बुधवार, 10 नवंबर 2021

हैरतअंगेज: पूंछ वाले नवजात ने लिया जन्म

हैरतअंगेज: पूंछ वाले नवजात ने लिया जन्म
ब्रासीलिया। प्रतिदिन नये-नये मामले सामने आते रहते है। एक ब्राजील में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। चिकिसाल्य में जब एक बच्चे ने जन्म लिया तो डॉक्टर देखकर हैरान रह गये। क्योंकि बच्चे के पूंछ थी। लेकिन बाद में डॉक्टरों ने इसका सॉल्यूशन निकाल लिया है।
ब्राजील के अल्बर्ट चिकित्सालय में एक बच्चे का जब जन्म हुआ तो उस बच्चे के पूंछ निकली हुई थी। यह कुदरत का करिश्मा देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गये। इस बात को लेकर बच्चे के परिजन भी काफी परेशान नजर आ रहे थे। इस दौरान किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या किया जाये। डॉक्टरों ने बच्चे की पूछ की लंबाई करीब चार इंच बताई और साथ ही यह भी बताया कि पूंछ का अंतिम हिस्सा गेदनुमा गोल था। अल्ट्रासाउंड स्कैन के पश्चात डॉक्टारों ने कहा कि पूंछ में कॉटिलेज और हड्डी का कोई हिस्सा नहीं है और पूंछ उसके तंत्रिका से जुड़ी हुई नहीं है। डॉक्टरों ने परिजनों परामर्श दिया कि बच्चे की पूंछ को ऑपरेशन के माध्यम से हटाया जा सकता है। परिजनों की हां के बाद डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर बच्चे की इस पूंछ को सफलतापूर्वक निकाल लिया।

मीडिया: पीएम जैसिंडा की वीडियो वायरल हुईं
वेलिंग्टन। न्यूजीलैंड की पीएम हैं जैसिंडा अर्डर्न। उनकी एक वीडियो सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल है। हुआ ये कि वह न्यूजीलैंड के लोगों से कोरोना वायरस प्रतिबंधों को लेकर 8 नवंबर की देर रात फेसबुक पर लाइव वीडियो पर जानकारी साझा कर रही थीं। इसी दौरान उनकी बेटी की आवाज आती, मम्मी ? इसके बाद जैसिंडा ने लोगों से माफी मांगते हुए बेटी से कहा कि तुम्हें अब तक तो सो जाना चाहिए था। इस पर उनकी बेटी नीव ने नहीं में जवाब दिया। फिर जैसिंडा ने कहा कि यह सोने का वक्त है बेटी, आप बिस्तर पर वापस जाओ। मैं कुछ देर में आई। एक मिनट में आपके पास आई।
इसके बाद जैसिंडा ने एक बार फिर मुस्कुराते हुए लोगों से माफी मांगी। फिर कहा कि वह बीच में उठ गई। मुझे लगा था कि यह फेसबुक लाइव के लिए एक बेहतर वक्त होगा। क्या किसी और के बच्चे सोने के बाद तीन-चार बार जग जाते हैं? शुक्र है मेरी मां मेरे साथ हैं, ऐसे में वह मदद करती हैं। इसके बाद जैसिंडा फिर से कोविड को लेकर बातचीत शुरू करती है कि फिर से नीव टोकती है कि इसमें इतना वक्त क्यों लग रहा है?
अबकी जैसिंडा ने नीव से माफी मांगते हुए कहा कि मुझे माफ कर दो बेटी। इसमें थोड़ा वक्त लग रहा है। इसके बाद जैसिंडा ने फेसबुक लाइव से जुड़े लोगों से भी माफी मांगी और कहा कि मुझे लगता है कि मैंने सभी महत्वपूर्ण बातें आप लोगों से साझा की हैं। मुझे अब जाना होगा। उसके सोने का वक्त है। फिर से मिलती हूं।आप सभी लोगों का जुड़ने के लिए शुक्रिया।
जैसिंडा अर्डर्न ने 21 जून 2018 को अपनी बेटी नीव को जन्म दिया था। पीएम पद पर रहते अपने हुए ऑफिस में बच्चे को जन्म देने वाली जैसिंडा 1990 में पाकिस्तान की पीएम रहीं बेनज़ीर भुट्टो के बाद पहली महिला हैं।
नीलसन ने अभियान में देरी के संबंध में घोषणा की
मोमिन मलिक       
वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने के अपने अभियान के समय को आगे बढ़ा कर इसे 2025 कर दिया है। अंतरिक्ष एजेंसी की, इससे पहले 2024 तक अंतरिक्षयात्रियों को चंद्रमा पर भेजने की योजना थी। नासा के प्रशासक बिल नीलसन ने मंगलवार को इस अभियान में देरी के संबंध में घोषणा की।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उनके चंद्रमा के लिए अभियान में ”लैंडिग सिस्टम” विकसित करने के वास्ते पर्याप्त धन मुहैया नहीं कराया। इसके अलावा जेफ बेजोस की रॉकेट कंपनी ‘ब्ल्यू ओरिजिन’ की ओर से कानूनी चुनौतियों के कारण भी कार्य में व्यवधान हुआ।
नीलसन ने कहा कि नासा का अगले वर्ष फरवरी में अपने चंद्रमा रॉकेट ‘स्पेस लॉन्च सिस्टम’ या एसएलएस की पहली परीक्षण उड़ान का लक्ष्य है। इसमें कोई भी सवार नहीं होगा। अंतरिक्ष यात्री दूसरी आर्टेमिस उड़ान में जाएंगे जो चंद्रमा से आगे उड़ान भरेगी, लेकिन चंद्रमा की सतह पर उतरेगी नहीं। चंद्रमा पर उतरने का काम 2025 तक हो पाएगा।

