शुक्रवार, 12 नवंबर 2021

रेप के आरोपी मंत्री को उम्रकैद की सजा सुनाईं

रेप के आरोपी मंत्री को उम्रकैद की सजा सुनाईं
संदीप मिश्र          
लखनऊ। चित्रकूट के चर्चित गैंगरेप मामले में एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को उम्रकैद की सजा सुनाई है। प्रजापति के साथ ही मामले में दोषी आशीष शुक्ला और अशोक तिवारी को भी उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। उम्रकैद की सजा के साथ ही तीनों दोषियों पर 2-2 लाख रुपये का आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है। इससे पहले बुधवार को कोर्ट ने प्रजापति समेत आशीष और अशोक को दोषी करार दिया था और सजा पर फैसला सुरक्षित रखते हुए अगली तारीख शुक्रवार की दी थी।
वहीं दूसरी तरफ विकास वर्मा, रूपेश्वर, अमरेंद्र सिंह, पिंटू और चंद्रपाल को कोर्ट ने बरी कर दिया है। गौरतलब है कि इससे पहले कोर्ट ने गायत्री प्रजापति समेत अन्य आरोपियों को मौखिक साक्ष्य देने का अवसर 2 नवंबर को खत्म कर दिया था। पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति की तरफ से मंगलवार को ही मामले में अर्जी लगाकर मुकदमे की तारीख आगे बढ़ाए जाने की मांग की गई थी।
इसमें कहा गया था कि इस मुकदमे को किसी दूसरे राज्य में ट्रांसफर करने की मांग को लेकर उनकी ओर से सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दाखिल की गई है। इसी के साथ एमपी एमएलए कोर्ट के उस आदेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट लखनऊ बेंच में चुनौती दी गई है।जिसमें उसके बचाव के सबूत पेश करने की अर्जी को खारिज कर दिया गया था।
वहीं 8 नवंबर को अभियोजन की ओर से प्रार्थना पत्र देकर कोर्ट से अनुरोध किया गया था कि गवाह अंशु गौड़ ने अपने बयान में साफ कहा है कि पीड़िता को कई प्लाटों की रजिस्ट्री और भारी रकम का लालच देकर कोर्ट में सही गवाही न देने के लिए राजी किया गया था। अभियोजन ने रजिस्ट्री को साबित करने के लिए रजिस्ट्रार लखनऊ और पीड़िता की ओर से दिल्ली के कोर्ट को दिए गए कलम बंद बयान को तलब करने का आदेश देने की भी मांग की गई थी।
उल्लेखनीय है कि पीड़िता एमपी एमएलए कोर्ट में गायत्री प्रजापति पर लगाए गैंग रेप के आरोपों से मुकर चुकी है। अखिलेश यादव की सरकार के दौरान कैबिनेट मंत्री रहे गायत्री प्रजापति इसी गैंगरेप के मामले में जेल में बंद है। 18 फरवरी 2017 को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गायत्री प्रजापति पर एफआईआर दर्ज की गई थी. वहीं 15 मार्च 2017 को इस मामले में प्रजापति को गिरफ्तार किया गया था।

धर्म परिवर्तन के आरोप में 9 को गिरफ्तार किया 
मनोज सिंह ठाकुर    
भोपाल। मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में पुलिस ने धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से सात लोग राजस्थान और गुजरात से हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) से जुड़े एक व्यक्ति की शिकायत पर पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। थांदला पुलिस के अनुविभागीय अधिकारी (एसडीओपी) एम एस गवली ने कहा कि हमें बुधवार को सूचना मिली कि थांदला थाना क्षेत्र के मानपुर गांव में कुछ बाहरी लोग आदिवासियों को ईसाई धर्म अपनाने का लालच दे रहे हैं।
इस पर पुलिस का एक दल और क्षेत्र के कुछ निवासी गांव पहुंचे और पाया कि राजस्थान और गुजरात के सात लोग और उनके कुछ स्थानीय संपर्क वाले लोग नारु डामोर के आवास पर प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन का प्रयास कर रहे थे। उन्होंने कहा कि।

