे में रिपोर्ट देने के लिए योगी दिल्ली गए हैं।

महीने भर से सियासी अटकलों का बाजार गर्म

इसके अलावा पिछले एक महीने के घटनाक्रम की बात करें तो उत्तर प्रदेश भाजपा में तमाम सियासी अटकलों का बाजार गर्म रहा। भाजपा और आरएसएस के बड़े नेताओं ने लखनऊ का दौरा किया। मंत्रिमंडल विस्तार से लेकर संगठन में बदलाव तक की चर्चा चलती रही।

पीएम के ट्वीट को लेकर चर्चाएं

हाल में यह भी कहा गया कि पीएम मोदी और सीएम योगी के बीच कुछ गड़बड़ है। इसको बल इस बात से भी मिला जब कानपुर में एक सड़क हादसे में 17 लोग मारे गये। इसमें पहली बार ऐसा हुआ कि पीएम मोदी ने घटना के बारे में यूपी से पहले ट्वीट करके न सिर्फ संवेदना जताई, बल्कि पीएम फंड से पीड़ितों को मुआवज़ा भी देने का ऐलान किया। वो भी बिना योगी सरकार को टैग किये। इसके बाद आनन-फानन में रात में यूपी सरकार की तरफ से ट्वीट किया गया।

इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत

संभावना इस बात की भी है कि प्रदेश में हाल के दिनों में हुई चर्चाओं को लेकर सीएम योगी से बातचीत होनी है। योगी के दिल्‍ली दौरे को पंचायत चुनाव और आगे की चुनावी रणनीति पर चर्चा करने से जोड़कर भी देखा जा रहा है। एक वजह यह भी हो सकती है कि योगी यह समझना चाह रहे हों कि आखिरकार जितिन प्रसाद को शामिल करके पार्टी क्या रणनीति अपनाना चाहती है? सबसे अहम बात यह कि हाल के दिनों में ही बीएल संतोष यूपी के बारे में केंद्र को रिपोर्ट सौंपी है। उसके बारे में भी बातचीत इस अचानक यात्रा का एजेंडा हो सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...