बुधवार, 24 नवंबर 2021

खेल: टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण में जगह बनाईं

खेल: टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण में जगह बनाईं

पेरिस। क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करके शानदार गोल दागा जिससे मैनचेस्टर यूनाईटेड ने मंगलवार को विल्लारीयाल को 2-0 से हराकर चैंपियन्स लीग फुटबॉल टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण में जगह बनायी। बार्सिलोना को हालांकि, अंतिम 16 में जगह बनाने के लिये अभी इंतजार करना होगा।

उसने बेनफिका के खिलाफ मैच गोलरहित ड्रा खेला। पिछले सप्ताह ओले गनार सोलस्कायेर को बर्खास्त करने के बाद यूनाईटेड पहली बार अंतरिम कोच माइकल कैरिक की अगुवाई में खेल रहा था। रोनाल्डो के शानदार प्रयास से वह जीत से शुरुआत करने में सफल रहे। रोनाल्डो ने 78वें मिनट में गोल करके यूनाईटेड को बढ़त दिलायी जबकि जादोन सांचो ने 90वें मिनट में दूसरा गोल दागा। इससे यूनाईटेड ने ग्रुप एफ में अपना शीर्ष स्थान सुनिश्चित किया।


फिट और हेल्दी रखने में मददगार है जड़ी बूटी
मो. रियाज         हमारे आस-पास कई ऐसी चीजें हैं। जो हमें हर रोज फिट और हेल्दी रखने में मददगार हैं। बशर्ते हमें उनके बारे में पता हो। सर्दियों में शरीर को कई तरह के संक्रमणों से लड़ने की जरूरत होती है। ऐसे में हमारी डाइट सबसे अहम रोल प्ले करती है। जड़ी-बूटियों और मसालों का उपयोग सदियों से कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता रहा है। इन जड़ी बूटियों को पानी में भिगोने से उनकी उपचार शक्ति बढ़ती है। जड़ी-बूटियों का पानी तैयार करने के लिए आपको बस कुछ जड़ी-बूटियों को एक गिलास पानी में भिगोना है, इसे रात भर छोड़ देना है और सुबह इसे पीना है।

1. मैथी का पानी: मेथी के दानों का इस्तेमाल भारतीय खाना बनाने में किया जाता है और यह आमतौर पर हर घर में पाया जाता है। स्वाद में थोड़ा कड़वा, यह मसाला औषधीय गुणों का भंडार है और कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर कर सकता है। मेथी के बीज एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरे हुए हैं। मेथी का पानी पीने से आपको वजन कम करने, इम्यूनिटी को बढ़ावा देने, ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने और बेहतर पाचन को बढ़ावा देने में मदद मिल सकते हैं।

2. तुलसी का पानी: तुलसी अपने औषधीय गुणों के लिए जानी जाती है। तुलसी के एंटीबायोटिक, एंटी-फंगल और जीवाणुरोधी गुण बुखार और सर्दी को रोकने में मदद कर सकते हैं। आपकी त्वचा और बालों के लिए भी अच्छे होते हैं। बहुत से लोग सिरदर्द, दांत दर्द और गले की खराश से छुटकारा पाने के लिए भी तुलसी के पत्तों को चबाते है। दिन में तीन बार तुलसी का पानी पीने से भी एसिडिटी को दूर रखने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, तुलसी के एंटी इंफ्लेमेटरी गुण सूजन को कम करने और हृदय रोग के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

3. दालचीनी पानी: एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर दालचीनी हमारे शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाती है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। दालचीनी का पानी पाचन तंत्र में कार्बोहाइड्रेट के टूटने को कम करके ब्लड शुगर लेवल को कम करने में भी मदद करता है।दालचीनी के अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए उन्हें कुछ समय के लिए पानी में भिगोना सबसे अच्छा है।

4. धनिया के बीज का पानी: धनिया का उपयोग भोजन में एक अलग स्वाद जोड़ने के लिए किया जाता है। धनिया के बीज एंटीऑक्सिडेंट से भरे होते हैं, जो रक्त कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करके और ब्लड प्रेशर को कम करके हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।धनिया के बीज का पानी डायबिटीज को नियंत्रित करने और गठिया के लक्षणों को दूर करने में भी मदद करता है। इसके अलावा धनिया के बीज के पानी में फैटी एसिड और आवश्यक तेल होते हैं। जो भोजन को आसानी से पचाने में मदद करते हैं।