वैक्सीन: अतिरिक्त खुराक देने की अनुमति मांगी
मोहम्मद रियाज        
वाशिंगटन डीसी। ‘फाइज़र’ ने अमेरिका के नियामकों से 18 साल और उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को उसके कोविड-19 रोधी टीके की अतिरिक्त खुराक देने की मंगलवार को अनुमति मांगी। बुजुर्गों और अन्य किसी ऐसी गंभीर बीमारी से पीड़ित लोग, जिनके संक्रमण की चपेट में आने का खतरा अधिक है, उन्हें सितंबर से फाइज़र और बायोएनटेक के कोविड-19 रोधी टीके की तीसरी खुराक देनी शुरू कर दी गई थी।
लेकिन खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने कहा था कि जरूरत पड़ने पर वह युवाओं को भी तीसरी खुराक दिए जाने की अनुमति दे देगा। फाइज़र ने 10,000 लोगों को दी गई अतिरिक्त खुराक के शुरुआती परिणामों की जानकारी देते हुए इस अभियान को विस्तार देने का अनुरोध किया है। अमेरिका में लगाए जा रहे सभी तीन टीके वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ मजबूत सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं, लेकिन समय के साथ मामूली संक्रमण के खिलाफ भी इनकी खुराकों की प्रभावशीलता कम हो सकती है।
फाइज़र के नए अध्ययन में पाया गया है कि अतिरिक्त खुराक संक्रमण के खिलाफ लगभग 95 प्रतिशत तक सुरक्षा प्रदान कर सकती है, यहां तक की कोविड-19 के ‘डेल्टा’ स्वरूप के खिलाफ भी। वहीं, तीसरी खुराक के प्रतिकूल प्रभाव पहली दो खुराक से बिल्कुल भी अलग नहीं है।
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने सभी व्यस्कों को अतिरिक्त खुराक दिए जाने का अनुरोध किया था, लेकिन एफडीए के वैज्ञानिक सलाहकारों ने इसे खारिज कर दिया था और केवल बुजुर्गों तथा गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को ही अतिरिक्त खुराक देने की अनुमति दी थी। आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका में 19.4 करोड़ लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है। एफडीए की प्रवक्ता एलिसन हंट ने कहा कि एजेंसी, फाइज़र के आवेदन पर जितनी जल्दी हो सकेगा उतनी जल्दी विचार करेगी, लेकिन इस पर निर्णय करने के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...