यूपी: मारपीट के आरोपी को हिरासत में लिया
संदीप मिश्र              
पीलीभीत। रोडवेज बस में सवार होकर आ रहे सिपाही ने नशे में धुत होकर एक युवक के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट कर दी। इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने पुलिस को निर्देश देते हुए मारपीट के आरोपी सिपाही को हिरासत में लिया है। 
सिपाही के आचरण को लेकर अब पुलिस द्वारा शाहजहांपुर पुलिस को रिपोर्ट भेजी जा रही है।
शाहजहांपुर में तैनात एक सिपाही बस में सवार होकर पीलीभीत स्थित अपने घर वापस लौट रहा था। इस दौरान बस में ही सफर कर रहे एक युवक के साथ नशे में धुत सिपाही ने गाली-गलौज करनी शुरू कर दी। युवक ने जब सिपाही की गाली गलोज का विरोध किया तो नशे में धुत सिपाही ने युवक के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी। बेकसूर युवक को पीटते हुए देख बस में सफर कर रहे अन्य यात्रियों ने बीच बचाव करते हुए मामला शांत कराया। 
पीड़ित ने पूरे मामले की सूचना फोन के माध्यम से पीलीभीत के पुलिस अधीक्षक को दी। मामला एसपी के संज्ञान में आने के बाद सुुनगढ़ी थाना पुलिस शहर के नौगांवा चौराहे पर पहुंची और सड़क पर आ रही बस को रुकवाकर उसके भीतर बैठे सिपाही को उतारकर अपनी गाड़ी में बैठा लिया और थाने ले आई। पुलिस का कहना है कि सिपाही के आचरण को लेकर अब शाहजहांपुर पुलिस को रिपोर्ट भेजी जा रही है।

बूंदी: प्रेमी जोड़े ने जहर खाकर आत्महत्या की
नरेश राघानी      बूंदी। जिले के तालेड़ा थाना क्षेत्र से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया हैं। जहां एक प्रेमी जोड़े ने जहर खाकर मौत को गले लगा लिया। दोनों बेहोशी की हालत में एक-दूसरे का हाथ पकड़े खाई में मिले थे। अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। दोनों के बीच प्रेम प्रसंग की जानकारी कुछ दिन पहले ही परिवार वालों को मिली थी। दोनों की जाति अलग-अलग होने से शादी में रुकावट आ रही थी। युवक आईटीआई पास करके मजदूरी करता था। पुलिस मामले की जांच कर रही है। दोनों के पास मिले सुसाइड नोट में लिखा है, हम हमारी इच्छा से आत्महत्या कर रहे हैं। हमारे मरने के बाद परिवार को परेशान न किया जाए। सूचना पर दोनों के परिजन अस्पताल पहुंचे। पोस्टमॉर्टम कराकर शव परिजनों को सौंपा गया। तालेड़ा थानाधिकारी दिग्विजय सिंह ने बताया कि जहर खाने से हीरालाल मेघवाल (25) निवासी माटुंदा और मुस्कान (20) निवासी झुवासा की मौत हो गई। दोनों जलोदी रोड के रेलवे फाटक के पास एक खाई में मिले थे। मौके से सुसाइड नोट बरामद हुआ है।
पुलिस को परिजनों ने बताया कि कुछ दिन पहले ही दोनों के बीच प्रेम प्रसंग का पता चला था। युवती 9वीं क्लास की स्टूडेंट थी। गांव से 5 किलोमीटर दूर पंचायत मुखिया मायजा गांव में पढ़ने जाती थी। गुरुवार को घर से स्कूल जाने के लिए निकली थी। युवक बाइक के कागज तैयार करवाने का कहकर घर से निकला था। कहा था कि काम करवाकर वह जल्दी लौट आएगा। शाम 4 बजे के बाद उसका फोन बंद आने लगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...