घोषणा: न्यूजीलैंड ने कुछ देशों को सूची से हटाया

घोषणा: न्यूजीलैंड ने कुछ देशों को सूची से हटाया
अखिलेश पांडेय             
वेलिंगटन। न्यूजीलैंड आगामी महीनों में अपनी सीमाएं फिर से खोलेगा। सरकार ने बुधवार को इसकी घोषणा करते हुए जनवरी से, विस्थापित निवासियों की वापसी और अप्रैल से पर्यटकों के आने की मंजूरी दे दी है। न्यूजीलैंड इसके साथ ही इंडोनेशिया, भारत और ब्राजील समेत कुछ देशों को अत्यधिक जोखिम वाले देशों की सूची से हटा रहा है। जिससे इन देशों से लोग न्यूजीलैंड आ सकेंगे।
कोविड-19 महामारी फैलने पर इस दक्षिण प्रशांत देश ने कड़े सीमा प्रतिबंध लगाए थे, पर्यटकों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी और देश लौटने वाले निवासियों के लिए सेना द्वारा संचालित किसी पृथक वास केंद्र में दो हफ्ते बिताने को अनिवार्य कर दिया था। महामारी के पहले 18 महीनों में सीमा प्रतिबंध न्यूजीलैंड को कोरोना वायरस से मुक्त बनाने के लिए अहम माने गए।
कोविड-19 प्रतिक्रिया मंत्री क्रिस हिप्किन्स ने कहा कि सरकार ने न्यूजीलैंड वासियों को महामारी में सुरक्षित रखने के लिए मुश्किल फैसले लिए। उन्होंने कहा, ”हमने माना कि यह बहुत मुश्किल रहा। परिवारों को अलग कर दिया गया। लोगों को ऐसे स्थानों पर रहना पड़ा जहां वह लंबे समय तक नहीं रहना चाहेंगे। हम इस बात से भली भांति परिचित हैं कि इन पाबंदियां का लोगों के जीवन और उनकी आजीविका पर क्या असर पड़ा है।”
सरकार की योजना के तहत देश में आने वाले सभी यात्रियों को अब भी कम से कम सात दिनों के लिए खुद को पृथक रखना होगा। कोविड-19 रोधी टीके की पूरी खुराक ले चुके न्यूजीलैंड के लोग 16 जनवरी से पृथक-वास किए बिना ऑस्ट्रेलिया से लौट सकेंगे और 13 फरवरी के बाद अन्य देशों से लौट सकेंगे। पर्यटकों तथा अन्य यात्रियों के लिए 30 अप्रैल से देश में प्रवेश के दरवाजे अलग-अलग चरणों में खोले जाएंगे।

4,100 शरणार्थियों के पुनर्वास की सीमा बढ़ाईं 
सुनील श्रीवास्तव       
वाशिंगटन डीसी। अमेरिका में संघीय अधिकारियों ने तकरीबन 4,100 अफगान शरणार्थियों के पुनर्वास की समयसीमा बढ़ा दी है। ये अफगान शरणार्थी ‘इंडियाना नेशनल गार्ड’ के ‘कैम्प एटरबरी’ प्रशिक्षण चौकी पहुंचने के दो महीने से अधिक समय बाद भी वहीं रह रहे हैं। गृह सुरक्षा विभाग के अभियान ‘एलीज वेलकम’ के संयोजक आरोन बट ने कहा कि एजेंसी के सीमित पुनर्वास संसाधन और कोरोना वायरस महामारी के कारण पुनर्वास के प्रयासों में देरी हुई है।
अधिकारियों ने बताया कि उनका लक्ष्य नवंबर की शुरुआत तक शरणार्थियों को स्थायी रूप से बसाने का था। अब इस साल के अंत तक बाकी बचे सभी शरणार्थियों को बसाने का नया लक्ष्य तय किया गया है। हालांकि, बट ने कहा कि छुट्टियों और सर्दियों के कारण यह समयसीमा 2022 की शुरुआत तक बढ़ सकती है।
इंडियानापोलिस से करीब 40 किलोमीटर दूर कैम्प एटरबरी अमेरिका में उन आठ स्थानों में से एक है जिसका इस्तेमाल रक्षा विभाग अफगानिस्तान के विशेष आव्रजक वीजा आवेदक, उनके परिवार और अन्य अफगान कर्मियों को रखने में कर रहा है। बट ने बताया कि अभी तक करीब 250 अफगान नागरिक इंडियाना में बस गए हैं।
इंडियाना के कार्यबल विकास विभाग के आयुक्त फ्रेड पायने ने बताया कि राज्य की एजेंसी शरणार्थियों को इंडियाना में नौकरियां तलाशने में भी मदद कर रही है। इंडियाना में 150 से अधिक नियोक्ताओं ने एजेंसी को बताया कि 4,000 नौकरियां शरणार्थियों के लिए उपलब्ध हैं।

