मंगलवार, 24 जनवरी 2023

पीएम ने पूर्वोत्तर में ऊर्जा क्षेत्र को हमेशा प्राथमिकता दी 

पीएम ने पूर्वोत्तर में ऊर्जा क्षेत्र को हमेशा प्राथमिकता दी 

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/गुवाहाटी। केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्वोत्तर में ऊर्जा क्षेत्र को हमेशा प्राथमिकता दी है। पुरी ने सोमवार रात गुवाहाटी में ‘भारत ऊर्जा सप्ताह से पहले आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की प्राथमिकता पूर्वोत्तर भारत को उच्च विकास के पथ पर ले जाना है और वह वहां के ऊर्जा क्षेत्र पर काफी जोर दे रहे हैं। भारत ऊर्जा सप्ताह का बेंगलुरु में छह से आठ फरवरी तक आयोजन किया जाएगा। पुरी ने विवरण दिए बिना कहा कि इस क्षेत्र के लिए कई बड़ी परियोजनाएं पाइपलाइन में हैं।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री बांस की तीन नर्सरी स्थापित करने के लिए नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड (एनआरएल) और असम सरकार द्वारा एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए जाने के अवसर पर भी मौजूद थे। प्रत्येक नर्सरी पांच हेक्टेयर के दायरे में बनेगी, ताकि ऊतक संवर्धित (वह क्रिया, जिसमें ऊतकों और कोशिकाओं को किसी बाहरी माध्यम में उपयुक्त परिस्थितियों में पोषित किया जाता है) बांस के पौधों को बढ़ावा दिया जा सके। ये नर्सरी गोलाघाट, नागांव और सोनितपुर में स्थापित की जाएंगी।

पुरी ने उन किसानों के साथ बातचीत भी की, जो नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड द्वारा संचालित असम बायो-रिफाइनरी को स्थायी रूप से बांस की आपूर्ति कर रहे हैं। असम बायो-रिफाइनरी अपनी तरह की दूसरी पीढ़ी की पहली जैविक रिफाइनरी है, जो ईंधन और रसायनों के उत्पादन के लिए गैर-पेट्रोलियम आधारित प्रक्रिया का इस्तेमाल करती है। इस प्रक्रिया में ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन काफी कम होता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Thank you, for a message universal express.

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय'

गणतंत्र दिवस    'संपादकीय' 'भारत' देश है हमारा, संविधान पर विवाद नहीं। 'सभ्यता' सबसे पहले आई, ...