‘मैसेज फॉर एवरीवन’ की सीमा बढ़ाएंगा व्हाट्सएप

‘मैसेज फॉर एवरीवन’ की सीमा बढ़ाएंगा व्हाट्सएप
अकांशु उपाध्याय            
 नई दिल्ली। व्हाट्सएप जल्द ही ‘डिलीट मैसेज फॉर एवरीवन’ फीचर की समय सीमा बढ़ाने वाला है। अभी भी केवल एक घंटे, आठ मिनट और सोलह सेकंड के बाद भेजे गए मैसेज कर सकते हैं। अब इस फीचर में क्रांति आने वाली है। जानकारी के अनुसार अब सात दिन बाद भी अपने संदेशों को शेयर कर सकते हैं।
 पर कई बार फ्रैंड्स, रिलेशनशिप और ऑफिस कुलीग्स के साथ ऐसी बातें हो जाती हैं। जिसके करने के कुछ समय बाद महसूस होता है कि इसे अब हटा देना चाहिए। ऐसे के लिए व्हाट्सएप पर डिलीट फॉर एवरीवन एक यूजफुल फीचर है। अभी तक मैसेज भेजने के केवल एक घंटे तक ही उसे हटा सकते हैं। अगर यह समय बीत गया तो मैसेज डिलीट नहीं होगा। अब इस फीचर में बड़ा बदलाव होने वाला है जो बहुत ही काम का साबित हो सकता है।
व्हाट्सएप फीचर ट्रैकर  के अनुसार भविष्य के अपडेट में समय सीमा को 7 दिन और 8 मिनट में बदलने की योजना बना रहा है। ऐसा भी हो सकता है कि व्हाट्सएप समय सीमा को हटा दे और उपयोगकर्ताओं के लिए मैसेज भेजने के घंटों, दिनों, वर्षों के बाद भी सभी के लिए संदेशों को हटाने का विकल्प खुला रखेगा। टिपस्टर की रिपोर्ट है कि फीचर अभी भी  के तौर पर शुरू किया जा सकता है।

30 नवंबर को खुलेगा 'आरंभिक सार्वजनिक निर्गम'
अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। स्टार हेल्थ एंड अलाइड इन्श्योरेंस कंपनी का 7,249 करोड़ रुपये का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) 30 नवंबर को खुलेगा। कंपनी ने आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 870 से 900 रुपये प्रति शेयर रखा है। कंपनी ने बुधवार को बताया कि तीन दिन तक चलने वाला आईपीओ दो दिसंबर को बंद होगा।
एंकर निवेशकों के लिए बोली 29 नवंबर को खुलेगी। आईपीओ के तहत 2,000 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे। इसके अलावा प्रवर्तक तथा मौजूदा शेयरधारक 58,324,225 शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) करेंगे। ओएफएस के तहत शेयरों की पेशकश करने वाले प्रवर्तकों और प्रवर्तक समूह में सेफक्रॉप इन्वेस्टमेंट्स इंडिया एलएलपी, कोणार्क ट्रस्ट, एमएमपीएल ट्रस्ट शामिल है।
वही मौजूदा निवेशक के तौर पर एपिस ग्रोथ 6 लिमिटेड, एमआईओ आईवी स्टार, नोट्रे डेम डू लैक विश्वविद्यालय, मियो स्टार, आरओसी कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड, वेंकटसामी जगन्नाथन, साई सतीश और बर्जिस मीनू देसाई अपने शेयरों की पेशकश करेंगे। स्टार हेल्थ के इस आईपीओ में कर्मचारियों के लिए 100 करोड़ रुपये के शेयरों का आरक्षण शामिल है।
कंपनी को शुरुआती शेयर बिक्री से 7,249.18 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। स्टार हेल्थ दरअसल वेस्टब्रिज कैपिटल और राकेश झुनझुनवाला जैसे निवेशकों के एक संघ के स्वामित्व वाली प्रमुख निजी स्वास्थ्य बीमा कंपनी है।
दिल्ली: वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की
अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में धीमी हवा और कम तापमान के चलते बुधवार को सुबह वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई। शहर में सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 357 रहा। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, दिल्ली में न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम का अभी तक सबसे कम तापमान है। अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।
तेज हवा चलने से रविवार तथा सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया था। मंगलवार को 24 घंटे का औसतन एक्यूआई 290 रहा था। इस महीने में दूसरी बार एक्यूआई में इतना सुधार देखा गया था, जो इससे पहले एक नवंबर को 281 रहा था। वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) बुधवार को, फरीदाबाद में 348, गाजियाबाद में 346, ग्रेटर नोएडा में 329, गुड़गांव में 308 और नोएडा में 320 रहा।
एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है। दिल्ली सरकार बुधवार को एक समीक्षा बैठक में स्कूल, कॉलेज तथा अन्य शैक्षणिक संस्थान दोबारा खोलने और सरकारी कर्मचारियों की मौजूदा ‘वर्क फ्रॉम होम’ व्यवस्था पर फैसला करेगी।
संपीड़ित प्राकृतिक गैस (सीएनजी) संचालित गैर-जरूरी सामान से लदे ट्रकों को शहर में आने की अनुमति देने पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा। सरकार ने वायु की गुणवत्ता में सुधार और श्रमिकों को हो रही असुविधा को देखते हुए, निर्माण और तोड़फोड़ से संबंधित गतिविधियों पर लगी रोक सोमवार को हटा दी थी।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-37 (वर्ष-05)
2. ब्रहस्पतिवार, नवंबर 25, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:48, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान -12 डी.सै., अधिकतम-26+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

मंगलवार, 23 नवंबर 2021

चुनाव प्रक्रिया को लेकर बैठक आयोजित की

चुनाव प्रक्रिया को लेकर बैठक आयोजित की

दुष्यंत टीकम           रायपुर। छत्तीसगढ़ के 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों की चुनाव प्रक्रिया को लेकर निर्वाचन आयोग ने बैठक आयोजित की। जिसकी अध्यक्षता मुख्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने की। इस बैठक में सभी 10 जिलों के कलेक्टर और एसपी मौजूद रहे। बैठक में आचार संहिता, प्रशासनिक, सुरक्षा और कानून व्यवस्था को लेकर भी चर्चा की गई। जिसके बाद माना जा रहा है कि 15 नगरीय निकायों में कभी भी चुनाव की घोषणा हो सकती है। क्योंकि निर्वाचन आयोग की तरफ से तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

बैठक के बाद राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने कहा कि 10 जिलों के 15 नगरीय निकाय का चुनाव संपन्न कराया जाना है। इसलिए इन सभी चुनावों के लिए अधिकारियों को तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। चुनाव आयुक्त ने कलेक्टरों और एसपी को चुनाव प्रक्रिया पूरी जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि चुनाव कोरोना नियमों के तहत होंगे। ऐसे में कोविड के सभी नियमों को फॉलों किया जाएगा।

सीएम पुष्कर की अध्यक्षता में संपन्न हुईं बैठक

पंकज कपूर         देहरादून। उत्तराखंड राज्य कैबिनेट की बैठक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। सचिवालय में आयोजित बैठक में जनहित में तमाम महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। कैबिनेट बैठक के सम्मुख कुल 30 मामले सामने आए थे जिसमें से नई खेल नीति समेत 28 प्रस्तावों पर मंत्रिमंडल ने मुहर लगा दी है। खेल नीति-2021 के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने लागई मुहर। होमस्टे योजना की नियमावली में किया गया संशोधन। केदारनाथ में निविदा को बढ़ाने का लिया फैसला।

ट्रांसमिशन लाइन निर्माण के लिए भारत सरकार की गाइडलाइन को किया गया एडॉप्ट। पीआरडी जवानों को मिलेगा 2100 रुपये वेतन बढ़ाया गया। राशन डीलरों को भी मिली बड़ी सौगात प्रति कुंतल 50 दिया जाएगा मुनाफा। स्वास्थ्य विभाग में लैब, एक्सरे टेक्नीशियन की नोकरी के लिए अनुभव की बाध्यता हुई समाप्त। उत्तराखंड खेल नीति को मिली केबिनेट से मंजूरी। राज्य परिवहन निगम की बसों में राष्ट्रीय खिलाड़ियों को मिलेगी फ्री यात्रा सुविधा। भोजन माताओ के वेतन में 1 हजार की बढ़ोतरी करने का लिया फैसला। पीआरडी जवानों का 21 सो रुपये की बृद्धि कैबिनेट ने की मंजूर। वन विकास निगम में स्केलर के पद पर एसीपी करने का लिया निर्णय।

भूमि विनियमितयीकरण को मंजूरी। पार्किंग की समस्या को दूर करने के लिए केविटी पार्किंग को मंजूरी। बद्रीनाथ में मास्टर प्लान के चलते सहमति के आधार पर सर्किल रेट के 2 गुना भुगतान किया जाएगा।मेडिकल की फीस इसी वर्ष से लागू होगी। प्रत्येक न्याय पंचायत में 6500 लाभार्थियों को मधु ग्राम के तहत प्रत्येक व्यक्ति को 20 बॉक्स दीए जाएंगे।

मेगा टैक्सटाइल पार्क पालिसी में किया गया संसोधन। इको टूरिज्म में 9 पद किये गए सृजित। लॉकडाउन के समय मे बंद शराब की दुकानों में राजस्व को किया गया माफ। सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट में संसोधन। विधानसभा सत्र के लिए पूर्व में घोषित तिथियों को लिया वापिस।

सचल पुस्तक परिक्रमा-2021 का आयोजन किया

सचल पुस्तक परिक्रमा-2021 का आयोजन किया 
बृजेश केसरवानी             
प्रयागराज। आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अन्तर्गत नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य के विभिन्न जनपदों में उत्तर प्रदेश सचल पुस्तक परिक्रमा-2021 का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम जनपद प्रयागराज में दो दिवसीय सचल पुस्तक प्रदर्शनी का आयोजन 23 व 24 नवम्बर 2021 तक किया जा रहा है। इस पुस्तक प्रदर्शनी का उद्घाटन जिलाधिकारी श्री संजय कुमार खत्री के कर-कमलों से 23 नवम्बर, 2021 को किया गया है। दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान सचल पुस्तक प्रदर्शनी प्रयागराज के विभिन्न स्थानों जैसे- इलाहाबाद विश्वविद्यालय परिसर, आनंद भवन, कलेक्टेªट परिसर आदि पर उपस्थित रहेगी। 
इस पुस्तक परिक्रमा में स्वतंत्रता संग्राम में आहूति देने वाले महापुरूषों के जीवनचरित के अतिरिक्त ज्ञान-विज्ञान एवं साहित्य की रोचक पुस्तकें उपलब्ध है। इन पुस्तकों से आमजन मानस के साथ-साथ बच्चे, विद्यार्थी, शिक्षक एवं शिक्षाविद आदि लाभान्वित होंगे। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप हिंदी-अंग्रेजी द्विभाषी पुस्तकों का विशिष्ट संकलन प्रदर्शित किया गया है। एन.बी.टी. के उत्तर प्रदेश पुस्तक प्रोन्नयन केन्द्र, लखनऊ से जुड़े अधिकारी व्यापार प्रतिनिधि/सहयोगी/वितरक/पुस्तकालयाध्यक्षों से मुलाकात/चर्चा हेतु उपलब्ध रहेंगे। उद्घाटन के अवसर पर जिलाधिकारी ने कुछ पुस्तकें भी खरीदी। नेशनल बुक ट्रस्ट इंडिया शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत पुस्तक प्रोन्नयन एवं प्रकाशन के क्षेत्र में कार्यरत है। 
नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया 51 भारतीय भाषाओं में गुणवत्तापूर्ण पुस्तकों का प्रकाशन एवं वितरण करता है। ट्रस्ट विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र सरकार के सहयोग से देशभर में सचल पुस्तक प्रदर्शनी सुदूर एवं ग्रामीण क्षेत्रों तक पुस्तकों को सुलभ करने में कार्यरत है।

माघ मेला की तैयारियों के सम्बंध में बैठक की
बृजेश केसरवानी        
प्रयागराज। मण्डलायुक्त संजय गोयल की अध्यक्षता में मंगलवार को गांधी सभागार में माघ मेला-2022 की तैयारियों की प्रगति के सम्बंध में बैठक आयोजित की गयी। बैठक में मण्डलायुक्त ने सभी सम्बंधित विभागों को माघ मेला-2022 कोे दिव्य, भव्य तथा सकुशल ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु सभी आवश्यक तैयारियों को समय से सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने पीडब्लूडी, सिंचाई विभाग, स्वास्थ्य विभाग, विद्युत विभाग, जल निगम, मेला प्राधिकरण, गंगा प्रदूषण सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को अपने विभाग से सम्बंधित कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया है। 
उन्होंने कहा कि कार्य को पूर्ण करने में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता न बरती जाये। बैठक में मेले की तैयारियों की प्रगति के बारे में जिलाधिकारी श्री संजय कुमार खत्री ने विस्तार से जानकारी दी। मण्डलायुक्त ने पार्किंग एवं ट्रैफिक व्यवस्था के सम्बंध में भी व्यवस्थित कार्य योजना के अनुसार कार्य कराये जाने के लिए कहा है। 
उन्होंने मेला क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं/स्नानार्थियों के लिए चेंजिंग रूम, पब्लिक एड्रेस सिस्टम के साथ-साथ अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के सम्बंध में भी कार्य योजना के अनुसार कार्य कराये जाने का निर्देश दिया है। माघ मेला क्षेत्र को 6 सेक्टरों में बाटा गया है। इस अवसर पर डीआईजी/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, अपर आयुक्त श्री एम.पी सिंह सहित अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

'बौद्ध धर्म सभ्यता', बिटिया की शादी: दिनेश
सत्येंद्र पंवार           
मेरठ। हिंदू धर्म को धता बताकर भारत में लगातार एससी एसटी ओबीसी समाज के लोग बोद्धिष्ट समाज तरीके से जीवन यापन कर रहे है। बामसेफ के कार्यकर्ता दिनेश कुमार ने अपनी बिटिया की शादी 'बौद्ध धर्म' तरीके से की।
बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी इस कार्यक्रम में देर रात से पहुंचे और देखकर चकित रह गए कि चारों और अरोमा गार्डन गढ रोड पर महापुरुषों की बड़ी-बड़ी तस्वीरें लगी हुई थी और बढ़ी चहल-पहल बनी हुई थी। क्रांतिकारी बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी आर डी गादरे के पहुंचते ही लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। 
आर डी गादरे ने कहां की आज हमारे भारत देश में सांप्रदायिक माहौल लड़ाई दंगे करा कर कुछ षड्यंत्रकारी देश पर कब्जा किए हुए हैं और लगातार आगे भी करने का षड्यंत्र रच रहे हैं। मूल निवासियों के हक अधिकार लोकतंत्र आज खतरे में है। भारत देश में जहां मुस्लिम समाज का उत्पीड़न उत्तर प्रदेश सरकार केन्द्र सरकार लगातार कर रही है। वहीं दूसरी ओर एससी एसटी ओबीसी के लोग हिंदू धर्म को कहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के अनुसार भी और पुराने ग्रंथों के अनुसार भी हिंदू कोई धर्म नहीं है। लेकिन आज केंद्र सरकार हो या राज्य सरकार तमाम भारत में हिंदूवादी संगठनों ने आतंक मचा के रखा है। 
चाहे एसी समाज हो एस टी समाज हो या मुस्लिम समाज हो या ओबीसी समाज हो माइनॉरिटी पर भी अत्याचार बढ़ते जा रहे हैं। आज समाज में चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। बेरोजगारी महंगाई उत्पीड़न से समाज दुखी है। आज धर्म की लड़ाई में जातियों में उलझा कर केंद्र और राज्य सरकार अपना वर्चस्व बनाए रखना चाहती है। लेकिन आज समाज के हर व्यक्ति को जागरूक होना पड़ेगा और अपने हक अधिकार के लिए भारतीय संविधान को लोकतंत्र को बचाने के लिए जागना होगा अन्यथा वह दिन दूर नहीं है। जब चारों और गुलामी की जंजीरों में हम लोग जकड़े जाएंगे। (एक और जहां कुछ असामाजिक तत्व देश में हिंदू मुस्लिम की लड़ाई झगड़े कराए जा रहे हैं। वही इस कार्यक्रम में मुस्लिम और गैर मुस्लिम का प्रेम भाव देखने की मिसाल बन गया।
कार्यक्रम में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के जिला संयोजक डॉक्टर इरशाद, राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा से डॉक्टर फारुख बहुजन, मुक्ति पार्टी के जिला अध्यक्ष ओमवीर सिंह, राष्ट्रीय किसान मोर्चा के कारी मोहम्मद इरफान, संजय कुमार, मनोज कुमार एड अतर सिंह गुप्ता, एडवोकेट तौफीक हकीमुद्दीन, काज़िम अहमद, रामकुमार बौद्ध, कमल देव यादव, बिहार प्रदेश अध्यक्ष राम शरण गौतम, सुनील सैनी, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा प्रदेश सचिव एड राहुल कुमार, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष मनमोहन सिंह, बहुजन माध्यमिक शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश अध्यक्ष डा. एस पी सिंह मास्टर, प्रमोद कुमार गौतम एड ब्रज मोहन सिंह इण्डियन लायर्स एसोसिएशन जिलाध्यक्ष आदि गणमान्य लोग शामिल रहे।

कौशाम्बी: यातायात माह-2021 का आयोजन 
राजकुमार           कौशाम्बी। महामाया राजकीय महाविद्यालय, कौशांबी में मंगलवार को यातायात पुलिस एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के संयुक्त तत्वावधान के अंतर्गत महाविद्यालय परिसर में यातायात माह-2021 का आयोजन किया गया। जिसके अंतर्गत महाविद्यालय के छात्र -छात्राओं द्वारा " सड़क सुरक्षा एवं उपाय" के विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता एवं जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ विनय कुमार सिंह प्राचार्य महामाया राजकीय महाविद्यालय कौशांबी एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रविंद्र त्रिपाठी यातायात प्रभारी द्वारा किया गया।
कार्यक्रम का शुभारंभ राधा सिंह, विभा पांडे प्रीति, कल्पना ,विकास , शिवम ,गुंजन ,उपासना आदि छात्र-छात्राओं द्वारा "सड़क सुरक्षा एवं उपाय " के विषय पर महाविद्यालय परिसर में पोस्टर प्रतियोगिता में सम्मिलित हुए। इस प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार गुंजन बी ए द्वितीय वर्ष द्वितीय पुरस्कार शिवम कुमार बी ए  तृतीय वर्ष एवं तृतीय पुरस्कार विभा पांडे बीए द्वितीय वर्ष ने प्राप्त किया।  
तदुपरांत जन जागरूकता रैली  के अंतर्गत कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ विनय कुमार सिंह ,प्राचार्य महामाया राजकीय महाविद्यालय एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रविंद्र त्रिपाठी , यातायात प्रभारी ,द्वारा हरी झंडी दिखाकर जन जागरूकता रैली को रवाना किया। रैली महाविद्यालय परिसर से प्रारंभ होकर ओसा चौराहा एवं ओसा चौराहे से महाविद्यालय परिसर में समाप्त हुई है।
कार्यक्रम अधिकारी अनिल कुमार ने सभी अतिथियों एवं छात्र-छात्राओं को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर यातायात पुलिस आरक्षी अनिल यादव एवं सुश्री शिवानी शर्मा एवं महाविद्यालय के डॉ. अरविंद कुमार , डॉ. अजय कुमार ,डॉ. भावना केसरवानी ,डॉ. रीता दयाल, डॉ. पवन कुमार,डॉ. नीरज कुमार ,डॉ. रमेश चंद्र,  डॉ. अमित शुक्ल ,डॉ. संतोष कुमार  आदि उपस्थित रहे।

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...